Skip to main content

Posts

Showing posts from January, 2018

Jyoitish Sewaye Online || ज्योतिष सेवा ऑनलाइन

Jyotish in Hindi, कुंडली का अध्ययन हिंदी में, ज्योतिष से संपर्क के लिए यहाँ क्लिक करे>> , .
ज्योतिष सेवा ऑनलाइन: एक अच्छा ज्योतिष कुंडली को देखके जातक का मार्गदर्शन कर सकता है. कुंडली मे ग्रह विभिन्न भावों मे बैठे रहते हैं और जातक के जीवन मे प्रभाव उत्पन्न करते हैं. अगर कोई व्यक्ति जीवन मे  समस्या से ग्रस्त है तो इसका मतलब है की उसके जीवन इस समय बुरे ग्रहों का प्रभाव चल रहा है और यदि कोई व्यक्ति सफलता प्राप्त कर रहा है तो इसका मतलब है की इस समय उसके जीवन मे शुभ ग्रहों का प्रभाव है.  विभिन्न ग्रहों की दशा-अन्तर्दशा मे व्यक्ति अलग अलग प्रकार के प्रभावों से गुजरता है जिसके बारे एक अच्छा ज्योतिष जानकारी दे सकता है.  ग्रहों का असर व्यक्ति के कामकाजी जीवन पर पड़ता है.
ग्रहों का असर व्यक्ति के व्यक्तिगत जीवन पर पड़ता है.
सितारों का असर व्यक्ति के सामाजिक जीवन पर पड़ता है.
व्यक्ति के पढ़ाई –लिखाई , वैवाहिक जीवन, प्रेम जीवन, स्वास्थ्य आदि पर ग्रह – सितारों का असर पूरा पड़ता है.  आप “www.jyotishsansar.com” माध्यम से पा सकते हैं कुछ ख़ास ज्योतिषीय सेवाए ऑनलाइन :जानिए क्या कहती है आपकी कुंडली आ…

Parad Shivling Ke Fayde

पारद से बने शिवलिंग की पूजा करने पर शिव कृपा की प्राप्ति होती है इसीलिए शिवभक्तो में इसकी बहुत महत्ता है. पारद की तुलना किसी अन्य धातु से नहीं की जा सकती है. जहाँ पर पारद शिवलिंग की पूजा होती है वहां पर सकारात्मक उर्जा के कारण धन, ऐश्वर्य, सम्पन्नता, स्वास्थ्य अनायास ही प्राप्त होने लगता है.  आइये जानते हैं पारद से बने शिवलिंग का महत्त्व बिन्दुओ में : पारद शिवलिंग के समक्ष अध्यात्मिक साधनाओ को करने से सफलता शीघ्र मिलती है. पारे के शिवलिंगम की पूजा करने से अनेको पापो से मुक्ति मिलती है. अनेक रोगों से मुक्ति में भी इसकी पूजा मदद करती है. मरकरी से बने लिंग की पूजा जहाँ होती है वह नकारात्मक शक्ति का वास नहीं होता है. इसके प्रभाव से वास्तु दोष भी ख़त्म होते हैं. विद्यार्थियों के लिए भी ये बहुत मददगार साबित होता है. नवग्रह शांति में भी ये मदद करता है. इस पर ध्यान लगाने से भी बहुत फायदे होते हैं, व्यक्ति मानसिक रूप से मजबूत बनता है. इसकी पूजा से नाम, यश की प्राप्ति होती है.

Parad Kya Hota Hai Jyotish Mai

एक ऐसा धातु जो जीवन में सफलता को आकर्षित करता है, एक ऐसा धातु जो जीवन में मौजूद बाधाओं को हटाने में मदद करता है, जिसके बने शिवलिंग, श्री यन्त्र आदि की पूजा से पुण्य अर्जित होता है, वो चमत्कारी धातु है पारद. शाश्त्रो के हिसाब से भी पारद को बहुत पवित्र माना जाता है.  पारद को अंग्रेजी में मरकरी कहते हैं और इसका चिकित्सा क्षेत्र के साथ साथ ज्योतिष में भी प्रयोग किया जाता है. ज्योतिष इससे बने पदार्थो को रखने और पूजने की सलाह देते हैं. नवग्रह दोषों को दूर करने का भी इसमें जबरदस्त शक्ति है.  इस लेख में आपको इस पवित्र और शक्तिशाली धातु की जानकारी दी जा रही है और साथ ही ये भी बताया जा रहा है की आप कहा से इसे खरीद सकते हैं.

क्या है पारद? ये एक मात्र धातु है जो की द्रव्य रूप मे पाया जाता है इसी कारण इसे मेटलोइड भी कहा जाता है अर्थात धातु के रूप रंग का एक अधातु पदार्थ. ये लोगो का अनुभव भी है और शास्त्रों में भी लिखा है की पारद से बने शिवलिंग की पूजा करने से अनन्य कोटि फल की प्राप्ति होती है. धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष की प्राप्ति हेतु पारद शिवलिंग की पूजा श्रेष्ठ मानी गई है. इसकी आराधना से रोगों और ग्…

Eczema Ka Karan Aur Upchaar Jyotish Dwara

एक बहुत ही समान्य रोग है जिसे की एक्जिमा या डर्मेटाइटिस भी कहते हैं. इस रोग के कारण त्वचा सूख सी जाती है और छोटे दाने उभर आते हैं, मीठी मीठी खुजली चलने लगती है जिसके कारण रोजाना के काम को अछे तरीके से करने में समस्या आती है. सामान्यतः रक्त में समस्या के कारण या फिर किसी प्रकार के एलर्जी के कारण एक्जिमा हो जाता है.  ये एक त्वचा रोग है.  आइये देखते हैं की शारीर के किन भागो में ज्यादातर एक्जिमा की समस्या देखने को मिलती है: एक्जिमा सामान्यतः कलाई में परेशान कर सकता है जिसके कारण घड़ी पहनने में दिक्कत होती है. लगातार खुजली आती रहती है जिससे की काम करने में भी परेशानी होती है.  पीठ में भी एक्जिमा का असर हो सकता है जिसके कारण मीठी खुजली होती रहती है और सामान्य कार्यो को करने में भी समाया आती है.  दोनों जांघो में भी इसका प्रभाव होता है जिसके सबके सामने खुजली करने में भी शर्म सी महसूस होती है.  कुछ लोगो को अपने आन्तरिक अंगो में भी इस रोग के कारण परेशानी होती है.  पैर के नीचे के भागो में भी एक्जिमा परेशान करती है बहुत लोगो मे.  अतः ये रोग कहीं भी हो सकता है और इसका इलाज जितनी जल्दी हो जाए उतना अ…

Basant Panchmi Ka Mahattw

भारत में बसंत पंचमी का त्यौहार, जानिए क्या महत्त्व है बसंत पंचमी का, क्या करे सफलता के लिए.  हिंदी पंचांग के हिसाब से माघ महीने के शुक्ल पक्ष में पांचवे दिन बसंत पंचमी का त्यौहार मनाया जाता है. ये बहुत ही आनंद का दिन होता है क्यूंकि ये दिन बहुत ही शानदार मौसम का संकेत होता है.  इस दिन माता सरस्वती की पूजा की जाती है मुख्यतः, माँ सरस्वती विद्या की देवी है इसी कारण विद्यार्थियों के लिए बहुत महत्त्व रखती है. ऐसा माना जाता है की माँ सरस्वती का जन्म इसी दिन हुआ था इसी कारण माता के जन्म दिवस के रूप में भी ये दिन मनाया जाता है.  बसंत के मौसम में खेत पीले रंग से आच्छादित हो जाता है क्यूंकि सरसों के फूल खिल जाते हैं. इस दृश्य का लोग खूब आनंद लेते हैं.  आइये जानते हैं की लोग इस दिन क्या करते हैं: लोग पीले कपड़े पहनते हैं. भक्तगण पीले फूल माता को अर्पित करते हैं. भोग में पिला भोजन बनाया जाता है जैसे खिचड़ी.पीले मीठे चावल बनाने का भी रिवाज है इस दिन जिसमे केसर भी डाला जाता है.पाठशालाओं में विद्यार्थि और गुरुजन मिलके माँ सरस्वती की विशेष पूजा अर्चना करते हैं.  पिला रंग अध्यात्म, ज्ञान, रचनात्मकता का प…

Saraswati Sadhna In Hindi Vidya Prapti Ke liye

Saraswati saadhna dwara safalta, kaun hai mata saraswati, saraswati sadhna ke fayde, jivan ko safal banaane ke upaay, आसान  सरस्वती साधना के बारे में जानिए. माँ सरस्वती जगत प्रसिद्ध है विद्या देने के लिए, इनकी पूजा से साधक को विद्या प्राप्त होती है विभिन्न विषयों की, व्यक्ति को सही मायने में दिमागी शक्ति प्राप्त होती है वाक् शक्ति प्राप्त होती है, साथ ही व्यक्ति अपनी विद्या का सही ढंग से प्रयोग कर सकता है.  सरस्वती माता की पूजा का सबसे अच्छा दिन बसंत पंचमी माना जाता है. अगर कोई विद्यार्थी पढाई में कमजोर हो, अगर दिमाग सही तरीके से कार्य नहीं कर रहा हो, अगर कोई अपनी विद्या का प्रयोग करने में सक्षम न हो तो ऐसे में सरस्वती साधना बहुत लाभदायक सिद्ध होती है.  सरस्वती साधना के लिए तांत्रिक और वैदिक दो प्रकार के मंत्र उपलब्ध हैं ग्रंथो में, साधक के प्रकृति और जरुरत के हिसाब से मंत्रो का चयन किया जाता है.  आइये जानते है सरस्वती पूजा का आसान तरीका:Saraswati saadhna dwara safalta, kaun hai mata saraswati, saraswati sadhna ke fayde, jivan ko safal banaane ke upaay, आसान  सरस्वती साधना के बारे मे…

Mauni Amavasya In Hindi

मौनी अमावस्या महत्व | Significance of Mauni Amavasya, क्या करे मौनी अमावस्या को सफलता के लिए, सफलता सूत्र.

मौन शक्ति को जागृत करने और शक्ति का संचय करने का सबसे आसान तरीका है. मौन का अंग्रेजी मई अर्थ होता है silence . साधारणतः हम मौन का अर्थ जुबान से चुप रहने को समझते है परन्तु सत्यता ये है की मौन का अर्थ है तन, मन से मौन रहना, शांति में रहना. जब अन्तर से हम मौन होते हैं तो हमे अपनी ही शक्तियों के बारे में जानकारी होती है. परन्तु इस मौन को प्राप्त करने के लिए अत्यंत घोर साधना की जरुरत होती है. जिसकी शुरुआत हम मौनी अमावस्या को कर सकते हैं.

ये अमवास्या माघ महीने में आती है हर वर्ष जो की ठण्ड के दिनों में पड़ती है. ये दिन हमे मौका देता है की हम मौन का अभ्यास कम से कम एक दिन तो करके देखे. इस दिन पवित्र नदियों में स्नान का भी बहुत महत्व है. इस दिन पित्र शांति, ग्रहण शांति, काले जादू से बचाव के लिए पूजाए भी की जाती है.

भक्तगण इस दिन उपवास करते हैं, पवित्र नदियों में स्नान करते हैं, तीर्थो में स्नान करते हैं और पूजा पाठ करके पित्र और देवो की कृपा प्राप्त करते हैं. त्रिवेणी संगम में स्नान का भ…

Prem Mai Safalta Jyotish Ke Dwara

प्रेम में सफलता ज्योतिष के द्वारा, क्या फायदे है कुंडली मिलान के, कैसे बनाए प्रेम संबंधो को मजबूत, प्रेमियों के परेशानियों का ज्योतिष में समाधान. प्रेम और ज्योतिष: प्रेम का जीवन में बहुत महत्त्व होता है, बिना प्रेम के जीवन रुखा से लगता है, अपने साथी के साथ बिताये हुए पल कोई भी भूल नहीं पाता है, प्रेम एक ऐसा अहसास है जिसे बहुत ही सावधानी से संभालना होता है.
कई लोग अपनी हवस को भी प्रेम का नाम दे देते हैं जो की सही नहीं है, प्रेम शब्द में बहुत गहराई है, प्रेम दो इंसानों को साथ में जीना सिखाता है, प्रेम जीवन में रस भर देता है.
किशोर अवस्था में भी लोग विपरीत लिंग के प्रति आकर्षित होते हैं और इस आकर्षण को प्रेम का नाम देते हैं जो की ठीक नहीं है. इसीलिए इस अवस्था में प्रेम टूटने की घटनाएं अक्सर सुनाई में आती है, एक लड़का या लड़की थोड़े दिन किसी के साथ रहते हैं फिर थोड़े दिन किसी और के साथ. ये सिर्फ आकर्षण होता है और कुछ नहीं.

शुरूआती दौर में तो लोग सिर्फ एक दुसरे के खयालो में ही खोये रहते हैं और थोड़े दिन बाद अलग दीखते हैं. ऐसा देखा गया है की बिना जो लोग परिपक्व नहीं है उन्हें सही प्रेम नहीं हो …

Love Life Ki 9 Pareshaniyan Aur Jyotish Samadhan

प्रेम जीवन के ९ समस्याएं और ज्योतिष समाधान, जानिए प्रेमियों को किन प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ सकता है, प्रेम जीवन को सुखी करने के सूत्र.
प्रेम हर व्यक्ति के जीवन का सबसे महत्त्वपूर्ण भाग होता है. अगर किसी का प्रेम जीवन ठीक नहीं है, अगर कोई अपने प्रेम जीवन से संतुष्ट नहीं है, अगर किसी के अन्दर अपने साथी के लिए प्रेम की भावनाएं सही नहीं है तो फिर कुछ गड़बड़ है. पढ़िए Love hormones kya hai.
प्रेम जीवन में समस्याओं के बहुत से कारण हो सकते हैं अतः सही कारण को जानके हम सही समाधान खोज सकते हैं.
आइये जानते हैं प्रेम जीवन के ९ सबसे बड़े कारण :दोनों प्रेमियों के बीच आपसी समझ की कमी हमेशा ही समस्या उत्पन्न करती है. याद रखिये की अगर आप अपने साथी की भावनाओं की कद्र नहीं करेंगे तो सम्बन्ध ज्यादा दिन नहीं चल सकते हैं.एक दुसरे को पूरा समय नहीं देना भी प्रेम जीवन को धीरे धीरे ख़त्म कर देता है. अगर आप किसी से प्रेम करते हैं तो उसके साथ समय व्यतीत करे अन्यथा समस्या आएगी. अपने आप दूरियां बढ़ने लगेंगी.अपने साथी की सेक्स की जरुरत पूरी न कर पाना भी ब्रेक अप का कारण बन सकता है. इसका कारण जरुरत से ज्यादा क…

Contact Jyotish || ज्योतिष परामर्श

ज्योतिष समाधान केंद्र, ऑनलाइन ज्योतिष सेवा, ज्योतिष परामर्श केंद्र हिंदी में, वैदिक ज्योतिष परामर्श केंद्र.

अगर आप विश्वसनीय ज्योतिषीय सेवा चाहते हैं अपने जीवन को सफल बनाने के लिए तो jyotishsansar.com के माध्यम से आप ज्योतिष से संपर्क करके सलाह ले सकते हैं.

अगर आप जानना चाहते हैं अपने कुंडली में मौजूद शक्तिशाली ग्रहों के बारे में , अगर आप जानना चाहते हैं अपने कुंडली में मौजूद कमजोर ग्रहों के बारे में, अगर आप जानना चाहते हैं ग्रहों के जीवन पर प्रभाव के बारे में तो अभी सलाह ले सकते हैं ऑनलाइन ज्योतिष से.

आप पा सकते है सटीक भविष्यवाणी ज्योतिष के नियमो के अनुसार, इस ब्लॉग में आप फ्री ज्योतिष के लेखो को भी पढ़ सकते हैं और अपना ज्ञान बढ़ा सकते हैं रोज, किसी भी समय.

ये ज्योतिषीय ब्लॉग रोज अपडेट किया जाता है ज्योतिष द्वारा ताकि सभी को सही और वर्त्तमान में ग्रह दशाओं की जानकारी भी मिला करे. अतः जानिए ग्रहों में होने वाले बदलाव और उनके जीवन में प्रभाव को हिंदी ज्योतिष द्वारा.

यहाँ आपके द्वारा भेजी गई जानकारी को पूर्णतः गुप्त रखा जाता है. ज्योतिष स्वयं ही हर कुंडली को देखते हैं और भविष्यवाणी कर…

Patang Ke Totkay

पतंग के टोटके, कैसे दूर करे दुर्भाग्य को पतंग के द्वारा?, कैसे पतंग चमकाए किस्मत को, कैसे दूर करे नकारात्मक उर्जा को पतंग के द्वारा.
पतंग उड़ाने में सभी को आनंद आता है और पतंग सिर्फ भारत में ही नहीं उड़ाया जाता है अपितु जापान, अमेरिका, आदि देशो में भी खूब उड़ाया जाता है. आपको ये जानकार आश्चर्य होगा की पतंग का स्तेमाल सिर्फ मनोरंजन के लिए ही नहीं होता है अपितु इससे जुड़े कई टोटके है जो की लोग उपयोग करते हैं और अपना दुर्भाग्य दूर करते हैं.
ऐसा माना जाता है की पतंग बुरी शक्तियों को दूर करता है, पतंग दुर्भाग्य को दूर कर सकता है, पतंग उड़ाने से किस्मत भी चमक सकती है, पतंग द्वारा बीमारियों का इलाज भी संभव है, जीवन के कई परेशानियों का समाधान कर सकता है पतंग.
सुनकर आश्चर्य होता है पर ये सत्य है, विश्व में कई प्रकार की मान्यताये हैं उनमे से पतंग को लेकर भी कुछ रोचक मान्यताये है जिन्हें जानकर लोग अपनाते हैं और लाभ उठाते हैं.
ज्योतिश संसार के इस लेख में हम यही जानेंगे की पतंग के द्वारा हम कैसे प्रयोग कर सकते और दूर कर सकते हैं दुर्भाग्य.
आइये जानते हैं पतंग के कुछ टोटके/प्रयोग : अगर दुर्भाग्य बहुत …

Makar Sankaranti Ka Mahattwa in Hindi

Makar Sankaranti Ka Mahattwa in Hindi, मकर संक्रांति का महत्त्व, क्या करे सफलता के लिए मकर संक्रांति को, सफलता के लिए ज्योतिषीय उपाय जानिए.
मकर संक्रांति का त्यौहार पुरे भारत में बहुत ही उत्साह से मनाया जाता है, भारत वर्ष में मनाये जानते वाले उत्सवों में ये भी एक बड़ा उत्सव है. इस दिन बच्चे, बूढ़े, जवान, महिलाए आदि सभी लोग पतंग उड़ाना पसंद करते हैं. पुरे दिन लोग अपने परिवार वालो के साथ छत पर बिताते हैं या फिर मैदान मे, लोग तिल के लड्डू भी बनाते हैं और एक दुसरे को बाटते हैं. 
ये महत्व्कपूर्ण त्यौहार अलग अलग रूप में भारत वर्ष में मनाया जाता है जैसे की तमिल नाडू मे इसे पोंगल के नाम से मनाते हैं, आसाम में इसे बिहू के नाम से मनाते हैं, पंजाब और हरयाणा में इसे लोहरी के रूप में मनाते हैं.
आइये जानते हैं मकरसंक्रांति से सम्बंधित कुछ तथ्य :

इस दिन से सूर्य उत्तरायण हो जाते हैं.सूर्य मकर राशि मैं इस दिन प्रवेश करते हैं.पौराणिक मान्यता के अनुसार इस दिन से देवताओं के दिन शुरू हो जाते हैं.भगवद्गीता में श्री कृष्ण कहते हैं की अगर कोई व्यक्ति उत्तरायण के समय शारीर छोड़ता है तो वो मुक्ति प्राप्त करता है. …

Shattila Ekadashi Ka Jyotish Mahattw

शट्तिला एकादशी का ज्योतिष महत्त्व, kya kare sattila ekadashi ko safalta ke liye, शट्तिला एकादशी vrat kaise kare. हर वर्ष हिन्दू पंचांग के हिसाब से जब माग महिना आता है तो उसके कृष्ण पक्ष के ग्यारस को “शट्तिला एकादशी” की पूजा की जाती है. ये अत्यंत ही महत्त्वपूर्ण दिन होता है भगवान् की कृपा प्रपात करने के लिए. 2018 में १२ जनवरी शुक्रवार को षट्तिला एकादशी आ रही है.  एकादशी पर विशेष कर भगवान् विष्णु की पूजा होती है और शट्तिला एकादशी वासुदेव को प्रसन्न करने का विशेष दिन है.  Shat tila Ekadashi Ka Mahattw:इस एकादशी को तिल के तेलों से शारीर की मालिश करने से शारीर निरोगी होता है. शट्तिला एकादशी को तिल के उबटन लगाकर धोने से सुन्दरता बढ़ती है. इस दिन काले तिलों का दान करने से विशेष लाभ होता है. इससे पापो से मुक्ति मिलती है. तिल से बने पदार्थो को खाने का भी विशेष लाभ होता है. इस दिन तिल से हवन करने से भी विशेष लाभ होता है. इस दिन भगवान् विष्णु को विभिन्न प्रकार के तिलों से बने भोग अर्पित करने चाहिए और भक्तो में बांटना भी चाहिए. शट्तिला एकादशी को भगवान् विष्णु की भक्ति करने और दीप दान करने से अनंत क…

Shani Sade Sati Ka Prabhav

शनि साड़े-साती का प्रभाव २०१७ में १२ राशियों पर, क्या करे शनि साड़े-साती के प्रकोप से बचने के लिए, जानिए ढईया का असर किन राशी पर है. 
हर साल शनि साड़े-साती और धैया का असर भी विभिन्न राशियों पर अलग अलग होता है जिससे की जीवन बदलता रहता है. ज्योतिष में इसके बारे में जानकार भी निर्णय लेने में मदद मिलती है. 
आइये जानते है राशियों पर शनि साड़े साती का क्या प्रभाव पड़ेगा :
तुला, वृश्चिक, धनु और मकर राशियों पर साड़े-साती का प्रभाव रहेगा २०१७ में.
तुला राशी के लोग साड़े-साती के प्रभाव के कारण उन्नति करेंगे, नौकरी में पदोन्नति के योग बनेंगे, शुभ आयोजन होंगे जिससे की प्रसन्नता बढ़ेगी.
वृश्चिक राशी के लोग साड़े-साती के कारण परेशानी का सामना कर सकते हैं. कार्यो में देरी, कानूनी अडचने, करियर में उतार-चढ़ाव, मानसिक तनाव जीवन में परेशानी उत्पन्न कर सकती है.
धनु राशी के लोग शनि के कारण शुभता महसूस करेंगे. व्यापार में वृद्धि, पारिवारिक ख़ुशी, महत्त्वपूर्ण आयोजन में भाग लेने से प्रसन्नता मिलेगी.
आइये अब जानते हैं शनि के धैया का असर किन राशियों पर कैसा होगा :

Ashubh Shukra Ke Upaay Jyotish Me

अशुभ शुक्र के उपाय, जानिए कुछ आसान उपाय शुक्र के दुष्प्रभाव को कम करने के, कैसे पायें शुक्र की कृपा.

शुक्र के उपाय जानने से पहले आइये जानते हैं की ख़राब शुक्र और कमजोर शुक्र में क्या अंतर है. अशुभ शुक्र मतलब है की शुक्र शत्रु राशि में बैठा है परन्तु कमजोर शुक्र शुभ और अशुभ दोनों हो सकता है.इस लेख में हम सिर्फ अशुभ शुक्र के उपाय ही देखने वाले है. कमजोर और दूषित शुक्र के उपाय अलग अलग होते हैं अतः भ्रमित नहीं होना चाहिए.शुक्र हमारे जीवन में बहुत महत्त्व रखता है और वैदिक ज्योतिष के हिसाब से शुक्र प्रेम, ऐशो आराम, सेक्स जीवन, विपरीत लिंग से सम्बन्ध, उर्जा, सुखी वैवाहिक जीवन, ग्लैमर की दुनिया आदि से सम्बन्ध रखता है.अगर कुंडली में शुक्र शुभ है तो जातक को सफल और आनंदायक जीवन की प्राप्ति बहुत ही आसानी से हो जाती है. वही दूषित शुक्र अनेको समस्याएं उत्पन्न करता है जीवन में. आइये जानते हैं की किस प्रकार की समस्याएं उत्पन्न हो सकती है ख़राब शुक्र के कारण:अशुभ शुक्र के कारण जातक को पढ़ाई में परेशानी आ सकती है.अशुभ शुक्र के कारण जातक को वैवाहिक जीवन में समस्या आ सकती है.ये सेक्स करने की ताकत को कम कर…

Bhoot Badha Hone Ka Kya Matlab Hota Hai

Bhoot Chadhe Hone Ka Kya Matlab Hota Hai, Bhoot Badha Hone Ka Kya Matlab Hota Hai, भूत चढ़े होने के लक्षण क्या हो सकते हैं, कैसे बचा सकते हैं अपने आपको उपरी बाधा से. क्या होता है भूत चढ़ा होना? जब किसी व्यक्ति स्त्री या पुरुष में किसी दुसरे की आत्मा अधिकार कर लेती है तो इस अवस्था को भूत चढ़ा होना कहा जाता है. इस अवस्था में व्यक्ति कुछ अजीब तरीके से व्यवहार करने लगता है, असामान्य व्यवहार करने लगता है.  कुछ लोग ऐसे लोगो को पागल कहने लगते हैं, कुछ लोग इन्हें पिशाचग्रस्त कहने लगते हैं आदि. कुछ लोग डाक्टरों के चक्कर लगाते रहते हैं, कुछ लोग पागलखाने में ही जीवन बिताने लगते हैं परन्तु सही बात तो ये है की ऐसे लोग किसी डाक्टरों से ठीक नहीं होते हैं. भूत ग्रस्त लोगो को सिर्फ तांत्रिक या फिर आध्यात्मिक चिकित्सक ही ठीक कर पाते हैं.  कुछ लोग भूतो पर भरोसा नहीं करते हैं परन्तु बहुत से धर्मो में भूत पिशाच के अस्तित्तव को स्वीकार किया गया है जैसे हिन्दू धर्म में, इस्लाम धर्म में, इसाई धर्म में, अफ्रीका में आदि. यही नहीं 1969 में National Institute of Mental Health ने भी भूत चढ़े होने के केसेस की पुष्टि क…

Pret Badhit Kamre Ka Samadhaan

प्रेत बाधित कमरे का समाधान, कैसे पहचाने की कोई कमरा भुतिया है, कैसे पाए नकारात्मक उर्जाव से मुक्ति. ऐसे बहुत से लोग है जिनको अपने घर के किसी ख़ास कमरे में किसी के होने का अहसास होता है. इसके कारण उनको बहुत सी परेशानियाँ आती है. कुछ लोगो को इसके बारे में पता होता है और कुछ लोगो को इसके बारे में कोई जानकारी नहीं होती है. इस लेख में हम जानेंगे की प्रेत बाधित कमरे क्या है या फिर यूँ कहें की भूत बाधित कमरे क्या है और इसका समाधान क्या हो सकता है. क्या होता है प्रेत बाधित कमरा? ये कोई विशेष प्रकार से बनाया गया कमरा नहीं होता है , ये तो घर का ही एक भाग हो सकता है, ऑफिस या फैक्ट्री का एक भाग हो सकता है, बंगले का एक भाग हो सकता है जहाँ की कुछ अजीब सा अहसास हो सकता है. ऐसे कमरों में जाने से एक अजीब सा डर लगता है, कुछ लोगो को अजीब सी गंध महसूस होती है, कुछ लोगो को ऐसे कमरों में सोने से भयानक सपने आते हैं, कुछ लोगो को ऐसे कमरों में सामान बिखरा मिल सकता है, कुछ लोगो को साया दीखता है और कुछ लोगो को ऐसा भी लग सकता है की वहाँ किसी ने उनको छुआ आदि.  कुछ तो असामान्य सा महसूस होता है जब भी हम किसी प्रेत ब…

Ank Jyotish Ke Hisab Se 2018

अंक ज्योतिष के हिसाब से २०१८ कैसे रहेगा, किस ग्रह का प्रभाव अधिक रहेगा नए साल पर, २०१८ को सफल बनाने के लिए ज्योतिष सलाह.
२०१८ का जब टोटल करेनेगे तो 2 अंक मिलेगा. 2+0+1+8= 11=2 अंक 2 का सम्बन्ध चन्द्रमा से है अतः इस नए साल पर चन्द्रमा का असर ज्यादा नजर आएगा अंक ज्योतिष  के हिसाब से.  चन्द्रमा का सम्बन्ध दया से है, चंचलता से है, अस्थिरता से है, भावना से है, सपनो से है, यात्रा आदि से है. तो अगर आप २०१८ के बारे में जानना चाहते हैं तो अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखे, सपनो पर ध्यान रखे. इस साल जिन लोगो का अंक 2 हैं उनको अपने जीवन में बहुत बदलाव नजर आ सकते हैं अंक ज्योतिष के हिसाब से.  इस साल दुनिया भर में भावनात्मक सफलताओं और विशाल परिवर्तन देखने को मिलेंगे. जो जगह समुद्र तटो, नदी आदि के पास है वहाँ पर भी काफी बदलाव नजर आ सकते हैं.  क्या आप जानते हैं की अंक 2 के मित्र अंक कौन से हैं: तीन अंक मित्र है अंक 2 के – 2, 6 और 4. आइये अब और जानते हैं २०१८ के बारे में : हमे २०१८ में फ़रवरी, अप्रैल और जून के महीने में काफी बदलाव नजर आ सकते हैं दुनिया में. जिन लोगो का नाम का पहला अक्षर B, K या R है उनके जीवन…

Ank Jyotish Report Dwara Bhagyoday

अंक ज्योतिष भी पुरे संसार में बहुत माना जाता है. इसके द्वारा भी जीवन के रहस्यों को जाना जाता है. ऐसा माना जाता है की अंको का हमारे जीवन में बहुत महत्त्व होता है इसी कारण बहुत से लोग अपने भाग्यशाली अंको के की-चैन रखते हैं, कुछ लोग लकी अंको के ही मोबाइल नंबर रखते हैं, कुछ लोग भाग्यशाली तारीख पर ही महत्त्वपूर्ण कार्यो को अंजाम देते हैं आदि.  ज्योतिष संसार के माध्यम से आप भी पा सकते हैं अंक ज्योतिष रिपोर्ट और बना सकते हैं अपने जीवन को सफल.  अंक ज्योतिष के माध्यम से हम बहुत कुछ जान सकते हैं जैसे: अंको का हमारे व्यक्तित्त्व पर असर.हमारा भाग्यशाली अंक. हमारे नाम और जन्म तारीख का मेल और जरुरी बदलाव करने के बारे में. वर्त्तमान साल में अंको का प्रभाव. हमारे लिए अनुकूल अंक. कैसे बढ़ाएं अपने अन्दर की प्रतिभा और कौशल को अंक ज्योतिष के माध्यम से. 
क्या आप जानने को उत्सुक है की कैसे अंक जीवन पर प्रभाव डाल रहे हैं? अंक हमारे जीवन के हर पहलु पर प्रभाव डालते हैं. हर अक्षर का सम्बन्ध किसी अंक से होता है अतः हर नाम, हर कंपनी के नाम का, दूकान के नाम का, मकान के नाम का भी एक अंक निकलता है सही गणना करने पर. 
अं…

Mangal Grah Se Yaun Shakti Par Kya Asar Hota Hai

यौन प्रवृत्ति को जानिए कुंडली में मंगल ग्रह की स्थिति के अनुसार, जानिए सेक्स की शक्ति को ज्योतिष के माध्यम से, कैसे जाने किसी की यौन शक्ति को, कैसे बढायें अपनी क्षमता ज्योतिष के द्वारा. सुखी वैवाहिक जीवन के लिए यौन शक्ति का होना और बना रहना अति आवश्यक होता है. ज्योतिष के माध्यम से भी हम अपने अन्दर और दुसरे के अन्दर की शक्तियों को पहचान सकते हैं. इस लेख में हम इसी विषय को और अधिक समझने का प्रयास करेंगे. मंगल ग्रह शक्ति का प्रतिक है और किसी के कुंडली में मंगल ग्रह की स्थिति को देखके हम उसके शक्ति का अंदाजा लगा सकते हैं. यौन शक्ति को भी इसी ग्रह के अध्ययन से थोडा बहुत समझ सकते हैं.

आइये देखते हैं मंगल ग्रह के कुछ स्थितियों को: जब मंगल कुंडली के पहले भाव में बैठा हो: ये व्यक्ति को उर्जा और उत्साह से भर देता है. ऐसे व्यक्ति मजबूत सम्बन्ध बनाने की क्षमता रखते हैं. कभी कभी ऐसे लोगो को संतुष्ट करना मुश्किल हो जाता है. ऐसे जातको के जीवन साथी इनके साथ को काफी पसंद करते हैं. अगर मंगल कुंडली के दुसरे भाव में मौजूद हो : ऐसे लोगो को समझना थोड़ा मुश्किल हो जाता है, ऐसे लोग खुद ही नहीं समझ पाते हैं की उ…

Rashi Anusaar Janiye Yaun Shakti Ko

राशि अनुसार यौन प्रवृत्ति को जानिए ज्योतिष में, १२ राशी और उनके अन्दर मौजूद यौन शक्ति. हम किसी के राशि का पता करके उनके बारे में बहुत कुछ जान सकते हैं. किसी के यौन शक्ति का अंदाजा भी राशी पता करके कर सकते हैं.  आइये जानते हैं राशी अनुसार शक्ति को : मेष राशी और यौन शक्ति: ऐसे लोग काफी आक्रामक हो सकते हैं सम्बन्ध बनाने के समय. ये काफी शक्तिशाली और निडर होते हैं. मेष राशि के लोग अगर प्रेम करे तो बहुत गहराई से करते हैं. इसका स्टैमिना भी बहुत अच्छा होता है और ये ऐसे ही साथी के खोज में रहते हैं जो शक्तिशाली हो और इनसे अच्छे सम्बन्ध बना सके.ये एक ईमानदार प्रेमी और एक अच्छे जीवन साथी हो सकते हैं. कभी कभी ज्यादा इछाओ के कारण इनको समस्या भी होती है. मेष राशि के लोग की शारीरिक क्षमता भी अच्छी होती है और अपने साथी को हमेशा ही खुश रखने की क्षमता रखते हैं. वृषभ राशि और यौन शक्ति: वृषभ राशि के लोग बहुत अच्छा मनोरंजन कर सकते हैं.सम्बन्ध बनाने के समय ऐसे लोग बहुत अच्छा माहोल बनाते हैं.जीवन साथी इनका साथ काफी पसंद करते हैं. ऐसे लोगो को साथी के साथ सम्बन्ध बनाने के लिए साफ़ और अच्छी जगह की तलाश रहती है. ये ब…