Skip to main content

Posts

Showing posts from March, 2019

Fefdo ke rog aur samadhaan

फेफड़ों के रोग और समाधान, खांसी का आसान इलाज, सर्दी जुकाम का इलाज, fefdo ke rog aur ilaaj.
खांसी नही जा रही है क्या करे?समाधान: परहेज- उपायों को करने मई खटाई , दही, लस्सी आदि का परहेज रखे.
1 डाली सेंधा नमक की ले के आग में तपाये फिर उसे आधे कप पानी में डुबो के निकाल ले और पानी पी ले. खांसी से छुटकारा मिलेगा.१० ग्राम अदरख और शहद का रस मिला के दिन में 2 बार लेने से बहुत आराम मिलता है खांसी से.मुलहटी को शहद में मिला के चूसने से भी खांसी से बहुत आराम मिलता है.लौंग चूसने से भी खांसी में बहुत आराम मिलता है. सर्दी जुकाम से परेशान हैं क्या करे?समाधान: शाम को भोजन के 2 घंटे बाद ये करे. गेहूँ के आटे में गुड और देशी घी मिला के गूंथ ले और रोटा बना के उसे खा ले परन्तु पानी न पिए. ऐसा कुछ दिन करने पर पुराने से पुराने सर्दी जुकाम से आराम मिलेगा.सोने से पहले अगर १५० ग्राम गुड खाया जाए तो कुछ ही दिनों में सर्दी से राहत मिल जाती है. 7 तुलसी के पत्ते के साथ अगर 2 काली मिर्च का सेवन रोज सुबह खाली पेट किया जाए तो व्यक्ति को कभी सर्दी जुकाम से परेशान नहीं होना पड़ता है. परन्तु उसके बाद पौन घंटे तक कुछ और न खाए औ…

Ghar Ki Daridrata Dur Karne Ke Jyotishiy Upaay

Daridrata nivaran upaay in hindi kaise door kare ghar ki daridrata, Deepak se door kare daridrata, जानिए दरिद्रता दूर करने के प्रभावशाली टोटके और उपाय.
दरिद्रता से बड़ा कोई श्राप नहीं होता है , ऐसा व्यक्ति और परिवार जो भुगतता है वो सिर्फ वही जान सकता है. दरिद्रता से व्यक्तिगत जीवन बुरी तरह से प्रभावित होता है, सामाजिक जीवन भी नष्ट हो जाता है. जीवन नरक जैसा लगने लगता है. दरिद्रता से निकलना अति आवश्यक है, अगर कोई इससे निकल नहीं निकल पाता तो अवसाद से ग्रस्त हो जाता है और जीवन ज्यादा ख़राब हो जाता है जिसका परिणाम पुरे परिवार को भोगना होता है.
अगर दरिद्रता से परेशान है आप तो पढ़िए ये ज्योतिषीय लेख.जानिए दरिद्रता नाश के कुछ सरल उपाय.जानिए कैसे हम भाग्य को जगा सकते हैं.जानिए कैसे सफलता के रास्ते खोले जा सकते हैं.संपर्क करे ज्योतिष से मार्गदर्शन के लिए >>
जानिए कुछ ख़ास प्रयोग दरिद्रता नाश के लिए :घर से दरिद्र को दूर करने के लिए सबसे ज्यादा जरुरी होता है घर को और घर के आस पास को साफ़ रखना. इससे लक्ष्मी आने की संभावनाए बढ़ने लगती है.घर के मंदिर में रोज धुप दीप और भोग लग्न चाहिए और फिर उस भोग को…

Mahakali Yantra ki Shakti In Hindi

Mahakali yantra ki shakti in hindi, काले जादू से सुरक्षा, नकारात्मक ऊर्जा से सुरक्षा के उपाय, दुश्मनों से बचाओ के उपाय. क्या आप ऐसा यन्त्र ढूँढ रहे है जो आपको बचाए नकारात्मकता से, क्या आप काले जादू से बचना चाहते हैं, क्या आप नजर दोष से बचना चाहते है, क्या आप ऐसी पूजा करना चाहते है जो आपको शक्तिशाली बनाए और बचाए भी नकारात्मकताओ से तो इस लेख में आप जानेंगे ऐसे ही एक शक्तिशाली यन्त्र के बारे में.

इस यन्त्र को कहते है “महाकाली यन्त्र” दशकों से लोग इस यन्त्र की साधना कर रहे है और माँ काली की कृपा से निर्विघ्न साधना कर रहे हैं.

पौराणिक कथाओं के हिसाब से महाकाली ने राक्षसों का वध किया था और आज भी अपने भक्तो को बचाती है नकारात्मक शक्त्यों से.

अगर कोई उर्जित महाकाली यन्त्र को स्थापित करके लगातार पूजा करता है तो उसे आसानी से धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष की प्राप्ति हो जाती है.

महाकाली शक्ति का प्रतिक है और इसी कारण इनकी साधना से दर से मुक्ति मिलती है, आत्मबल मिलता है, जिससे व्यक्ति सफलता की सीढ़ियाँ चड़ने लगता है.

अगर भूत प्रेत का उपद्रव हो तो भी महाकाली यन्त्र को स्थापित करके लगातार धुप दीप दिखा के …

Aankhon ko Kaise Rakhe Healthy in Hindi

Aaankh aur  Jyotish, हिन्दी में जानिये कैसे रखें आँखों को स्वस्थ, प्राकृतिक तरीको द्वारा बनाए अपने जीवन को स्वस्थ, आँखों की समस्याओं का ज्योतिषीय कारण. आँखें है हमारे शारीर का महत्वपूर्ण अंग, ये लगातार कार्य करते रहते हैं जीवन भर और आत्मा के शारीर छोड़ने के बाद भी आँखे कार्य करते रहते हैं. 
इन्ही के द्वारा हम इस सुन्दर संसार को देख पाते हैं, आँखों के द्वारा हम ईश्वर के कृति को देख पाते हैं और आनंद ले पाते हैं.  परन्तु देखा ये जाता है की हम इसके प्रति ज्यादा जागरूक नहीं रहते और जब आँखों की समस्या उत्पन्न होती है तब सारे इलाज लेने के लिए तैयार हो जाते हैं. परन्तु अगर हम रोजमर्रा की जीवन में कुछ उपायों को करे तो निश्चित ही आँखों को स्वस्थ रख पायेंगे.  इस लेख में आप जान पायेंगे उन आसान उपायों को जिनके द्वारा आप अपने आँखों को स्वस्थ रख पायेंगे. आँख और ज्योतिष : ज्योतिष के हिसाब से दूसरा भाव और बारवा भाव कुंडली का आँखों से सम्बन्ध रखता है और इसी कारण अगर इन दोनों भावो में कोई समस्या हो तो आँखों से सम्बंधित समस्याए उत्पन्न हो सकती है.  इसके अलावा सूर्य और चन्द्रमा का प्रभाव भी बहुत रहता है आँ…

Vaivahik Jivan Kharab Karne Wale Jyotishiy Yog

वैवाहिक जीवन को ख़राब करने वाले ग्रह योग और उनका प्रभाव ज्योतिष के अनुसार
सुखी वैवाहिक जीवन अती आवश्यक है अगर आप जीवन को अछि तरह से जीना चाहते हैं. सुखी वैवाहिक जीवन के अंतर्गत हम सेक्स जीवन, एक दुसरे के साथ वैचारिक समानता, स्वस्थ जीवन, अच्छी संतान आदि को लेते हैं.

हर व्यक्ति जो की जब विवाह के बारे मे सोचता है तो उसके मन मे कई सारे सपने आने लगते हैं जिसमे की जीवन साथ के साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाना महत्त्वपूर्ण स्थान रखता है. परन्तु ऐसा अक्सर होता है की बहुत से दंपत्ति विवाह के बाद असंतुष्ट नजर आते हैं और इसके कई कारण सामने आते हैं परन्तु ज्योतिष कारणों के पीछे ग्रहों के योग को महत्त्व देते हैं. ग्रह जीवन को बहुत ज्यादा प्रभावित करते हैं और इसी कारन अगर शादीशुदा जीवन मे कोई समस्या आ रही है तो इसका अर्थ ये है की निश्चित ही ग्रह दशा सही नहीं चल रही है या फिर विवाह स्थान दूषित है. विवाह स्थान, सुख स्थान गुप्तांग से सम्बंधित भाव अगर दूषित हो तो कई प्रकार के समस्याओ का सामना जातक को करना पड़ सकता है जैसे –जीवन साथी के साथ संतोषजनक सम्बन्ध नहीं बन पाता है.शारीरिक सम्बन्ध बनाने से गुप्त रोग होने…

Navratrii Ki Mahimaa | नवरात्री महीमा

नवरात्री की महिमा, समस्याओं के प्रकार और उनके समाधान नवरात्रियो में, जानिए ज्योतिष से.


नवरात्री में शक्ति की उपासना की जाती है , इन 9 रात्रियों में दिव्या साधनाए की जाती है ताकि भौतिक और अध्यात्मिक जीवन दोनों ही सफल हो. ये नौ रात्रियाँ साधको , तपस्वियों के लिए अति महत्त्वपूर्ण हैं. शाश्त्रों के हिसाब से अगर नवरात्री में कोई भी साधना श्रद्धा और भक्ती से प्रे विधि विधान से की जाए तो निश्चित ही सफलता मिलती है. इसी कारण लोग नवरात्री का इन्तेजार बड़े ही जोर शोर से करते हैं. शक्ति के बिना हम कुछ भी नहीं हैं.गरीबी, भूखमरी , लड़ाई झगड़े , अमंजास, असफलता लगातार का एक कारण कुलदेवी की अप्रसन्नता भी होती है. नवरात्री की महिमा : क्या आपने कभी ध्यान दिया है की कुछ लोग नवरात्री मे बहुत ही कठोर साधना करते हैं पर पुरे वर्ष भर आराम से जीवन का आनंद लेते है. यही है नवरात्री की महिमा. ये नौ दिन है शक्ति प्राप्त करने के लिए. ये नौ दिन है देवी को प्रसन्न करने के लिए, ये नौ दिन है समस्त प्रकार के बाधाओं को ख़त्म करने के लिए. अतः कोई भी व्यक्ति नवरात्री में साधनाओ को करते हुए पूरा जीवन अच्छी तरह से बिता सकता है.

Achhe Mehmaan Banne Ke Liye Rakhe In Baato Ka Dhyan

Ache mehmaan banne liye rakhe in baato ka dhyan, आचार का रखे ध्यान मेहमान बनने से पहले, ज्योतिष सलाह सफल यात्रा हेतु.

वास्तव में देखा जाए तो कहीं जाना आसान है परन्तु एक अच्छा मेहमान बनना बहुत मुश्किल है, अतः कुछ बातों का ध्यान अवश्य रखना चाहिए जिससे की लोग आपको याद रखे और समाज में आपकी एक अलग छवि बने. ये सिर्फ व्यवहार होता है की लोग हमे याद करते हैं, व्यवहार द्वारा हम किसी के दिल में राज कर सकते हैं और शुभकामनाये भी प्राप्त कर सकते हैं.

एक कड़वा सच ये है की कुछ लोग मेहमानों के नाम से ही घबराते हैं उसका कारण है उनके कुछ कडवे अनुभव. कुछ मेहमान तो समय को यादगार बना जाते हैं और लोग उन्हें जाने नहीं देना चाहते पर कुछ लोग जब आते हैं तो उनके साथ आती है कई मुसीबतें जिन्हें सहन करना असंभव सा हो जाता है और परिणाम होता है संबंधो में खटास.  आइये जानते हैं मेहमान कौन होता है? मेहमान वो है जो कुछ दिनों के लिए कही पर किसी के पास रहने जाता है किसी विशेष कारण से. वो कारण व्यक्तिगत भी हो सकता है, सामाजिक भी हो सकता है और ऑफिसियल भी हो सकता है.  जब भी मेहमान बनने जाएँ तो ध्यान रखिये कुछ बातो का:ध्यान रखे…

Prem Mai Safalta Ke Liye Kaun Si Pooja Kare?

प्रेम मे सफलता के लिए कौन सी पूजा करे, ज्योतिष के अनुसार कैसे बनाए प्रेम जीवन को सफल.

वास्तविक प्रेम को पाने की कसक सभी के अन्दर रहती है और इसिलिये हर कोई प्रयास करता है की उसे जीवन मे प्रेम मिले. कुंडली को देखने से प्रेम जीवन के बारे मे पता किया जा सकता है. कुछ लोग बहुत भाग्यशाली होते है क्यूंकि उनको बहुत आसानी से प्रेम करने वाला साथी मिल जाता है परन्तु कुछ लोग के बहुत कोशिश करने पर भी उन्हें कुछ हाथ नहीं लगता है और धोखा खा जाते हैं.
वास्तविक प्रेम सिर्फ विपरीत लिंग से ही सम्बंधित नहीं होता है अपितु इसका सम्बन्ध होता है माता पिता से , दोस्तों से, बहन –भाइयों से, पदोसियोसे आदि.
इसमे कोई शक नहीं की कामदेव और रति देवी का सम्बन्ध प्रेम और काम से है परन्तु ये भी सच है की सिर्फ इन्ही की पूजा से जीवन मे प्रेम आएगा ऐसा नहीं है. ऐसी बहुत सी पूजाए हो सकती है जिनसे की जीवन को सफल बनाया जा सकता है. ज्योतिष और प्रेम जीवन: ज्योतिष होने के कारण मुझे रोज कॉल्स और email प्राप्त होते है जिसमे लोग ये पूछते है की प्रेम जीवन को सफल बनाने के लिए कौन सी पूजा करे तो ये बताना चाहूँगा की ज्योतिष मे कोई भी सम…

Shani Amavas Ka Mahatw In Hindi

Shani amavas ka mahatwa in hindi, कैसे छुटकारा पायें शनि के बुरे प्रभाव से, शनि अमवस्या को क्या करे सफलता के लिए?, शनि के टोटके, शनि पीड़ा से मुक्ति के उपाय.

हिन्दू परंपरा के अनुसार शनि अमवस्या का बहुत अधिक महत्तव है. इस दिन पवित्र नदियों के किनारे मैले जैसा वातावरण हो जाता है, लोग पवित्र नदियों में स्नान करते है और नदी तट पर ही पूजा पाठ आदि करते हैं कृपा प्राप्त करने के लिए. इस दिन पितृ शांति की पूजा होती है, काले जादू से मुक्ति हेतु भी ये दिन विशेष महत्तव रखता है, नजर दोष, उपरी हवा से बचाव के लिए भी इस दिन विशेष क्रियाये की जाती है. इस दिन शनि पूजा का भी बहुत लाभ मिलता है. इसी कारण शनिवार को पड़ने वाले अमावस्या का बहुत अधिक महत्तव होता है.

तंत्र के हिसाब से भी ये दिन ख़ास महत्तव रखता है. जानकार लोग इस दिन शक्ति प्राप्त करने हेतु विशेष साधना करते हैं. नकारात्मक विचारो से ग्रस्त लोग इस दिन लोगो को नुक्सान पहुचाने हेतु क्रियाएं करते हैं अतः ये जरुरी है की सावधानी बरती जाए.

अगर किसी जातक के कुंडली में ग्रहण योग है या फिर शनि नीच का है तो ऐसे में उनको इस दिन बहार नहीं निकलना चाहिए और पूजा प…

Guru Pushya Ka Mahattw Hindi Mai

नक्षत्रो मे एक ऐसा नक्षत्र है जो की भाग्य वर्धक है, सौभाग्य जगाता है, धन , वैभव, सम्पन्नता लाता है. इस नक्षत्र का नाम है पुष्य नक्षत्र. जब पुष्य नक्षत्र गुरुवार या वीरवार को आता है तो उस दिन को कहते हैं “गुरु पुष्य योग”.  स्वास्थ्य || सम्पन्नता ||धन|| सफलता

गुरु पुष्य का योग सभी के लिए बहुत महत्त्व रखता है क्यूंकि इस दिन साधक अध्यात्मिक अभ्यास कर सकते हैं, तांत्रिक अपनी तांत्रिक अनुष्ठान कर सकते हैं, गृहस्थ लोग भी सम्पन्नता के लिए पूजा पाठ, टोटके आदि कर सकते हैं. जब गुरु पुष्य योग शुक्ल पक्ष मे आये तो महत्त्व और अधिक बढ़ जाता है.
आइये जानते हैं पुष्य नक्षत्र के बारे मे कुछ ख़ास बाते :२७ नक्षत्रो मे पुष्य का स्थान आठवां है. इसका स्वामी शनि ग्रह है.इस दिन महत्त्वपूर्ण कार्यो को किया जाता है जैसे रत्न धारण करना, सिद्ध यन्त्र स्थापित करना, मंत्रो को जाग्रत करना, नये कार्यो को शुरू करना आदि. पुष्य नक्षत्र शक्ति, भाग्य, पवित्रता का सूचक है. इच्छाओ को पूरा करने हेतु प्रयोगों के लिए गुरु पुष्य सबसे अच्छा दिन होता है. ऐसी भी मान्यता है की महालक्ष्मी इसी नक्षत्र को जन्मी थी. इस दिन विवाह का महुरत…

Vyaktittwa Ke 3 Gun

3 gunas ko janiye सत्त्व राजस और तमो गुण, कैसे जाने की किस गुण से हमारा जीवन प्रभावित है. सफलता और असफलता के साथ ३ गुणों का सम्बन्ध.

तीन गुणों के कारण जीवन मे बहुत उथल पुथल होती रहती है. हमारा व्यवहार हमेशा इन गुणों के कारण प्रभावित होता है और बदलता भी रहता है. इन ३ गुणों की जानकारी से हमारे कई सवाल के जवाब हमारे सामने आ सकते हैं.
आइये जानते है ३ गुणों को : हमारे शारीर मे ३ गुण मौजूद होते है जिसके कारण हमारा व्यवहार बदलता रहता है, हमारा व्यक्तित्व प्रभावित होता है. इन गुणों का अलग अलग अनुपात ही हमे समाज मे एक दुसरे से अलग दिखता है. हमारे जीवन मे सफलता और असफलता के लिए भी ये ३ गुण जिम्मेदार होते है. इन ३ गुणों मे सामंजस्य अगर हो तो व्यक्ति सफल जीवन जी सकता है.  आइये जानते है कुछ मुख्य बाते ३ गुणों के बारे मे :इन ३ गुणों के नाम है सत्त्व, रजस और तमस.ये गुण सभी के शारीर मे मौजूद रहते है. सभी लोगो मे ये गुण अलग अलग अनुपात मे रहते है जिससे की हमारा व्यक्तित्त्व बनता है, व्यवहार दीखता है. सत्त्व, रजस और तमो गुण का प्रभाव साधारणतः सभी क्षेत्रो मे दीखता है. इन गुणों के कारण कोई फुर्तीला, कोई …

Rahu Ketu Rashi Badlega 7 March 2019 Ko

राहू और केतु का राशी परिवर्तन २०१९ में, जानिए क्या प्रभाव होगा १२ राशियों पर.

7 मार्च,२०१९, दिन गुरुवार ज्योतिष में रूचि रखने वालो के लिए ख़ास है क्यूंकि इस दिन राहू और केतु अपनी राशि परिवर्तन करेंगे और इसका प्रभाव सभी राशियों पर पड़ेगा.

वैदिक ज्योतिष के हिसाब से ये दो ग्रह काफी लम्बे समय बाद राशि परिवर्तन करते हैं और इसका असर भी जीवन में लम्बे समय तक रहता है. राहू और केतु के कारण कुछ जातको को अचानक से लाभ होगा तो कुछ लोगो को गंभीर हानि होती है.
कौन से राशि में जायेंगे राहू और केतु ७ मार्च २०१९ को: राहू कर्क राशि से मिथुन राशि में प्रवेश करेगा और केतु मकर राशि से धनु राशि में आ जायेंगे ७ मार्च को जिसका असर हर व्यक्ति पर अलग अलग होगा. ये इन राशि में २२ सितम्बर २०२० तक रहेंगे. राहू और केतु का प्रभाव जीवन में बहुत अजीबोगरीब होता है, ये दोनों वक्री ग्रह है और छाया ग्रह भी हैं.  ये ग्रह धन, ऐश्वर्या, उपरी हवा, अध्यात्म, अचानक बदलाव से जुड़े हैं अतः भविष्यवाणी करने में इनका अध्ययन करना जरुरी होता है. पढ़िए अशुभ राहू के उपाय ......... आइये जानते हैं की १२ राशियों पर क्या असर हो सकता है हिंदी ज्य…

Prem Vivah Samasya Ka Jyotish Dwara Samadhan

प्रेम विवाह समस्या का कारण और समाधान, अंतर जातीय विवाह में समस्या और ज्योतिषीय सलाह.

किसी दूसरे जाती के लड़के या लड़की से प्रेम होने के बाद जो पहली समस्या आती है वो है उससे विवाह करना. इस डिजिटल दुनिया में भी लोग अभी तक अपनी जातीय सम्बंधित लगाव से बाहर नहीं आ पाए हैं और इसका फल बच्चो को या प्रेमियों को भुगतना होता है.
प्रेम किसी और के प्रति हमे जागरूक करता है, प्रेम से जिम्मेदारी की भावना का भी विकास होता है. परन्तु जब कोई अपने प्रेमी के साथ विवाह नहीं कर पाता है तो दोनों ही पुरे जीवन भर एक असनुष्ट जीवन व्यतीत करते हैं. कुछ माता पिता अपने जाती को लेके इतने जिद्दी हो जाते हैं की किसी भी हालत में दुसरे जाती से विवाह के लिए तैयार नहीं होते हैं. इसके कारण लड़का और लड़की दोनों की जिन्दगी बर्बाद हो जाती है.

वास्तव में कोई भी व्यक्ति जाती, धन, पारिवारिक हैसियत को देखके प्रेम नहीं करता है परन्तु जब भी बात शादी की आती है तो हम जाती, परिवार की स्थिति, परिवार के लोगो की हैसियत आदि देखने लग जाते हैं. ये एक श्राप है समाज को जिसके कारण बहुत से अच्छे जोड़े साथ रहने से वंचित रह जाते हैं. पढ़िए Love life ki…

Kaise Khele Holi Kundli Me Maujood Graho ke Anusar

कैसे खेले होली कुंडली में मौजूद ग्रहों के अनुसार, कौन सा रंग शुभता लाएगा जीवन में, कौन से रंग से खेले होली.  जीवन को सफल बनाने के लिए जितना सोचा जाए और जितना किया जाए, वो कम ही लगता है. सफलता का कोई छोर नही और सोच का भी कोई अंत नहीं होता है. इसी कारण आविष्कार होता रहता है.  होली के त्यौहार में भी अगर हम ज्योतिष का समावेश कर ले तो बहुत फायदा खेल के साथ उठा सकते हैं. हमारे पहले के लेख में हम पढ़ चुके है की होलिका दहन में क्या डाले, कैसे हम ग्रह दोषों से मुक्ति पा सकते हैं. इसी विषय में आगे बढ़ते हुए अब हम देखेंगे की कैसे हम ज्योतिष के हिसाब से सही रंग का चुनाव करके होली को और शुभ बना सकते हैं.  ज्योतिष के हिसाब से होली खेल के हम जीवन में स्वास्थ्य और सम्पन्नता को आकर्षित कर सकते हैं. इसमें हमे होली खेलने के तरीके में बदलाव नहीं करना है, बस हमे रंगों के चुनाव में थोडा ख्याल रखना है और हम अपने जीवन को शुभ रंगों से भर पायेंगे.  आइये जानते हैं कैसे खेले होली ज्योतिष के हिसाब से:इसके बारे में जानने के लिए आपको अपने कुंडली में ग्रहों के बारे में पता होना चाहिए जैसे की कौन से ग्रह शुभ है, कौन से…

Holika Dahan Ka Mahattw Hindi Jyotish Me

होली क्या है, किसी भी टोटको को करने से पहले किन बातो का ध्यान रखना चाहिए, होलिका दहन में क्या करे सफलता के लिए. 

होली रंगों का त्यौहार है, इस उत्सव में सभी खुशियाँ बांटते हैं, एक दुसरे को रंग लगते हैं और समय व्यतीत करते हैं. परन्तु बहुत कम लोग ये जानते हैं की होलिका दहन की रात्री बहुत ही महत्त्वपूर्ण होती है क्रियाओं को करने के लिए. अगर कोई किसी भी प्रकार के समस्या से ग्रस्त हो तो जैसे शादी की समस्या, कैरियर, व्यापार की समस्या, मान सम्मान की समस्या आदि तो होलिका दहन की रात्रि को कुछ टोटको को करके समस्या का समाधान प्राप्त किया जा सकता है, ऐसा विद्वानों का मनना है.
होली की रात्री को महारात्री भी कहा गया है, इस रात को शुक्ष्म शक्तियां होलिका दहन के माध्यम से भोग ग्रहण करती है और भक्तो को आशीर्वाद प्रदान करती है.
ये भी जानना जरुरी है की टोटके कोई भ्रमात्मक उपाय नहीं है जिन्होंने इन्हें विश्वास से किया है उनको लाभ हुआ है और हो रहा है.
इस लेख में हम जानेंगे कुछ सरल टोटके अपने कार्यो को सिद्ध करने के लिए.
टोटको के द्वारा हम सफलता कैसे प्राप्त करे ?
कुछ बातो का ध्यान रखना अती आवश्यक है टोटक…

Sheetla Mata Ka Mahatwa In Hindi

शीतला अष्टमी का महत्व , शीतला माता का व्रत, कैसे करते है शीतला माता का पूजन, क्या फायदे होते हैं शीतला माता की पूजा करने के.

भारत में प्राचीन काल से शीतला माता का पूजन करने की परंपरा रही है, साल में एक बार होली के बाद शीतला अष्टमी का त्यौहार मनाया जाता रहा है, ऐसा विश्वास किया जाता है की शीतला माता का पूजन कई गंभीर बिमारिओं से हमारी रक्षा करता है.

होली के सात दिन बाद अर्थात कृष्णा पक्ष की अष्टमी तिथि को शीतलाष्टमी का त्यौहार मनाया जाता है जिसमे की माता को बासी भोजन का भोग लगाया जाता है. इसी कारण इस त्यौहार को “बासोड़ा” के नाम से भी जाना जाता है.  क्या फायदे होते हैं शीतला माता पूजन का: मान्यता के अनुसार शीतला माता भक्तो को कई प्रकार की गंभीर बिमारिओं से बचाती है जैसे की चेचक, खसरा , चरम रोग कई प्रकार के आदि.  सुन्दरता के लिए शारीर का निरोगी होना अति आवश्यक है इसी कारण शीतला माता का पूजन हमे जरुरी होता है, इनकी कृपा से एक स्वस्थ शारीर मिलता है जिससे की हम जीवन को सुगमता से जी सकते हैं.  स्कन्द पुराण में शीतलामाता पूजन का विवरण मिलता है. ये उत्सव हमे प्रेरित करता है सफाई रखने के लिए, ये…