सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

Shrap in kundli in hindi jyotish लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैं

Hindi Jyotish Website

Hindi astrology services || jyotish website in hindi|| Kundli reading || Birth Chart Calculation || Pitru Dosha Remedies || Love Life Reading || Solution of Health Issues in jyotish || Career Reading || Kalsarp Dosha Analysis and remedies || Grahan Dosha solutions || black magic analysis and solutions || Best Gems Stone Suggestions || Kala Jadu|| Rashifal || Predictions || Best astrologer || vedic jyotish || Online jyotish || Phone jyotish ||Janm Kundli || Dainik Rashifal || Saptahik Rashifal || love rashifal

Vibhinn Prakaar Ke Shrap In Kundli

कुंडली में विभिन्न प्रकार के श्राप, जानिए किस प्रकार के श्राप से कौन सी परेशानी आती है जीवन में, किस उपाय से दूर होंगे श्राप, समस्याओं का समाधान, Kundli me Maujood Shraap | कुंडली में श्राप क्या होता है? ज्योतिष में श्राप का अर्थ है कुंडली में ग्रहों का इस प्रकार से बैठना कि व्यक्ति जीवन में विभिन्न समस्याओं से ग्रस्त हो जाए। ज्योतिष शास्त्र के माध्यम से श्राप का अनुमान आसानी से लगाया जा सकता है। यह श्राप हमारे पिछले जन्म के कर्मों के कारण उत्पन्न होता है। यह सत्य है कि बिना कारण कुछ भी नहीं होता। यह डरने की बात नहीं है क्योंकि अगर आप भाग्यशाली हैं  तो आपको आपके समस्याओं के कारण का पता चलता है और फिर आप समाधान भी कर सकते हैं | इसलिए कुंडली का बारीकी से अध्ययन करवाना चाहिए ताकि हमे सही कारण पता चले समस्याओं का |  Vibhinn Prakaar Ke Shrap In Kundli जीवन में सर्वोपरि सफलता का अर्थ है धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष की प्राप्ति। लेकिन यह उतना आसान नहीं है जितना सुनने में लगता है क्योंकि केवल भाग्यशाली लोगों को ही जीवन में ये 4 चीजें मिल पाती हैं। मनुष्य जन्म बहुत महत्वपूर्ण है और इस जीवन क

Vivah Shraap Kya Hota Hai In Hindi Jyotish

Vivah sraap ke karan aur samadhan in hindi jyotish, Kaise pata lagayen vivah shraap ka kundli me, shadi shuda jivan ko kaise safal banaaye. विवाह जीवन का एक महत्वपूर्ण पहलू है। विवाह सिर्फ एक अच्छा सामाजिक जीवन जीने के लिए ही आवश्यक नहीं है अपितु दो लोगो के शारीरिक सुख की आवश्यकता को भी पूरी करने में मदद करता है| विवाह एक पवित्र बंधन है जो की दो अनजान लोगो को जीवन भर के लिए मिला देता है और वे मिलके सुख और दुःख को बांटते हैं | Vivah Shraap Kya Hota Hai In Hindi Jyotish विवाह अगर उचित साथी से हो तो ये हमारे जीवन को मज़बूत बनाता है और अद्भुत बनाता है। लेकिन बहुत से लोग ऐसे हैं जिन्हें वैवाहिक जीवन का सुख नहीं मिल रहा है, कुछ विवाहित हैं लेकिन सक्षम नहीं हैं, साथी के साथ सहज संबंध बनाने में | बहुत से लोगो को विवाह के लिए अच्छा मैच नहीं मिल पा रहा है। हर कोई अपने विवाह के बारे में कुछ सपने देखता है लेकिन यह जीवन का एक कड़वा सच है की हर किसी को विवाह के लिए मनपसंद साथी पाने का सौभाग्य नहीं मिल पाता है और कुछ को समय पर जीवन साथी नहीं मिलता है, वैवाहिक जीवन का सुख भोगने के ल

Sarp Shraap in Kundli in hindi

कुंडली में सर्प श्राप कैसे बनता है, sarp shraap ke upaay in hindi, saanp ke dar se bahaar aane ke liye mantra. अभिशाप हमारे जीवन में समस्याओं का मूल कारण है। हम सभी अपने पुण्यो और पापों के साथ जन्म लेते हैं। और जैसे-जैसे दिन बीतते हैं, हम अपने भाग्य के अनुसार सुख और दुःख का सामना करते हैं। श्राप मुख्य रूप से दु: ख से संबंधित है। इसका मतलब है कि अगर कोई इस जीवन में किसी चीज से पीड़ित है, तो वह किसी प्रकार के श्राप के प्रभाव में जरुर है। Sarp Shraap in Kundli in hindi प्राचीन काल में, ऋषि-मुनि दुर्व्यवहार करने वाले किसी भी व्यक्ति को श्राप देने में सक्षम होते थे लेकिन वास्तव में, हर व्यक्ति के पास श्राप देने की शक्ति होती है। अगर कोई किसी पर अत्याचार करता है तो पीड़ित उस व्यक्ति के लिए नकारात्मक सोचता है और यह उस व्यक्ति के लिए अभिशाप बन जाता है। संत कबीर का एक बहुत प्रसिद्ध दोहा है: दुर्बल को न सताइये, जा की मोटी हाय । बिना जीव की हाय से, लोहा भसम हो जाय ॥ अर्थात संत कबीर दास जी कहते हैं कि कमजोर व्यक्ति को कभी भी मत सताइए क्योंकि दुखी ह्रदय कि हाय बहुत ही हान

Pitru Shraap In Kundli In Hindi Jyotish

जानिए पितृ श्राप के कारण, क्या हानि होती है कुंडली में पितृ दोष होने पे, कैसे पायें पितृ कृपा | ज्योतिष शाश्त्र में पितृ श्राप भी एक महत्त्वपूर्ण विषय है जो की जीवन में परेशानियों का एक महत्त्वपूर्ण कारण हो सकता है | ऐसा देखा गया है की जिनके कुंडली में पितृ श्राप होता है वे जातक बहुत अधिक संघर्षो के साथ जीवन व्यतीत करते हैं और कुछ लोगो को तो दुर्भाग्य से इसका पता भी नहीं होता और वे कष्ट भोगते रहते हैं | कुंडली में पितृ दोष के कारण जातक को व्यवसाय करने में समस्या आती है, नौकरी करने में भी उन्नति नहीं मिलती, विवाह बढ़ा से गुजरना पड़ता है, या तो समय पर शादी होती नहीं और होती है तो बाद में अनेक परेशानियों का सामना करना पड़ता है, कुछ तो गंभीर बिमारी से जूझते रहते हैं, कुछ लोगो को संतान सुख से भी वंचित रहना पड़ता है | कुछ लोग तो कर्ज से भी परेशान रहते हैं पूरी जिन्दगी भर | Pitru Shraap In Kundli In Hindi Jyotish हिन्दू शास्त्रो में किसी भी महत्त्वपूर्ण कार्य को करने से पहले पितरो को पूजने के लिए बोला गया है क्यूंकि जिनके ऊपर पितरो की कृपा हो जाए उनके सारे काम बड़े आसानी से हो जा

Follow on Facebook For Regular Updates