Skip to main content

Posts

Showing posts from 2019

Jyoitish Sewaye Online || ज्योतिष सेवा ऑनलाइन

Jyotish in Hindi, कुंडली का अध्ययन हिंदी में,ज्योतिष से संपर्क के लिए यहाँ क्लिक करे>> , .
ज्योतिष सेवा ऑनलाइन: एक अच्छा ज्योतिष कुंडली को देखके जातक का मार्गदर्शन कर सकता है. कुंडली मे ग्रह विभिन्न भावों मे बैठे रहते हैं और जातक के जीवन मे प्रभाव उत्पन्न करते हैं. अगर कोई व्यक्ति जीवन मे समस्या से ग्रस्त है तो इसका मतलब है की उसके जीवन इस समय बुरे ग्रहों का प्रभाव चल रहा है और यदि कोई व्यक्ति सफलता प्राप्त कर रहा है तो इसका मतलब है की इस समय उसके जीवन मे शुभ ग्रहों का प्रभाव है. विभिन्न ग्रहों की दशा-अन्तर्दशा मे व्यक्ति अलग अलग प्रकार के प्रभावों से गुजरता है जिसके बारे एक अच्छा ज्योतिष जानकारी दे सकता है. ग्रहों का असर व्यक्ति के कामकाजी जीवन पर पड़ता है.
ग्रहों का असर व्यक्ति के व्यक्तिगत जीवन पर पड़ता है.
सितारों का असर व्यक्ति के सामाजिक जीवन पर पड़ता है.
व्यक्ति के पढ़ाई –लिखाई , वैवाहिक जीवन, प्रेम जीवन, स्वास्थ्य आदि पर ग्रह – सितारों का असर पूरा पड़ता है. आप “www.jyotishsansar.com” माध्यम से पा सकते हैं कुछ ख़ास ज्योतिषीय सेवाए ऑनलाइन :जानिए क्या कहती है आपकी कुंडली आपके व…

Jyoitish Sewaye Online || ज्योतिष सेवा ऑनलाइन

Jyotish in Hindi, कुंडली का अध्ययन हिंदी में,ज्योतिष से संपर्क के लिए यहाँ क्लिक करे>> , .
ज्योतिष सेवा ऑनलाइन: एक अच्छा ज्योतिष कुंडली को देखके जातक का मार्गदर्शन कर सकता है. कुंडली मे ग्रह विभिन्न भावों मे बैठे रहते हैं और जातक के जीवन मे प्रभाव उत्पन्न करते हैं. अगर कोई व्यक्ति जीवन मे समस्या से ग्रस्त है तो इसका मतलब है की उसके जीवन इस समय बुरे ग्रहों का प्रभाव चल रहा है और यदि कोई व्यक्ति सफलता प्राप्त कर रहा है तो इसका मतलब है की इस समय उसके जीवन मे शुभ ग्रहों का प्रभाव है. विभिन्न ग्रहों की दशा-अन्तर्दशा मे व्यक्ति अलग अलग प्रकार के प्रभावों से गुजरता है जिसके बारे एक अच्छा ज्योतिष जानकारी दे सकता है. ग्रहों का असर व्यक्ति के कामकाजी जीवन पर पड़ता है.
ग्रहों का असर व्यक्ति के व्यक्तिगत जीवन पर पड़ता है.
सितारों का असर व्यक्ति के सामाजिक जीवन पर पड़ता है.
व्यक्ति के पढ़ाई –लिखाई , वैवाहिक जीवन, प्रेम जीवन, स्वास्थ्य आदि पर ग्रह – सितारों का असर पूरा पड़ता है. आप “www.jyotishsansar.com” माध्यम से पा सकते हैं कुछ ख़ास ज्योतिषीय सेवाए ऑनलाइन :जानिए क्या कहती है आपकी कुंडली आपके व…

Best Jyotish Services in Hindi

ज्योतिष संसार के माध्यम से आप पा सकते हैं अपने कुंडली का विश्लेषण, अपने कुंडली में मौजूद ख़राब ग्रहों के बारे में, अपने ताकतवर ग्रहों के बारे में, भाग्यशाली रत्नों के बारे में, ग्रहों के अनुसार सही कैरियर, सरकारी नौकरी, प्रेम विवाह, संतान योग, काले जादू का निवारण, ज्योतिषीय समाधान आदि के बारे में.
Client Outside India can Use PAYPAL Button which is at bottom of page>> Paytm No. भी निचे दिया गया है अगर आप PAYTM करना चाहते हैं. Email है – askjyotishsansar@gmail.com

पाइये कुंडली विश्लेषण
कुंडली का सटीक विश्लेषण प्राप्त करने के लिए अपना जन्म तारीख, जन्म समय और जन्म स्थान सही –सही भेजे साथ ही अपने प्रश्न भेजे..
जानिए अपने कुंडली में मौजूद शक्तिशाली ग्रहो के बारे में.जानिए कौन से ग्रह जीवन में समस्या उत्पन्न कर रहे हैं.किन ज्योतिष कारणों से जीवन में असफलता प्राप्त हो रही है?जानिए कौन से रत्न भाग्योदय में सहायक होंगे?कौन सी पूजा आपके लिए सही है.आपके प्रश्नों का उत्तर, कुंडली अनुसार.Pay Only 501/- INR or $11

पाइये कुंडली मिलान विवाह हेतु
कुंडली मिलान के लिए लड़के और लड़की, दोनों की जन्म …

Vivah Kab Hoga Janiye विवाह योग

vivah kab hoga, vivah bhavishyawani in hindi, shaadi samasya samadhaan

विवाह जीवन का एक महत्त्वपूर्ण पड़ाव है, ये वो समय होता है जब व्यक्ति गृहस्थ आश्रम मे प्रवेश करता है और किसी और की जिम्मेदारियों को भी उठाने के लिए कदम आगे बढ़ाता है. इस लेख मे हम जानेंगे कुंडली मे विवाह योग के बारे मे, हम जानेंगे कब होगा विवाह, हम जानेंगे विवाह समय के बारे मे. 
अगर कोई ये जानने का इच्छुक हो की कब होगा विवाह, अगर कोई दुबारा शादी करना चाहते हो, अगर कोई जीवन साथी को पाने के लिए इच्छुक हो तो इस लेख मे बहुत कुछ मिलेगा. हालांकि अपनी कुंडली को खुद ही देख लेना इतना भी आसान नहीं होता है अतः किसी अच्छे ज्योतिष से भी परामर्श जरुर लेना चाहिए.

अगर शादी मे देर हो रही हो, अगर कोई साथी जीवन मे नहीं आ रहा है, अगर तलाक के बाद कोई फिर से विवाह करना चाहते हो, तो चिंता न करे, “हर चीज का एक समय होता है”. और ये भी हो सकता हो की कुंडली मे कोई ख़राब योग हो जिससे की समस्या उत्पन्न हो रही हो ऐसे मे ज्योतिष से सहायता लेनी चाहिए.

ये लेख मे ये कोशिश रहेगी की विवाह से सम्बंधित विषयों को समझाया जा सके जैसे – शादी मे देरी के क्या कारण…

Jyotish Mai Yog Kya Hote Hai

ज्योतिष मे योग क्या होते हैं, वैदिक ज्योतिष मे योग की शक्ति, जानिए योगो के फायदे और शक्ति ज्योतिष से. ज्योतिष मे रूचि रखने वाले लोगो को योगो मे भी बहुत रूचि होती है. वे जानना चाहते है की कुंडली मे या जन्म पत्रिका मे कौन से योग बन रहे है. कुछ योग शुभ होते हैं और कुछ अशुभ होते हैं. हालांकि किसी भी नतीजे पर पहुचने से पहले कुंडली का अच्छी तरह से विश्लेषण कर लेना चाहिए और सिर्फ एक ही योग पर भरोसा नहीं करना चाहिए.
क्या होते हैं योग ज्योतिष मे ? योग तब बनते हैं जब १ से अधिक ग्रह कुछ विशेष अवस्था मे कुछ विशेष भावो मे बैठते है कुंडली मे. कुण्डली मे उनकी स्थिति के अनुसार वे जीवन मे प्रभाव उत्पन्न करते हैं. कुछ योग जीवन मे पूरा प्रभाव दिखाते हैं और कुछ कम, ये निर्भर करता है ग्रहों की शक्ति और स्थिति पर.

अगर योग बनाने वाले ग्रह शुभ हो , शक्तिशाली हो तो इसमे शक नहीं की जातक को उसके बहुत अच्छे परिणाम मिलेंगे, अगर ग्रह खराब स्थिति मे हो, शत्रु राशी के हो या नीच के हो तो जातक को इसके विपरीत परिणाम भी मिल सकते हैं.

अगर कोई खराब योग कुंडली मे बन रहा हो और ग्रह शक्तिशाली हो तो जातक को जीवन मे बहुत शंघर्…

Pitru Dosh Nivaran Totke In Hindi, पितृ दोष निवरण के लिए टोटके

Pitru Dosh Nivaran Totke In Hindi, पितृ दोष निवरण के लिए टोटके, हिन्दी में जानिए पितृ दोष के प्रभाव को कम करने के लिए टोटके.
टोटके का अर्थ उन क्रियाओं से है जो की विशेष सामग्रियों के साथ विशेष महूरत में किये जाते हैं और जिनका परिणाम भी शीघ्र ही दीखता है. पूरी दुनिया में लोग टोटको का प्रयोग करते हैं क्यूंकि ये आसानी से हो जाते हैं और इनका परिणाम भी शीघ्र नजर आता है.

“jyotishsansar.com” के इस लेख में आपको कुछ विशेष टोटके दे रहे है जिनका प्रयोग आप फ्री में कर सकते हैं और कुंडली में मौजूद पितृ दोष के प्रभाव को कम कर सकते हैं. पितृ श्राप, पितृ दोष , पितरो की शांति और मुक्ति में ये टोटके सहायक होंगे. जरुरत है सिर्फ विश्वास और निष्ठा से नियमित इनको करने की.

कुंडली में पितृ दोष है की नहीं ये कोई अनुभवी ज्योतिष आपकी कुंडली को देखके बता सकता है और जब ये निश्चित हो जाए की कुंडली में पितृ दोष है तो इन टोटको का प्रयोग आप कर सकते हैं.

इन टोटको से पितरो का भी कल्याण होगा, आपका भी कल्याण होगा और जीवन सफल होगा. आइये अब जानते हैं पितृ दोष को दूर करने के कुछ फ्री टोटके :घर के या दूकान के उत्तर – पश्चिम …

Dhan Ki Bachat Ke Liye Jyotishiy Upaay

धन की बचत के लिए ज्योतिषीय उपाय, जानिए अनचाहे खर्चे के क्या कारण हो सकते हैं, जानिए कुछ ख़ास ज्योतिषीय उपाय बचत के लिए, सम्पन्नता के लिए उपाय ज्योतिष द्वारा. 
धन बुनियादी जरुरत होती है सभी के लिए जिसके द्वारा मनुष्य अपनी इच्छाओ को पूरी कर सकता है. इस संसार में सभी धन को पाने के लिए कोशिशे कर रहे है. हर कोई ज्यादा से ज्यादा धन कमाना चाहता है. कुछ लोग कमाते तो अच्छा है पर बचत नहीं कर पाते हैं. उनको इसका कारण पता नहीं चलता है परन्तु वे इसके कारण को जानने के लिए अपने दोस्तों, रिश्तेदारों आदि से बात करते रहते हैं. हमने अक्सर लोगो के मूंह से सुना है की “मै नहीं जानता की मेरा पैसा जाता कहा है ?, इतना कमाने के बावजूद कोई बचत नहीं कर पा रहा हूँ.”

मानव की प्रकृति है की बिना चाहे अगर खर्चा हो जाए तो ये दुःख देता है.  कई प्रकार के अनचाहे खर्चे जीवन में हो सकते हैं जैसे :बिमारी में खर्चा अचानक से होता है. किसी दुर्घटना में खर्चा अचानक से हो जाता है. किसी विशेष हानि को लाभ में बदलने के लिए अचानक से कोई खर्चा करना पड़ता है. किसी प्रकार की मरम्मत में भी अचानक से खर्चा करना पड़ सकता है. कई बार परिवार के …

Vakri Grah Ka Jivan Par Pravah

कुंडली में वक्री ग्रह का प्रभाव, क्या होता है वक्री का मतलब ज्योतिष मे, अशुभ वक्री ग्रह के प्रभाव जानिए. 
ज्योतिष में जब कुंडली बनती है तो हमे कुछ ग्रह वक्री भी मिल सकते हैं. ज्योतिष प्रेमी लोगो को वक्री ग्रह के प्रभाव को जानने का भी बहुत मन होता है. परन्तु इस विषय पर विभिन्न मत मौजूद है जिसके कारण अलग अलग ज्योतिष अलग अलग भविष्यवाणी करते हैं और उस आधार पर उपाय भी अलग अलग देते हैं.

वक्री ग्रह क्या होता है? हर ग्रह सामान्य तौर पर आगे की और चलते हैं अर्थात पहले मेष राशी में रहेगा फिर वृषभ पर फिर मिथुन पर आदि. परन्तु जब कोई ग्रह आगे जगह पीछे की तरफ चलने लग जाए तो इस चाल को वक्री गति कहा जाता है ज्योतिष में. जैसे की मिथुन के बाद कर्क राशि में जाना चाहिए परन्तु कोई अगर मिथुन के बाद वृषभ में जाए तो इसका मतलब है की वो ग्रह वक्री हो गया है.  इसी लिए कई बार हम ज्योतिष में सुनते हैं की इस समय शनि वक्री है, इस समय बुध वक्री है आदि. कौन से ग्रह सदा वक्री रहते हैं? राहू और केतु सदा ही कुंडली में वक्री रहते हैं. कौन से ग्रह कुंडली में कभी भी वक्री नहीं हो सकते हैं? सूर्य और चन्द्रमा कभी भी किसी के क…

Rashifal 2020 In hindi jyotish

राशिफल 2020 vedic ज्योतिष के अनुसार, क्या कहते हैं नए साल के सितारे, वर्षफल, जानिए नौकरी, व्यवसाय, शिक्षा और पारिवारिक जीवन से जुड़ी भविष्यवाणी, पढ़िए ग्रहों की चाल के बारे में ।

नया साल का मालाब है नई ख्वाहिशे, नए सपने, नई उंचाइयो को छूने के लिए नए प्रयास. आने वाला वर्ष क्या ख़ास लाने वाला है ये जानने की उत्सुकता सभी ज्योतिष प्रेमियों को होती है. हर वर्ष कुछ बड़े बदलाव जीवन में लेके आता है, कुछ लोगो के जीवन में चुनौतियाँ बढ़ जाती है, कुछ लोगो को अपार सफलता मिलती है, कुछ राशी में शनि के प्रभाव् के कारण बहुत उथल पुथल भी होता है. ये सब हम जानेगे इस लेख में.

पढ़िए २०२० में परिवारिक सुख के बारे में, प्रेम विवाह के बारे में, व्यवसाय के बारे में, विवाह आदि के बारे में. हमे ये भी जानेंगे की 2020 को खुशहाल बनाने के लिए मेष, वृषभ, मिथुन, कर्क, सिंह, कन्या, तुला, वृश्चिक, धनु, मकर, कुम्भ मीन राशी वालो को क्या करना चाहिए. आइये सबसे पहले वर्ष फल को जानते हैं:इस वर्ष के राजा बुध है.मंत्री चन्द्र है.बुध ग्रह के कारण चंचलता दिखने को मिलती है अतः इस नए वर्ष में बहुत ज्यादा उथल पुथल दिखने को मिल सकती है रा…

Gurunanak Jayanti Ka Mahattwa

गुरुनानक जयंती का महत्त्व, गुरुनानक जी के जन्म का ज्योतिष महत्त्व, जानिए गुरुनानकजी की कुछ सिखावनियां  
गुरुनानक देव जी ने सिख धर्म की स्थापना की थी और वे ही इनके पहले गुरु थे. इनका जन्म अप्रैल १४६९ को ननकाना साहिब में हुआ था जो की पाकिस्तान में है, उन्होंने इस संसार से २२ सितम्बर १५३९ को को विदा लिया, आखरी समय में वे करतारपुर, पाकिस्तान में थे. गुरुनानक जी की पत्नी का नाम माता सुलखनी था और उनके बछो के नाम थे श्री चाँद और लखमी दास. उनके पिता का नाम था श्री मेहता कालू और माता का नाम था माता तृप्ता.

गुरुनानक देव जी का जन्मदिन हमेशा कार्तिक पूर्णिमा को ही मनाया जाता है. तारीख को लेके विभिन्न मतभेद रहे हैं अतः कार्तिक पूर्णिमा को सभी ने स्वीकार किया है और पूरे विश्व में इस दिन सिख समाज बहुत उत्साह के साथ इनका जन्मदिन मनाता है.

गुरुनानक जी बहुमुखी प्रतिभा के धनि थे. वे एक दार्शनिक थे, वे सिद्ध योगी थे, एक सफल गृहस्थ थे, वे एक समाजसुधारक भी थे, ओजस्वी कवि थे, देशभक्त थे आदि.

गुरुनानकजी के सिद्धांत इतने सरल और स्पष्ट हैं की सिख धर्म के अलावा अन्य धर्म के लोग भी उनके सिखावनियो को अपना कर अपने…

Tulsi Pooja Ka Mahattw

तुलसी पूजा का महत्त्व, कैसे प्राप्त करे सफलता तुलसी पूजा से, Dev uthni gyaras ko tulsi viavah ka maahttw, jyotishiy salaah.

तुलसी विवाह भारत में बहुत ही उत्साह से किया जाता है और ये पूजा देव उठनी एकादशी को किया जाता है कार्तिक महीने में. देव उठनी एकादशी के बाद शुभ कार्यो जैसे विवाह आदि की शुरुआत हो जाती है. ऐसी मान्यता है की देव उठनी एकादशी को भगवान् अपनी योग निद्रा से जागते ४ महीने बाद. पढ़िए देवउठनी ग्यारस का महत्त्व.

ये दिन दिवाली जैसे ही मनाई जाती है. अगर कोई दिवाली पर पूजा नहीं कर पाया है तो वो देवउठनी एकादशी को भी पूजा करके सम्पन्नता को आकर्षित कर सकते हैं.

भगवान् विष्णु और तुलसी जी का सम्बन्ध दिव्य है और विचित्र भी. तुलसी का पूजन भारत में हर जगह किया जाता है. तुलसी का एक नाम “वृंदा” भी है. आइये जानते हैं तुलसी और शालिग्राम के पीछे की कहानी : ऐसा कहा जाता है की तुलसी का विवाह एक जालंधर नाम के राक्षस से हुआ था और तुलसी के तप के प्रभाव से कोई भी जालंधर को हरा नहीं पा रहा था. इसी के समाधान के लिए देवतागण भगवान् विष्णु के पास गए और प्रार्थना की. तब भगवान् विष्णु ने तुलसी के पति का रू…

Dev Uthni Gyaras Ka Mahattw || देव उठनी एकादशी महत्तव

Dev Uthni Gyaras Ka Mahattw, देव उठनी एकादशी महत्तव,  क्या करे प्रबोधिनी एकादशी को सफलता के लिए.

एक ऐसा दिन जिसका हिन्दुओ के लिए बहुत अधिक महत्तव है और वो दिन हैं कार्तिक शुक्ल पक्ष की ग्यारस. इस दिन को प्रबोधिनी एकादशी या फिर देव उठनी ग्यारस भी कहा जाता है. भारत में इस दिन को बहुत ही हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है.

ऐसा माना जाता है की भगवान् विष्णु आशाद शुक्ल पक्ष की ग्यारस को क्षीर सागर में विश्राम करने चले जाते हैं और 4 महीने बाद कार्तिक शुक्ल पक्ष की ग्यारस को उठते हैं इसी लिए इस दिन को देव उतनी ग्यारस कहा जाता है. जब विष्णुजी सोते है तो उस समय विवाह आदि शुभ कार्य वर्जित हो जाते हैं और देव उठनी ग्यारस से विवाह आदि के महूरत फिर से शुरू हो जाते हैं.

प्रबोधिनी एकादशी को तुलसी विवाह का भी प्रचलन है जो की विवाह के शुरू होने के संकेत है. अलग अलग प्रान्त में अलग अलग तरीके के रीती रिवाज देखने को मिलते हैं. पढ़िए तुलसी पूजा का महत्त्व . आइये जानते है किस प्रकार आसानी से देव उठनी ग्यारस को पूजन कर सकते हैं :इस दिन जल्दी उठके दैनिक कार्यो से मुक्त हो जाना चाहिए.अगर कोई पवित्र नदी के आस प…

Hanuman Sadhna In Hindi Shakti Aur Nidartaa Ke liye

Hanuman sadhna in hindi, sadhna hetu hanumanji ka mantra,हनुमान साधना द्वारा सफलता, suraksha ke upaay hetu hanuman sadhna.
ऐसे देवता जो की शिव का अंश है, ऐसे भगवान् जो की श्री राम के प्रति अपनी भक्ति के लिए प्रसिद्ध हैं, ऐसे देवता जिनको अन्य सभी देवताओं का आशीर्वाद प्राप्त है , वो है केसरी नंदन हनुमानजी.

हनुमानजी शक्ति का केंद्र है, उनके सामान शक्तिशाली पुरे ब्रह्माण्ड में कोई नहीं, उनके सामान ज्ञानवान भक्त भी कोई नहीं.

इस कलयुग में भी भक्तगण उनका दर्शन करते है और उनकी कृपा प्राप्त करके निडर जीवन जीते हैं. इसमें कोई शक नहीं की अपनी शरण में आये हुए व्यक्ति की हनुमानजी रक्षा करते हैं. जो भी व्यक्ति हनुमानजी की साधना करते हैं उनके ऊपर किसी भी प्रकार के जादू, नजर दोष, बुरी शक्तियों का प्रभाव नहीं होता है.

हनुमानजी सर्वशक्तिमान है, सर्वज्ञ है, सर्वव्यापी है. हम उनसे अनुशाशन, भक्ति, समर्पण का पाठ आसानी से सीख सकते हैं. हम उनसे ये भी सीख सकते हैं की किस प्रकार अपने ज्ञान का प्रयोग समाजोत्थान के लिए किया जा सकता है.

इस लेख में में आपको यही बताने जा रहे हैं की किस प्रकार आसानी से हनुमानजी की क…

Kala Jadu Kaise Khatm Kare

काला जादू क्या है , कैसे पता करे काला जादू के असर को, कैसे ख़त्म करे कला जादू के असर को, hindi में जाने काले जादू के बारे में. काला जादू अपने आप में एक खतरनाक विद्या है जो की करने वाले, करवाने वाले और जिस पर किया जा रहा है उन सब का नुक्सान करता है. यही कारण है की इस नाम से भी भय लगता है. अतः ये जरुरी है की इससे जितना हो सके बचा जाए और जितना हो सके उतने सुरक्षा के उपाय किया जाए.
ज्योतिष संसार के इस लेख में आपको हम उसी विषय में अधिक जानकारी देंगे की कैसे हम काले जादू का पता कर सकते हैं और किस प्रकार इससे बचा जा सकता है. प्रतियोगिता अच्छी होती है परन्तु जब ये जूनून बन जाती है तब व्यक्ति गलत ढंग से जीतने के उपाय करने से भी नहीं चुकता है. आज के इस प्रतियोगिता के युग में लोग बस जीतना चाहते हैं और इसके लिए किसी भी हद तक जाने से नहीं चुकते हैं और यही पर काला जादू का प्रयोग करने की कोशिश करते है. आखिर में क्या है काला जादू? हर चीज के दो पहलु होते हैं एक अच्छा और एक बुरा. काला जादू तंत्र, मंत्र यन्त्र का गलत प्रयोग है जिसके अंतर्गत कुछ शक्तियों को पूज के अपना गलत स्वार्थ सिद्ध किया जाता है. करने …

Kaise Paaye Prayaaso Main Safaltaa Jyotish Dwara

Kaise paaye prayaaso mai safaltaa jyotish ke dwara,  kya kare kya na kare, kin upaayo dwara hum apne jivan ko sukhmay bana sakte hai, कैसे पाये प्रयासों में सफलता, टोटके सफलता के लिए. 
सफलता शब्द ही मधुर है , हर किसी के मन में सफलता प्राप्त करने की ललक होती है, सफलता हमे सुकून देती है, एक सफल जीवन जीना हम सब का हक़ है परन्तु फिर भी ये सबके लिए संभव नहीं हो पाता है. असफलता के बहुत से कारण हो सकते है.

सफलता के मापदंड सबके लिए अलग अलग है , यहाँ महत्त्वपूर्ण ये है की जिसने जो सोचा है अगर वो वैसा प्राप्त कर लेता है तो वो सफल है, सुखी है संतुष्ट है परन्तु सोच को पूरा न करने पर दुःख होता है.


ज्योतिष के अन्दर ये देखा जाता है की कुंडली में ग्रहों की स्थिति कैसी है की सफलता हाथ नहीं आ रही है, कुंडली से ये भी जाना जाता है की प्रयास कब करे की सफलता हाथ लगे. ज्योतिष के द्वारा ये भी पता लगाया जाता है की क्या करे की सफलता हाथ लगे.

दशको से राजा-महाराजा और विद्वान् लोग इस विद्या का प्रयोग आरके जीवन को निरोगी, स्वस्थ और संपन्न बना रहे है.

ज्योतिष के द्वारा सफलता के रास्ते जानने के लिए ये जरुरी है की हम …

Haldi Ke Totke Safalta Ke Liye

हल्दी के टोटके, ग्रह दोषों से मुक्ति के लिए हल्दी के टोटके, वास्तु दोषों से मुक्ति के लिए हल्दी के टोटके, सुख और सम्पन्नता के लिए हल्दी के टोटके, janiye kaise haldi badal sakta hai kismet ko.
हमारे आस पास रोजमर्रा में उपयोग में आने वाली बहुत सी चीजो को बहुत आसानी से प्रयोग किया जा सकता है स्वस्थ एवं संपन्न जीवन जीने के लिए. जरुरत है सिर्फ जानकारी होना की कैसे किस वास्तु का प्रयोग किया जाए. ऐसी ही एक वास्तु है हल्दी जो की हर घर में पाई जाती है और आश्चर्य की बात ये है की हल्दी के प्रयोग से ग्रह दोषों से मुक्ति मिल सकती है हल्दी के प्रयोग से वास्तु दोष से मुक्ति मिल सकती है हल्दी के प्रयोग से नकारात्मक उर्जा से मुक्ति मिल सकती हैहल्दी के प्रयोग से धन की समस्या से निजत पाई जा सकती है हल्दी के प्रयोग से रोगों से मुक्ति पाई जा सकती है हल्दी में औषधि गुण होने के साथ साथ कुछ अन्य शक्तियां भी मौजूद है इसी कारण हिन्दू धर्म में इसका प्रयोग पूजा-पाठ में भी किया जाता है. आइये जानते हैं हल्दी के कुछ विशेष टोटके: ज्योतिष के अनुसार पिली हल्दी का सम्बन्ध गुरु ग्रह से होता है. अतः पिली हल्दी को धारण क…

Diwali Pooja Kaise Kare दिवाली पूजा

Diwali Pooja Kaise Kare,  दिवाली पूजा कैसे करे आसानी से, लक्ष्मी जी को कैसे प्रसन्न करे पूजा से.
दिवाली प्रकाश का त्यौहार होता है, दीपावली माँ लक्ष्मी की पूजा का दिन होता है, इस दिन लोग संपन्न जीवन जीने की कामना से पूजा करते हैं. दिवाली पूजन के बहुत से तरीके प्रसिद्द है , अलग अलग प्रान्त में अलग अलग तरीके मौजूद हैं माँ लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए. जाती के हिसाब से भी दिवाली पूजन के तरीको में बदलाव दिखाई पड़ता है.
दीपावली भारत देश का एक बहुत ही महत्त्वपूर्ण त्यौहार है, हर भारतीय को इस त्यौहार का इन्तेजार पुरे साल होता है. बच्चे तो खास तौर पर इस त्यौहार का इन्तेजार करते हैं क्यूंकि उनको पठाके चलाने को मिलते हैं. ऐसी भी मान्यता है की दिवाली की रात्रि को माँ लक्ष्मी भक्तो के घर आकर आशीर्वाद प्रदान करती हैं.  आगे कुछ और जानने से पहले आइये कुछ और खास बाते जानते हैं दिवाली के बारे में –दिवाली अमावस्या को मनाई जाती है.हिन्दू पंचांग के अनुसार इस रात्रि को अमावस्या होती है अतः चन्द्रमा उदित नहीं होता है.ये रात्रि साल की सबसे गहरी रात्रि होती है.तंत्र के अन्दर अमावस्या का बहुत महत्तव होता है स…