Gateway Of Jyotish Sansar| Best Astrology Hindi Site

भारतीय ज्योतिष की शक्ति | Power of Indian Astrology

What is jyotish,  ज्योतिष क्या है , ज्योतिष का रहस्य , ज्योतिष के द्वारा क्या क्या द्वारा क्या किया जा सकता है , power of jyotish, use of jyotish, benefits of jyotish in hindi, Why astrology, Astrologer for solutions On line.

ज्योतिष अपने आप में एक रहस्यमय विषय है | जो इसके बारे में जानते है वो इस विषय का लाभ लेकर जीवन में उंचाइयो को छूते हैं।  ज्योतिष के द्वारा ग्रहों के खेल को समझा जाता है, ज्योतिष के द्वारा ग्रहों का प्रभाव हमारे जीवन में कैसा रहेगा, ये देखा जाता है।
Power of Vedic jyotish, Best Astrologer In Google
Why Vedic Jyotish
ज्योतिष को वेदों कि आँखें भी कहा जाता है।  ऐसा कहा गया है "ज्योतिष वेदानां चक्षुः ". ज्योतिष के द्वारा भूत, भविष्य और वर्तमान के बारे में जाना जाता है।  

किसी के जीवन में कब अच्छा समय आयेगा, कब बुरा समय आयेगा, कब भाग्योदय होगा, कब विवाह होगा, क्या करना चाहिए , कब करना चाहिए आदि का ज्ञान बड़ी ही आसानी से पता लगा लिया जाता है।  

ज्योतिष के बारे में गलत फहमी :

Mahakali Yantra ki Shakti In Hindi

Mahakali yantra ki shakti in hindi, काले जादू से सुरक्षा, नकारात्मक ऊर्जा से सुरक्षा के उपाय, दुश्मनों से बचाओ के उपाय.
mahakali ki puja aur shakti
mahakali yantra suraksha ke liye

क्या आप ऐसा यन्त्र ढूँढ रहे है जो आपको बचाए नकारात्मकता से, क्या आप काले जादू से बचना चाहते हैं, क्या आप नजर दोष से बचना चाहते है, क्या आप ऐसी पूजा करना चाहते है जो आपको शक्तिशाली बनाए और बचाए भी नकारात्मकताओ से तो इस लेख में आप जानेंगे ऐसे ही एक शक्तिशाली यन्त्र के बारे में. 

इस यन्त्र को कहते है “महाकाली यन्त्र” दशकों से लोग इस यन्त्र की साधना कर रहे है और माँ काली की कृपा से निर्विघ्न साधना कर रहे हैं. 

पौराणिक कथाओं के हिसाब से महाकाली ने राक्षसों का वध किया था और आज भी अपने भक्तो को बचाती है नकारात्मक शक्त्यों से. 

अगर कोई उर्जित महाकाली यन्त्र को स्थापित करके लगातार पूजा करता है तो उसे आसानी से धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष की प्राप्ति हो जाती है. 

महाकाली शक्ति का प्रतिक है और इसी कारण इनकी साधना से दर से मुक्ति मिलती है, आत्मबल मिलता है, जिससे व्यक्ति सफलता की सीढ़ियाँ चड़ने लगता है. 

अगर भूत प्रेत का उपद्रव हो तो भी महाकाली यन्त्र को स्थापित करके लगातार धुप दीप दिखा के मंत्र जप करने से शांत हो जाता है. 

महाकाली कवच:

Aankhon ko Kaise Rakhe Healthy in Hindi

Aaankh aur  Jyotish, हिन्दी में जानिये कैसे रखें आँखों को स्वस्थ, प्राकृतिक तरीको द्वारा बनाए अपने जीवन को स्वस्थ, आँखों की समस्याओं का ज्योतिषीय कारण.
free tips in hindi to take care of eyes by jyotish online
aankho ko swasth rakhne ke upaay

आँखें है हमारे शारीर का महत्वपूर्ण अंग, ये लगातार कार्य करते रहते हैं जीवन भर और आत्मा के शारीर छोड़ने के बाद भी आँखे कार्य करते रहते हैं. 

इन्ही के द्वारा हम इस सुन्दर संसार को देख पाते हैं, आँखों के द्वारा हम ईश्वर के कृति को देख पाते हैं और आनंद ले पाते हैं. 

परन्तु देखा ये जाता है की हम इसके प्रति ज्यादा जागरूक नहीं रहते और जब आँखों की समस्या उत्पन्न होती है तब सारे इलाज लेने के लिए तैयार हो जाते हैं. परन्तु अगर हम रोजमर्रा की जीवन में कुछ उपायों को करे तो निश्चित ही आँखों को स्वस्थ रख पायेंगे. 

इस लेख में आप जान पायेंगे उन आसान उपायों को जिनके द्वारा आप अपने आँखों को स्वस्थ रख पायेंगे.

आँख और ज्योतिष :
ज्योतिष के हिसाब से दूसरा भाव और बारवा भाव कुंडली का आँखों से सम्बन्ध रखता है और इसी कारण अगर इन दोनों भावो में कोई समस्या हो तो आँखों से सम्बंधित समस्याए उत्पन्न हो सकती है. 
इसके अलावा सूर्य और चन्द्रमा का प्रभाव भी बहुत रहता है आँखों पर. 

1. अगर 2 और 12वें भाव में नीच ग्रह हो या शत्रु राशि के ग्रह हो तो व्यक्ति आँखों से सम्बंधित समस्या से ग्रस्त हो सकता है. 
2. अगर दोनों भावो के स्वामी कमजोर हो तो भी जातक आँखों से सम्बंधित समस्या से ग्रस्त हो सकता है.
3. अगर भावो में ग्रहण योग या अन्य कोई नुकसानदायक योग बन रहा हो तो भी व्यक्ति को समस्या हो सकती है. 
4. मैंने ये भी पाया ही की सूर्य और चन्द्रमा के ख़राब होने पर भी व्यक्ति आँखों से सम्बंधित बिमारी से ग्रस्त हुए हैं. 
इसके अलावा भी बहुत से कारण हो सकते हैं जिनकी जानकारी ज्योतिष से सलाह लेने पर हो सकती है. 

आइये जानते है कुछ ज्योतिषीय उपाय जिनका इस्तेमाल किया जाता है :

Achhe Mehmaan Banne Ke Liye Rakhe In Baato Ka Dhyan

Ache mehmaan banne liye rakhe in baato ka dhyan, आचार का रखे ध्यान मेहमान बनने से पहले, ज्योतिष सलाह सफल यात्रा हेतु.
best tips by jyotish for being a good mehmaan in hindi
mehmaanko ke liye niyam in hindi

वास्तव में देखा जाए तो कहीं जाना आसान है परन्तु एक अच्छा मेहमान बनना बहुत मुश्किल है, अतः कुछ बातों का ध्यान अवश्य रखना चाहिए जिससे की लोग आपको याद रखे और समाज में आपकी एक अलग छवि बने. ये सिर्फ व्यवहार होता है की लोग हमे याद करते हैं, व्यवहार द्वारा हम किसी के दिल में राज कर सकते हैं और शुभकामनाये भी प्राप्त कर सकते हैं. 

एक कड़वा सच ये है की कुछ लोग मेहमानों के नाम से ही घबराते हैं उसका कारण है उनके कुछ कडवे अनुभव. कुछ मेहमान तो समय को यादगार बना जाते हैं और लोग उन्हें जाने नहीं देना चाहते पर कुछ लोग जब आते हैं तो उनके साथ आती है कई मुसीबतें जिन्हें सहन करना असंभव सा हो जाता है और परिणाम होता है संबंधो में खटास. 

आइये जानते हैं मेहमान कौन होता है?
मेहमान वो है जो कुछ दिनों के लिए कही पर किसी के पास रहने जाता है किसी विशेष कारण से. वो कारण व्यक्तिगत भी हो सकता है, सामाजिक भी हो सकता है और ऑफिसियल भी हो सकता है. 

जब भी मेहमान बनने जाएँ तो ध्यान रखिये कुछ बातो का:

Pitra Dosha Karan aur Nivaran In Hindi

क्या होता है पितृ दोष, क्यों होता है पित्र दोष, कैसे मुक्ति पायें पितृ दोष से, कैसे पायें सफलता जीवन में ज्योतिष द्वारा.
best pitra dosha remedies in hindi with details in google
pitra dosha in hindi

कुंडली में पितृ दोष एक महत्वपूर्ण दोष होता है और इसके कारण जातक को बहुत गंभीर परिणाम भुगतने होते हैं. पितर दोष के कारण जीवन में हर क्षेत्र में संघर्ष बढ़ जाता है अतः ये जरुरी है की इसके निवारण के उपाय किये जाए समय समय पर. 

इससे पहले ले उपाय करे , ये जरुरी है की हम समझे की पितृ दोष वास्तव में होता क्या है और कैसे इससे मुक्ति पाई जाए. 

आइये जानते हैं पितर दोष क्या होता है?
मृत्यु एक सच है जिसको किसी भी हालत में नकार नहीं सकते हैं और अगर कोई अपनी जिन्दगी पूर्ण रूप से जी कर, समस्त इच्छाओं को पूर्ण करके शांति से शारीर छोड़ता है तो उसकी सद्गति होती है परन्तु इसके विपरीत अगर कोई व्यक्ति अशांत रहता है, परेशान रहता है, किसी प्रकार के व्याधि से ग्रस्त रहता है, बहुत सारी अधूरी इच्छाएं रह जाती है और ऐसे समय में शारीर छोड़ता है तो उसकी मुक्ति संभव नहीं रहती है , ऐसी आत्मा भटकती रहती है और उसके कारण उनके वंसज को भी परिणाम भुगतना होता है. 

ये हमारा कर्तव्य है की हम अपने पितरो के नाम से श्राद्ध करें, तर्पण करे और उनके उच्च गति के लिए प्रार्थना करे अन्यथा उनके श्राप का असर जीवन में दिखाई देता है. 

कुंडली में पितृ दोष: