vedic jyotish from India

हिंदी ज्योतिष ब्लॉग ज्योतिष संसार में आपका स्वागत है

पढ़िए ज्योतिष और सम्बंधित विषयों पर लेख और लीजिये परामर्श ऑनलाइन

Jyoitish Sewaye Online || ज्योतिष सेवा ऑनलाइन

ज्योतिष सेवा ऑनलाइन

एक अच्छा ज्योतिष कुंडली को देखके जातक का मार्गदर्शन कर सकता है. कुंडली मे ग्रह विभिन्न भावों मे बैठे रहते हैं और जातक के जीवन मे प्रभाव उत्पन्न करते हैं. अगर कोई व्यक्ति जीवन मे 
free jyotish, hindi jyotish, vedic jyotish online, google jyotish
hindi jyotish sewa online
समस्या से ग्रस्त है तो इसका मतलब है की उसके जीवन इस समय बुरे ग्रहों का प्रभाव चल रहा है और यदि कोई व्यक्ति सफलता प्राप्त कर रहा है तो इसका मतलब है की इस समय उसके जीवन मे शुभ ग्रहों का प्रभाव है. 
विभिन्न ग्रहों की दशा-अन्तर्दशा मे व्यक्ति अलग अलग प्रकार के प्रभावों से गुजरता है जिसके बारे एक अच्छा ज्योतिष जानकारी दे सकता है. 
ग्रहों का असर व्यक्ति के कामकाजी जीवन पर पड़ता है.
ग्रहों का असर व्यक्ति के व्यक्तिगत जीवन पर पड़ता है. 
सितारों का असर व्यक्ति के सामाजिक जीवन पर पड़ता है. 
व्यक्ति के पढ़ाई –लिखाई , वैवाहिक जीवन, प्रेम जीवन, स्वास्थ्य आदि पर ग्रह – सितारों का असर पूरा पड़ता है. 

आप “www.jyotishsansar.com” माध्यम से पा सकते हैं कुछ ख़ास ज्योतिषीय सेवाए ऑनलाइन :

  • जानिए क्या कहती है आपकी कुंडली आपके वैवाहिक जीवन के बारे मे ?, कब होगा विवाह, कैसा रहेगा वैवाहिक जीवन, क्यों परेशानी आ रही है वैवाहिक जीवन मे, ज्योतिष के हिसाब से क्या करें सुखी वैवाहिक जीवन के लिए.
  • अगर प्रेम जीवन मे परेशानी आ रही है तो भी आप ज्योतिष के हिसाब से कुंडली मिलवा के जान सकते हैं की क्यों आ रही है प्रेम मे खटास, कैसे बनाए प्रेम को बेहतर, कैसे मजबूत करे संबंधो को. कौन सी पूजा या रत्न शुभ रहेगा प्रेम जीवन के  लिए. 
  • जानिए क्या कहती है कुंडली आपके कामकाजी जीवन के बारे मे, क्यों बॉस खुश नहीं है , क्यों व्यापार नहीं चल रहा है, कब होगा भाग्योदय. 
  • जानिए अपने स्वास्थ्य समस्याओं के ज्योतिषीय कारणों को , जानिए कैसे ग्रह बिगाड़ते हैं जीवन को, जानिए कैसे ठीक कर सकते हैं स्वास्थय को ज्योतिष के उपायों के द्वारा.
  • अगर आप काले जादू से परेशान है तो भी आप ज्योतिष द्वारा मार्ग दर्शन प्राप्त कर सकते हैं. अगर आप नजर दोष से परेशान है , बार बार की कोशिशे भी काम नहीं कर रही है तो जरुर परामर्श ले और दूर करे समस्याओं को ज्योतिष के माध्यम से. 

Rashi Ratna Aur Unke Rang Jyotish Mai

राशी रत्न, जानिए कौन से ग्रह से कौन सा रत्न सम्बन्ध रखता है, कौन से रंग के होते हैं रत्न ज्योतिष के हिसाब से, कब कौन सा रत्न पहने.
राशी रत्न, जानिए कौन से ग्रह से कौन सा रत्न सम्बन्ध रखता है, कौन से रंग के होते हैं रत्न ज्योतिष के हिसाब से, कब कौन सा रत्न पहने.
Rashi Ratna Aur Unke Rang Jyotish Mai

राशी के हिसाब से रत्नों की जानकारी होना आवश्यक होता है उन लोगो के लिए जिन्हें ज्योतिष में रूचि है. कुछ लोग जानकारी के आभाव में गलत रत्न धारण कर लेते हैं.
कुछ लोग ऐसे भी है जिन्हें अपने जन्म तारिक, जन्म स्थान, जन्म समय की जानकारी नहीं है जिसके कारण उनकी कुंडली नहीं बन पाती है. ऐसे लोग अपने नाम राशि के हिसाब से रत्न धारण करना चाहते हैं. इस लेख में आप ज्योतिष से जानेंगे की कौन सा रत्न किस रंग का होता है और कौन सी राशि वालो को धारण करना चाहिए और कब.

अपने राशि से सम्बंधित रत्न को जानने के लिए सही राशि चुनिए दिए गए विकल्प में से -





ऊपर हमने देखा की कौन से राशी के कौन से रत्न है और उस राशि रत्न का रंग क्या है और उसे कब धारण किया जाता है.
नोट: अगर आपके पास आपकी जन्म तारीख, जन्म स्थान, जन्म समय की जानकारी है तो कोई भी रत्न धारण करने से पहले अच्छे ज्योतिष से संपर्क करना चाहिए.

और सम्बंधित ज्योतिषीय लेख पढ़े:
Ratn kaise kaam karte hain
Ratno ki gunwatta ko kaise jaanche?
Rashi Ratn and Related colors in english Astrology

राशी रत्न jyotish , जानिए कौन से ग्रह से कौन सा रत्न सम्बन्ध रखता है, कौन से रंग के होते हैं रत्न ज्योतिष के हिसाब से, कब कौन सा रत्न पहने.

Contact Jyotish || ज्योतिष परामर्श

ज्योतिष समाधान केंद्र, ऑनलाइन ज्योतिष सेवा, ज्योतिष परामर्श केंद्र हिंदी में, वैदिक ज्योतिष परामर्श केंद्र.
ज्योतिष समाधान केंद्र, ऑनलाइन ज्योतिष सेवा, ज्योतिष परामर्श केंद्र हिंदी में, वैदिक ज्योतिष परामर्श केंद्र.
jyotish paramarsh kendr online

अगर आप विश्वसनीय ज्योतिषीय सेवा चाहते हैं अपने जीवन को सफल बनाने के लिए तो jyotishsansar.com के माध्यम से आप ज्योतिष से संपर्क करके सलाह ले सकते हैं.

अगर आप जानना चाहते हैं अपने कुंडली में मौजूद शक्तिशाली ग्रहों के बारे में , अगर आप जानना चाहते हैं अपने कुंडली में मौजूद कमजोर ग्रहों के बारे में, अगर आप जानना चाहते हैं ग्रहों के जीवन पर प्रभाव के बारे में तो अभी सलाह ले सकते हैं ऑनलाइन ज्योतिष से.

आप पा सकते है सटीक भविष्यवाणी ज्योतिष के नियमो के अनुसार, इस ब्लॉग में आप फ्री ज्योतिष के लेखो को भी पढ़ सकते हैं और अपना ज्ञान बढ़ा सकते हैं रोज, किसी भी समय.

ये ज्योतिषीय ब्लॉग रोज अपडेट किया जाता है ज्योतिष द्वारा ताकि सभी को सही और वर्त्तमान में ग्रह दशाओं की जानकारी भी मिला करे. अतः जानिए ग्रहों में होने वाले बदलाव और उनके जीवन में प्रभाव को हिंदी ज्योतिष द्वारा.

यहाँ आपके द्वारा भेजी गई जानकारी को पूर्णतः गुप्त रखा जाता है.
ज्योतिष स्वयं ही हर कुंडली को देखते हैं और भविष्यवाणी करते हैं. ज्योतिष एक विज्ञान है जीवन के रहस्यों को समझने का. ज्योतिष कुंडली को देख के जीवन में होने वाले घटनाओं को समहते हैं. इससे जीवन में आने वाले ख़राब समय, अच्छे समय के बारे में पता लगाया जा सकता है.
  • पाइए समाधान कुंडली दिखवा के कालसर्प योग का
  • जानिए क्या कारण है प्रेम संबंधो में खटास का वैदिक ज्योतिष के हिसाब से.
  • जानिए काले जादू का असरतो कही जीवन को ख़राब नहीं कर रहा है.
  • जानिए भविष्य वक्ता से भविष्यवाणियो को कुंडली के आधार पर
  • जानिए क्या समाधान हो सकता है वास्तु दोषों का . ;
  • आप सलाह ले सकते हैं बिमारिओ से छुटकारे के लिए भी
  • आप संपर्क कर सकते हैं कुंडली मिलान के लिए सुखी वैवाहिक जीवन के लिए.
  • जानिए समाधान मंगल दोष का वैदिक ज्योतिष में
  • पाइये समाधान ग्रहण योग का कुंडली में
  • जानिए कैसे ग्रह प्रभावित करते हैं काम काजी जीवन को, व्यक्तिगत जीवन को
  • जानिए कैसे महादशा और अन्तर्दशा में जीवन में फर्क पड़ता है.
  • आप संपर्क कर सकते हैं हस्त रेखा के लिए, अंक गणित द्वारा भविष्यवाणी के लिए, कुंडली दिखवाने के लिए, भाग्यशाली रत्नों के लिए.

कुंडली दिखवाने के लिए निम्न जानकारियों को भेजे -

Consulting Fees Paytm Mai Deposit Kare Confirmation Ke baad.

email to –askjyotishsansar@gmail.com


email to -askjyotishsansar@gmail.com

Online jyotish help
Jyotish sewa online

ज्योतिष समाधान केंद्र, ऑनलाइन ज्योतिष सेवा, ज्योतिष परामर्श केंद्र हिंदी में, वैदिक ज्योतिष परामर्श केंद्र.

Pret Badhit Kamre Ka Samadhaan

प्रेत बाधित कमरे का समाधान, कैसे पहचाने की कोई कमरा भुतिया है, कैसे पाए नकारात्मक उर्जाव से मुक्ति.
प्रेत बाधित कमरे का समाधान, कैसे पहचाने की कोई कमरा भुतिया है, कैसे पाए नकारात्मक उर्जाव से मुक्ति.
Pret Badhit Kamre Ka Samadhaan
ऐसे बहुत से लोग है जिनको अपने घर के किसी ख़ास कमरे में किसी के होने का अहसास होता है. इसके कारण उनको बहुत सी परेशानियाँ आती है. कुछ लोगो को इसके बारे में पता होता है और कुछ लोगो को इसके बारे में कोई जानकारी नहीं होती है. इस लेख में हम जानेंगे की प्रेत बाधित कमरे क्या है या फिर यूँ कहें की भूत बाधित कमरे क्या है और इसका समाधान क्या हो सकता है.

क्या होता है प्रेत बाधित कमरा?

ये कोई विशेष प्रकार से बनाया गया कमरा नहीं होता है , ये तो घर का ही एक भाग हो सकता है, ऑफिस या फैक्ट्री का एक भाग हो सकता है, बंगले का एक भाग हो सकता है जहाँ की कुछ अजीब सा अहसास हो सकता है. ऐसे कमरों में जाने से एक अजीब सा डर लगता है, कुछ लोगो को अजीब सी गंध महसूस होती है, कुछ लोगो को ऐसे कमरों में सोने से भयानक सपने आते हैं, कुछ लोगो को ऐसे कमरों में सामान बिखरा मिल सकता है, कुछ लोगो को साया दीखता है और कुछ लोगो को ऐसा भी लग सकता है की वहाँ किसी ने उनको छुआ आदि. 
कुछ तो असामान्य सा महसूस होता है जब भी हम किसी प्रेत बाधित कमरे में प्रवेश करते हैं. शोध में दौरान ऐसा भी पाया गया है की कुछ लोगो किसी एक कमरे में बहुत बीमार रहते हैं परन्तु दुसरे कमरे में जाने से ठीक हो जाते हैं. कुछ पति पत्नी के सम्बन्ध भी बिगड़ जाते हैं किसी कमरे की वजह से. 
किसी भी कमरे के बारे में कोई निर्णय लेने से पहले उस कमरे के ऊपर पूरी तरह से निगाह रखना चाहिए और उसमे होने वाले घटनाओं के बारे में भी ध्यान रखना चाहिए. 

कैसे पता करे की कोई कमरा भुतिया है?

  1. ध्यान से देखिये की क्या आपको वाहन पर किसी की मौजूदगी का अहसास हो रहा है. 
  2. क्या उस कमरे में कोई विचित्र प्रकार की गंध तो नहीं आ रही है.
  3. क्या किसी कमरे में घुसने पर आपको वाहन कुछ असामान्य सा तो नहीं दिख रहा है.
  4. क्या किसी कमरे में सोने से आपको बुरे सपने आते हैं.
  5. क्या बिमारी आपका पीछा नहीं छोड़ रही है.
  6. क्या किसी ख़ास कमरे में जाने से आपके सम्बन्ध बिगड़ जाते हैं.
  7. क्या किसी कमरे में कोई आवाज आती है.

बहुत बारीकी से देखने से हमे हमारे सवाल का जवाब मिलेगा की की क्या किसी कमरे में बुरी शक्ति का वास है या नहीं. 

आइये अब जानते हैं कुछ आसान तरीके जिससे की किसी कमरे को प्रेत बाधा से मुक्त किया जा सकता है:

Bhoot Badha Hone Ka Kya Matlab Hota Hai

Bhoot Chadhe Hone Ka Kya Matlab Hota Hai, Bhoot Badha Hone Ka Kya Matlab Hota Hai, भूत चढ़े होने के लक्षण क्या हो सकते हैं, कैसे बचा सकते हैं अपने आपको उपरी बाधा से.
Bhoot Chadhe Hone Ka Kya Matlab Hota Hai, Bhoot Badha Hone Ka Kya Matlab Hota Hai, भूत चढ़े होने के लक्षण क्या हो सकते हैं, कैसे बचा सकते हैं अपने आपको उपरी बाधा से.
Bhoot Badha Hone Ka Kya Matlab Hota Hai

क्या होता है भूत चढ़ा होना?

जब किसी व्यक्ति स्त्री या पुरुष में किसी दुसरे की आत्मा अधिकार कर लेती है तो इस अवस्था को भूत चढ़ा होना कहा जाता है. इस अवस्था में व्यक्ति कुछ अजीब तरीके से व्यवहार करने लगता है, असामान्य व्यवहार करने लगता है. 
कुछ लोग ऐसे लोगो को पागल कहने लगते हैं, कुछ लोग इन्हें पिशाचग्रस्त कहने लगते हैं आदि. कुछ लोग डाक्टरों के चक्कर लगाते रहते हैं, कुछ लोग पागलखाने में ही जीवन बिताने लगते हैं परन्तु सही बात तो ये है की ऐसे लोग किसी डाक्टरों से ठीक नहीं होते हैं. भूत ग्रस्त लोगो को सिर्फ तांत्रिक या फिर आध्यात्मिक चिकित्सक ही ठीक कर पाते हैं. 
कुछ लोग भूतो पर भरोसा नहीं करते हैं परन्तु बहुत से धर्मो में भूत पिशाच के अस्तित्तव को स्वीकार किया गया है जैसे हिन्दू धर्म में, इस्लाम धर्म में, इसाई धर्म में, अफ्रीका में आदि. यही नहीं 1969 में National Institute of Mental Health ने भी भूत चढ़े होने के केसेस की पुष्टि की थी जिसकी जानकारी विकिपेडिया( https://en.wikipedia.org/wiki/Spirit_possession) में मौजूद है.
मान्यताओं के अनुसार ऐसी बहुत सी अलग अलग प्रकार के ऊर्जा है जो की मानव शारीर पर अधिकार करके इस संसार को भोगना चाहते हैं जैसे की भूत, पिशाच, यक्ष, गंधर्व एलियंस आदि.

आइये जानते हैं की भूत ग्रस्त व्यक्ति के लक्षण क्या हो सकते हैं?

  • ऐसे व्यक्ति की आँखे लाल रह सकती है, आँखों में लगातार बदलाव हो सकता है, आँखे अन्दर या बाहर की और खिंची दिख सकती है. 
  • शारीर के त्वचा पर चकते नजर आ आ सकते हैं अगर किसी को भूत बाधा हो तो. 
  • पुरे शारीर में कुछ अजीब तरह का दर्द रह सकता है. 
  • भूत ग्रस्त व्यक्ति के शारीर से अजीबोगरीब गंध आ सकती है.
  • ऐसे व्यक्ति के व्यवहार में असामान्य बदलाव दिख सकता है.
  • भूत ग्रस्त व्यक्ति असामान्य तरीके से खाने लगता है. 
  • उनके सोने और खाने का तरीका भी बदल सकता है. 
  • ऐसे लोग धार्मिक जगहों में जाने से कतराने लगते है जैसे मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा, चर्च आदि.
  • इनके आवाज में भी बदलाव महसूस हो सकता है.
  • ऐसे व्यक्ति को किसी के न होने पर भी आवाजे सुनाई दे सकती है.
  • किसी के होने का अहसास हमेशा होता रह सकता है.
  • भूत ग्रस्त व्यक्ति कभी भी खुद पर या आस पास वालो पर आक्रमण कर सकता है. ऐसे व्यक्ति कभी बाल भी खींच सकते हैं, कभी काट सकते हैं आदि. 
  • इनके अन्दर आत्महत्या करने की प्रकृति भी नजर आ सकती है.
  • ऐसे लोग नहाने से भी बचने लगते हैं. 
  • भूत ग्रस्त व्यक्ति में कभी कभी कामुकता भी बढ़ी हुई नजर आ सकती है या फिर बिलकुल लुप्त हो जाती है. 
नोट: चिकित्सा विज्ञान के लोग ऐसे लोगो को बिमारी जानके मनोचिकित्सक को दिखाने के लिए कहते हैं परन्तु अगर कोई व्यक्ति सही में भूत ग्रस्त हो तो उस पर कोई दवा असर नहीं कर पाती है. दुविधा ये भी है की ये पहचानना भी कभी कभी मुश्किल होता है की व्यक्ति भूत ग्रस्त है या फिर उसका मानसिक संतुलन बिगड़ा है. अतः ऐसे में डॉक्टर के साथ साथ अध्यात्मिक चिकित्सक से भी संपर्क करना चाहिए. 

आइये अब जानते हैं की ऐसी कौन सी जगह है जहाँ भूत ग्रस्त रोगियों का इलाज होता है मान्यता के अनुसार:

अगर कोई व्यक्ति वास्तव में भूत ग्रस्त हो तो उसके निवारण के लिए अनुभवी तंत्रीक, ज्योतिष से संपर्क करना चाहिए नहीं तो ऐसी जगहों में भी जा सकते हैं जहाँ पर इनका निवारण होता है. यहाँ पाठको के जानकारी के लिए उनमें से कुछ जगहों की जानकारी दी जा रही है.
  1. अगर उपरी बाधा परेशान कर रही हो तो मेहदी पुर बालाजी जाके पुजारी जी से सलाह करना चाहिए. 
  2. मध्यप्रदेश में जावरा में हुसैन टेकरी है, यहाँ पर दरगाहे हैं जहाँ पर भूत निकाले जाते हैं. यहाँ भी जा सकते हैं.
  3. गुजरात में हज़रात सैयद अली मीरा दातार दरगाह है जहाँ पर लोग भूत पिशाच से मुक्ति पाते हैं. 
  4. गुजरात में ही श्री कष्ट भंजन देव हनुमानजी का मंदिर है, यहाँ भी लोग भूत कष्ट से मुक्ति पाते हैं. 
  5. मध्य प्रदेश के बेतुल के पास चिचोली के पास मलाजपुर में देवजी महाराज का मंदिर है यहाँ पर भी लोग भूत बाधा से मुक्ति पाते हैं. 
  6. गंगापुर में दत्तात्रेय जी का मंदिर है, यहाँ पर भी लोग अपने कष्टों से मुक्ति पाते हैं. 
  7. दिल्ली के निजामुद्दीन दरगाह में भी भूत बाधा से मुक्ति मिलती है.
  8. बिहार में हरसू भ्रम मंदिर में भी लोग उपरी बढ़ा से मुक्ति के लिए जाते हैं. 
  9. मध्य प्रदेश में आगर , मालवा में भी बहुत सी दरगाहे हैं जहाँ पर विशेषकर दशहेरे पर लोग भूत बाधा से मुक्त हो पाते हैं. 

आइये ज्योतिष के माध्यम से कुछ घरेलु उपाय जानते हैं भूत बाधा से छुटकारे के लिए:


Anisht Shanti Pooja Ke Fayde

Anisht Shanti Prayog, काला जादू का समाधान, ख़राब ग्रहों से मुक्ति का उपाय, जानिए अनिष्ट शांति पूजा के फायदे.
Anisht Shanti Prayog, काला जादू का समाधान, sarwarisht shanti prayog, ख़राब ग्रहों से मुक्ति का उपाय, जानिए अनिष्ट शांति पूजा के फायदे.
Anisht Shanti Pooja Ke Fayde

Anisht Shanti Pooja:

जीवन में अनेक समस्याएं बनी रहती है, कुछ का समाधान आसानी से हो जाता है परन्तु कुछ समस्याओं का समाधान अनेक जातन करने पर भी नहीं हो पाता है. अलग अलग समस्याओं के लिए अलग अलग समाधान का उल्लेख मिलता है.
परन्तु हम यहाँ पर एक विशेष पूजा के बारे में बताने वाले हैं जो की अनेक समस्याओं को हल करने में हमारी मदद करता है.
  • अगर आपका जीवन शत्रु द्वारा किये गए प्रयोग के कारण समस्या में फंस गया है तो अनिष्ट शांति प्रयोग आपको लाभ दे सकता है. 
  • अगर विवाह में आपको बहुत समस्या आ रही है तो अनिष्ट शांति प्रयोग आपको लाभ दे सकता है.
  • अगर आपको क़ानूनी अड़चन बहुत अधिक आ रही है तो भी अनिष्ट शांति प्रयोग आपको लाभ दे सकता है.
  • अगर व्यापार को बाँध दिया गया है तो भी आप ये पूजा करवा सकते हैं. 
  • अगर किसी ने काले जादू का प्रयोग आपके ऊपर किया है तो भी आप इसके निवारण के लिए अनिष्ट शांति प्रयोग करवा सकते हैं. 
  • अगर किसीने आपके काम को बाँध दिया है तो भी आप ये प्रयोग करवा सकते हैं. 
  • अगर सेहत लगातार गिर रहा है तो भी अनिष्ट शांति प्रयोग आपको लाभ दे सकता है.
  • अगर अनेको पूजा करवाने पर भी कालसर्प दोष के कारण आपको परेशानी आ रही है तो भी आप इस प्रयोग को करवा के लाभ ले सकते हैं. 
  • अगर किसी अज्ञात भय से जीवन नरक जैसा हो गया है तो भी ये पूजा आपकी मदद कर सकता है. 
आप दुनिया के किसी भी कोने में हो, आप इस पूजा को करवा सकते हैं और लाभ को महसूस कर सकते हैं. पूजा के लिए बुक करने से पहले अपनी कुंडली ज्योतिष को जरुर दिखाएँ. 
आपके अनेको समस्याओं का समाधान अकेला “अनिष्ट शांति पूजा ” हो सकती है.

आइये जानते हैं की क्या है “अनिष्ट शांति पूजा”?

Surya Ka Vrischik Rashi Me Ane Ka Fal

सूर्य का वृश्चिक राशि में आने से क्या प्रभाव होगा राशियों पर, जानिए कैसे सूर्य का राशी बदलना शुभता लाएगा. ज्योतिष से जानिए भविष्यवाणी.
सूर्य का वृश्चिक राशि में आने से क्या प्रभाव होगा राशियों पर, जानिए कैसे सूर्य का राशी बदलना शुभता लाएगा. ज्योतिष से जानिए भविष्यवाणी.
Surya Ka Vrischik Rashi Me Ane Ka Fal
सूर्य गृह अति महत्त्वपूर्ण ग्रह है हमारे लिए. सूर्य अगर किसी के कुंडली में शुभ हो तो जातक को मान सम्मान, तरक्की, समाज में विशिष्ट स्थान आसानी से दिला देता है वही अगर सूर्य ग्रह कुंडली में ख़राब हो जाए तो जातक को विभिन्न प्रकार की परेशानियाँ देता है. 
गोचर में भी सूर्य समय समय पर राशि बदलता रहता है. इसे ही ज्योतिष में संक्रांति कहा जाता है. १६ नवम्बर २०१७ को सूर्य वृश्चिक राशि में प्रवेश करेगा अतः इस दिन को वृश्चिक संक्रांति कहा जायेगा.
सूर्य देव का सम्बन्ध ज्योतिष के अनुसार पिता से है, आत्मा से है, समाज में मान सम्मान से है, यश, कीर्ति, प्रसिद्धि से है. इसका अर्थ ये है की सूर्य की स्थिति का असर हमारे जीवन में उपर लिखये विषयो पर होता है. 
आपके कुंडली में सूर्य की स्थिति क्या है ये तो एक अच्छा ज्योतिष ही बता सकता है. और उसी के आधार पर ये हमारे जीवन को प्रभावित करता है. 

सूर्य का वृश्चिक में गोचर का असर क्या होगा:

इस लेख में हम जानेंगे की १६ नवम्बर को सूर्य जो की वृश्चिक राशि में प्रवेश कर रहे है तो इससे विभिन्न राशियों पर क्या असर कर सकता है. १६ नवम्बर से 30 दिनों के लिए सूर्य वृश्चिक राशी में रहेंगे.
वृश्चिक राशि से पहले सूर्य तुला राशि अर्थात अपने नीच राशि में रहते हैं जिसके कारण जीवन में हमे अनेक नकारात्मक प्रभाव देखने को मिलते हैं. 
सूर्य का वृश्चिक में गोचर ज्योतिष शास्त्र के हिसाब से काफी अच्छा माना जाता है क्यूंकि ये इसमें मित्र के हो जाते हैं और शुभ फल देने लगते हैं. अतः सभी राशियों के लिए ये बहुत अच्छे बदलाव लेके आते हैं. 
इस बार ख़ास बात ये है की शुभ सूर्य और बुध की युति होगी जिसके कारण बुधादित्य योग भी मजबूत होगा और इसके कारण समाज में हमे काफी सकारात्मक बदलाव नजर आयेंगे. 

आइये अब जानते हैं की कौन सी राशि पर सूर्य के वृश्चिक राशि में आने से क्या प्रभाव पड़ेगा:

जिनके कुंडली में सूर्य महादशा, अन्तर्दशा या प्रत्यांतार्दशा में चल रहा हो उनको राशि परिवर्तन का असर ज्यादा पता चलता है. साथ ही कुंडली में सूर्य शुभ है या अशुभ, इसका प्रभाव भी जीवन पर असर करता है. अतः किसी भी परिणाम पर पंहुचने से पहले अच्छे ज्योतिष को कुंडली जरुर दिखाए. 

  1. मेष राशि: सूर्य के वृश्चिक में गोचर करने से मेष राशि वालों को शुभता नजर आ सकती है परन्तु अपने स्वास्थ्य के प्रति लापरवाह न बने. भ्रमण के योग भी ज्यादा बन सकते हैं. 
  2. वृष राशि : वृषभ राशि के लोगो के लिए भी सूर्य का राशि बदलना शुभता लायेगा. काम काजी जीवन में हलचल बढ़ाएगा, जीवन के साथी के साथ मन मुटाव ला सकता है. 
  3. मिथुन राशि : सूर्य का यह गोचर आपके जीवन में व्यस्तता बढ़ा सकता है साथ ही स्वास्थ्य पर भी असर डाल सकता है. आपको किसी भी बदलाव के लिए तैयार रहना चाहिए. 
  4. कर्क राशि: सूर्य ग्रह का वृश्चिक राशि में गोचर आपके लिए व्यस्तता को बढ़ा सकता है, संतान के साथ मन मुटाव बढ़ सकता है जिसके कारण मानसिक तनाव भी रह सकता है. 
  5. सिंह राशि : सूर्य का वृश्चिक राशि में आने से आपको यश और सम्मान की प्राप्ति संभव है. सामाजिक हलचल बढ़ सकती है.
  6. कन्या राशि : इस बार आपके पराक्रम में वृद्धि करेगा, आपको नए नए अनुभव और तकनीक मिल सकता है जिसके कारण आपको तरक्की मिल सकती है. 
  7. तुला राशि: अगर आप किसी परेशानी से गुजर रहे है तो सूर्य के राशि बदलने से आप उस परेशानी से छुटकारा पा सकते हैं. सेहत में सुधार होगा, बिगड़े काम बनेंगे.
  8. वृश्चिक राशि: सूर्य इसी राशि में प्रवेश कर रहा है जिसके कारण आपको साहस और पराक्रम में वृद्धि नजर आ सकती है. अपने आप पे अगर आपने नियंत्रण नहीं रखा तो अहंकार के कारण आपको विभिन्न प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है.
  9. धनु राशि: धन अधिक खर्च हो सकता है जिससे तनाव हो सकता है. व्यर्थ की जिम्मेदारी से परेशानी हो सकती है. सतर्क रहने से जीवन में लाभ मिलेगा. 
  10. मकर राशि : मकर राशि वालो को अचानक से धन लाभ हो सकता है, और अचानक से खर्चा भी बढ़ सकता है. भावावेग में न बहें अन्यथा परेशानी हो सकती है. 
  11. कुंभ राशि: भूमि, वाहन का सुख मिलने के असार है, आप लम्बे समय के लिए निवेश कर सकते हैं. बिना सोचे समझे कोई निर्णय न ले अन्यथा परेशानी हो सकती है. 
  12. मीन राशि: आपके जीवन में सूर्य के कारण सकारात्मक बदलाव हो सकते हैं. नए विचार उठेंगे पर उन्हें अपनाने में कुछ परेशानी आ सकती है. ने अवसरों का सोच समझकर ही लाभ ले. 

आइये जानते हैं की सूर्य की शुभता के लिए क्या कर सकते हैं: