Skip to main content

Posts

Showing posts from April, 2019

Shaabar Mantra Kya Hote Hain ?

क्या होता है शाबर मन्त्र, क्या फायदे है शाबर मंत्रो के, कौन है जनक शाबर मंत्रो के, किन बातो का ध्यान रखना चाहिए शाबर साधना के दौरान.
मंत्र कई प्रकार के होते हैं जैसे वैदिक मन्त्र, पौराणिक मन्त्र, तांत्रिक मन्त्र, शाबर मंत्र. वैदिक मन्त्र, पौराणिक मन्त्र, तांत्रिक मन्त्र संस्कृत भाषा में है जबकि शाबर मंत्र बोलचाल की भाषा में बने होते हैं और सामान्य व्यक्ति के द्वारा भी आसानी से प्रयोग में लिया जा सकता है.
शाबर मंत्र को नाथ सम्प्रदाय ने फैलाया है.

मुख्य रूप से ९ नाथो ने शाबर मंत्र को बनाया जनसाधारण की भलाई के लिए:मत्स्येन्द्रनाथ गोरखनाथ कान्फिनाथअड़बंगनाथ जालंधरनाथ चर्पटीनाथ रेवणनाथ भृतहरिनाथ नागनाथ शाबर मंत्रो की संख्या करोड़ो में है और पौराणिक मान्यता के अनुसार सबसे पहले भगवान् शिव ने ही शाबर मंत्र का ज्ञान दिया था जनकल्याण हेतु.
शाबर मन्त्र के बारे में एक और रहस्य है की कलयुग में यही सबसे ज्यादा असरकारी है और कार्यो को करने में सक्षम है.
इन मंत्रो के द्वारा प्रयोगकर्ता शक्तियों को विवश करता है की उसका काम करे और इसके लिए शक्तियों को वचन और कसम से बाधा जाता है.
शाबर मन्त्र अनेक प्रका…

Ghar Mai Sukh Aur Khushi Hetu Totke

Ghar me sukh aur khushi hetu totke, कैसे लाये घर में ख़ुशी, जानिए कौन सा यन्त्र ला सकता है परिवार में खुशियाँ, किस यन्त्र से शान्ति लाई जा सकती है, कैसे संबंधो को सुधारा जा सकता है?.
ऐसा बहुत बार देखा गया है की हँसते खेलते परिवार में अचानक से समस्या उत्पन्न होने लगती है, कलह बढ़ जाता है, संबंधो में खटास आने लगती है. इन सबके कारण काम काज भी प्रभावित होने लगता है. ज्योतिष में हम इस समस्या के समाधान के लिए कुछ टोटको, मंत्र और यंत्रो का प्रयोग करते हैं. इनके प्रयोग से घर की सुरक्षा होती है, नकारात्मक उर्जाव से बचाव होता है और परिवार में सुख, शांति और सौहार्द्र का वातावरण बनता है.
घर में समस्याओं के कई कारण हो सकते हैं जैसे –
ये हो सकता है की घर को बहुत बड़ी नजर लगी हो जिसके कारण परिवार में समस्याएं बढ़ती जा रही हो.ये भी संभव है की बुरे ग्रहों का प्रभाव बढ़ गया हो गोचर में जिसके कारण परिवार में कलह, परेशानी, मतभेद बढ़ गए हो.ऐसा भी हो सकता है की किसी तीसरे व्यक्ति के कारण घर में झगड़ा बढ़ रहा हो.किसी के द्वारा काला जादू का प्रयोग करने पर भी ऐसी समस्याएं उत्पन्न हो सकती है. अतः पारिवारिक समस्याओं क…

Hospitals Ke Liye Vastu Tips

हॉस्पिटल्स, क्लिनिक, नर्सिंगहोम्स के लिए वास्तु टिप्स, फ्री में जानिए कैसे करे वास्तु दोषों को दूर हॉस्पिटल्स से ज्योतिष द्वारा. 
हॉस्पिटल्स ऐसी जगह है जहाँ लोग उपचार के लिए आते हैं, बीमारी से छुटकारे के लिए आते हैं, इसका अर्थ ये भी है की हॉस्पिटल्स, क्लीनिक आदि उपचार की जगहों को बहुत ज्यादा सकारात्मक उर्जा की जरुरत होती है. इसी कारण इन जगहों में साधारण से हटके कुछ ज्यादा इन्तेजाम किये जाते हैं जिससे हॉस्पिटल के मालिक, वहां काम करने वाले कर्मचारियों को और साथ ही मरीजो को भी ज्यादा से ज्यादा फायदा हो.
वास्तु और ज्योतिष के सिद्धांतो का स्तेमाल करके हॉस्पिटल, क्लिनिक, नर्सिंग होम्स आदि में सकारात्मक ऊर्जा के स्तर को बढ़ाया जा सकता है.
हॉस्पिटल्स में कई मुख्य जगह होती हैं जैसे रिसेप्शन , जनरल वार्ड, इमरजेंसी वार्ड, आई.सी.यू., ऑपरेशन थिएटर, वेटिंग रूम, ड्रेसिंग रूम आदि. अगर वास्तु और ज्योतिष का सहारा लिया जाए तो बिना परेशानी के हॉस्पिटल को चलाने में मदद मिलती है , इसमें कोई शक नहीं है.

आईये जानते हैं की वास्तु और ज्योतिष से आप क्या फायदा उठा पायेंगे :वास्तु और ज्योतिष के सिद्धांतो का प्रयो…

Achhi Sehat Paayen Sharir Vastu Urja Se

अच्छी सेहत के लिए शारीर वास्तु उर्जा को कैसे बनाए रखे, जानिए फ्री टिप्स शारीर के उर्जा को बनाए रखने के लिए, स्वस्थ और संपन्न जीवन के लिए शारीर वास्तु को जानिए.

वास्तु दोष को हटाने का सबसे आसान तरीका होता है की वास्तु की साफ़ सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए रोज इसी कारण ये सलाह दी जाती है की रोज अपने घर, ऑफिस आदि को साफ़ रखे.
अगर हम अपने वास्तु को साफ़ रखेंगे तो इसमें कोई शक नहीं की सम्पन्नता जीवन में प्रवेश करेगी इसी प्रकार अगर हम अपने शारीर को साफ़ सुथरा रखेंगे तो हम एक स्वस्थ जीवन जी पायेंगे. इस लेख में हम यही जानेंगे की किस प्रकार शारीर वास्तु का प्रभाव हमारे जीवन में पड़ता है.
साधारणतः जब हम नहाते हैं तो रोजमर्रा के काम होने के कारण हम इसे ज्यादा महत्त्व नहीं देते हैं परन्तु इस लेख को पढ़ के हम जरुर शारीर के हर अंग को महत्त्व देना शुरू कर देंगे. आइये जानते है शारीर का महत्त्व: शरीर का बहुत महत्त्व है , अध्यात्मिक रूप से इस शारीर में आत्मा का वास है, संत जन तो ये भी कहते हैं की ये शारीर मंदिर है जिसमे भगवान् का निवास है, अतः सभी दृष्टी से देखें तो शारीर को ठीक रखना जरुरी है सफल जीवन जीने के…

Kaise Kaam karti Hai Vastu Urja, कैसे काम करती है वास्तु उर्जा

Kaise Kaam karti Hai Vastu Urja, कैसे काम करती है वास्तु उर्जा, दिशा और सम्बंधित समस्याए

वास्तु विज्ञान भवन निर्माण के सिद्धांतो से भरा हुआ है और जो लोग इसका प्रयोग जीवन में करते हैं वो निश्चित ही किसी न किसी तरह से लाभान्वित होते ही हैं कारण की सकारात्माक उर्जा कभी नुक्सान नहीं करती. वास्तु विज्ञान के हिसाब से दुनिया में सभी तरफ उर्जा है. मुख्यतः जितनी भी दिशाए हैं उन सभी दिशाओं में कोई न कोई विशेष उर्जा का प्रभाव होता है और अगर घर, ऑफिस, फैक्ट्री आदि बनाने में इन वास्तु सिद्धांतो को ध्यान में रखा जाए तो सफलता निश्चित रूप से दिखाई पड़ती है. वास्तु के सिद्धांत वास्तव में ऊर्जा के समन्वय के सिद्धांत है और जिस जगह पे उर्जाओं का संतुलन होगा वह धन, वैभव, विद्या, शांति सौहार्द्र का वातावरण स्वतः ही उत्पन्न हो जाएगा. परन्तु जहा पर उर्जा का संतुलन नहीं होगा वहां विभिन्न प्रकार की समस्याएं उत्पन्न होगी जैसे की स्वास्थय समस्याएं, धन समस्याएं, रोजगार की समस्याएं, संबंधों में दरार आदि. अतः उर्जा को संतुलित करना जरुरी है. आइये जानते हैं कुछ दुष्प्रभाव वास्तु दोषों के : पूर्व दिशा में वास्तु दोष के…

Ghar Ke Andar Ke Pradushan Ka Prabhav

Ghar Ke Andar Ke Pradushan Ka Prabhav, वास्तु  में प्रदुषण, कैसे बनाए एक स्वस्थ वातावरण, फ्री वास्तु सलाह सफलता के लिए.

इसमे कोई शक नहीं की घर के अन्दर के प्रदुषण के कारण सदस्यों को बहुत स्वास्थ्य समस्याओं को भोगना पड़ता है और जो सदस्य लगातार प्रदूषित वातावरण में निवास करते हैं ज्यादा समय तक वो कई गंभीर रोगों से ग्रस्त हो जाते हैं. 
सिर्फ झाड़ू लगाना और पोचा लगाना ही पर्याप्त नहीं होता है, इसके साथ ही बहुत सी और बातो का ध्यान रखना जरुरी है जिससे की नकारात्मक उर्जाओं से घर को बचाया जा सके.  ये लेख सभी लोगो के लिए लाभ दायक सिद्द हो सकती है क्यूंकि हम सभी कुछ छोटी छोटी गलतियाँ जरुर करते हैं, हमारी कुछ आदते अनायास ही वास्तु उर्जा को बिगाड़ देती है और हमे इस बात की खबर ही नहीं रहती. आइये देखते हैं की वास्तु के अन्दर प्रदुषण कैसे उत्पन्न होता है ?जब रसोई में खाना बनता है तो कई प्रकार के गैसे उत्पन्न होती है जो की अगर बहार न जा सके तो हानिकारक हो सकती है.आज के दौर में लोगो को डीयो और अनेक प्रकार के खुशबू वाले स्प्रे प्रयोग करने की आदत पड़ गई है जो की हानिकारक होती है.अगर कोई घर के अन्दर सिगरेट य…

Maa Annapurna Ke Mantra

माँ अन्नपूर्णा के मन्त्र, जानिए अन्नपूर्णा साधना के फायदे, अन्नपूर्ण माता का शाबर मन्त्र.

देवी अन्नपूर्णा माँ जगदम्बा का ही एक सौम्य रूप है जो की भक्तो का पोषण करती है. ऐसा माना जाता है की भगवती अगर किसी पर खुश हो जाए तो ऐसा व्यक्ति कभी भी भूखा नहीं सो सकता है. सफलता सभी दिशाओं से उसके पास आती है जो माता अन्नपूर्ण का भक्त होता है.

हमने कई चमत्कारी कहानिया सुनी है जैसे कोई संत लगातार भंडार करते रहते हैं बिना अनाज के, बिना सब्जी के इन्तेजाम के. कुछ भक्त अन्न का दान करते ही रहते बिना नागा किये.
ये सब संभव होता है माँ अन्नपूर्ण की कृपा से.
अन्नपूर्ण माँ की सिद्धि से व्यक्ति का जीवन सफल हो जाता है. व्यक्ति को नाम, यश, शक्ति प्राप्त होती है समाज में माता की कृपा से.
देवी अन्नपूर्णा पुरे जगत का पालन करती है भोजन प्रदान करके इसीलिए इनका पूजन अनिवार्य माना जाता है.
आइये जानते हैं माँ अन्नपूर्ण के कुछ मंत्र:“ॐ नमः भगवती माहेश्वरी अन्नपूर्णे स्वाहा “.“ॐ श्रीम ह्रीं कलीम नमः भगवती महेश्वरी प्रसन्नवर्दे अन्नपूर्णे स्वाहा”.संपर्क करे ज्योतिष से मार्गदर्शन के लिए >>
आइये अब जानते हैं माँ अन…

Ek Tarfa Prem Kahi Rog To Nahi

क्या है इरोटोमेनिया?, जानिए क्या समस्या हो सकती १ तरफ़ा प्यार का, क्या समाधान हो सकता है इरोटोमनिया को ज्योतिष में.
क्या आप एक तरफ़ा प्रेम में फंसे हुए हैं, क्या इसके कारण आप अवसादग्रस्त है, क्या आप एक तरफ़ा प्रेम के कारण दिन भर परेशान रहते हैं तो सावधान हो जाएँ, ये इरोटोमनिया नाम की बिमारी भी हो सकती है.ये एक विशेष प्रकार की बिमारी होती है जिसमे व्यक्ति सपनो की दुनिया में रहने लगता है. और इसके कारण बहुत सी समस्याओं का सामना वो करने लगता है.

व्यक्ति ऐसा सोचने लगता है की जिसको वो चाहता है वो भी उसे चाहता है या चाहती है. इसी स्थिति में रहने कारण व्यक्ति कई बार पब्लिक जगहों पर भी अजीबोगरीब व्यवहार कर बैठता है. कुछ गंभीर स्थितियों में ऐसे व्यक्ति गलत भी कर जाते हैं.
अतः ये जरुरी है की हम इस १ तरफ़ा प्रेम के बारे में गंभीरता से सोचे और अपने को किसी प्रकार के भी भ्रान्ति से बचाए.
अगर कोई इरोटोमनिया से ग्रस्त हो तो उसे ज्योतिष, प्राकृतिक चिकित्सक, या मानसिक चिकित्सक से मिलके जल्द से जल्द इलाज करवाना चाहिए. आइये जानते हैं इरोटोमेनिया के कुछ कारण : ऐसा देखा गया है की इस प्रकार के बीमारियों से लड़कि…

Love Life Ki 9 Pareshaniyan Aur Jyotish Samadhan

प्रेम जीवन के ९ समस्याएं और ज्योतिष समाधान, जानिए प्रेमियों को किन प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ सकता है, प्रेम जीवन को सुखी करने के सूत्र. प्रेम हर व्यक्ति के जीवन का सबसे महत्त्वपूर्ण भाग होता है. अगर किसी का प्रेम जीवन ठीक नहीं है, अगर कोई अपने प्रेम जीवन से संतुष्ट नहीं है, अगर किसी के अन्दर अपने साथी के लिए प्रेम की भावनाएं सही नहीं है तो फिर कुछ गड़बड़ है. पढ़िए Love hormones kya hai.
प्रेम जीवन में समस्याओं के बहुत से कारण हो सकते हैं अतः सही कारण को जानके हम सही समाधान खोज सकते हैं.

आइये जानते हैं प्रेम जीवन के ९ सबसे बड़े कारण :दोनों प्रेमियों के बीच आपसी समझ की कमी हमेशा ही समस्या उत्पन्न करती है. याद रखिये की अगर आप अपने साथी की भावनाओं की कद्र नहीं करेंगे तो सम्बन्ध ज्यादा दिन नहीं चल सकते हैं.एक दुसरे को पूरा समय नहीं देना भी प्रेम जीवन को धीरे धीरे ख़त्म कर देता है. अगर आप किसी से प्रेम करते हैं तो उसके साथ समय व्यतीत करे अन्यथा समस्या आएगी. अपने आप दूरियां बढ़ने लगेंगी.अपने साथी की सेक्स की जरुरत पूरी न कर पाना भी ब्रेक अप का कारण बन सकता है. इसका कारण जरुरत से ज्यादा काम…

Number 8 Astrology In Hindi

अंक 8 का रहस्य, अंक आठ वाले व्यक्तियों के गुण, अंक 8 के रत्न और धातु, ज्योतिष द्वारा समाधान, number 8 astrology in Hindi, characteristics of Number 8.

अंक 8 का स्वामी ग्रह है शनि जिसे अंग्रेजी में Saturn भी कहते हैं. अंक आठ में उन लोगो को शामिल करेंगे जिनका जन्म महीने के 8, 17 , 26 को हुआ हो. शनि एक क्रूर ग्रह है परन्तु सात्विक है, इसके प्रभाव के कारण जातक थोडा वैरागी जैसा रहता है. ऐसे लोग एकांत प्रिय होते हैं परन्तु सेवाभावी होते हैं. ये अगर किसी के यहाँ नौकरी करते हैं तो पूरी निष्ठा और ईमानदारी से करते हैं, ये अगर किसी से मित्रता करते हैं तो उसे पूरा निभाते हैं और अगर शत्रुता कर ले तो भी कोई कसार नहीं छोड़ते. अंक 8 वाले लोगो को अन्याय पसंद नहीं होता , इसी कारण ये लग बहुत जगह विवाद का कारण भी बन जाते हैं. लोग इनके बारे में ग़लतफ़हमी में ही रहते हैं.अपने व्यवहार के कारण अंक आठ के लोग दुखी भी रहते हैं. इनको ऐसा लगता है की कोई इनका साथ नहीं देता. परन्तु ये भी एक सच्चाई है की ऐसे लोग अपनी भावनाओं को भी सही ढंग से प्रकट नहीं कर पाते हैं क्यूंकि इनको कही न कही झिझक होती ही है.ये अंक संघर्ष को …

Number 7 Astrology in Hindi

अंक 7 का रहस्य, अंक सात वाले व्यक्तियों के गुण, अंक 7 के रत्न और धातु, ज्योतिष द्वारा समाधान, number 7 astrology in Hindi, characteristics of Number 7.

केतु ग्रह का अगर प्रभाव देखना है तो अंक 7 वाले व्यक्तियों का अध्धयन करना चाहिए क्यूंकि अंक सात का स्वामी ग्रह केतु है. इंग्लिश में इसे नेप्चून कहते हैं.  अंक 7 में वो लोग आते हैं जिनका जन्म महीने की 7, 16 या 25 तारीख को हुआ है. अंक सात वालो का मित्र अंक 2, 11,20 ,29, 7, 16 और 25 है. 
अंक 7 वालो के जीवन में अकस्मात् परिवर्तन होता है और ये लोग थोड़े उग्र भी होते हैं. केतु के प्रभाव के कारण ऐसे लोग भ्रमणशील भी रहते हैं. बैठना इनको पसंद नहीं. कुछ न कुछ खोज करते रहने की भी इनको आदत होती है. एक अच्छे दार्शनिक के रूप में भी अंक 7 वाले लोग गिने जाते हैं. सामाजिक सेवा कार्यों में भी इनका बहुत समय व्यतीत होता है. अंक 7 भी एक रहस्यमयी अंक है और इसके प्रभाव वाले व्यक्तियों के बारे में भी सब कुछ जानना मुश्किल होता है. ये कब क्या करेंगे या यु कहे की इनके साथ कब क्या होगा , ये कहना मुश्किल है.ऐसे लोग अगर आध्यात्मिक मार्ग में जाएँ तो बहुत ऊँचे जाते हैं …

Number 6 Astrology in Hindi

अंक 6 का रहस्य, अंक छह वाले व्यक्तियों के गुण, अंक 6 के रत्न और धातु, ज्योतिष द्वारा समाधान, number 6 astrology in Hindi, characteristics of Number 6. 

 अगर हम बात करे एक सम्मोहकारी अंक की तो अंक 6 की बात जरुर होगी, अंक छह का स्वामी ग्रह है शुक्र जो की सबसे चमकीला ग्रह है.  अंक छह में उन लोगो को लेना चाहिए जिनका जन्म महीने की 6, 15, या 24 तारीख को हुआ हो.
अंक 6 वाले जातक विपरीत लिंग को बहुत आसानी से आकर्षित कर लेते हैं. शुक्र ग्रह की शक्ति के कारण इनके व्यक्तित्त्व में आकर्षण करने की शक्ति प्राकृतिक रूप से होती है.परन्तु कुछ लोगो में ये शक्ति अधिक और कुछ में कम होती है. इसका कारण होता है कुंडली में शुक्र का स्थान और शक्ति. ये लोग रोमांस में , प्रेम के मामलो में बहुत सफल होते दिखाई देते हैं. परन्तु इनका प्रेम वास्तविक होता है न की सिर्फ काम वासना. ऐसे लोग कला जगत में भी खूब नाम करते हैं. ये मित्रता और शत्रुता दोनों ही खूब करना जानते हैं. अंक 6 वाले लोगो के मित्र अंक हैं 3, 6 और 9.प्रस्तुति कारण करना इनको खूब आता है, सजना और सजाना इनको पसंद होता है.इनके लिए भाग्यशाली रंग गुलाबी है और …

Number 5 Astrology In Hindi

अंक 5 का रहस्य, अंक पांच वाले व्यक्तियों के गुण, अंक 5 के रत्न और धातु, ज्योतिष द्वारा समाधान, number  5  astrology in Hindi, characteristics of Number 5.

अंक 5 ग्रह का स्वामी है बुध और ये ग्रहों में सबसे ज्यादा चंचल मन जाता है. ऐसे लोग बात करने में माहिर होते हैं, कूट निति बनाने में भी माहिर होते हैं.  अंक 5 उन लोगो पर लागु होता है जिनका जन्म महीने के 5, 14 , 23 को हुआ हो.
इन लोगो की चंचलता ही इनके लिए कई बार मुसीबत का कारण बन जाती है. ये लोग बोलते बोलते कई बार सब भूल जाते हैं और मर्यादा का भी ध्यान नहीं रखते हैं. अंक  पांच के लोग विद्वान् होते हैं परन्तु कार्यों मन शीघ्रता करना इनका स्वभाव होता है. अपने गुणों के कारण ऐसे लोग अच्छे व्यापारी बनते हैं. लोगो को अपने बातों की जाल में उलझाना ये लोग खूब जानते हैं. इनका जीवन काफी मनोरंजक होता है परन्तु फिर भी कुछ तनाव हमेशा बना रहता है. अगर कुंडली में बुध अच्छा हो और ये लोग किसी सही मार्ग में चल रहे हो तो इनको कोई बिगड़ नहीं सकता परन्तु कुंडली में बुध ख़राब हो और अगर इन्होने गलत मार्ग चुन रखा हो तो फिर ये अपनी साड़ी हदे पार करके गलत कार्य करते …

Number 4 Astrology In Hindi

अंक 4 का रहस्य, अंक चार वाले व्यक्तियों के गुण, अंक 4 के रत्न और धातु, ज्योतिष द्वारा समाधान, number  4  astrology in Hindi, characteristics of Number 4.

अगर हम किसी रहस्यमयी अंक के बारे में बात करे तो वो अंक है 4. चार अंक का स्वामी ग्रह है राहू जिसे इंग्लिश में हम युरेनस भी कहते हैं.  अंक 4 में हम उन लोगो को लेते हैं जिनका जन्म महीने के 4, 13, 22 , 31 तारीख को हुआ हो. 
इनका दिमाग बहुत ही तार्किक होता है जिसके कारण बहस में इनसे जीतना संभव नहीं होता है. ऐसा भी देखा गया है की राहू के कारण ऐसे लोग परा विज्ञान के क्षेत्र में भी खोजबीन करते रहते हैं. तंत्र, मंत्र , यन्त्र आदि में भी इनकी रूचि होती है और ये सफल भी होते हैं. किसी भी चीज के बारे में कुछ अलग हट के सोचना इन लोगो का स्वभाव होता है जिसके कारण इनके शत्रु कब कौन बन जाता है ये पता ही नहीं चलता. अपने वृहद् सोच के कारण ऐसे लोग समाज में क्रान्ति लाने में भी आगे रहते हैं. ये लकीर के फकीर नहीं होते हैं. किसी भी घटना के पीछे क्या है, इसे ये लोग भली प्रकार से समझ सकते हैं.ऐसे लोग थोड़े वैरागी भी होते हैं और वर्तमान में भरोसा रखते हैं. ये किस…

Number 3 Astrology in Hindi

अंक 3 का रहस्य, अंक तीन वाले व्यक्तियों के गुण, अंक 3 के रत्न और धातु, ज्योतिष द्वारा समाधान, number 3 astrology in Hindi, characteristics of Number 3.

अंक 3 एक महत्त्वपूर्ण नंबर है जिसका स्वामी ग्रह गुरु/ Jupiter है. ये एक अध्यात्मिक ज्ञान का संकेत करता है. गुरु की शक्ति के कारण अंक तीन वाले जातक विद्वान् होते हैं और समाज में अपना एक विशिष्ट स्थान रखते हैं.
3 अंक में वो लोग आते हैं जिनका जन्म महीने के 3, 12, 21, 30 तारीख को हुआ हो.
अंक 3 वाले लोगो का सम्बन्ध अंक 3, 6 और 9 अंक वाले जातकों से अच्छा रहता है. इन लोगो में भी महत्त्वकांक्षा अधिक रहती है. सफल होना इनके अन्दर की अंतर इच्छा होती है. ये किसी के अधीन रहकर काम करना इनको पसंद नहीं है.  ये अपने कार्य को बहुत लगन से और दक्षता से करते हैं परन्तु अपने कार्य में ये लोग किसी की दखल अन्दाजी पसंद नहीं करते हैं. ऐसे लोग जिम्मेदारियों को लेना जानते हैं इसी गुण के कारण ये ऊँचे पद पर आसानी से पहुँच जाते हैं. अंक 3 वाले लोगो में गुरु के कारण स्वाभिमान भी कूट कूट कर भरा रहता है जो की कभी कभी समस्याओं का कारण भी बन जाता है. तीन अंक वलो के लिए भा…

Number 2 Astrology In Hindi | अंक 2 का रहस्य

अंक 2 का रहस्य, अंक दो वाले व्यक्तियों के गुण, अंक 1 के रत्न और धातु, ज्योतिष द्वारा समाधान, number  2  astrology in Hindi,  characteristics of Number 2.

अंक 2 का स्वामी ग्रह है चन्द्रमा जो की शीतलता और चंचलता का प्रतिक है. अंक 2 वाले व्यक्ति वो होते हैं जिनका जन्म महीने की 2, 20 , 11 और 29 तारीख को हुआ हो.
ऐसे व्यक्तियों के लिए रविवार, सोमवार और शुक्रवार भी अच्छा होता है अतः अगर इस दिन ये अपना कार्य आरंभ करे तो निश्चित ही इनके लिए शुभ होगा. चन्द्रमा के प्रभाव के कारण अंक 2 वाले व्यक्ति चंचल और भ्रमणशील होते हैं. अस्थिरता इनको घेरे रहती है अतः ये इनके लिए एक कमजोरी होती है. ये लोग  किसी भी कार्य को लगातार नहीं कर सकते हैं जिसके कारण सफलता मिलते मिलते कई बार रह जाती है. अगर धैर्य का गुण ये विकसित कर ले तो निश्चित ही सफलता इनके कदम चूम सकती हैं. इनके लिए भाग्यशाली रंग हलके होते हैं अतः इनको सफ़ेद या क्रीम रंगों का स्तेमाल करना चाहिए. अगर भाग्यवश कुंडली में चन्द्रमा शुभ हो और बलवान भी तो क्या कहना ऐसा जातक निश्चित ही अपने जीवन में बहुत सुख उठाता है. अंक 2 वाले व्यक्तियों को सफ़ेद हकिक, मोती…

Number 1 Astrology | अंक 1 का रहस्य

अंक 1 का रहस्य, अंक 1 वाले व्यक्तियों के गुण, अंक एक के रत्न और धातु, ज्योतिष द्वारा समाधान,number 1 astrology in Hindi, characteristics of Number One.

जिस प्रकार सूर्य ग्रहों में है उसी प्रकार अंक 1 अंको में राजा है और इसका स्वामी ग्रह है सूर्य. जिनका जन्म 1, 28, 19 तारीख को होता है उन पर एक अंक का प्रभाव होता है. ये अंक बहुत ही सकारात्मक है और व्यक्ति के अन्दर महत्त्वकांक्षाओ को बड़ा देता है. 1 अंक वालों  का सम्बन्ध 2, 4 और 7 अंको वालो से अच्छा होता है. इनके लिए रविवार और सोमवार अच्छा होता है क्यूंकि इन वारो का अंक इनसे मिलते हैं. इनके लिए पीले रत्न शुभ होते हैं. सोना और ताम्बा धातु भी इनके लिए शुभ होते हैं. अंक 1 वाले लोग रचनात्मक होते हैं और अपने जिम्मेदारियो को अच्छी तरह निभाने में सक्षम होते हैं. सूर्य के प्रभाव के कारण इनको दबाना आसान नहीं होता है. कुछ हद तक क्रोध भी इनको परेशान करता है. ऐसे लोग अध्यात्मिक भी होते हैं और समाज में सम्मान भी पाते हैं. प्रबंध करने में ये कुशल होते हैं और घूमना भी इन्हें पसंद होता है. अगर अंक एक वाले लोग अपने कार्य रविवार या सोमवार को शुरू करे तो इनक…

Kya Khoya Prem Wapas Paa Sakte Hain Jyotish Se

क्या खोया प्रेम वापस पाया जा सकता है, क्या खोया प्यार पाने में ज्योतिष सहायता कर सकता है, जानिए कैसे परा विद्याओं का प्रयोग होता है खोया प्रेम पाने के लिए. 
प्रेम तो जीवन का आधार है, इस दुनिया में सभी सच्चे प्रेम को पाने के लिए कोशिश करते हैं. कुछ लोगो को सच्चा प्रेम मिल चूका है, कुछ लोग अभी भी संघर्ष कर रहे है और कुछ लोग प्रेम पाने के बाद उसे खो चुके है विभिन्न कारणों से.

आइये जानते हैं कुछ कारण प्रेम को खो बैठने के ;कुछ लोग अपने खुद के गलतियों के कारण, झूठे अहंकार के कारण, विचलित दिमाग के कारण अपना प्रेम खो चुके है. कुछ लोग अपने साथी को समझ नहीं पाए जिससे साथ खो दिया. कुछ लोग २ संबंधो को बनाने के चक्कर में अपने असली प्रेमी से बिछड़ गए.कुछ प्रेमियों के बीच में तीसरा आ गया या गई जिससे सम्बन्ध ख़त्म हो गए. कुछ लोगो को अपने सही साथी से ज्यादा अपेक्षा थी जिससे सम्बन्ध ख़राब हो गए.कुछ लोगो काले जादू के प्रभाव के कारण भी अपने साथी से बिछड़ गए. अतः प्रेम के ख़त्म होने या प्रेमी से बिछड़ने के कोई भी कारण हो सकते हैं. अब प्रश्न ये उठता है की क्या ज्योतिष खोये प्रेम को वापस पाने में सहायता कर सकता …

Vaishakh Snan Ka Mahattw, वैशाख स्नान

वैशाख महीने को हिन्दू धर्म के अनुसार बहुत पवित्र माना जाता है पूजा पाठ, आध्यात्मिक अभ्यास हेतु, हवन, तर्पण आदि के लिए. हिन्दू ग्रंथो के अनुसार कार्तिक, वैशाख, श्रवण और माघ महिना बहुत महत्त्वपूर्ण होता है. इन महीनो मे लोग पूजा पाठ करते है जिससे की देवी देवताओं को खुश करके सुगम जीवन जिया जा सकता है.  सन २०२० में 8 अप्रैल से वैशाख स्नान शुरू होगा. ये पूर्णिमा का दिन है जब साही स्नान होगा. हालांकि जो लोग जिस पवित्र नदी के समीप है, वे लोग वही पवित्र स्नान का लाभ भी लेते ही हैं. नर्मदा नदी मे भी वैशाख महीने मे स्नान का बहुत महत्त्व होता है. आइये अब जानते है कुछ महत्त्वपूर्ण बाते वैशाख स्नान को लेके :ये महिना भगवान् विष्णु की पूजा के लिए जाना जाता है अतः भक्तगण वैशाख महीने मे पवित्र स्नान करके विष्णु पूजा करते है.इस महीने मे मंत्र जप, तपस्या, दान आदि का महत्त्व बहुत बढ़ जाता है.ये गर्मी की शुरुआत है अतः लोग पुण्य कमाने हेतु पीने के पानी की व्यवस्था करते हैं.ऐसी मान्यता है की सुबह ब्रह्म महुरत मे पवित्र नदी मे स्नान करने से बहुत से पापो का नाश होता है.इस महीने मे भगवान् विष्णु की कृपा को आसान…

Black Magic is What | Kya hai kala jadu

क्या है कला जादू, काले जादू के प्रभाव, कौन इस्तेमाल करते हैं काला जादू, क्या काला जादू का स्तेमाल ठीक होता है , Free encyclopaedia on kala jadu/ black magic in Hindi, Harmful effects of black magic, who use black magic, how to save our self from kalajadu impacts?

काला जादू एक ऐसी विद्या है जिसका स्तेमाल अधिकतर लोगो को हानि ही देता है, काला जादू अदृश्य शक्तियों का बुरा स्तेमाल है और इसमे जिन शक्तियों से मदद ली जाती है वो भी नकारात्मक होती हैं. इसी कारण काला जादू जिसपे किया जाता है और जो करता है उन दोनों का ही नुक्सान करता है. इसका कारण ये है की आप किसी भी बुरी शक्ति से अच्छाई की अपेक्षा नहीं कर सकते हैं.
जिस प्रकार से विज्ञान का अच्छा और बुरा दोनों इस्तेमाल होता है उसी प्रकार प्राचीन विद्याओं का भी अच्छा और बुरा दोनों स्तेमाल किया जाता रहा है , काला जादू भी चमत्कारी विद्याओं का नकारात्मक स्तेमाल है.

कला जादू में स्तेमाल होने वाले सामग्रियां : अगर आप काले जादू से प्रभावित व्यक्तियों को देखे या उन चीजों के बारे में पता लगाएं जिनका स्तेमाल काले जादू को करने के लिए किया जाता है तो उससे भी …

Kaise Bachaaye Ghar Ko Buri Najar Se

कैसे बचाए अपने घर को बुरी नजर से, क्या प्रभाव होता है घर पर बुरी नजर का, जानिए घर को सुरक्षित करने के कुछ आसान उपाय, काले जादू और बुरी नजर मे अन्तर. साधारणतः हम ये सोचते है की बुरी नजर से सिर्फ मानव ही प्रभावित होते हैं परन्तु ऐसा नहीं है, सच्चाई ये है की बुरी नजर से हमारा घर, ऑफिस, काम काज का स्थान, हमारे त्यौहार आदि भी प्रभावित होते हैं जिसके कारण अनावश्यक तनाव और समस्याएं पैदा हो जाती है.


क्या होता है काला जादू

जब नकारात्मक ऊर्जा हमारे घर को घेरती है तो पुरे परिवार के लोग विभिन्न प्रकार के परेशानियों से ग्रस्त हो जाते हैं. यही कारण है की हमारे पुर्वाज और बुजुर्ग लोग घर को बचाने के लिए अलग अलग प्रकार के टोटके करते रहते थे और करते हैं भी जैसे – काला मटका टांग देते हैं, काला कपडा लगा देते हैं, भयानक चित्र लगा देते हैं , निम्बू मिर्ची का प्रयोग करते हैं , यन्त्र लगते हैं आदि .
कोई विश्वास करे या न करे पर नकारात्मक शक्तियों के अस्तित्व को नाकारा नहीं जा सकता है. अंग्रेजी मे बुरी नजर को “evil eye effects” के नाम से जाना जाता है. आइये अब जानते हैं की काला जादू और बुरी नजर मे क्या अंतर होता…