भारतीय ज्योतिष की शक्ति | Power of Indian Astrology

What is jyotish,  ज्योतिष क्या है , ज्योतिष का रहस्य , ज्योतिष के द्वारा क्या क्या द्वारा क्या किया जा सकता है , power of jyotish, use of jyotish, benefits of jyotish in hindi, Why astrology, Astrologer for solutions On line.

ज्योतिष अपने आप में एक रहस्यमय विषय है | जो इसके बारे में जानते है वो इस विषय का लाभ लेकर जीवन में उंचाइयो को छूते हैं।  ज्योतिष के द्वारा ग्रहों के खेल को समझा जाता है, ज्योतिष के द्वारा ग्रहों का प्रभाव हमारे जीवन में कैसा रहेगा, ये देखा जाता है।
Power of Vedic jyotish, Best Astrologer In Google
Why Vedic Jyotish
ज्योतिष को वेदों कि आँखें भी कहा जाता है।  ऐसा कहा गया है "ज्योतिष वेदानां चक्षुः ". ज्योतिष के द्वारा भूत, भविष्य और वर्तमान के बारे में जाना जाता है।  

किसी के जीवन में कब अच्छा समय आयेगा, कब बुरा समय आयेगा, कब भाग्योदय होगा, कब विवाह होगा, क्या करना चाहिए , कब करना चाहिए आदि का ज्ञान बड़ी ही आसानी से पता लगा लिया जाता है।  

ज्योतिष के बारे में गलत फहमी :

Santan Prapti Yoga Kundli Mai In Hindi

कुंडली में संतान प्राप्ति योग, कुंडली में कैसे जाने संतान सुख के बारे में, क्या करे स्वस्थ संतान प्राप्ति के लिए ज्योतिष के अनुसार, संतान प्राप्ति में बाधा और समाधान ज्योतिष द्वारा. Santan yoga in kundli, hindi jyotish to know about santan problems remedies.
santan prapti ke upaay aur kundli main santan yog jaaniye
santan yog kundi mai

जीवन में विवाह उपरान्त संतान का होना एक महात्वपूर्ण घटना होती है, ये पति और पत्नी को एक नई दृष्टि प्रदान करती है और जीवन में महत्वपूर्ण बदलाव लाती है. ऐसे बहुत से लोग है जो संतान सुख से वंचित है और संतान प्राप्ति के लिए खूब जातन करते हैं परन्तु सफल नहीं हो पा रहे हैं. 

इसका कारण ज्योतिष द्वारा पता लगाया जा सकता है. कुंडली हमारे जीवन का आइना है अतः इसके द्वारा हम बहुत कुछ जान सकते हैं. कुंडली में 12 भाव होते हैं और सभी अलग अलग विषय से जुड़े है जिनका अध्यन कई रहस्यों से पर्दा उठा देता है जो की उन्सुल्झे है. संतान नहीं होने के कारण भी ज्योतिष द्वारा जाना जा सकता है. 

इस लेख में संतान समस्या के कारण और समाधान पर प्रकाश डाला जा रहा है. क्यों आती है है समस्याए संतान प्राप्ति में, क्यों होता है गर्भपात , कैसे प्राप्त करे स्वस्थ संतान.

जीवन में संतान का महत्व :

Najar Kyu Lagti Hai Janiye Hindi Mai

बुरी नजर क्यों लगती है, कैसे कोई बर्बाद हो जाता है, कैसे हम अपने आप को बचा सकते हैं, कैसे अपने व्यापार को बचाए, कैसे अपने परिवार को बचाए बुरी नजर से. 
बुरी नजर क्यों लगती है, कैसे कोई बर्बाद हो जाता है, कैसे हम अपने आप को बचा सकते हैं, कैसे अपने व्यापार को बचाए, कैसे अपने परिवार को बचाए बुरी नजर से.
kyu lagti hai najar

बुरी नजर के सम्बन्ध मे बहुत से email प्राप्त होने के बाद मे ये लेख लिख रहा हूँ जिससे की पाठको को इसकी जानकारी हो और सभी एक सुरक्षित जीवन जी सके. मुझे जो अनुभव हुआ वो लिख रहे है. इस लेख को सरल भाषा मे लिखा जा रहा है जिससे की सभी इसे समझ सके. 

हमने ये देखा है अक्सर की जब की कोई महत्त्वपूर्ण आयोजन घर मे होता है तो घर के कोई बुजुर्ग कुछ वास्तु लेके घुमा के बहार फेक देते हैं, कुछ लोग जला देते हैं कुछ काट करके फेकते हैं आदि. ये बरसो से प्रचलित टोटके है जिनसे की बुरी नजर को हटाया जाता है और अपने परिवार को सुरक्षित रखा जाता है. 

हम जलनेवाले लोगो के अस्तित्व को नकार नहीं सकते हैं, हम बुरी शक्तियों के अस्तित्व को भी नहीं नकार सकते हैं. मेरे अनुभव के अनुसार ऐसे बहुत लोग है जिनके पास जन्म से ही बहुत सी शक्तियां होती है. वो किसी को भी अपनी सोच और नजर से बर्बाद कर सकते है. कुछ लोगो को इस बारे मे पता होता है और कुछ को नहीं. कुछ ऐसे लोग जिनका दिमाग भी नकारात्मक होता है, किसी को भी बढ़ते हुए नहीं देख सकते हैं और इसिलिये कुछ न कुछ समस्या उत्पन्न करते रहते हैं अपने विचारो और निगाह से.
ऐसी प्रभाव को हम “बुरी नजर ” कहते हैं. ऐसे लोग जब किसी को बुरी नजर से देखते हैं या फिर टोक देते हैं तो जीवन मे समस्याएं उत्पन्न होने लगती है. अतः इनसे बचना जरुरी है. 

हमने ये भी देखा है की :
  • कुछ लोग घर बनने की जगह पर खतरनाक चेहरा लगा देते हैं.
  • कुछ लोग घर के ऊपर काला मटका टांग देते हैं.
  • कुछ लोग सांप का फोटो भी लगते हैं.
  • कुछ लोग निम्बू और मिर्ची का प्रयोग करते हैं.
  • ये सभी नकारात्मक ऊर्जा को रोकने के लिए काम मे आती है बरसो से. 

आइये अब जानते हैं की कौन लोग बहुत आसानी से बुरी नजर के प्रभाव मे आ जाते हैं:
  • जिनका गण राक्षस होता है कुंडली मे .
  • जिनका लग्न कमजोर होता है.
  • जिनके कुंडली मे ग्रहण योग होता है.
  • जिनके कुंडली में राहू और केतु ख़राब होते हैं.
  • जिनके कुंडली मे ख़राब ग्रह बहुत शक्तिशाली होते हैं आदि.
अतः अगर ग्रहों की स्थिति कुंडली मे ठीक नहीं है तो भी व्यक्ति बहुत आसानी से बुरी नजर से पीड़ित हो जाता है. बहुत लोगो को लगता है की किसी ने काला जादू कर दिया है पर ऐसा वास्तव मे नहीं होता है. 

आइये अब जानते हैं बुरी नजर के कुछ प्रभाव:

Santan Mai Deri Ke Jyotishiy Karan Aur Samadhan

Santan Mai Deri Ke Jyotishiy Karan Aur Samadhan, क्यों देरी होती है संतान होने में , ज्योतिष और संतान प्राप्ति , संतान प्राप्ति हेतु ज्योतिषीय मार्ग दर्शन.
santan prapti aur jyotish, santan hone mai deri ke jyotishiy karan
santan prapti mai deri ke karan

एक सुन्दर, स्वस्थ संतान की चाह हर दंपत्ति को होती है परन्तु कुछ लोगो को इसमे बहुत परेशानी होती है, समय पर संतान न होना कई परेशानियों को जन्म देता है. कुछ दंपत्ति तो पूर्ण रूप से काबिल होने के बावजूद भी संतान लाभ से वंचित रह जाते हैं , इसके कई कारण हो सकते हैं परन्तु उन सिर्फ ज्योतिष द्वारा ही जाना जा सकता है. 
कुंडली में ग्रहों को देखकर बहुत कुछ जाना जाता है जो की ऊपर से नहीं दीखता है. 

आइये जानते हैं कुछ कारण जिससे की संतान प्राप्ति में देरी होती है :
1. अगर विवाह में गुण मिलन में अंक कम मिल रहे हो तो विशेषकर अगर भकूट दोष हो तो संतान समस्या आ सकती है.
2. अगर कुंडली का संतान भाव दूषित हो तो भी संतान होने में देरी हो सकती है.
3. कई बार काले जादू के कारण किसी महिला की कोख बाँध दी जाती है जिसके कारण भी संतान नहीं हो पाती है सभी काबिलियत होने के बावजूद भी.
4. कुछ लोग सर्प श्राप के कारण भी संतान हीन रहते हैं.
5. कुछ लोग पितृ श्राप के कारण भी संतान नहीं होने से दुखी रहते हैं.
6. कुछ लोग माता श्राप से भी ग्रस्त रहते हैं जिससे संतान होने मे देरी होती है.
7. कई बार कमजोर ग्रहों की स्थिति के कारण भी संतान होने में परेशानी होती है.
8. अगर कुल देवी या कुल देवता का आशीर्वाद प्राप्त न हो तो भी व्यक्ति को संतान की समस्या का सामना करना होता है.
9. कुछ महिलायें नजर दोष के कारण भी संतान समस्या का सामना करते हैं. 
अतः अगर आप भी संतान नहीं होने से परेशान है तो किसी अच्छे ज्योतिष से सलाह लेके पूजा पाठ करके शुभ और मंगलमय जीवन व्यतित कर सकते हैं. 

आइये अब जानते हैं कुछ आसान उपाय संतान के लिए :

Buddha Poornima Ka Mahattw In Hindi

बुद्ध पूर्णिमा का महत्त्व, वैशाख महीने की पूर्णिमा क्यों महत्त्वपूर्ण है, क्या करे सफलता के लिए वैशाख पूनम को.
बुद्ध पूर्णिमा का महत्त्व, वैशाख महीने की पूर्णिमा क्यों महत्त्वपूर्ण है, क्या करे सफलता के लिए वैशाख पूनम को.
buddh poornima in hindi

वैशाख महीने की पूर्णिमा को बुद्ध पूर्णिमा के नाम से पुरे विश्व मे जाना जाता है. ऐसा माना जाता है की महात्मा बुद्ध का जन्म इस पवित्र दिन हुआ था इसी कारन बुद्ध जयंती मनाई जाती है इस दिन. 

बुद्ध पूर्णिमा को भक्तगण उपवास रखते है, अध्यात्मिक साधना करते हैं, कर्मकांड करते हैं, कुछ लोग विष्णु भगवान् की पूजा करते हैं, दान-धर्म करते है अपनी क्षमता अनुसार. 

जब चन्द्रमा अपनी पूर्णम आभा बिखेर रहा होता है तब भक्तगण अध्यात्मिक साधना करते हैं जीवन को सफल बनाने के लिए. गौतम बुद्ध ने ऐसा मार्ग दिखाया है जिससे की सभी आसानी से जीवन के परम लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं. 

उनके नियम किसी जाती से सम्बन्ध नहीं रखते हैं, किसी धर्म से सम्बन्ध नहीं रखते हैं. उन्होंने मुक्ति मार्ग दिखाया सभी को. बुद्ध पूर्णिमा को लोग इसी अवतार को याद करते हैं. बुद्ध को मानने वाले इस दिन शोभा यात्रा भी निकलते है, विशेष ध्यान सत्रों का आयोजन होता है विभिन्न जगहों पर. बुद्ध के मंदिरों मे विशेष साज सज्जा होती है. 

भारत मे बुद्ध पूर्णिमा:

Indian Jyotish In Hindi