Skip to main content

Posts

Recent posts

Dhan prapti aur sukh prapti ke liye laxmi strot

Dhan prapti ke liye shree laxmi strot, jivan me sukh, shanti aur safalta ko akarshit karne ka asaan upaay,  संस्कृत में श्री लक्ष्मी स्तोत्रम हिंदी अर्थ सहित । ye strot mahapavitra hai iska 3 samay me paath karne wala bhagyashaali purush kuber ke samaan raaja ho sakta hai | laxmi strot ka 5 laakh paath karne par iski siddhi ho jaati hai | jo bhi nirantar 1 mahine tak iska paath karta hai wo maha sukhi hota hai | laxmi strot ka paath subah dophar aur shaam ko karna chahiye aur agar aap gambhir arthik samasya se gujar rahe hain aur koi rasta najar nahi aa raha hai to iska paath nirantar karen poorn vishwaas se | Ye shaktishaali strot maa laxmi ki kripa ko akarshit karta hai, dukho ko dur karta hai, jivan me khushiya laata hai| इन्द्र उवाच ऊँ नम: कमलवासिन्यै नारायण्यै नमो नम: । कृष्णप्रियायै सारायै पद्मायै च नमो नम: ॥1॥ पद्मपत्रेक्षणायै च पद्मास्यायै नमो नम: । पद्मासनायै पद्मिन्यै वैष्णव्यै च नमो नम: ॥2॥ सर्वसम्पत्स्वरूपायै सर्वदात्र्यै नमो नम: । सुखदायै मोक्षदायै सिद्धिदायै नमो नम: ॥

Rakshabandhan aur Hindi Jyotish

रक्षा बंधन और हिंदी ज्योतिष, क्या महत्त्व है रक्षा बंधन का, क्या करे सुख और सम्पन्नता के लिए रक्षा बंधन को ज्योतिष समाधान. rakshabandhan ka mahttw 2022 में 11 अगस्त , गुरुवार को मानेगा भाई बहनों का त्यौहार  रक्षा बंधन और ज्योतिष: रक्षाबंधन जिसे राखी के नाम से भी जानते हैं भारत में मनाया जाता है. ये भाई और बहनों का त्यौहार है और हर बहन इस त्यौहार का इन्तेजार करती है हर साल. राखी के दिन बहन अपने भाई को सुन्दर सा धागा बांधती है जो की उसके प्रेम का प्रतिक है, इससे वो ये भी कहती है की जीवन भर रक्षा करना और प्रेम बनाए रखना. दशको से भारत में ये त्यौहार मनता आ रहा है. राखी का त्यौहार श्रावण मॉस के पूर्णिमा को मानाया जाता है हिन्दू पंचांग के अनुसार.  नोट: राखी कभी भी भद्रा काल में नहीं बांधना चाहिए, इस काल की जानकारी अखबारों और टीवी चैनल पर बताया जाता है समय आने पर.  ज्योतिष के हिसाब से श्रावण महीने की पूर्णिमा बहुत ही महत्त्वपूर्ण होती है. अगर इस दिन कोई दान करे, पूजा पाठ करे तो भाग्योदय होता है. इसीलिए भी ये दिन काफी उत्साह से मानाया जाता है.  इस दिन बहन अपने भाई के कलाई में र

Mata chandi mantra Ke fayde

जीवन में सफलता को आकर्षित करने के लिए, दिव्य ऊर्जाओं के आशीर्वाद को आकर्षित करने के लिए, आभा बढ़ाने के लिए, ऊर्जा चक्रों को सक्रिय करने के लिए मंत्र पाठ सबसे अच्छे अभ्यासों में से एक है। यहां इस लेख में हम चंडी मंत्र के लाभों के बारे में जानेंगे। ॐ ह्रीं श्रीं क्लीं सर्वपूज्ये देवी मङ्गलचण्डिके  ऐं क्रूं फट् स्वाहा | Om hreem shreem kleem sarwapoojye devi mangalchandike aim kroom fat swaha | Mata chandi mantra Ke fayde Benefits Of goddess CHANDI MANTRA recitation यह देवी चंडिका का बहुत शक्तिशाली मंत्र है। यह एक शक्तिशाली चंडिका स्तोत्र से लिया गया है और सभी को इस मंत्र को अवश्य सुनना चाहिए और जीवन में होने वाले परिवर्तनों को महसूस करना चाहिए। देवी चंडिका हमेशा 16 साल की लड़की की तरह छोटी दिखती हैं और बहुत ही सम्मोहक व्यक्तित्व वाली होती हैं। चंडी मंत्र के लाभ, देवी चंडिका मंत्र जीवन की बाधाओं को दूर करने और जीवन में खुशियां लाने के लिए। चंडी मंत्र के लाभ आइये जानते हैं चंडिका मंत्र -जाप करने के लाभ: अगर कोई मांगलिक है या कुंडली में भौम दोष है तो यह मंत्र बहुत मददगार होता है। अग

Nag Panchmi Ka Mahattw In Hindi

Nag panchmi ka mahatw in hindi, नाग पंचमी क्या है और क्यों महत्त्वपूर्ण हैं, क्या करे सफलता के लिए नाग पंचमी को ? हिन्दू धर्म के अन्दर सांप प्रजाति को भी बहुत माना जाता है और लोगो का ऐसा विश्वास है की सांपो के देवता का आशीर्वाद अगर किसी को मिल जाए तो उसका जीवन धन-धान्य से भरपुर हो जाता है. वैदिक ग्रंथो के अनुसार पंचमी तिथि जो की हर महीने आती है नाग पूजा के लिए सर्वश्रेष्ठ मानी जाती है इसी कारण पंचमी को नागो को मारना मना है. Nag Panchmi Ka Mahattw In Hindi आइये अब जानते हैं क्या है नाग-पंचमी? सच्चाई ये है की पंचमी हर महीने 2 बार आती है परन्तु जो पंचमी शरावन महीने में आती है अमवस्या के बाद उसका महत्तव बहुत है और यही दिन नाग-पंचमी के रूप में मनाई जाती है. इसी दिन नाग देवता की पूजा की जाती है जीवन को सुगम बनाने के लिए. अगर किसी के कुंडली में कालसर्प योग है या फिर राहू और केतु परेशान कर रहे हो तो भी नागपंचमी के दिन पूजा से लाभ लिया जा सकता है. 2022 में 02 august मंगलवार  को नाग पंचमी आ रही है जो की बहुत महत्त्वपूर्ण है.  ज्योतिष के अनुसार 2022 के नाग

Naagpanchmi Ko Safalta Ke Liye Kya Kare

नागपंचमी की शक्ति, क्या करे नाग पंचमी को, क्या न करे नाग पंचमी को, कौन सी पूजाएँ लाभदायक हो सकती है नागपंचमी को. Naagpanchmi Ko Safalta Ke Liye Kya Kare एक महत्त्वपूर्ण दिन है नागपंचमी - अगर आपके कुंडली में कालसर्प दोष है, अगर आपके कुंडली में पितृ दोष है, अगर आपके कुंडली में प्रेत दोष है, अगर आपके कुंडली में सर्प दोष है, अगर आप राहू के नकारात्मक प्रभाव से परेशान हैं तो नागपंचमी के दिन आप कर सकते हैं इन दोषों का परिहार. आइये देखे किस प्रकार के अनुष्ठान हो सकते हैं नागपंचमी को - कालसर्प दोष निवारण प्रयोग पितृ दोष निवारण प्रयोग प्रेत दोष दोष निवारण प्रयोग विवाह दोष निवारण प्रयोग राहू दोष निवारण पूजा शिव एवं नाग देवता की कृपा प्राप्त करने हेतु पूजा क्या करना चाहिए नागपंचमी को उज्जवल भविष्य के लिए - नागपंचमी को पंचामृत से आप नाग देवता का अभिषेक कर सकते हैं अपनी मनोकामना के साथ. आप भोलेनाथ का अभिषेक कर सकते है पंचामृत से नागपंचमी को. चन्दन का इत्र आप नाग देवता और भोलेनाथ को अर्पित करे. दूध में मिश्री घोलके आप नाग देवता को अर्पित करे. क्या नहीं करना चाहि

Naagpanchmi Ko Rashi Ke Hisab Se Pooja Kaise Kare

नाग पंचमी का महत्त्व ज्योतिष के हिसाब से, जानिए राशी के अनुसार कैसे करे नागपंचमी को पूजा. नागपंचमी एक अत्यंत महत्त्वपूर्ण दिन है हिन्दुओ के हिसाब से, इस दिन नागदेवता की पूजा होती है और लोग सांपो के महत्त्व को भी जानते हैं. ज्योतिष के हिसाब से पंचमी तिथि नागो को समर्पित है. सावन महीने के शुक्ल पक्ष की पंचमी को नागपंचमी मनाया जाता है जब पुरे भारतवर्ष में लोग शिव मंदिर में जाके या फिर नाग मंदिरो में जाके नागो की पूजा करते हैं. कुंडली में मौजूद कई दोषों का समाधान सिर्फ नागपंचमी को पूजा करने से हो जाता है. Naagpanchmi Ko Rashi Ke Hisab Se Pooja Kaise Kare ऐसी मान्यता है की नागपंचमी को सांपो की पूजा करने से उनकी कृपा से जीवन में स्वास्थ्य, सम्पन्नता, ख़ुशी, संतान सुख आदि की प्राप्ति होती है. इसी कारण हिन्दू लोग नागपंचमी को शिव मंदिरों में विशेष पूजा अर्चना करते हैं. कुंडली में अगर सर्प दोष हो तो नागपंचमी को पूजा करने से दूर हो सकता है. कुंडली में कालसर्प दोष हो तो उसकी शांति इस दिन हो सकती है. कुंडली में विष दोष का समाधान भी इस दिन पूजा करने से होता है. नागपंचमी को प्रेत

Gopal gayatri mantra akarshan aur safalta ke liye

Gopal gayatri mantra akarshan aur safalta ke liye,  Krishn Mantra akarshan shakti ke liyeकृष्ण आकर्षण मंत्र, गोपाल गायत्री मंत्र जप, आकर्षण शक्ति के लिए चमत्कारी कृष्ण मन्त्र | क्या आप भगवान कृष्ण के भक्त हैं, क्या आप अपनी सकारात्मक आभा बढ़ाना चाहते हैं, क्या आप अपने व्यक्तित्व को बदलकर दूसरों पर एक अच्छा प्रभाव डालना चाहते हैं तो इस लेख को पूरा पढ़ने में संकोच न करें? यहां मैं गोपाल गायत्री मंत्र का विवरण प्रदान कर रहा हूं जो हमारी सकारात्मकता, हमारी आकर्षण शक्ति, मन की शक्ति आदि को बढ़ाने के लिए सबसे अच्छा मंत्र है। आकर्षण मंत्र के द्वारा हम जीवन में अपनी अधूरी इच्छाओ को पूरी कर सकते हैं परन्तु शर्त ये है की हमे मन्त्र पर पूरा भरोसा होना चाहिए | गोपलगायत्री मन्त्र का प्रयोग करके हम अपने जीवन में सबकुछ हासिल कर सकते हैं |  भगवन कृष्ण सरे विद्याओं के ज्ञाता थे इसीलिए ऐसा कुछ नहीं जो की उनके वशमे नहीं था | उनके मन्त्र का जप जपने वाले के अन्दर भी जबरदस्त आकर्षण शक्ति को बढ़ा देता है जिसके कारण हम समाज में अपना एक अलग पहचान बना सकते हैं |  Gopal gayatri mantra akarshan aur safalta ke l

Hariyali Amavasya Ka Mahattw

हरियाली अमावस्या कब है २०२२, कौन सी पूजाएँ फायदा देती है हरियाली अमावस्या  को, जनिये सावन अमावस्या का महत्त्व, हरियाली अमावस और ज्योतिष. 2022 में 28 जुलाई , गुरुवार को है हरियाली अमावस्या और गुरु पुष्य का महायोग  सावन का महिना बहुत ख़ास होता है और इस महीने में पड़ने वाले अमावस्या को हरियाली अमावस्या कहते हैं. ये दिन मानसून के महत्त्व को भी बताता है और हर तरफ हरियाली का प्रतिक है. हरियाली अमावस्या को इस दिन विशेषकर हिन्दू लोग अलग अलग प्रकार के कर्म काण्ड करते हैं जीवन को सफल बनाने के लिए. भक्त गण भगवान् शिव की विशेष पूजा अर्चना करते हैं श्रद्धा भक्ति से. Hariyali Amavasya Ka Mahattw आइये जानते हैं की हरियाली अमावस्या को किन किन नामो से जाना जाता है? आन्ध्र प्रदेश में इसे “चुक्काला अमावस्या” के नाम से जाना जाता है. महाराष्ट्र में इसे “गटारी अमावस्या” के नाम से जाना जाता है. उड़ीसा में इसे “चिटालागी अमावस्या” के नाम से मनाया जाता है. गुजरात में इसे “दिवसो” के नाम से जाना जाता है. कर्णाटक में इसे “भीमाना अमावस्या” के नाम से जानते हैं. read about when is haryali am

sarp sukt in hindi

सर्प सूक्तम लाभ, कालसर्प दोष का शक्तिशाली उपाय, नाग देवता को प्रसन्न करने का मंत्र, जहरीले प्रभाव से बचाव, जीवन की बाधाओं को दूर करने का सर्वोत्तम उपाय। ज्योतिष में जब कुंडली का अध्ययन किया जाता है तो विभिन्न प्रकार के दोषों का अध्ययन भी किया जाता है जिसके कारण जातक को अनेक प्रकार की परेशानियों से गुजरना पड़ता है जैसे पितृ दोष, प्रेत दोष, बंधन दोष, कालसर्प योग आदि | सर्प सूक्त बहुत ही प्रभावशाली है जिसका उपयोग कुंडली / जन्म कुंडली में कालसर्प योग के हानिकारक प्रभावों को दूर करने के लिए किया जाता है। sarp sukt in hindi  Benefits of Sarp Suktam यदि आप निम्न प्रकार की समस्याओं का सामना कर रहे हैं तो SARP SUKT का पाठ करना शुरू करें और जीवन में बदलाव देखें: अगर आपको नियमित रूप से सर्प के सपने दिख रहे हैं तो सर्प सूक्त का पाठ करें | अगर स्वप्न में लगातार पितृ दिख रहे हैं तो भी इसका पाठ लाभदायक है | अगर हर कार्य में रुकावटें आ आ रही है | जीवन के हर क्षेत्र में असफलता मिल रही हो । हर समय अवांछित भय बना रहता हो । सांप के काटने का सपना बार बार आता हो । शत्रु बहुत परेशान कर रहे हो | कुंडली म

Kamika Ekadashi se dur hoti hai pareshani

kamika ekadashi 2022.,  कामिका एकादशी का महत्त्व, क्या करें इस दिन, कैसे करे पूजा, कामिका एकादशी व्रत कथा | श्रावण महीने की कृष्ण पक्ष की एकादशी को कामिका एकादशी के नाम से जानते हैं और ये बहुत अधिक महत्त्व रखता है |  २०२२ में कामिका एकादशी 24 जुलाई रविवार को है | एकादशी तिथि 23 जुलाई को दिन में 11:28 पे शुरू होगा और 24 को 1:46 दिन तक रहेगा | Kamika Ekadashi se dur hoti hai pareshani आइये जानते हैं kamika ekadashi के व्रत करने से क्या फायदे होते हैं : इस दिन जो लोग भगवन विष्णु की विधिवत पूजा करते हैं, उपवास रखते हैं उन्हें गंगा स्नान से भी ज्यादा पुण्य फल की प्राप्ति होती है | जो लोग गौ दान नहीं कर सकते हैं अगर वो इस व्रत को करें तो उन्हें गौदान का फल प्राप्त होता है | कामिका एकादशी को भगवन विष्णु की पूजा करने से पितृ भी प्रसन्न होते हैं | इस दिन उपवास करने से नाग देवता भी खुश होते हैं | कुंडली में मौजूद अनेक दोषों की शांति सिर्फ कामिका एकादशी के व्रत और पूजन करने से होती है | जो लोग अध्यात्मिक पथ पर बढ़ना चाहते हैं उनके लिए भी ये दिन बहुत महत्त्व रखता है | जो लोग कामिका एकादशी को विष

Featured Post

Best Jyotish Services in Hindi

Trusted Astrology Services Vastu Services, Spiritual Healing Services ज्योतिष संसार के माध्यम से आप पा सकते हैं अपने कुंडली का विश्लेषण, अपने कुंडली में मौजूद ख़राब ग्रहों के बारे में, अपने ताकतवर ग्रहों के बारे में, भाग्यशाली रत्नों के बारे में, ग्रहों के अनुसार सही कैरियर, सरकारी नौकरी, प्रेम विवाह, संतान योग, काले जादू का निवारण, ज्योतिषीय समाधान आदि के बारे में. Services For You By astrologer astroshree पाइये कुंडली विश्लेषण कुंडली का सटीक विश्लेषण प्राप्त करने के लिए अपना जन्म तारीख, जन्म समय और जन्म स्थान सही –सही भेजे साथ ही अपने प्रश्न भेजे. जानिए अपने कुंडली में मौजूद शक्तिशाली ग्रहो के बारे में. जानिए कौन से ग्रह जीवन में समस्या उत्पन्न कर रहे हैं. किन ज्योतिष कारणों से जीवन में असफलता प्राप्त हो रही है? जानिए कौन से रत्न भाग्योदय में सहायक होंगे? कौन सी पूजा आपके लिए सही है. आपके प्रश्नों का उत्तर, कुंडली अनुसार. Get The Indepth Analysis of your horoscope संपर्क करे ज्योतिष से मार्गदर्शन के लिए >> पाइये कुंडली मिलान व