Gateway Of Jyotish Sansar| Best Astrology Hindi Site

भारतीय ज्योतिष की शक्ति | Power of Indian Astrology

What is jyotish,  ज्योतिष क्या है , ज्योतिष का रहस्य , ज्योतिष के द्वारा क्या क्या द्वारा क्या किया जा सकता है , power of jyotish, use of jyotish, benefits of jyotish in hindi, Why astrology, Astrologer for solutions On line.

ज्योतिष अपने आप में एक रहस्यमय विषय है | जो इसके बारे में जानते है वो इस विषय का लाभ लेकर जीवन में उंचाइयो को छूते हैं।  ज्योतिष के द्वारा ग्रहों के खेल को समझा जाता है, ज्योतिष के द्वारा ग्रहों का प्रभाव हमारे जीवन में कैसा रहेगा, ये देखा जाता है।
Power of Vedic jyotish, Best Astrologer In Google
Why Vedic Jyotish
ज्योतिष को वेदों कि आँखें भी कहा जाता है।  ऐसा कहा गया है "ज्योतिष वेदानां चक्षुः ". ज्योतिष के द्वारा भूत, भविष्य और वर्तमान के बारे में जाना जाता है।  

किसी के जीवन में कब अच्छा समय आयेगा, कब बुरा समय आयेगा, कब भाग्योदय होगा, कब विवाह होगा, क्या करना चाहिए , कब करना चाहिए आदि का ज्ञान बड़ी ही आसानी से पता लगा लिया जाता है।  

ज्योतिष के बारे में गलत फहमी :

Kaise Paaye Hanuman Puja Dwara Safaltaa

कैसे पायें हनुमान पूजा से सफलता, कैसे प्रसन्न करे हनुमानजी को, हनुमान जी की कृपा प्राप्त करने का सरल उपाय. 
best and free information on hanuman puja in hindi
hanuman puja dwara safaltaa

पुरे ब्रह्माण्ड में जो राम भक्त के रूप में जाने जाते हैं, जो परम शक्तिशाली है, जो भक्तो के भक्त है, जो परम प्रतापी, परम बलशाली, परम भक्त है वो हमेशा भक्तो के कल्याण हेतु आतुर रहते हैं. हनुमान जी की पूजा से बहुत आसानी से भक्तगण भय से बाख जाते हैं, उनकी कृपा से बल, बुद्धि और विद्या से हम परिपूर्ण हो सकते हैं. 

आज के इस कलयुग में हनुमानजी एक ऐसे देवता है जो साक्षात मौजूद है ऐसी मान्यता है और लोगो के अनुभव भी है. अतः उनकी पूजा अराधना से तुरंत फल की प्राप्ति होती है इसमे कोई शक नहीं है. 

चलिए देखते हैं की कैसे हम महाबलशाली की कृपा प्राप्त कर सकते हैं आसानी से परन्तु उससे पहले जानते हैं की क्या क्या सावधानी रखना चाहिए हनुमान पूजा करने के दौरान.

1. इस पूजा में या इनके कोई भी टोटका को करने में पवित्रता का धयान जरुर रखना चाहिए. 
2. ब्रह्मचर्य का विशेष ध्यान रखना चाहिए. 
3. इनकी पूजा में रोट का भोग लगाया जाता है , लड्डू और चूरमा भी इनको पसंद है.
4. गूगल की धुप जरुर देना चाहिए. 
5. और पूजा से पहले श्री राम का ध्यान और आवाहन भी करना उचित होता है. 
6. भक्ति से की गई साधना अवश्य सफल होती है. 
7. आसन के बिना कोई भी पूजा न करे. 

आइये देखते है की कैसे आसानी से हम हनुमानजी की कृपा प्राप्त कर सकते हैं :
1. हनुमान चालीसा का पाठ अगर रोज किया जाए विधिवत तो निश्चय ही सफलता प्राप्त होती है. 
2. बजरंग बाण का पाठ आवश्यक होने पर ही करना ठीक रहता है.
3. इसी प्रकार हनुमान अष्टक के साथ हनुमान चालीसा का पाठ बहुत ही अच्छा मन जाता है.
4. बहुत अधिक कष्ट होने पर हनुमान जी के मंदिर में दीपक जला के फिर उनकी 108 परिक्रमा करने पर शीघ्र ही शुभ फल की प्राप्ति संभव है.
5. शनि की अधिक पीड़ा होने पर शनिवार को हनुमानजी को चोला चढ़ा के १०० बार हनुमान चालीसा का पाठ बहुत बड़े विध्नो से भी छुटकारा दिला देता है. 
6. हनुमान जी के मंदिर मई सुन्दर काण्ड का पाठ करना भी बहुत शुभ मन जाता है .
7. जहां पर नित्य हनुमानजी की पूजा अराधना होती है वह पर कभी भी कोई अशुभता प्रवेश नहीं करती है , इसमे कोई संशय नहीं है. 
8. अगर नकारात्मक उर्जा बहुत परेशान कर रही हो तो उस समय उतारा करके सिद्ध हनुमान कवच  धारण करना बहुत लाभदायक होता है. 
9. पीपल के पत्तो की माला बनाकर अगर हनुमानजी को अर्पित किया जाए तो भी मनोकामनाए शीघ्र सिद्ध होती है. 

हनुमानजी पर किसी भी प्रकार की नकारात्मक शक्तियों का प्रभाव नहीं होता है अतः उनकी कृपा से कोई भी भक्त अपनी रक्षा कर सकता है.

जो स्वयं ज्ञान के भण्डार है , जिनमे विश्व की तमाम शक्तियां समाहित है, जो भक्तो के भक्त है, जो महाबली है, जो भक्तो का उद्धार करने के लिए तत्पर रहते है उन श्री राम की कृपा सबको प्राप्त हो, सभी 

और सम्बंधित लेख पढ़े :

कैसे पायें हनुमान पूजा से सफलता, कैसे प्रसन्न करे हनुमानजी को, हनुमान जी की कृपा प्राप्त करने का सरल उपाय. 

Dhan Teras Ka Mahatwa

Dhan teras kya hai in hindi, kya kare dhan teras ke din, kaise kare pooja in hindi.
free mai jaane dhan teras ka mahatva
Dhan Teras Importance in hindi

धन तेरस एक ऐसा त्यौहार जब लोगो में बहुत उत्साह देखा जाता है, बाजार में नई रौनक देखने को मिलती है, बच्चे और बड़े दोनों ही अपने अपने पसंद की चीजो को खरीदते हैं क्यूंकि ठीक 1 दिन बाद दिवाली आती है. 
भारत में कार्तिक महीने का बहुत महत्तव है क्यूंकि इस महीने बहुत ही बहुत से त्यौहार मनाये जाते हैं स्वास्थ्य , समृद्धि और शक्ति के लिए. इन्ही त्योहारों में से एक है धन तेरस जब सभी लोग खूब महालक्ष्मी के स्वागत के लिए सफाई और खरीददारी करते हैं. घर को सजाया जाता है, नए बर्तन ख़रीदे जाते हैं, स्वर्ण और चांदी खरीदने का भी विधान है. 

धन तेरस के दिन व्यापारी बही खाता खरीदते हैं, सोने चंडी के सिक्के ख़रीदे जाते हैं, महिलाए आभूषण खरीदती है, बच्चे भी कहा पीछे रहते हैं , नए कपडे ख़रीदे जाते हैं, घर को फूलो से सजाया जाता है. 

देखा जाए तो धन तेरस के दिन से अगले 5 दिनों तक त्योहारों को मनाया जाता है. क्यूंकि धन तेरस के सुसरे दिन नरक चौदस रहता है, उसके बाद दिवाली पूजा, फिर गोवेर्धन पूजा, फिर भाई दूज मनाई जाती है अर्थात सभी व्यस्त रहते हैं अपने परिवार के साथ. 

धन तेरस के दिन धन के देवता कुबेर को पूजा जाता है, मृत्यु के देवता यमराज को पूजा जाता है और इसी के साथ माँ लक्ष्मी को भी प्रसन्न करने के प्रयत्न किये जाते है. सभी अपने अपने तरीके से इस दिन को मनाते हैं. 

आइये जानते हैं एक आसान तरीका धन तेरस को पूजा करने के लिए :
इस दिन अच्छा हो अगर एक कलश इस्थापित किया जाए जिसमे की सुपारी, सोने या चंडी का सिक्का, दुर्बा घास, हल्दी की गाठ , 9 रत्न डाला जाए , ऊपर एक चावल की प्लेट रखे और ऊपर एक नारियल इस्थापित करे. अब इसकी पंचोपचार पूजा करे और स्वास्थय, सम्पन्नता के लिए प्रार्थना करे. 
शाम को यम स्त्रोत का पाठ करते हुए दीप दान करना चाहिए. 

इस दिन को श्री यन्त्र भी इस्थापित करके पूजा की जाती है. श्री यन्त्र, सोना , चांदी, पारद या भोज पत्र का हो सकता है. 

ये जरुर ध्यान रखना चाहिए की हमारी भावनाए शुद्ध हो, हम शुद्ध ह्रदय से देवता और देवी की पूजा करे जिससे की निश्चित ही शुभ फल की प्राप्ति होती है. 

Dhan teras kya hai in hindi, kya kare dhan teras ke din, kaise kare pooja in hindi.

Hanuman Jayanti In Hindi

Kyu hanuman jayanti manaya jata hai diwali se pehle, kaise kare hanumanji ko prasann, free mai jaane hanumanji ke bare mai. 
kaise prasann kare hanumanji ko diwali se pehle in hindi
Hanuman jayanti Importance in Hindi

मान्यता के अनुसार आज भी हनुमानजी सशरीर मौजूद है और भक्तो के अनुभव भी है की हनुमानजी साक्षात् नजर आते है और भक्तों की मनोकामनाएं पूरी करते है.

इस कलयुग में हनुमानजी को प्रसन्न करना बहुत आसान है. इनको राम भक्त हनुमान के नाम से भी जाना जाता है. भक्तो में हनुमानजी का नाम बड़े आदर से लिया जाता है क्यूंकि इन्होने राम जी की भक्ति में अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया. 

राम जी का स्मरण, ध्यान और सेवा करना ही इनका इक मात्र उद्देश्य है. इनकी कहानियां आज भी हमे हिम्मत देती है, निडर बनाती है, सेवा करने के लिए प्रेरित करती है.

इसमे कोई शक नहीं की जो हनुमानजी की साधना करते हैं उनको किसी भी बुरी शक्तियों से कोई भय नहीं है. आइये जानते है अब की दिवाली से पहले हनुमान जयंती क्यों मनाते है. 

हिन्दू धर्म के अनुसार कार्तिक मॉस के चतुर्दशी बहुत ही महत्वपूर्ण मानी जाती है क्यूंकि एक तो इस दिन को नरक चतुर्दशी के रूप में पूजा जाता है तो दूसरी तरफ इसी दिन इस धरती पर राम भक्त हनुमान जी का जन्म हुआ था माता अंजना के गर्भ से. 

इसी कारण हनुमान जयंती दिवाली से ठीक एक दिन पहले बहुत धूम धाम से मनाई जाती है. 

हनुमान जयंती के बारे में एक ख़ास बात :

Kala Jadu Se Surksha Ke liye Diwali ki Raatri

क्या दिवाली में अपने आपको बचाया जा सकता है काले जादू से, क्यों दिवाली की रात्री बहुत शक्तिशाली मानी जाती है, कैसे बचाए अपने आपको नकारात्मक उर्जाओं से दिवाली की रात्री को.
best free tips to protect from kala jadu on diwali night
diwali mai kaale jaadu se suraksha ke upaay

भारत में दिवाली का अपना उल्लास रहता है, बच्चे, बुजुर्ग, जवान सभी इस त्यौहार का आनंद लेते हैं मिलके. ये वो समय होता है जब समृद्धि हेतु कई शक्तिशाली प्रयोग किये जाते हैं, लोग नए वस्त्र, आभूषण खरीदते हैं, बच्चे आतिशबाजी का आनंद लेते है. ये त्यौहार सभी के लिए कुछ न कुछ ख़ुशी लेके आता है. 

इसके अलावा दिवाली तंत्र, मंत्र यन्त्र सिद्धी के लिए भी बहुत अच्छा माना जाता है इसी वजह से साधक इस रात्री को साधना में रत रहते हैं. हर विद्या का सही और गलत दोनों पक्ष होते हैं और यही कारण है की जहा दिवाली में शुभता, सम्पन्नता के लिए पूजाए की जाती है वही नकारात्मक विचारों से ग्रस्त लोग नुक्सान पहुचाने के लिए भी कई प्रकार के प्रयोग को अंजाम देते हैं.