Skip to main content

Posts

Showing posts with the label kalsarp jyotish in hindi

Latest Astrology Updates in Hindi

Surya Ka Mithun Rashi Mai Gochar Ka Prabhav

Surya Ka Mithun Rashi Mai Gochar Ka Prabhav, Surya Mithun Rashi Mai kab jayenge, surya gochar june 2024, मिथुन संक्रांति क्या है, १२ राशियों पर असर | मिथुन संक्रांति का महत्त्व: Surya Ka Mithun Rashi Mai Gochar 2024:  जब सूर्य वृषभ राशि से मिथुन में प्रवेश करते हैं  तो उसे मिथुन संक्रांति कहते हैं| ज्योतिष के हिसाब से इस दिन के बाद अगले करीब ३१ दिन तक सूर्य मिथुन राशी में रहता है| जब सूर्य मिथुन राशि में रहते हैं तो भारत के गुवाहाटी में कामख्या मंदिर में  अम्बुबाची का मेला लगता है जब मंदिर के कपाट कुछ दिनों के लिए बंद किये जाते हैं, ऐसा कहा जाता है की साल में एक बार माता कामख्या रजस्वला होती है अतः इसीलिए कुछ दिनों के लिए मंदिर का पठ बंद रहता है और इन्ही दिनों मंदिर में मेला लगता है | ये सिर्फ साल में एक बार होता है और पुरे विश्व से लोग यहाँ आते है| भारत के बहुत से भागो में इस दिन लोग भगवान् विष्णु की पूजा करते हैं. कई भागो में मानसून आ जाता है और लोग बारिश का भी आनंद लेते हैं|  Surya Ka Mithun Rashi Mai Gochar 2024 Surya Ka Mithun Rashi Mai Gochar Ka Prabhav आइए जानते हैं कि सू

Kalsarp Dosh Nivaran Mantra

कालसर्प दोष निवारण हेतु चमत्कारी मंत्र, Powerful Sarp Mantras For Kaal sarp removal, Mantra to Remove KAAL SARP, Kaal Sarp Dosha Sarp Shanti Mantra, Divine hindu mantras. जन्म कुंडली में कालसर्प योग एक ऐसा योग है जिसके कारण जातक को जीवन में संघर्षो के साथ आगे बढ़ना होता है | ये योग राहू और केतु के कारण बनता है कुंडली में | Kalsarp yog को दूर करने के लिए पूजाएँ होती है, यन्त्र प्रयोग होते हैं, अंगूठी बनती है और अनेक प्रकार के मंत्र भी होते हैं | इस लेख में हम जानेंगे शक्तिशाली मंत्रो के बारे में जिसका जप करने से कालसर्प दोष से मुक्ति मिलती है, परेशानियाँ ख़त्म होती है, सफलता जीवन में आने लगती है | इन मंत्रो को रोज सुनने और जप करने से चमत्कारी लाभ देखने को मिलते हैं | Kalsarp Dosh Nivaran Mantra Read in english about Kaalsarp Removal Mantras सबसे पहले जानते हैं की कालसर्प योग कब बनता है ? जब सारे ग्रह राहू और केतु के बीच में आ जाएँ तो बनता है kalsarp yog. इस योग के कारण जातक को व्यपार में परेशानी आती है, विवाह में परेशानी आती है, समाज में नाम, यश प्राप्त करने में परेशानी आती है, नौकरी

Kalsarp Yoga Kya Hota Hai

Kalsarp yoga kya hai, कालसर्प योग इन hindi, कैसे जाने कालसर्प योग को, क्या प्रभाव होता है कालसर्प योग का जीवन में, ज्योतिष कालसर्प योग. वैदिक ज्योतिष में एक विशेष योग के बारे में बहस करते हुए लोगो को देखा जाता है जिसे हम कालसर्प योग के नाम से जानते हैं, लोगो के अन्दर कालसर्प को लेके बहुत डर व्याप्त रहता है कारण की इसे एक दोष के रूप में ही प्रस्तुत किया गया है परन्तु वास्तव में ये एक योग है जिसके परिणाम अच्छे और बुरे दोनों हो सकते हैं. अतः जानकारी के आभाव में डरना उचित नहीं होता है | Kalsarp Yoga Kya Hota Hai ज्योतिष संसार के इस लेख में कालसर्प योग के विषय में जानकारी दी जा रही है जो सभी के काम आएगी. क्या आप जानते हैं ? कुंडली में कालसर्प के विभिन्न प्रकार मिलते हैं जिसे बारीकी से अध्ययन करने पर जाना जाता है. कालसर्प के अलावा 14 प्रकार के कुछ अन्य महत्त्वपूर्ण श्राप का भी वर्णन ज्योतिष शाश्त्रों में मिलता है जिनका प्रभाव इससे भी घातक हो सकता है. जैसे की पितृ दोष , प्रेत दोष , ब्राह्मण दोष, मातुल दोष, पत्नी दोष, सहोदर दोष, विष दोष आदि . हर कालसर्प योग खतरनाक नहीं होता

Kaalsarp ka Samadhaan in Hindi

कालसर्प का समाधान हिंदी में, कालसर्प दोष को कम करने के उपाय, कैसे दूर करे नाग दोष के दुष्प्रभाव को. कालसर्प योग ज्योतिष में एक महत्त्वपूर्ण योग है और ज्योतिषों के इस विषय पर विभिन्न विचार पाए जाते हैं. इसे हम नाग दोष या सर्प दोष के नाम से भी जानते हैं. अगर कुंडली में कालसर्प योग बना हुआ है तो ये जरुरी है की कुछ उपाय किया जाए जिससे इसके दुष्प्रभावो को कम किया जाए अन्यथा जीवन में कई परेशानियां उत्पन्न हो सकती है. kalsarp in hindi jyotish कालसर्प योग तब बनता है जब सभी ग्रह राहू और केतु के बीच में आ जाएँ. ऐसी मान्यता है की ऐसे जातको को जीवन में बहुत ज्यादा संघर्ष करना होता है. व्यक्ति को मेहनत के अनुसार फल प्राप्त नहीं होता है. परन्तु ऐसा सोचना गलत होगा की कालसर्प हमेशा ही ख़राब होता है, कुछ लोग तो बहुत सफल है इस योग के होने के बावजूद भी. कुंडली में ग्रहों के बैठने के तरीके के अनुसार कालसर्प के कई प्रकार विद्वानों ने बताये जय जैसे अनंत कालसर्प योग, कुलिक कालसर्प योग, वासुकी कालसर्प योग, शंखपाल कालसर्प योग, पदम् कालसर्प योग, तक्षक कालसर्प योग, कर्कोटक कालसर्प योग, शंखचूड क

Kalsarp Yog Se Mukti Ke Liye Totke, कालसर्प दूर करने के लिए टोटके

Kalsarp Yog Se Mukti Ke Liye Totke, कालसर्प दूर करने के लिए टोटके, जन्म कुंडली में कालसर्प योग बनने के कारण क्या समस्यायें उत्पन्न होती हैं, क्या कालसर्प वाकई खतरनाक होता है, जानिए कुछ आसान टोटके कालसर्प योग से बचने के लिए hindi में, Hindi Jyotish website. वास्तव में कालसर्प योग से जायदा डरने की जरुरत नहीं है क्यूंकि ऐसे दुसरे भी बहुत से योग कुंडली में पाए जाते हैं जो की इससे भी ज्यादा घटक होते हैं. कालसर्प दूर करने के लिए टोटके कालसर्प योग से तात्पर्य है 7 ग्रहों का राहू और केतु के बीच में आ जाना उदाहरण के लिए सूर्य, चन्द्र , मंगल, बुध, गुरु शुक्र, शनि अगर राहू और केतु के बीच में आ जाते हैं तो कालसर्प योग का निर्माण हो जाता है जन्म कुंडली में. ये योग एक प्रकार का रोक पैदा करता है अर्थात जातक को कार्यो को करने में मेहनत ज्यादा करना होता है और उसका फल कम मिलता है. जिसके कारण उदासीनता, क्रोध, विषाद आदि आ जाते हैं, सही कार्य नहीं मिल पता, सही पारिश्रमिक नहीं मिल पाता है,  . सही जीवन साथी सही समय पर नहीं मिल  पाता है, विद्यार्थी सही नंबर नहीं ला पाते है, संतान समस्या उत्पन्न हो