Skip to main content

Posts

Showing posts with the label Ank jyotish in hindi

Latest Astrology Updates in Hindi

Dhumawati Jayanti Ke Upaay

Dhumavati Jayanti 2024, जानिए कौन है धूमावती माता, कैसे होती है इनकी पूजा, dhumawati mata ka mantra kaun sa hai,  Dhumawati Jayanti Ke Upaay. Dhumavati Jayanti 2024:  10 महाविद्याओं में से एक हैं माँ धूमावती और ये भगवती का उग्र रूप हैं | इनकी पूजा से बड़े बड़े उपद्रव शांत हो जाते हैं, जीवन में से रोग, शोक, शत्रु बाधा का नाश होता है | माना जाता है कि धूमावती की पूजा से अलौकिक शक्तियाँ प्राप्त होती हैं जिससे मुसीबतों से सुरक्षा मिलती हैं, भौतिक और अध्यात्मिक इच्छाएं पूरी होती हैं| इनकी पूजा अधिकतर एकल व्यक्ति, विधवाएँ, तपस्वी और तांत्रिक करते हैं |  Dhumawati Jayanti Ke Upaay  Dhumavati Jayanti Kab aati hai ? हिन्दू पंचांग के अनुसार हर साल ज्येष्ठ महीने के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को माँ धूमावती जयंती मनाई जाती है। पौराणिक मान्यता के अनुसार , मां धूमावती धुएं से प्रकट हुई थीं और ये माता का विधवा रूप भी कहलाती है इसीलिए सुहागिन महिलाएं मां धूमावती का पूजन नहीं करती हैं, बस दूर से दर्शन करती हैं और आशीर्वाद लेती है | Read in english about Importance of Dhumawati jayanti 2024   Dhumava

Ank Jyotish Prediction 2024 in Hindi

Ank Jyotish Prediction 2024 in Hindi,  नए साल 2024 के लिए अंकज्योतिष की भविष्यवाणी, विभिन्न लोगों के लिए नया साल कैसा रहेगा, प्रेम जीवन कैसा रहेगा, अंकज्योतिष के अनुसार करियर, अंकज्योतिष के अनुसार प्रेम जीवन। अंक ब्रह्मांडीय ऊर्जाओं से संबंधित हैं और इसलिए अंकशास्त्र में हम अपनी जन्मतिथि, वर्तमान वर्ष आदि के अनुसार हमारी वित्तीय स्थिति, प्रेम जीवन, वैवाहिक जीवन, स्वास्थ्य आदि पर ब्रह्मांडीय ऊर्जाओं के प्रभाव को समझने का प्रयास करते हैं। 2024 के लिए अंकज्योतिष भविष्यवाणियां इस पोस्ट में, ब्लॉग पाठकों को अंकज्योतिष के आधार पर 2024 की भविष्यवाणियां मिलेंगी। हर नया साल जीवन में बहुत सारे बदलाव लाता है और हमारे पास नए साल के लिए कई योजनाएं भी हैं, नए लक्ष्य भी हैं|अंकज्योतिष के अनुसार हम जीवन पर अंकों के प्रभाव को नजरअंदाज नहीं कर सकते। मूलांक के अनुसार ही हमारा व्यक्तित्व होता है और हर वर्ष विभिन्न ग्रहों के प्रभाव के अनुसार जीवन में विभिन्न प्रकार के परिवर्तनों का सामना करना पड़ता है। नया साल 2024 आ रहा है और हर अंक ज्योतिष प्रेमी को आने वाले साल में छिपे भविष्य के बारे में जा

Moolank 9 Wale Bhagya Kaise Jagaayen

मूलांक 9 वाले व्यक्तियों के गुण, कैसे जगाएं अपना भाग्य, कौन सा यन्त्र मूलांक 9 वाले व्यक्तियों का भाग्य जगाता है, कौन सा दिन भाग्शाली रहता है  , कौन सा रत्न धारण करें, अंक ज्योतिष मार्गदर्शन | अगर आपका जन्म महीने की 9, 18,  या 27 को हुआ है तो आपका मूलांक 9 होगा | मूलांक 9 का सम्बन्ध मंगल    ग्रह से है जो की शौर्य, शक्ति, साहस, ऊर्जा, क्रोध, स्वतंत्रता, आदि से सम्बन्ध रखता है | Moolank 9 Wale Bhagya Kaise Jagaayen अंक ज्योतिष के हिसाब से अगर किसी का मूलांक 9 है और कुंडली में मंगल की स्थिति अच्छी हो तो ऐसे में जातक जीवन में मंगल की शक्ति के साथ जीवन जीता है और नाम, यश को प्राप्त करता है |  ऐसे जातक निडर होते हैं और अपने पराक्रम से जीवन जीते हैं | ऐसा भी देखा गया है की ऐसे लोग किसी भी क्षेत्र में क्यों ना प्रवेश करें, ये सफल होते हैं | गोचर कुंडली में जब भी मंगल ग्रह की स्थिति कमजोर होती है तब तब मूलांक 9 वाले लोगो को कमजोरी महसूस होगी, जीवन में संघर्ष बढ़ जाएगा | मंगल ग्रह अगर ज्यादा बली हो जाए तो ऐसे में जातक को अहंकारी, क्रोधी, और झगड़ालू बना देता है | आइये अब जानते हैं मूलांक

Moolank 8 Wale Bhagya Kaise Jagaayen

मूलांक 8 वाले व्यक्तियों के गुण, कैसे जगाएं अपना भाग्य, कौन सा यन्त्र मूलांक 8 वाले व्यक्तियों का भाग्य जगाता है, कौन सा दिन भाग्शाली रहता है  , कौन सा रत्न धारण करें, अंक ज्योतिष मार्गदर्शन | Moolank 8 Wale Bhagya Kaise Jagaayen अगर आपका जन्म महीने की 8, 17,  या 26 को हुआ है तो आपका मूलांक 8 होगा | मूलांक 8 का सम्बन्ध शनि ग्रह से है जो की विश्वास, न्याय,गंभीरता, शक्ति, दयालुता, संघर्ष, विरक्ति आदि से सम्बन्ध रखता है | अंक ज्योतिष के हिसाब से अगर किसी का मूलांक 8 है और कुंडली में शनि की स्थिति अच्छी हो तो ऐसे में जातक जीवन में शनि की शक्ति के साथ जीता है और नाम, यश को प्राप्त करता है |  ऐसे जातक अंतर्मुखी होते हैं और चुपचाप अपने लक्ष्य की और बढ़ते रहते हैं | समय से पहले ही परिपक्व हो जाते हैं अर्थात ये छोटी उम्र में ही बड़ो की सोच रखते हैं |  गोचर कुंडली में जब भी शनि ग्रह की स्थिति कमजोर होती है तब तब मूलांक 8 वाले लोगो को कमजोरी महसूस होगी, जीवन में संघर्ष बढ़ जाएगा | शनि ग्रह अगर ज्यादा बली हो जाए तो ऐसे में जातक को अहंकारी बना देता है, विरक्त और क्रोधी भी बना देता है | आइये अब

Moolank 7 Wale Bhagya Kaise Jagaayen

मूलांक 7 वाले व्यक्तियों के गुण, कैसे जगाएं अपना भाग्य, कौन सा यन्त्र मूलांक 7 वाले व्यक्तियों का भाग्य जगाता है, कौन सा दिन भाग्शाली रहता है  , कौन सा रत्न धारण करें, अंक ज्योतिष मार्गदर्शन | अगर आपका जन्म महीने की 7, 16,  और 25 को हुआ है तो आपका मूलांक 7 होगा | मूलांक 7 का सम्बन्ध केतु ग्रह से है जो की सहिष्णुता, सौम्यता, सरल, और कल्पना आदि से सम्बन्ध रखता है | अंक ज्योतिष के हिसाब से अगर किसी का मूलांक 7 है और कुंडली में केतु की स्थिति अच्छी हो तो ऐसे में जातक जीवन में यात्रा के शौक़ीन रहते हैं, कल्पना करने में भी माहिर होते हैं, रचनात्मक होते हैं, अच्छे साथी साबित होते हैं |  Moolank 7 Wale Bhagya Kaise Jagaayen ऐसे लोग अगर लेखक, कवि,  डिजाइनर हो तो अलग ही पहचान बना लेते हैं अपने उल्लेखनीय कार्यो से | मूलांक 7 वाले अगर अध्यात्म से जुड़ जाएँ तो बहुत ही उच्च कोटि के योगी बन सकते हैं | गोचर कुंडली में जब भी केतु ग्रह की स्थिति कमजोर होती है तब तब मूलांक 7 वाले लोगो को कमजोरी महसूस होगी, जीवन में संघर्ष बढ़ जाएगा | केतु ग्रह अगर ज्यादा बली हो जाए तो ऐसे में जातक विरक्त हो सकता है, भय

Moolank 6 Wale Bhagya Kaise Jagaayen

मूलांक 6 वाले व्यक्तियों के गुण, कैसे जगाएं अपना भाग्य, कौन सा यन्त्र मूलांक 6 वाले व्यक्तियों का भाग्य जगाता है, कौन सा दिन भाग्शाली रहता है  , कौन सा रत्न धारण करें, अंक ज्योतिष मार्गदर्शन | अगर आपका जन्म महीने की 6, 15,  और 24 को हुआ है तो आपका मूलांक 6 होगा | मूलांक 6 का सम्बन्ध शुक्र ग्रह से है जो की वीर्य, उर्जा, शक्ति, काम शक्ति, प्रेम, आकर्षण शक्ति आदि से सम्बन्ध रखता है | अंक ज्योतिष के हिसाब से अगर किसी का मूलांक 6 है और कुंडली में शुक्र बलवान हो तो ऐसे में जातक जीवन में सौंदर्य प्रेमी होते है, रोमांटिक होते हैं, विपरीत लिंग को आकर्षित करने में सक्षम होते हैं, हंसमुख, मिलनसार, सबसे घुलने मिलने वाले होते हैं | शौक के ऊपर ज्यादा खर्चा करने वाले होते हैं | Moolank 6 Wale Bhagya Kaise Jagaayen मूलांक 6 वाले लोग अव्यवस्था, गन्दगी, कुरूपता, अशिष्टता पसंद नहीं करते हैं | गोचर कुंडली में जब भी शुक्र ग्रह की स्थिति कमजोर होती है तब तब मूलांक 6 वाले लोगो को कमजोरी महसूस होगी, जीवन में संघर्ष बढ़ जाएगा, संबंधों में खटास आने लगेगी आदि | शुक्र ग्रह अगर ज्यादा बली हो जाए तो ऐसे में जा

Moolank 5 Wale Bhagya Kaise Jagaayen

मूलांक 5 वाले व्यक्तियों के गुण, कैसे जगाएं अपना भाग्य, कौन सा यन्त्र मूलांक 5 वाले व्यक्तियों का भाग्य जगाता है, कौन सा दिन भाग्शाली रहता है, कौन सा रत्न धारण करें, अंक ज्योतिष मार्गदर्शन | अगर आपका जन्म महीने की 5, 14,  और 23को हुआ है तो आपका मूलांक 5 होगा | मूलांक 5 का सम्बन्ध बुध ग्रह से है जो की बुद्धि, निति, विलक्षण सूझ बूझ, क्रियाशीलता, विनोदप्रियता आदि से सम्बन्ध रखता है | Moolank 5 Wale Bhagya Kaise Jagaayen अंक ज्योतिष के हिसाब से अगर किसी का मूलांक 5 है और कुंडली में बुध  बलवान हो तो ऐसे में जातक जीवन में अपनी बुद्धि के बल पे नाम और यश की प्राप्ति करते हैं | ऐसे लोग अपना काम निकालने में माहिर होते हैं | खाली बैठना इन्हें पसंद नहीं होता और हमेशा कुछ ना कुछ करते रहते हैं | गोचर कुंडली में जब भी बुध ग्रह की स्थिति कमजोर होती है तब तब मूलांक 5 वाले लोगो को कमजोरी महसूस होगी, जीवन में संघर्ष बढ़ जाएगा, संबंधों में खटास आने लगेगी आदि | बुध ग्रह अगर ज्यादा बली हो जाए तो ऐसे में जातक को मू फट  बना देता है, अय्याश भी बना सकता है |  आइये अब जानते हैं मूलांक 5 वाले व्यक्तियों से

Moolank 4 Wale Bhagya Kaise Jagaayen

मूलांक 4 वाले व्यक्तियों के गुण, कैसे जगाएं अपना भाग्य, कौन सा यन्त्र मूलांक 4 वाले व्यक्तियों का भाग्य जगाता है, कौन सा दिन भाग्शाली रहता है, कौन सा रत्न धारण करें, अंक ज्योतिष मार्गदर्शन | अगर आपका जन्म महीने की 4, 13, 22, और 31 को हुआ है तो आपका मूलांक 4 होगा | मूलांक 4 का सम्बन्ध राहू ग्रह से है जो की आकस्मिक घटनाओं , शोध , राजनीति, शौर्य , तेज , गुस्सा, शत्रु बाधा, नकारात्मक विचार आदि से सम्बन्ध रखता है | अंक ज्योतिष के हिसाब से अगर किसी का मूलांक 4 है और कुंडली में भी राहू बलवान हो तो ऐसे में जातक के जीवन में धनागमन आकस्मिक होगा, अचानक से प्रसिद्धि के योग बन जायेंगे, अचानक से कहीं यात्रा पर जाना पड़ जायेगा आदि |  Moolank 4 Wale Bhagya Kaise Jagaayen गोचर कुंडली में जब भी राहू ग्रह की स्थिति कमजोर होती है तब तब मूलांक 4 वाले लोगो को कमजोरी महसूस होगी, नकारात्मक विचार घेर लेंगे, शत्रु से हानि होने लगेगी, धन हानि के योग बनने लगेंगे आदि | राहू ग्रह की शक्ति प्रबल होने पर जातक अहंकारी और गुस्सेल भी हो जाता है जिसका सीधा असर रिश्तो पर दिखाई देने लगता है | आइये अब जानते हैं मूलां