vedic jyotish from India

हिंदी ज्योतिष ब्लॉग ज्योतिष संसार में आपका स्वागत है

पढ़िए ज्योतिष और सम्बंधित विषयों पर लेख और लीजिये परामर्श ऑनलाइन

Contact Jyotish || ज्योतिष परामर्श

ज्योतिष समाधान केंद्र, ऑनलाइन ज्योतिष सेवा, ज्योतिष परामर्श केंद्र हिंदी में, वैदिक ज्योतिष परामर्श केंद्र.
ज्योतिष समाधान केंद्र, ऑनलाइन ज्योतिष सेवा, ज्योतिष परामर्श केंद्र हिंदी में, वैदिक ज्योतिष परामर्श केंद्र.
jyotish paramarsh kendr online

अगर आप विश्वसनीय ज्योतिषीय सेवा चाहते हैं अपने जीवन को सफल बनाने के लिए तो jyotishsansar.com के माध्यम से आप ज्योतिष से संपर्क करके सलाह ले सकते हैं.

अगर आप जानना चाहते हैं अपने कुंडली में मौजूद शक्तिशाली ग्रहों के बारे में , अगर आप जानना चाहते हैं अपने कुंडली में मौजूद कमजोर ग्रहों के बारे में, अगर आप जानना चाहते हैं ग्रहों के जीवन पर प्रभाव के बारे में तो अभी सलाह ले सकते हैं ऑनलाइन ज्योतिष से.

आप पा सकते है सटीक भविष्यवाणी ज्योतिष के नियमो के अनुसार, इस ब्लॉग में आप फ्री ज्योतिष के लेखो को भी पढ़ सकते हैं और अपना ज्ञान बढ़ा सकते हैं रोज, किसी भी समय.

ये ज्योतिषीय ब्लॉग रोज अपडेट किया जाता है ज्योतिष द्वारा ताकि सभी को सही और वर्त्तमान में ग्रह दशाओं की जानकारी भी मिला करे. अतः जानिए ग्रहों में होने वाले बदलाव और उनके जीवन में प्रभाव को हिंदी ज्योतिष द्वारा.

यहाँ आपके द्वारा भेजी गई जानकारी को पूर्णतः गुप्त रखा जाता है.
ज्योतिष स्वयं ही हर कुंडली को देखते हैं और भविष्यवाणी करते हैं. ज्योतिष एक विज्ञान है जीवन के रहस्यों को समझने का. ज्योतिष कुंडली को देख के जीवन में होने वाले घटनाओं को समहते हैं. इससे जीवन में आने वाले ख़राब समय, अच्छे समय के बारे में पता लगाया जा सकता है.
  • पाइए समाधान कुंडली दिखवा के कालसर्प योग का
  • जानिए क्या कारण है प्रेम संबंधो में खटास का वैदिक ज्योतिष के हिसाब से.
  • जानिए काले जादू का असरतो कही जीवन को ख़राब नहीं कर रहा है.
  • जानिए भविष्य वक्ता से भविष्यवाणियो को कुंडली के आधार पर
  • जानिए क्या समाधान हो सकता है वास्तु दोषों का . ;
  • आप सलाह ले सकते हैं बिमारिओ से छुटकारे के लिए भी
  • आप संपर्क कर सकते हैं कुंडली मिलान के लिए सुखी वैवाहिक जीवन के लिए.
  • जानिए समाधान मंगल दोष का वैदिक ज्योतिष में
  • पाइये समाधान ग्रहण योग का कुंडली में
  • जानिए कैसे ग्रह प्रभावित करते हैं काम काजी जीवन को, व्यक्तिगत जीवन को
  • जानिए कैसे महादशा और अन्तर्दशा में जीवन में फर्क पड़ता है.
  • आप संपर्क कर सकते हैं हस्त रेखा के लिए, अंक गणित द्वारा भविष्यवाणी के लिए, कुंडली दिखवाने के लिए, भाग्यशाली रत्नों के लिए.

जानिए ज्योतिषीय परामर्श शुल्क के बारे में











कृपया consulting Fees निम्न खाते में जमा करे :

खाता धारक का नाम : ओम प्रकाश भटनागर
बैंक का नाम : ICICI BANK
खाता संख्या : 030001002297
NEFT/RTGS हेतु : ICIC0000300
IFSC CODE
Branch : Ujjain

कुंडली दिखवाने के लिए निम्न जानकारियों को भेजे -

email to –askjyotishsansar@gmail.com


काला जादू से का पता लगाने के लिए निम्न जानकारी भेजे-


अंक गणित द्वारा भविष्यवाणी के लिए निम्न जानकारी भेजे


हस्त रेखा के लिए निम्न जानकारी भेजे -


वास्तु समाधान के लिए निम्न जानकारी भेजे -


email to -askjyotishsansar@gmail.com

Online jyotish help
Jyotish sewa online
ज्योतिष समाधान केंद्र, ऑनलाइन ज्योतिष सेवा, ज्योतिष परामर्श केंद्र हिंदी में, वैदिक ज्योतिष परामर्श केंद्र.

Shani Amavas Ka Mahatw In Hindi

Shani amavas ka mahatwa in hindi, कैसे छुटकारा पायें शनि के बुरे प्रभाव से, शनि अमवस्या को क्या करे सफलता के लिए?, शनि के टोटके, शनि पीड़ा से मुक्ति के उपाय.
shani amavasya ko kya kare khas safalta ke liye
Shani amvasya significance in hindi
हिन्दू परंपरा के अनुसार शनि अमवस्या का बहुत अधिक महत्तव है. इस दिन पवित्र नदियों के किनारे मैले जैसा वातावरण हो जाता है, लोग पवित्र नदियों में स्नान करते है और नदी तट पर ही पूजा पाठ आदि करते हैं कृपा प्राप्त करने के लिए. इस दिन पितृ शांति की पूजा होती है, काले जादू से मुक्ति हेतु भी ये दिन विशेष महत्तव रखता है, नजर दोष, उपरी हवा से बचाव के लिए भी इस दिन विशेष क्रियाये की जाती है. इस दिन शनि पूजा का भी बहुत लाभ मिलता है. इसी कारण शनिवार को पड़ने वाले अमावस्या का बहुत अधिक महत्तव होता है. 
तंत्र के हिसाब से भी ये दिन ख़ास महत्तव रखता है. जानकार लोग इस दिन शक्ति प्राप्त करने हेतु विशेष साधना करते हैं. नकारात्मक विचारो से ग्रस्त लोग इस दिन लोगो को नुक्सान पहुचाने हेतु क्रियाएं करते हैं अतः ये जरुरी है की सावधानी बरती जाए.
अगर किसी जातक के कुंडली में ग्रहण योग है या फिर शनि नीच का है तो ऐसे में उनको इस दिन बहार नहीं निकलना चाहिए और पूजा पाठ में दिन रात बिताना चाहिए. राक्षस गण वालो को भी सावधानी बरतनी चाहिए. जिनकी कुंडली में ग्रहों का बल कम हो उन्हें भी इस दिन ज्यादा घूमना नहीं चाहिए. शनि अमावस्य को कोई नया कार्य आरम्भ न करे. 
शनि अमावस्या से डरने की जरुरत नहीं है अपितु ये एक ख़ास दिन है जब हम देविक कृपा आसानी से प्राप्त कर सकते हैं अतः इस दिन श्रद्धा और विश्वास से पूजा पाठ करना चाहिए. 

आइये अब जानते हैं की किनके लिए शनि अमावस्या को किनके लिए पूजा सबसे ज्यादा लाभदायक सिद्ध हो सकती है?

Bhagya Rekha Haatho Mai

जानिए भाग्य रेखा को और इसके जीवन में प्रभाव, क्या करे अगर भाग्य साथ न दे, जानिए हाथ देखने के कुछ तरीके.
जानिए भाग्य रेखा को और इसके जीवन में प्रभाव, क्या करे अगर भाग्य साथ न दे, जानिए हाथ देखने के कुछ तरीके.
bhagy rekha ka jivan par prabhav

भाग्य हमारे पुरे जीवन को प्रभावित करता है, हर घटना जो घट रहा है जीवन में उसमे भाग्य का खेल चल रहा है. अगर भाग्य साथ दे किसी का तो इसमें शक नहीं की वो इस जीवन में अपार सफलता आसानी से प्राप्त कर सकता है.
  • अच्छा भाग्य व्यक्तिगत जीवन को अच्छा करता है.
  • अच्छा भाग्य कामकाजी जीवन को भी अच्छा करता है.
  • अच्छा भाग्य कामकाजी जीवन को भी अच्छा करता है.
  • अच्छा भाग्य प्रेम जीवन को भी मजेदार बना देता है.

आइये जानते हैं भाग्य रेखा को हाथो में:

हमारे हथेली में एक रेखा ऐसी होती है जो की हथेली के तली से शुरू होक शनि पर्वत की तरफ जाती है. इस रेखा को भाग्य रेखा कहा जाता है. इस रेखा का अध्ययन ये बताता है की जातक जीवन में कितना संघर्ष करता होगा.

आइये जानते हैं अच्छे भाग्य रेखा की क्या पहचान है:

अच्छी भाग्य रेखा वो होती है जो की पतली परन्तु गहरी होती है. इसमें किसी प्रकार का कटाव नहीं दीखता है अर्थात इसमें किसी प्रकार की आदि तिरछी लाइन नहीं होती है. अगर ऐसी रेखा किसी के हाथ में हो तो वो जातक बहुत भाग्यशाली होता है, ऐसे जातक के जीवन में स्वास्थ्य, सम्पन्नता, मान-सम्मान आसानी से आ जाता है.

आइये जानते हैं की भाग्य रेखा में उम्र को कैसे जाने?

भाग्य रेखा में उम्र के हिसाब से घटनाओं को जानने के लिए इसे बराबर भागो में बांटा जाता है. शुरुआत करे ५ सालो से और ५ सालो के हिसाब से रेखा को बांटते चले.

आइये अब जानते हैं कुछ ख़ास बाते भाग्य रेखा के बारे में :

  1. जिग जेग भाग्य रेखा अस्थिरता को प्रदर्शित करता है व्यक्तिगत और कामकाजी जीवन में. ऐसे लोग एक ही कार्य में स्थिर नहीं रह पाते हैं और संतुष्टि को पाने के लिए इधर उधर घूमते रहते हैं. ऐसे जातक जॉब भी जल्दी जल्दी बदलते रहते हैं. ऐसे लोग अगर व्यापार में हो तो जल्दी जल्दी बदलाव करते है जो की निराशा भी देता है कभी कभी.
  2. एक लम्बी, गहरी, बिना टूटी भाग्य रेखा सफल जीवन का प्रतिक है. ऐसे जातक अपने इच्छित क्षेत्र में सफलता प्राप्त कर लेते हैं और जीवन का आनंद अपने हिसाब से उठाते हैं.
  3. अगर भाग्य रेखा का अंत मस्तिष्क रेखा पर हो तो इसका अर्थ है की जीवन के मध्य में से जातक को पतन देखना पड़ सकता है या फिर यूँ कहे की जीवन में उतार देखना पड़ सकता है. ऐसे में निर्णय गलत होने से हानि हो सकती है आदि.
  4. अगर किसी जगह पर आके भाग्य रेखा रास्ता बदले तो इसका अर्थ है की उस उम्र में जातक जॉब बदलेगा या फिर कोई बड़ा निर्णय लेगा.
  5. अगर भाग्य रेखा के साथ कोई और रेखा भी बढ़ता हुआ दिखे तो इसका अर्थ है की भाग्य ज्यादा मजबूत होने वाला है. इससे सफलता के रास्ते खुलते हैं. ऐसे लोगो के एक से अधिक आय के स्त्रोत होते हैं. और ऐसे लोगो को दोस्तों, रिश्तेदारों का साथ भी खूब मिलता है.
  6. हाथो में भाग्य रेखा का न होना कर्मठ व्यक्ति को बताता है. ऐसे जातक खूब मेहनती होते हैं और अपनी उन्नति के लिए वे खुद ही जिम्मेदार होते हैं. भिक्षुको के भी हाथो में भाग्य रेखा का अभाव दीखता है.

Hatho Mai Parwat Aur Vaivahik Jivan

क्या होते हैं पर्वत, पर्वतों का प्रभाव वैवाहिक जीवन में क्या पड़ता है, जानिए नवग्रहों को पर्वतों से . 
क्या होते हैं पर्वत, पर्वतों का प्रभाव वैवाहिक जीवन में क्या पड़ता है, जानिए नवग्रहों को पर्वतों से .
Hatho Mai Parwat Aur Vaivahik Jivan
हस्त रेखा विज्ञान एक अदभुत विज्ञान है जिसके द्वारा जीवन को देखा जाता है. हस्त रेखा के अंतर्गत भविष्यवाणी के लिए साधारणतः रेखाओं और पर्वतों का स्तेमाल किया जाता है. हस्तरेखा विशेषज्ञ हाथो का अध्ययन करके बहुत कुछ जान जाते हैं.
इस लेख में हम जानेंगे पर्वतों का क्या प्रभाव होता है जीवन में, उसके वैवाहिक जीवन में. उससे पहले जानते हैं की-
पर्वत क्या होते हैं?
उंगलियों के नीचे का उठा हुआ भाग जो होता है उसे पर्वत कहते हैं. हर व्यक्ति में पर्वत अलग अलग प्रकार के होते है. किसी के पर्वत उठे होते हैं, किसी के पर्वत दबे होते हैं, इनके अध्ययन से भी जीवन के बारे में बहुत कुछ जाना जाता है. 

आइये जानते हैं की पर्वतों का वैवाहिक जीवन पर क्या प्रभाव हो सकता है :

चन्द्र पर्वत :

अगर चन्द्र पर्वत ज्यादा उठा हुआ हो तो इसका मतलब है की जातक अस्थिर बुद्धि का है साथ ही विपरीत लिंग के पीछे भी रह सकता है जिसके कारण वैवाहिक जीवन खराब हो सकता है.
चन्द्र पर्वत के होने वाले समस्या से निजात पाने के लिए निम्न उपाय अपनाए जा सकते हैं.
  1. रोजाना शिवलिंग का अभिषेक करे दूध और जल मिला के.
  2. पूर्णिमा की रात्रि को चन्द्र देव को शहद, दूध और जल मिला के अर्पित करे.
  3. सफ़ेद चीजो का दान करे और माता का आशीर्वाद नियमित ले.
  4. शमशान में चांदी या चावल दबाये.
  5. चन्द्र शांति पूजा भी लाभदायक सिद्ध होगी.

मंगल पर्वत :

मंगल पर्वत पर ज्यादा उभार जातक को गुस्सेल बनता है, बेसब्र भी बनाता है, इसके कारण वैवाहिक जीवन में समस्या उत्पन्न होने लगती है.
मंगल पर्वत से होने वाले समस्या को कम करने के लिए निम्न उपाय किये जा सकते हैं:
  1. मंगलवार को १ मुट्ठी मसूर की दाल को लाल कपडे में बाँध कर दान करे.
  2. मंगल शांति पूजा करवाए.
  3. हनुमान चालीसा का पाठ रोज करे या फिर कम से कम मंगलवार को जरुर करे. हनुमानजी के चरणों का सिन्दूर से तिलक भी जरुर लगाएं.

बुध पर्वत:

अगर बुध पर्वत ज्यादा उभर जाए तो जातक अस्थिर मन का हो जाता है परन्तु अगर ये पर्वत समता लिए हो तो जातक बहुत देखभाल करने वाला होता है. अगर बुध पर्वत के कारण परेशानी आ रही हो तो निम्न उपाय लाभदायक हो सकते हैं-
  1. एक हरे बोतल में गंगा जल भर के पीपल पेड़ के पास में दबा दे.
  2. बुधवार का उपवास करे और गाय को हरी घास खिलाये.
  3. बुधवार को भगवान् गणेश की पूजा करे और उन्हें लड्डू का भोग लगाए.

गुरु पर्वत :

Jyoitish Sewaye Online || ज्योतिष सेवा ऑनलाइन

ज्योतिष सेवा ऑनलाइन

एक अच्छा ज्योतिष कुंडली को देखके जातक का मार्गदर्शन कर सकता है. कुंडली मे ग्रह विभिन्न भावों मे बैठे रहते हैं और जातक के जीवन मे प्रभाव उत्पन्न करते हैं. अगर कोई व्यक्ति जीवन मे 
free jyotish, hindi jyotish, vedic jyotish online, google jyotish
hindi jyotish sewa online
समस्या से ग्रस्त है तो इसका मतलब है की उसके जीवन इस समय बुरे ग्रहों का प्रभाव चल रहा है और यदि कोई व्यक्ति सफलता प्राप्त कर रहा है तो इसका मतलब है की इस समय उसके जीवन मे शुभ ग्रहों का प्रभाव है. 
विभिन्न ग्रहों की दशा-अन्तर्दशा मे व्यक्ति अलग अलग प्रकार के प्रभावों से गुजरता है जिसके बारे एक अच्छा ज्योतिष जानकारी दे सकता है. 
ग्रहों का असर व्यक्ति के कामकाजी जीवन पर पड़ता है.
ग्रहों का असर व्यक्ति के व्यक्तिगत जीवन पर पड़ता है. 
सितारों का असर व्यक्ति के सामाजिक जीवन पर पड़ता है. 
व्यक्ति के पढ़ाई –लिखाई , वैवाहिक जीवन, प्रेम जीवन, स्वास्थ्य आदि पर ग्रह – सितारों का असर पूरा पड़ता है. 

आप “www.jyotishsansar.com” माध्यम से पा सकते हैं कुछ ख़ास ज्योतिषीय सेवाए ऑनलाइन :

  • जानिए क्या कहती है आपकी कुंडली आपके वैवाहिक जीवन के बारे मे ?, कब होगा विवाह, कैसा रहेगा वैवाहिक जीवन, क्यों परेशानी आ रही है वैवाहिक जीवन मे, ज्योतिष के हिसाब से क्या करें सुखी वैवाहिक जीवन के लिए.
  • अगर प्रेम जीवन मे परेशानी आ रही है तो भी आप ज्योतिष के हिसाब से कुंडली मिलवा के जान सकते हैं की क्यों आ रही है प्रेम मे खटास, कैसे बनाए प्रेम को बेहतर, कैसे मजबूत करे संबंधो को. कौन सी पूजा या रत्न शुभ रहेगा प्रेम जीवन के  लिए. 
  • जानिए क्या कहती है कुंडली आपके कामकाजी जीवन के बारे मे, क्यों बॉस खुश नहीं है , क्यों व्यापार नहीं चल रहा है, कब होगा भाग्योदय. 
  • जानिए अपने स्वास्थ्य समस्याओं के ज्योतिषीय कारणों को , जानिए कैसे ग्रह बिगाड़ते हैं जीवन को, जानिए कैसे ठीक कर सकते हैं स्वास्थय को ज्योतिष के उपायों के द्वारा.
  • अगर आप काले जादू से परेशान है तो भी आप ज्योतिष द्वारा मार्ग दर्शन प्राप्त कर सकते हैं. अगर आप नजर दोष से परेशान है , बार बार की कोशिशे भी काम नहीं कर रही है तो जरुर परामर्श ले और दूर करे समस्याओं को ज्योतिष के माध्यम से.