Skip to main content

Posts

Jyoitish Sewaye Online || ज्योतिष सेवा ऑनलाइन

Jyotish in Hindi, कुंडली का अध्ययन हिंदी में, ज्योतिष से संपर्क के लिए यहाँ क्लिक करे>> , .
ज्योतिष सेवा ऑनलाइन: एक अच्छा ज्योतिष कुंडली को देखके जातक का मार्गदर्शन कर सकता है. कुंडली मे ग्रह विभिन्न भावों मे बैठे रहते हैं और जातक के जीवन मे प्रभाव उत्पन्न करते हैं. अगर कोई व्यक्ति जीवन मे  समस्या से ग्रस्त है तो इसका मतलब है की उसके जीवन इस समय बुरे ग्रहों का प्रभाव चल रहा है और यदि कोई व्यक्ति सफलता प्राप्त कर रहा है तो इसका मतलब है की इस समय उसके जीवन मे शुभ ग्रहों का प्रभाव है.  विभिन्न ग्रहों की दशा-अन्तर्दशा मे व्यक्ति अलग अलग प्रकार के प्रभावों से गुजरता है जिसके बारे एक अच्छा ज्योतिष जानकारी दे सकता है.  ग्रहों का असर व्यक्ति के कामकाजी जीवन पर पड़ता है.
ग्रहों का असर व्यक्ति के व्यक्तिगत जीवन पर पड़ता है.
सितारों का असर व्यक्ति के सामाजिक जीवन पर पड़ता है.
व्यक्ति के पढ़ाई –लिखाई , वैवाहिक जीवन, प्रेम जीवन, स्वास्थ्य आदि पर ग्रह – सितारों का असर पूरा पड़ता है.  आप “www.jyotishsansar.com” माध्यम से पा सकते हैं कुछ ख़ास ज्योतिषीय सेवाए ऑनलाइन :जानिए क्या कहती है आपकी कुंडली आ…
Recent posts

Shaadi Me Deri Aur Jyotish

Shaadi Me Deri Aur Jyotish, विवाह में देरी के ज्योतिषीय कारण, शीघ्र विवाह के लिए ज्योतिषीय उपाय.

ज्योतिष में विवाह में देरी के कारणों को भी गंभीरता से देखा जाता है, शादी सम्बंधित समस्याओं का समाधान भी किया जाता है. इस लेख में शादी से सम्बंधित महत्त्वपूर्ण जानकारी दी जायेंगी.
देर से शादी के कई कारण हो सकते हैं जिसे जानने के लिए योग्य ज्योतिष को कुंडली दिखाना चाहिए.
आइये जानते हैं देरी से शादी के कुछ कारण :अगर कुंडली के ७वें घर में बुरे ग्रहों का प्रभाव हो जैसे की ख़राब सूर्य, ख़राब मंगल, ख़राब राहू आदि तो विवाह में देरी संभव है. कुंडली के सातवें घर में शनि के होने से भी जातक की शादी देर से हो सकती है. अगर कुंडली के ख़ुशी भाव में जो की चौथा घर होता है , उसमे ख़राब ग्रह बैठे हो तो जातक की शादी देर से हो सकती है. लड़की की कुंडली में कमजोर या ख़राब गुरु वैवाहिक जीवन को खराब कर सकता है.लड़के की कुंडली में ख़राब या कमजोर शुक्र वैवाहिक जीवन को ख़राब कर सकता है.अगर सातवां घर कुंडली का खाली हो तो भी विवाह में देरी हो सकती है. अगर सातवे या चोथे घर में मंगल और शनि साथ में बैठे हो तो भी शादी में देरी संभव …

Ashubh Shukra Ke Upaay Jyotish Me

अशुभ शुक्र के उपाय, जानिए कुछ आसान उपाय शुक्र के दुष्प्रभाव को कम करने के, कैसे पायें शुक्र की कृपा.

शुक्र के उपाय जानने से पहले आइये जानते हैं की ख़राब शुक्र और कमजोर शुक्र में क्या अंतर है. अशुभ शुक्र मतलब है की शुक्र शत्रु राशि में बैठा है परन्तु कमजोर शुक्र शुभ और अशुभ दोनों हो सकता है.इस लेख में हम सिर्फ अशुभ शुक्र के उपाय ही देखने वाले है. कमजोर और दूषित शुक्र के उपाय अलग अलग होते हैं अतः भ्रमित नहीं होना चाहिए.शुक्र हमारे जीवन में बहुत महत्त्व रखता है और वैदिक ज्योतिष के हिसाब से शुक्र प्रेम, ऐशो आराम, सेक्स जीवन, विपरीत लिंग से सम्बन्ध, उर्जा, सुखी वैवाहिक जीवन, ग्लैमर की दुनिया आदि से सम्बन्ध रखता है.अगर कुंडली में शुक्र शुभ है तो जातक को सफल और आनंदायक जीवन की प्राप्ति बहुत ही आसानी से हो जाती है. वही दूषित शुक्र अनेको समस्याएं उत्पन्न करता है जीवन में.

आइये जानते हैं की किस प्रकार की समस्याएं उत्पन्न हो सकती है ख़राब शुक्र के कारण:अशुभ शुक्र के कारण जातक को पढ़ाई में परेशानी आ सकती है.अशुभ शुक्र के कारण जातक को वैवाहिक जीवन में समस्या आ सकती है.ये सेक्स करने की ताकत को कम कर …

Chaitra Navratri 2019 Jyotish

जैसा की हम सब जानते है की नवरात्री के 9 दिन बहुत महत्त्वपूर्ण होते हैं, साधना के लिए, मनोकामना पूर्ण करने के लिए, पूजा पाठ करने के लिए. हालांकि साल के सभी नवरात्री महत्त्वपूर्ण और शक्तिशाली होते है परन्तु २०१९ की नवरात्री ख़ास है क्यूंकि इस बार चैत्र नवरात्री 6 अप्रैल, शनिवार से शुरू होके १४, रविवार को पुष्य नक्षत्र तक रहेगा.अगर कोई अपनी मनोकामना पूर्ण करना चाहते है तो उन्हें जरुर माताजी की साधना करना चाहिए इन दिनों मे.
चैत्र महिना हिन्दू पंचांग के हिसाब से पहला महिना होता है इसिलिये भी बहुत महत्त्वपूर्ण है. चैत्र महीने के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा को नवरात्री का पहला दिन होता है. ये दिन गुडी पडवा और चेटी चंड के रूप मे भी मनाया जाता है. चैत्र नवरात्री का नौवा दिन राम नवमी के रूप मे भी मनाया जाता है.  ये गर्मियों के दिन की शुरुआत का संकेत भी है अतः हमे साधना द्वारा शक्ति हासिल करना चाहिए जिससे की हम बदलते हुए वातावरण को पचा सके और स्वस्थ रह सके.  नवरात्री के 9 दिन भक्त देवी के अलग अलग रूपों की पूजा करते है.  आइये अब जानते है की इस चैत्र नवरात्री के दौरान कौन कौन से मुख्य दिन आ रहे है :घट…

Navratrii Ki Mahimaa | नवरात्री महीमा

नवरात्री की महिमा, समस्याओं के प्रकार और उनके समाधान नवरात्रियो में, जानिए ज्योतिष से.

नवरात्री में शक्ति की उपासना की जाती है , इन 9 रात्रियों में दिव्या साधनाए की जाती है ताकि भौतिक और अध्यात्मिक जीवन दोनों ही सफल हो. ये नौ रात्रियाँ साधको , तपस्वियों के लिए अति महत्त्वपूर्ण हैं. शाश्त्रों के हिसाब से अगर नवरात्री में कोई भी साधना श्रद्धा और भक्ती से प्रे विधि विधान से की जाए तो निश्चित ही सफलता मिलती है. इसी कारण लोग नवरात्री का इन्तेजार बड़े ही जोर शोर से करते हैं. शक्ति के बिना हम कुछ भी नहीं हैं.गरीबी, भूखमरी , लड़ाई झगड़े , अमंजास, असफलता लगातार का एक कारण कुलदेवी की अप्रसन्नता भी होती है.
नवरात्री की महिमा : क्या आपने कभी ध्यान दिया है की कुछ लोग नवरात्री मे बहुत ही कठोर साधना करते हैं पर पुरे वर्ष भर आराम से जीवन का आनंद लेते है. यही है नवरात्री की महिमा. ये नौ दिन है शक्ति प्राप्त करने के लिए. ये नौ दिन है देवी को प्रसन्न करने के लिए, ये नौ दिन है समस्त प्रकार के बाधाओं को ख़त्म करने के लिए. अतः कोई भी व्यक्ति नवरात्री में साधनाओ को करते हुए पूरा जीवन अच्छी तरह से बिता सकता है.

Laxmi Prapti Ke Upaay In Hindi

लक्ष्मी प्राप्ति के उपाय हिन्दी में, कैसे प्रसन्न करे लाक्स्मीजी को, वित्तीय समस्याओं को दूर करने के उपाय जानिए, कैसे ज्योतिषीय उपायों द्वारा हम अपने जीवन को सरल और मजबूत बना सकते हैं, स्थिर लक्ष्मी के लिए सरल उपाय.

कौन नहीं चाहता है की महालाक्स्मीजी की असीम कृपा उस पर हो, कौन नहीं चाहता है की एक सुखी और समृद्ध जीवन जिए, कौन नहीं चाहता है की एक सफल जीवन जीए. परन्तु इन सब के लिए जरुरत है धन की और यही कारण है की पूरी दुनिया में लोग धन की देवी लक्ष्मी जी को प्रसन्न करने के लिए प्रयास करते रहते हैं. पुरे विश्व में लोग अलग अलग प्रकार के पूजा पाठ से धन देवी को प्रसन्न करने का प्रयास करते नजर आते हैं. 
इनकी पूजा के लिए अलग अलग प्रकार के त्योहारों में विभिन्न प्रकार के टोटके किये जाते हैं, पूजाए की जाती है, कर्म काण्ड किये जाते हैं. धन की शक्ति को हम अपने जीवन से नजर अंदाज नहीं कर सकते हैं. इसी कारण इस लेख में हम ये जानेंगे की किस प्रकार हम अपने जीवन में धन का आगमन करवा सकते है, किस प्रकार हम धनि बन सकते है कुछ ज्योतिषीय उपाय, कुछ टोटके और कुछ वास्तु के उपाय अपनाकर. 
laxmi prapti ke upaay, apa…

2019 Me Holi Utsav Aur Jyotish

2019 में होली उत्सव और ज्योतिष, जानिए होलिका दहन कब होगा, क्या करे जीवन को सुखी करने के लिए.

होली रंगों का त्यौहार है, इस उत्सव में सभी अपना दुःख भूलकर खुशियों से जिन्दगी को भरने का प्रयास करते हैं. ज्योतिष के हिसाब से होली की रात्रि साधना को करने के लिए अती उत्तम समय होता है, इस रात्रि को तंत्र साधना भी की जाती है, मंत्र साधना भी की जाती है, यंत्र साधना भी की जाती है. विद्वान् लोग कुछ न कुछ विशेष अनुष्ठान करते हैं होली की रात्री को जीवन को सफल बनाने हेतु.

ग्रह दोषों से मुक्ति के लिए भी ये रात्री ख़ास होती है.इस रात्रि को मन्त्र जागृति के लिए शुभ माना जाता है.इस रात्री को देवी देवताओं को प्रसन्न करने के लिए साधना की जा सकती है.कुछ लोग वशीकरण साधना भी इस रात्री को करते हैं.कुछ लोग आय के स्त्रोत को खोलने के लिए भी पूजा करते हैं. अतः होली की रात्री सभी के लिए ख़ास होती है. व्यापारी, गृहणी, प्रेमी, विद्यार्थी, नौकरी पेशा सभी इस रात्री को अपने जीवन को सफल बनाने के लिए पूजा पाठ कर सकते हैं. आइये जानते हैं होलिका दहन का महत्त्व : होलिका दहन एक ऐसी क्रिया है जिसमे हम अपने अन्दर की बुराइयों को …