Skip to main content

Posts

Featured Post

Best Jyotish Services in Hindi

Trusted Astrology Services Vastu Services, Spiritual Healing Services ज्योतिष संसार के माध्यम से आप पा सकते हैं अपने कुंडली का विश्लेषण, अपने कुंडली में मौजूद ख़राब ग्रहों के बारे में, अपने ताकतवर ग्रहों के बारे में, भाग्यशाली रत्नों के बारे में, ग्रहों के अनुसार सही कैरियर, सरकारी नौकरी, प्रेम विवाह, संतान योग, काले जादू का निवारण, ज्योतिषीय समाधान आदि के बारे में. Services For You By astrologer astroshree पाइये कुंडली विश्लेषण कुंडली का सटीक विश्लेषण प्राप्त करने के लिए अपना जन्म तारीख, जन्म समय और जन्म स्थान सही –सही भेजे साथ ही अपने प्रश्न भेजे. जानिए अपने कुंडली में मौजूद शक्तिशाली ग्रहो के बारे में. जानिए कौन से ग्रह जीवन में समस्या उत्पन्न कर रहे हैं. किन ज्योतिष कारणों से जीवन में असफलता प्राप्त हो रही है? जानिए कौन से रत्न भाग्योदय में सहायक होंगे? कौन सी पूजा आपके लिए सही है. आपके प्रश्नों का उत्तर, कुंडली अनुसार. Get The Indepth Analysis of your horoscope संपर्क करे ज्योतिष से मार्गदर्शन के लिए >> पाइये कुंडली मिलान व
Recent posts

Vastu Purush Ko Kaise Khush Kare Safalta Ke Liye

वास्तु पुरुष की पूजा क्यों जरुरी है, कैसे करे रोज घर में वास्तु पुरुष की पूजा, नैवेद्य अर्पित करने का मन्त्र जानिए, वास्तु परामर्श | हम सभी वास्तु देवता के बारे में अवश्य जानते हैं वास्तु देवता पृथ्वी के हर कण-कण में मौजूद है जब भी कोई घर दुकान फैक्ट्री इंडस्ट्री हॉस्पिटल आदि कोई भी वास्तु का कार्य होता है तो नियम है कि वहां पर वास्तु देवता की पूजा अवश्य होनी चाहिए | वास्तु देवता का पूजा ना करने पर विभिन्न प्रकार के समस्याओं से वास्तु मालिक को गुजरना पड़ सकता है, इसका कारण यह है की वास्तु देवता को ब्रह्मा जी का आशीर्वाद प्राप्त है कि जब भी कोई वास्तु का कार्य होगा वास्तु में निर्माण होगा वास्तु में गृह प्रवेश होगा तो वहां पर वास्तु पुरुष का पूजन अनिवार्य होगा | Vastu Purush Ko Kaise Khush Kare Safalta Ke Liye इसीलिए किसी भी निर्माण कार्य से पहले वास्तु पुरुष का पूजन किया जाता है | और जो व्यक्ति जानते हुए भी उनकी पूजा नहीं करते हैं उन्हें विभिन्न प्रकार के कष्टों से गुजरना पड़ता है,  उन्हें बात-बात पर विघ्नों, अवरोधों की प्राप्ति होती है | तो इस प्रकार अगर देखा जाए तो वास्तु की पूज

Bhagwad Geeta Safalta Ke Liye

भगवद् गीता क्या है ?, श्री कृष्ण की शिक्षाओं का रहस्य, गीता पढ़ने के लाभ, गीता से लाभ कैसे लें ?, गीता पाठ के माध्यम से समस्याओं का समाधान, वास्तविक सफलता कैसे प्राप्त करें?.  महाभारत के युद्ध के दौरान जब अर्जुन युद्ध के मैदान में अपने सामने सभी रिश्तेदारों को देखकर अवसाद के क्षेत्र में प्रवेश कर गए थे तब श्रीकृष्ण ने उन्हें जीवन के कुछ रहस्यमयी तथ्य बताये थे और ये पाठ 'श्रीमद भगवद गीता' के नाम से प्रसिद्ध हैं। इस पुस्तक में दिए गए श्लोक वास्तव में श्रीकृष्ण के शब्द हैं और इसलिए महान पवित्र हैं और इन्हें कृष्ण भक्तों द्वारा मंत्र के रूप में लिया जाता है।  Bhagwad Geeta Safalta Ke Liye इस गीता के बारे में मुख्य बात यह है कि यह वास्तव में किसी भी धर्म या समुदाय के लिए नहीं है, बल्कि समाज के कल्याण के लिए है। इसने इस रहस्य को उजागर किया है कि एक सफल जीवन कैसे जिया जाए, कर्म योग का क्या महत्व है, जीवन का महत्व क्या है, जीवन की विभिन्न स्थितियों से कैसे निपटा जाए आदि | यदि कोई इसे पढ़े और गंभीरता से चिंतन करे तो फिर इसमें कोई संदेह नहीं है कि इसमें किसी व्यक्ति के संपूर्ण जीवन

Dhan Prapti Ke Liye 10 Asaan Prayog

सफलता के लिए एकादशी पर क्या करें, स्वास्थ्य, धन और समृद्धि के लिए श्रेष्ठ टोटके, सफलता के लिए भगवान विष्णु को क्या चढ़ाएं, एकादशी पर भगवान विष्णु की पूजा कैसे करें, जनिए 10 धन प्राप्ति टोटके एकादशी या ग्यारस के लिए । भारतीय ज्योतिष के अनुसार एकादशी शुभ दिनों में से एक है। इस दिन को ग्यारस भी कहा जाता है। इस दिन का प्रयोग भगवान विष्णु की पूजा के लिए किया जाता है। भगवान विष्णु या वासुदेव इस तिथि के स्वामी हैं। Dhan Prapti Ke Liye 10 Asaan Prayog भारत में लोग इस दिन उपवास रखते हैं और और विशेषकर विष्णु जी की पूजा करते है |कहा जाता है कि कोई भी व्यक्ति ग्यारस या एकादशी पर पूजा करके आसानी से भगवान विष्णु का आशीर्वाद प्राप्त कर सकता है और अपने जीवन को सफल बना सकता है । यहाँ मैं कुछ बहुत ही आसान तरीके प्रदान कर रहा हूँ जिनका उपयोग आप धन, स्वास्थ्य, शांति और समृद्धि को आकर्षित करने के लिए कर सकते हैं। यदि आप जीवन में वित्तीय समस्याओं का सामना कर रहे हैं, यदि आप अपने परिवार में संघर्षों का सामना कर रहे हैं, अगर आप पैसे नहीं बचा पा रहे हैं तो ग्यारस को कुछ आसान टोटके करके आप अपने जीवन में सफ

Tulsi Pooja Ka Mahattw

तुलसी पूजा का महत्त्व, कैसे प्राप्त करे सफलता तुलसी पूजा से, Dev uthni gyaras ko tulsi viavah ka maahttw, jyotishiy salaah. तुलसी विवाह भारत में बहुत ही उत्साह से किया जाता है और ये पूजा देव उठनी एकादशी को किया जाता है कार्तिक महीने में. देव उठनी एकादशी के बाद शुभ कार्यो जैसे विवाह आदि की शुरुआत हो जाती है. ऐसी मान्यता है की देव उठनी एकादशी को भगवान् अपनी योग निद्रा से जागते ४ महीने बाद. पढ़िए  देवउठनी ग्यारस का महत्त्व . ये दिन दिवाली जैसे ही मनाई जाती है. अगर कोई दिवाली पर पूजा नहीं कर पाया है तो वो देवउठनी एकादशी को भी पूजा करके सम्पन्नता को आकर्षित कर सकते हैं. tulsi puja ka mahattw भगवान् विष्णु और तुलसी जी का सम्बन्ध दिव्य है और विचित्र भी. तुलसी का पूजन भारत में हर जगह किया जाता है. तुलसी का एक नाम “वृंदा” भी है. आइये जानते हैं तुलसी और शालिग्राम के पीछे की कहानी : ऐसा कहा जाता है की तुलसी का विवाह एक जालंधर नाम के राक्षस से हुआ था और तुलसी के तप के प्रभाव से कोई भी जालंधर को हरा नहीं पा रहा था. इसी के समाधान के लिए देवतागण भगवान् विष्णु के पास गए और प्रार्थ

Dev Uthni Gyaras Ka Mahattw || देव उठनी एकादशी महत्तव

Dev Uthni Gyaras Ka Mahattw, देव उठनी एकादशी महत्तव,  क्या करे प्रबोधिनी एकादशी को सफलता के लिए. एक ऐसा दिन जिसका हिन्दुओ के लिए बहुत अधिक महत्तव है और वो दिन हैं कार्तिक शुक्ल पक्ष की ग्यारस. इस दिन को प्रबोधिनी एकादशी या फिर देव उठनी ग्यारस भी कहा जाता है. भारत में इस दिन को बहुत ही हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है. dev uthni ekadashi in jyotish ऐसा माना जाता है की भगवान् विष्णु आशाद शुक्ल पक्ष की ग्यारस को क्षीर सागर में विश्राम करने चले जाते हैं और 4 महीने बाद कार्तिक शुक्ल पक्ष की ग्यारस को उठते हैं इसी लिए इस दिन को देव उठनी ग्यारस कहा जाता है. जब विष्णुजी सोते है तो उस समय विवाह आदि शुभ कार्य वर्जित हो जाते हैं और देव उठनी ग्यारस से विवाह आदि के महूरत फिर से शुरू हो जाते हैं. दूसरी तरफ देखे तो इस दिन चातुर्मास भी समाप्त होता है  और मौसम में भी तीव्र बदलाव होने लगते हैं अर्थात तेज ठण्ड शुरू होने लगती है | प्रबोधिनी एकादशी को तुलसी विवाह का भी प्रचलन है जो की विवाह के शुरू होने के संकेत है. अलग अलग प्रान्त में अलग अलग तरीके के रीती रिवाज देखने को मिलते हैं. पढ़ि

Kumbh Raashi ka Prem Jivan

Kumbh rashi ka prem jivan, जानिए कुम्भ राशि की लव लाइफ के बारे मे, कुंडली मिलान विश्वसनीय ज्योतिष से. Kumbh Raashi ka Prem Jivan कुम्भ राशि का स्वामी शनि ग्रह होता है और इस राशि का प्रतिक है एक पानी का लम्बा मटका. शनि के प्रभाव के कारण ये लोग गंभीर, उत्तर्दाइत्त्व का निर्वाह करने वाले, ईमानदार और कड़ी मेहनत करने वाले होते हैं.  जहाँ तक कुम्भ राशि वालो के प्रेम जीवन का सवाल है तो ये लोग बहुत ईमानदार होते हैं अपने प्रेमी के प्रति. वे अपने साथी को वास्तविक प्रेम देना चाहते हैं बस शर्त ये है की इनको प्रेम हो जाना चाहिए. कुम्भ राशि के लोगो को मुक्त होके जीवन जीने की ईच्छा होती है इसी कारण ये अपनी स्वतंत्रता से समझोता नहीं चाहते हैं. कुम्भ राशि के लोग ऐसे ही साथी के खोज में रहते हैं जो इनको समझ सके और इनके स्वतंत्र जीवन में बाधक न बने. इस राशि के लोग ज्यादातर पीछे से काम करना चाहते हैं. नेतागिरी करना इन्हें समझ नहीं आता है. इसी कारण बेक ऑफिस के कार्यो में ये काफी अच्छा काम करते हैं. उच्च अधिकारी में इनके कार्यो की महत्ता का जल्दी समझ जाते हैं. सहायक के रूप में कुम्

Meen Rashi Ka Prem Jivan Aur Jyotish

meen rashi ka prem jivan, जानिए मीन राशि की लव लाइफ के बारे मे, कुंडली मिलान विश्वसनीय ज्योतिष से . Meen Rashi Ka Prem Jivan Aur Jyotish मीन राशि के लोग शरारती, चंचल और दिमागवाले होते हैं. इनके ऊपर गुरु ग्रह का प्रभाव रहता है जिसका सम्बन्ध ही ज्ञान, बुद्धि, शक्ति, मर्दर्शन आदि से है. ज्योतिष मे मीन राशि को दर्शाने के लिए जल में २ मछलियों का स्तेमाल किया जाता है. जहाँ तक प्रेम जीवन का सवाल है तो मीन राशि के लोग बहुत ही संवेदनशील होते हैं एंड भावनात्मक भी. इनको सपनो की दूनिया में रहना पसंद होता है. ये अपने रोमांटिक लाइफ को अपने सपनो के हिसाब से जीना चाहते हैं. मीन राशि के लोग बहुत ही रचनात्मक होते हैं और इसी कारण इनको अपने साथी को खुश करने के बहुत से तरीके पता होते हैं. ये अपने प्रेमी का बहुत ध्यान रखते हैं और इनके पास रहकर कोई भी अपने आपको सुरक्षित महसूस करता है. watch video on love life of pisces people: मीन राशि के लोगो का दिमाग वास्तव में बहुत जल्दी जल्दी बदलता है इसी कारण एक अच्छे साथी को खोजना इनके लिए मुश्किल जान पड़ता है. एक पल में ये किसी को पसंद क

Makar Rashi Ka Prem Jivan

Makar rashi ka prem jivan, जानिए मकर राशि की लव लाइफ के बारे मे, कुंडली मिलान विश्वसनीय ज्योतिष से. Makar Rashi Ka Prem Jivan मकर राशि के लोग शनि ग्रह से ज्यादा प्रभावित रहते हैं इसी कारण ये लोग कर्मठ और सेवा भावी भी होते हैं. परन्तु मन अस्थिर होता है और इनकी प्रकृति गंभीर होती है. जहाँ तक प्रेम जीवन का सवाल है तो ये लोग ईमानदार होते हैं अपने साथी के साथ परन्तु ये बहुत जल्दी अस्थिर हो जाते हैं जो की परेशानी का कारण बनता है और जीवन में बार बार बाधा उत्पन्न करता है. मकर राशि के लोग सच्चा प्रेम ही करना चाहते हैं और एक बार अगर ये किसी से प्रेम में असफल हो जाए या फिर ये धोखा खा जाए तो फिर ये एकांत जीवन जीना पसंद करते हैं. कुछ लोग अपने जैसे साथी की तलाश में आगे बढ़ जाते हैं. Watch video on Makar Rashi : मकर राशि के लोगो को अपने स्टेटस, नाम, ख्याति की बहुत फिक्र रहती है, अतः ये लोग अपने काम को बहुत ईमानदारी से करते हैं और प्रेम जीवन में भी बहुत जिम्मेदार रहते हैं. मकर राशि के लोग अपने परिवार के प्रति भी बहुत जिम्मेदार रहते हैं और इसी कारण परिवार के लोग इन्हें

Dhanu Rashi Aur Prem Jivan

Dhanu rashi ka prem jivan, जानिए धनु राशि की लव लाइफ के बारे मे, कुंडली मिलान विश्वसनीय ज्योतिष से. Dhanu Rashi Aur Prem Jivan धनु राशी वाले लोगो के ऊपर गुरु ग्रह का पूरा प्रभाव रहता है जिसके कारण ये लोग काफी बुद्धिमान होते हैं और विभिन्न विषयो का ज्ञान लेने के लिए हमेशा तत्पर रहते है. ये लोग अपने खुद के बनाए हुए सिद्धांतो पर चलना पसंद करते हैं. धनु राशी के लोग अध्यात्मिक और भौतिक दोनों होते हैं. ये भौतिक सुखो को भी भोगना चाहते हैं और साथ ही अध्यात्मिक विकास भी चाहते हैं. ज्ञान अर्जित करने के लिए धनु राशी वाले यहाँ वहां घुमने के भी शौक़ीन रहते हैं ताकि अनुभव और ज्ञान मिले. ऐसे लोग साहसी होते हैं. जहाँ तक प्रेम जीवन का सवाल है तो धनु राशी के लोग उन्मुक्त और खुला जीवन अपने हिसाब से जीना चाहते हैं अतः इन्हें ऐसा साथी चाहिए जो इनको समझ सके और इनके साथ जीवन का आनंद ले सके. ऐसा बहुत मुश्किल होता है इसी कारण ये लोग अच्छे साथी की तलाश में लगे रहते हैं. Watch video on love life of Dhanu rashi: धनु राशि के लोग बुद्धिमान होते हैं और इस बात का इन्हें गर्व होता है जि