Hindi Jyotish Website, famous google jyotish, Astrologer in hindi

Jyoitish Sewaye Online || ज्योतिष सेवा ऑनलाइन

ज्योतिष सेवा ऑनलाइन

एक अच्छा ज्योतिष कुंडली को देखके जातक का मार्गदर्शन कर सकता है. कुंडली मे ग्रह विभिन्न भावों मे बैठे रहते हैं और जातक के जीवन मे प्रभाव उत्पन्न करते हैं. अगर कोई व्यक्ति जीवन मे 
free jyotish, hindi jyotish, vedic jyotish online, google jyotish
hindi jyotish sewa online
समस्या से ग्रस्त है तो इसका मतलब है की उसके जीवन इस समय बुरे ग्रहों का प्रभाव चल रहा है और यदि कोई व्यक्ति सफलता प्राप्त कर रहा है तो इसका मतलब है की इस समय उसके जीवन मे शुभ ग्रहों का प्रभाव है. 
विभिन्न ग्रहों की दशा-अन्तर्दशा मे व्यक्ति अलग अलग प्रकार के प्रभावों से गुजरता है जिसके बारे एक अच्छा ज्योतिष जानकारी दे सकता है. 
ग्रहों का असर व्यक्ति के कामकाजी जीवन पर पड़ता है.
ग्रहों का असर व्यक्ति के व्यक्तिगत जीवन पर पड़ता है. 
सितारों का असर व्यक्ति के सामाजिक जीवन पर पड़ता है. 
व्यक्ति के पढ़ाई –लिखाई , वैवाहिक जीवन, प्रेम जीवन, स्वास्थ्य आदि पर ग्रह – सितारों का असर पूरा पड़ता है. 

आप “www.jyotishsansar.com” माध्यम से पा सकते हैं कुछ ख़ास ज्योतिषीय सेवाए ऑनलाइन :

  • जानिए क्या कहती है आपकी कुंडली आपके वैवाहिक जीवन के बारे मे ?, कब होगा विवाह, कैसा रहेगा वैवाहिक जीवन, क्यों परेशानी आ रही है वैवाहिक जीवन मे, ज्योतिष के हिसाब से क्या करें सुखी वैवाहिक जीवन के लिए.
  • अगर प्रेम जीवन मे परेशानी आ रही है तो भी आप ज्योतिष के हिसाब से कुंडली मिलवा के जान सकते हैं की क्यों आ रही है प्रेम मे खटास, कैसे बनाए प्रेम को बेहतर, कैसे मजबूत करे संबंधो को. कौन सी पूजा या रत्न शुभ रहेगा प्रेम जीवन के  लिए. 
  • जानिए क्या कहती है कुंडली आपके कामकाजी जीवन के बारे मे, क्यों बॉस खुश नहीं है , क्यों व्यापार नहीं चल रहा है, कब होगा भाग्योदय. 
  • जानिए अपने स्वास्थ्य समस्याओं के ज्योतिषीय कारणों को , जानिए कैसे ग्रह बिगाड़ते हैं जीवन को, जानिए कैसे ठीक कर सकते हैं स्वास्थय को ज्योतिष के उपायों के द्वारा.
  • अगर आप काले जादू से परेशान है तो भी आप ज्योतिष द्वारा मार्ग दर्शन प्राप्त कर सकते हैं. अगर आप नजर दोष से परेशान है , बार बार की कोशिशे भी काम नहीं कर रही है तो जरुर परामर्श ले और दूर करे समस्याओं को ज्योतिष के माध्यम से. 

Ravi Pushya Ka Mahatwa In Hindi

Ravi  pushya ka mahatwa in hindi, क्या करे रवि पुष्य के दिन सफलता के लिए, टोटके सफलता के लिए, क्या ख़रीदे रवि पुष्य को सम्पन्नता के लिए.
jyotish dwara jaane ravi pushya ke upaay on line free
ravi pushya mahatwa

27 नक्षत्रों में पुष्य नक्षत्र सबसे महत्वपूर्ण नक्षत्र है और जब पुष्य नक्षत्र रविवार को आता है तो वो दिन बहुत ही पुण्यशाली बन जाता है, इसे कहते हैं रवि पुष्य योग. ये दिन किसी भी नए कार्य को करने के लिए शुभ होता है, कुछ नया खरीदने के लिए शुभ होता है, अध्यात्मिक साधना करने वालो के लिए भी बहुत महत्व रखता है, आयुर्वेदिक दवाइयों को बनाने के लिए भी अच्छा दिन होता है, तंत्रोक्त प्रयोगों को करने के लिए भी उपयुक्त दिन होता है. 

साधारणतः लोग इस दिन सोने के गहने खरीदना पसंद करते हैं, ऐसी मान्यता है की रवि पुष्य के दिन अगर कोई अच्छा कार्य करे तो निश्चित ही सम्पन्नता जीवन मे आती है, ख़ुशी आती है, सफलता आती है.
रवि पुष्य जब भी आये तो इस दिन कुछ प्रयोग जरुर करना चाहिए अपने जीवन को सफल बनाने के लिए. 

आइये देखते हैं कुछ ख़ास और आसान उपाय जो की हम कर सकते हैं रवि पुष्य को:


1. इस सिद्ध मुहुर्त में सिद्ध यन्त्र स्थापित करना चाहिए सुख और सम्पन्नता के लिए जैसे श्री यन्त्र, व्यापार वृद्धि यन्त्र, कुबेर यन्त्र आदि. 
2. अगर कुंडली में सूर्य खराब फल दे रहा हो तो रवि पुष्य को सूर्य शांति का प्रयोग विशेष फल प्रदान करता है और जीवन की बाधाएं कम होती है. 
3. सूर्य के कमजोर होने की दशा में इस दिन माणिक धारण करने का भी विशेष महत्तव है.
4. विवाह बाधाओं को भी दूर करने के लिए पूजाएँ इस दिन की जा सकती है.
5. धन प्राप्ति और सम्पान्नता हेतु प्रयोगों को करने हेतु रवि पुष्य का दिन भुत शक्तिशाली होता है. 
6. अगर कोई किसी विशेष बिमारी का इलाज करना चाहता है तो इस दिन से दवाई लेना शुरू करना चाहिए, परिणाम शीघ्र प्राप्त होते हैं.
7. विशेष प्रकार की विद्याओं को प्राप्त करने के लिए भी इस दिन से अभ्यास शुरू करना उचित होता है.
8. समाज में सफलता, व्यापार में सफलता, परिवार में सम्पन्नता आदि के लिए रवि पुष्य को विशेष क्रियाये और पूजाए की जाती है.
9. इस दिन सूर्य देव की कृपा प्राप्त करने हेतु सूर्य यन्त्र की पूजा करके भी उसे घर में स्थापित करना श्रेष्ठ होता है जिससे की नाम, यश आदि की प्राप्ति होती है.
अतः घबराने की जरुरत नहीं अगर स्वास्थ में परेशानी है, व्यापार नहीं चल रहा है, समाज में इज्जत नहीं मिल पा रही है. रवि पुष्य के विशेष मुहुर्त में अनुष्ठान करके अपने जीवन को आप बदल सकते हैं 

आइये जानते है कुछ टोटके रवि पुष्य के लिए:

Vrishabh Sankranti Ka Jyotish Mahattw

Vrishabh sankranti ka jyotish mahttwa, क्या असर होगा वृषभ राशी में सूर्य जब प्रवेश करेगा, ज्योतिष से जानिए भविष्यवाणी.
Vrishabh sankranti ka jyotish mahttwa,, क्या असर होगा वृषभ राशी में सूर्य जब प्रवेश करेगा, ज्योतिष से जानिए भविष्यवाणी.
Vrishabh Sankranti Ka Jyotish Mahattw

क्या है वृषभ संक्रांति?

जब सूर्य वृषभ राशि में प्रवेश करता है तो उस समय को कहते है वृष संक्रांति. ज्योतिष के हिसाब से और हिन्दू ग्रंथो के हिसाब से १२ संक्रांतियां होती है जिनमे की दान करना, दुसरो की मदद करना, पूजा-पाठ करना, अध्यात्मिक साधना करना लाभदायक होता है. ऐसा विश्वास है की संक्रांति काल में दान, धर्म करने से पुण्य मिलता है. 
हिन्दू पंचांग के अनुसार वृषभ संक्रांति जेष्ठ के महीने में आता है. 
वृषभ का अर्थ है बैल जो की भगवान् शिव के साथ रहते हैं अतः इस काल में शिव आराधना शुभ और श्रेष्ठ मानी जाती है. ऐसे में गौदान का भी अपना महत्त्व है. 

सफलता के लिए वृषभ संक्रांति में क्या करना चाहिए?

;
  1. इस समय में गाय और गाय के बछड़े की मूर्ति को स्थापित करना भाग्योदय में सहायता करता है. 
  2. इस समय मे शिव पूजा के बाद गौदान का अपना महत्त्व है
  3. पितृ दोष के प्रभाव को कम करने के लिए वृषभ संक्रांति में पितृ तर्पण करना भी शुभता लाता है. 
  4. इस पुण्य काल में पवित्र नदियों जैसे गंगा, यमुना, नर्मदा आदि में स्नान करना भी शुभ मानते हैं. 
  5. संक्रांति काल में जरुरत मंदों को धन, कपड़े, भोजन देना शुभ माना जाता है पुण्य के लिए. 
  6. पुरे दिन उपवास करते हुए साधना, आराधना, करना भी शुभ माना जाता है. 
  7. आप किसी अपने को उपहार स्वरुप गाय और बछड़े के साथ वाला मूर्ति भी दे सकते हैं. 
वृषभ संक्रांति मौसम परिवर्तन का भी संकेत होता.

गोचर पंचांग के हिसाब से भविष्यवाणी जानिए २०१८ में वृषभ संक्रांति पर :

Adhik Maas Ka Mahattw Jyotish Mai

Adhik Maas Ka Mahattwa In Hindi, अधिक मास क्यों है ख़ास,  कैसे कमाए पुण्य पुरुषोत्तम मास मे.
jyotish aur mal maas, purushottam maas ka mahattw, adhik maas ka mahattw
Adhik Maas Ka Mahattw Jyotish Mai

अधिक मास का महत्त्व

अधिक मास मे साधारणतः हमने लोगो को पूजा आराधना, दान, धर्म करते हुए देखा है. ज्योतिष में भी अधिक महीने के महत्त्व के बारे में बहुत कुछ कहा गया है. ये महिना ख़ास तौर पर धर्म साधना, देव दर्शन, तीर्थ यात्रा, भगवत कथा श्रवण, उपासना आदि के लिए बना है.

अधिक मास को खर मास,मल मास या फिर पुरुषोत्तम मास के नाम से भी जाना जाता है.

पंचांग अनुसार इस बार ज्येष्ठ के महीने में मल मास आ रहा है जो की १६ मई २०१८ से शुरू होकर १३ जून तक रहेगा. पुरुषोत्तम मास में भक्तगण मंत्र जप, भागवत कथा श्रवण, दान आदि करते हैं. एक और ख़ास बात है जो अधिक मास का महत्त्व और बढ़ाता है वो ये की ऐसे में चन्द्रमा अपनी उच्च राशि में अवस्थित होगा जिसके कारण पूजा पाठ, साधना, दान आदि का महत्त्व और बढ़ जाएगा.

अधि मास भगवान् विष्णु को समर्पित है और इस समय में केवल पूजा पाठ , अनुष्ठान आदि ही किया जाने का उल्लेख मिलता है. 
आइये जानते हैं कौन कौन से ख़ास मौके आ रहे हैं इस बार अधिक मास में –
  • विनयकी चतुर्थी व्रत आएगा १८ मई शुक्रवार को. 
  • गंगा दुशेरा आएगा 24 मई को. 
  • कमला एकादशी २५ मई और १० जून को आएगी. 
  • प्रदोष व्रत 26 मई और ११ जून को पड़ेगा. 
  • पूर्णिमा २९ मई को रहेगी मल मास मे. 
  • १३ तारीख को अमावस्या के साथ अधिक मास की समाप्ति होगी. 
अपनी सफलता के लिए श्रद्धा और भक्ति से पूजन पाठ करना चाहिए.

क्या करे अधिक मास में जीवन से समस्याओं को कम करने के लिए:

Kamjor Shukra Ka Jivan Par Prabhav Aur Upaay Jyotish Me

कमजोर शुक्र का प्रभाव जीवन में, कैसे बढ़ाए शुक्र की शक्ति को , क्या नुक्सान होता है शुक्र कमजोर होने से ज्योतिष के हिसाब से, जानिए कुछ ख़ास उपाय अच्छे जीवन के लिए.
कमजोर शुक्र का प्रभाव जीवन में, कैसे बढ़ाए शुक्र की शक्ति को , क्या नुक्सान होता है शुक्र कमजोर होने से ज्योतिष के हिसाब से, जानिए कुछ ख़ास उपाय अच्छे जीवन के लिए.
Kamjor Shukra Ka Jivan Par Prabhav Aur Upaay Jyotish Me
शुक्र एक ऐसा ग्रह है जो यदि जातक को लाभ दे तो व्यक्ति को मनमोहक बना देता है, दुसरो को आकर्षित करने की शक्ति देता है, शानदार जीवन देता है, विलासिता के साधन प्रदान करता है आदि.
अतः शक्तिशाली और शुभ शुक्र की जरुरत इस नश्वर जीवन को सफलता पूर्वक जीने के लिए बहुत महत्त्व रखता है. इसके कारण जातक सांसारिक आवश्यकता को आसानी से पूरी कर सकता है. कमजोर शुक्र के कारण जातक को जीवन में बहुत परेशानियां होती है.

शुक्र अगर ज्यादा शक्तिशाली हो जाए तो जातक को कुछ अनैतिक कार्यो में उलझा देता है जिसके कारण बदनामी भी हो सकती है. अतः ये जरुरी है की शुक्र की शक्ति को बैलेंस रखा जाए.

आइये जानते है की कमजोर शुक्र के कारण जीवन में क्या प्रभाव हो सकता है ?

  • कमजोर शुक्र के कारण विपरीत लिंग के साथ संबंधो में परेशानी हो सकती है.
  • इसके कारण आलीशान जीवन जीने में बाधा उत्पन्न हो सकती है.
  • कमजोर शुक्र सेक्स जीवन को भी प्रभावित करता है.
  • कमजोर शुक्र प्रेम जीवन को भी प्रभावित करता है. 
  • इसके कारण जातक की आकर्षण शक्ति भी कम हो सकती है.
  • जातक दुसरो को प्रभावित करने में कमजोर पड़ता है.

कैसे बढायें शुक्र की शक्ति को?

World Of Numerology In Hindi | अंको की दुनिया

अंको की दुनिया, अंक विज्ञान, ग्रह और सम्बंधित अंक, वार और सम्बंधित अंक, अंक ज्योतिष का महत्त्व, world of numerology, planets and numbers, days and related numbers, numerology in Hindi. 

अंक हमारे जीवन को हर जगह प्रभावित करते हैं, बिना अंको के हम जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते हैं. कोई भी नाम हो, वास्तु, व्यक्ति, शहर, सामान आदि का उसे अंको में बदला जा सकता है और उससे सम्बंधित रहस्य को पता लगाया जा सकता है. अतः अंक विज्ञान बहुत महत्त्वपूर्ण है, इसके द्वारा हम अपने जीवन के लिए भाग्यशाली दिन, तारीख का चुनाव कर सकते हैं, हम अपने नाम में सही बदलाव कर सकते है, हम अपने ऑफिस, फैक्ट्री या फर्म का नाम सही रख सकते हैं जिससे सही मुनाफा हो.
ank vidya rahasya Free by jyotish sansar
ank vidya rahasya

अंक विज्ञान अपने आप में एक समग्र विज्ञान है जिसका इस्तेमाल दशकों से होता आया है. कोई भी इसका उपयोग कर सकता है बस जरुरत है थोडा अध्ययन और अभ्यास की. 

किसी अच्छे ज्योतिष से सलाह लेके भी आप आने जीवन को सार्थक कर सकते हैं .

ग्रह और उससे सम्बंधित अंक को जानिये:
अंक 1 से सम्बंधित ग्रह है सूर्य.
अंक 2 से सम्बंधित ग्रह है चन्द्रमा.
अंक 3 से सम्बंधित ग्रह है गुरु.
अंक 4 से सम्बंधित ग्रह है राहू या युरेनस .
अंक 5 से सम्बंधित ग्रह है बुध.
अंक 6 से सम्बंधित ग्रह हैं शुक्र.
अंक 7 से सम्बन्धित ग्रह है केतु या नेप्चून 
अंक 8 से सम्बंधित ग्रह है शनि.
अंक 9 से सम्बंधित ग्रह है मंगल.

जैसा की आपने देखा की हर एक अंक किसी न किसी ग्रह से जुड़ा है और आप जानते हैं की मनुष्य का पूरा जीवन ग्रहों के प्रभाव से घूमता है इसी कारण अंको का अध्धयन करके मनुष्य जीवन के रहस्यों को जाना जा सकता है. 

 जैसे ग्रहों का सम्बन्ध अंको से है वैसे की सप्ताह के वारों का सम्बन्ध भी अंको से है जैसे की –

Black Magic Remedies | Kalajadu Ka Samadhaan

काला जादू का प्रभाव और समाधान

, कैसे करे काले जादू से बचाव , काले जादू या ब्लैक मैजिक से सुरक्षा के सूत्र, , Free encyclopaedia on kala jadu/ black magic  remedies in Hindi, bad effects of black magic, black magic impacts and remedies provider.
काला जादू का प्रभाव और समाधान, कैसे करे काले जादू से बचाव , काले जादू या ब्लैक मैजिक से सुरक्षा के सूत्र, , Free encyclopaedia on kala jadu/ black magic  remedies in Hindi, bad effects of black magic, black magic impacts and remedies provider.
kale jadu se kaise bache

नकारात्मक दिमाग वाले लोग काले जादू का स्तेमाल इसलिए करते हैं ताकि जल्द से जल्द अपनीइच्छाओं  को पूरा कर सकें. ये एक घातक हथियार है जो न केवल जिसपर प्रयोग किया जाता है उसको नष्ट करता है बल्कि जो इसका प्रयोग करता है उसको भी नष्ट करता है.

ये बहुत ही दुर्भाग्य की बात है की अज्ञानता और धीरज की कमी के कारण आज लोग शैतानी शक्तियों के स्तेमाल करने से भी नहीं चूकते हैं. ऐसे बहुत से केस मेरे पास आते रहते हैं जिनमें काले जादू के कारण लोग विभिन्न प्रकार के फल को भोगते हैं जैसे की-
  1. सारे गुण होने के बावजूद भी रोजगार न मिलना.
  2. अच्छा कार्य करने पर भी तरक्की a मिलना और ऊपर से अफसरों से सुनना.
  3. आय के स्त्रोत का अकस्मात् बंद हो जाना.
  4. शक्ति होने के बावजूद भी घर में बैठे रहना, काम नहीं करना.
  5. दिन भर सोते रहना.
  6. रोज बुरे सपने आना. 
  7. व्यापार में अकस्मात् हानि होना शुरू हो जाना और कारणो का पता नहीं चलना.

वक्तिगत जीवन पर भी काले जादू से बहुत प्रभाव पड़ता है जैसे की –

  1. वैवाहिक जीवन का नष्ट हो जाना, सब कुछ ठीक चलते चलते अचानक से रिश्तों में खटास आ जाना.
  2. प्रेम संबंधों में विच्छेद हो जाना बिना किसी कारण के. 
  3. बिना किसी कारण के तलाक की नौबत आना.
  4. रोज गली गलोच मरना पीटना आदि भी दिखाई पड़ते हैं.
  5. अचानक कोई गंभीर रोग होना और इलाज करने पर भी असर न होना.
  6. दुर्घटनाये होना और बड़े किसी हानि का होना.

इसके अलावा भी कुछ विचित्र बातें सामने आई है जैसे की –

  • कहीं पर भी आग लग जाना और नुक्सान होना.
  • घर पर से चीजों का गायब हो जाना .
  • पुरे घर में एक भय का वातावरण का निर्माण हो जाना.
  • खून की उल्टियाँ होना और मृत्यु नजर आना.
  • गंभीर बिमारी से ग्रस्त हो जाना और सब तरफ नकरात्मक वातावरण का निर्माण होना.
  • कहीं भी राह नजर न आना आदि .

काले जादू से बचाव के उपाय: