Janam Kundli Horoscope Reading Service

Horoscope Janam Kundli Service in hindi, जन्म पत्रिका का महत्त्व, ज्योतिष में कुंडली क्या काम आती है, जानिए ज्योतिष से अपनी कुंडली का विश्लेषण.

अगर आप अपने भविष्य के बारे में ज्योतिष से जानना चाहते हैं तो जन्म कुंडली की सबसे पहले आवश्यकता पड़ती है. जन्म पत्रिका के आधार पर ही कामकाजी जीवन, वैवाहिक जीवन, प्रेम जीवन, नौकरी, व्यापार आदि के बारे में जाना जाता है. वैदिक ज्योतिष में कुंडली बनाने के लिए जन्म समय, जन्म तारीख और जन्म स्थान की आवश्यकता पड़ती है. www.jyotishsansar.com पर आप १००% वैदिक ज्योतिष(डॉ. ओम प्रकाश) द्वारा कुंडली का विश्लेषण और समाधान पायेंगे.
janm kundli reading by hindi jyotish online
Janam Kundli Horoscope Reading Service in hindi

ज्योतिष से आप पायेंगे कुंडली में मौजूद अच्छे और बुरे ग्रहों की जानकारी, उनका जीवन पर प्रभाव, समस्याओं का समाधान, भाग्योदय हेतु रत्न की जानकारी, पूजा की जानकारी, दान की जानकारी. ज्योतिष सही भविष्यवाणी के लिए गोचर का अध्ययन भी करते हैं. Horoscope Janam Kundli Service in hindi.

कुंडली या जन्म पत्रिका का विवरण हिंदी और अंग्रेजी में भेजा जाता है मांग के अनुसार. भविष्यवाणी बहुत ही आसान भाषा में लिखा जाता है जिससे कोई भी उसे आसानी से समझ सकता है और कोई शंका होने पर फ़ोन पर भी हल बताया जाता है.

हमारी कुंडली जीवन का आईना होता है अतः जीवन में हमारी कमजोरियो और ताकतों को जानने का एक शशक्त माध्यम है जन्म पत्रिका. Horoscope Janam Kundli Service in hindi

सही भविष्यवाणी जानने के लिए ये जरुरी है की आप सही जन्म समय, जन्म स्थान और जन्म तीख दे अन्यथा समस्या आ सकती है. अच्छे और बेस्ट ज्योतिष से मार्गदर्शन लेके आप पहले से ही जान सकते हैं जीवन में आने वाले चुनौतियों और अवसर के बारे में.

ज्योतिष संसार वेबसाइट के माध्यम से आप बहुत ही आसानी से जन्म पत्रिका का विश्लेषण पा सकते हैं डॉ, ओम प्रकाश से. इसके लिए आपको contact us पेज पर जाके निर्देशों के हिसाब से जानकारी को ईमेल करना होगा. और आपको उसी दिन या फिर अगले दिन तक रिपोर्ट मिल जायेगी. चूँकि वैदिक ज्योतिष के हिसाब से भविष्यवानिया की जाती है अतः सटीक होती है.


ज्योतिष जो रिपोर्ट आपको भेजते हैं उसमें निम्न जानकारियां सम्मिलित होती है – कुंडली की सामान्य जानकारी, ग्रहों का जीवन पर प्रभाव, वर्तमान ग्रह दशाओं का असर, भाग्यशाली रत्न, दान, उचित पूजा, आवश्यकता होने पर मंत्र प्रयोग की जानकारी आदि. अतः आप निश्चित होके ज्योतिष(Dr.Om Prakash) से संपर्क कर सकते हैं.


पाइए ज्योतिष से अपने व्यक्तिगत प्रश्नों का उत्तर, जानिए अपने जीवन के बारे में सितारों के हिसाब से.

आप रोज www.jyotishsansar.com विजिट कर सकते हैं ज्योतिष से सम्बंधित लेखो को पढने के लिए.

विवाह हेतु कुंडली मिलान ज्योतिष सेवा का लाभ ले:

कुंडली मिलान को अष्टकूट मिलान भी कहते हैं जो की भारत में बहुत प्रचलित हैं. इसका प्रयोग अपने लिए सही जीवन साथी चुनने के लिए किया जाता है. आप ज्योतिष से kundli matching service के लिए भी संपर्क कर सकते हैं.
ज्योतिष लड़के और लड़की के कुंडली का अध्ययन बारीकी से करते हैं और सही सलाह देते हैं समस्याओं के समाधान के साथ ताकि विवाह के बाद जीवन सुखपूर्वक बिताया जा सके.


कुछ अक्सर पूछे जाने वाले ज्योतिष से सम्बंधित प्रश्न(FAQ) :

  1. जन्म कुंडली या टेवा या जन्म पत्रिका क्या होती है?
    जन्म पत्रिका जातक के जन्म के समय ग्रहों की स्थिति का विवरण बताता है. इसे नटल चार्ट बर्थ चार्ट या होरोस्कोप भी कहा जाता है अंग्रेजी में. ज्योतिष भविष्यवाणी के लिए इसी का प्रयोग करते हैं. इसके अंतर्गत १२ घर होते हैं जिसमे अलग अलग राशियों में ९ ग्रह विराजित रहते हैं.
  2. क्या ज्योतिष के माध्यम से भविष्य को सही तरीके से जाना जा सकता है?
    ज्योतिष को वेदों को आँखे कहा गया है और दशको से लोग इसका प्रयोग करते हैं जीवन को समझने के लिए ,जीवन को सुखी बनाने के लिए अतः इस विश्वास ना करने का कोई कारण नहीं बनता है. यही नहीं वैदिक ज्योतिष के नियमो का प्रयोग तो अन्य भविष्यवाणियो की पद्धति में भी किया जाता है सही भविष्यकथन के लिए.
  3. क्या आटोमेटिक सॉफ्टवेर द्वारा भविष्यवाणियो पर विश्वास कर सकते हैं?
    इसका जवाब होगा ना, सॉफ्टवेर का स्तेमाल कुंडली बनाने के लिए किया जा सकता है परन्तु भविष्य कथन के लिए बहुत कुछ ध्यान रखना होता है जो की एक अच्छा ज्योतिष ही जानता है और उसके लिएय अनुभव भी जरुरी होता है. अतः हमेशा Horoscope Janam Kundli Service किसी अच्छे ज्योतिष से लीजिये.
  4. लग्न कुंडली सबसे ज्यादा महत्त्व क्यों रखती है?
    लग्न कुंडली सबसे ज्यादा महत्त्व इसीलिए रखता है क्यूंकि इसमें जातक के जन्म के समय ग्रहों की स्थिति की सटीक जानकारी मौजूद रहती है और इसी का प्रभाव जातक पर जीवन भर रहता है, उसका व्यक्तित्त्व जन्म के समय ग्रहों की स्थिति पर निर्भर करता है. अतः भविष्यकथन के लिए ज्यादातर लग्न कुंडली का स्तेमाल किया जाता है. इसके द्वारा लग्न, राशि, ग्रहों की दशा, व्यक्ति की आर्थिक स्थिति, जीवन में संघर्ष, प्रेम जीवन, वैवाहिक जीवन आदि जानकारी आसानी से निकाली जाती है.

ज्योतिष कैसे कुंडली का अध्ययन करता है?

कोई भी वैदिक ज्योतिष जन्म कुंडली में मौजूद १२ भावों का अध्ययन करता है, उसमे मौजूद ९ ग्रहों का अध्ययन करता है जो की विभिन्न राशियों के साथ बैठे रहते हैं. कुंडली का पहला घर लग्न कहलाता है, दूसरा भाव लाभ भाव होता है तीसरा पराक्रम भाव होता है और इसी प्रकार अन्य घर अलग अलग विषयो से सम्बंधित रहते हैं. किसी भी विषय को जानने के लिए उससे सम्बंधित भावों और ग्रहों का अध्ययन किया जाता है साथ ही गोचर और दशाओं का अध्ययन किया जाता है. 
डॉ. ओम प्रकाश अलग अलग कुंडलियो का भी अध्ययन करते हैं जिससे सटीक भविष्यवाणी किया जा सके और समस्याओं का समाधान भी सटीक निकले.

आइये जानते हैं की जन्मकुंडली/टेवा/होरोस्कोप दिखने के क्या क्या फायदे हो सकते हैं?

हम सही जन्म समय, जन्म स्थान और जन्म तारीख बता के सही भविष्यवाणी जान के जीवन को सफल बना सकते हैं.
  • ज्योतिष में कुंडली मिलान का प्रयोग करके अपने लिए सही जीवन साथी चुन सकते हैं.
  • हम अपने लिए भाग्यशाली रत्न, अच्छा दिन, शुभ रंग, शुभ अंक जान सकते हैं कुंडली दिख्वाके.
  • हम ये भी जान सकते हैं की कब जीवन में चुनौतियाँ आएँगी और कब आगे बढ़ने लिए अवसर मिलेंगे.
  • हम अपने व्यक्तित्त्व से सम्बंधित कमजोरियों का जान सकते हैं और ताकतों को भी जान सकते हैं. इसी के साथ, आर्थिक जीवन, पारिवारिक जीवन, प्रेम जीवन, विवाह आदि की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.
  • अपने अपने जीवन में गोल्डन समय को जान सकते हैं.
  • कुंडली के द्वारा हम अपने जीवन में आने वाले कठिन समय को भी जान सकते हैं.
  • हम ये भी जान सकते हैं की हमे आगे बढ़ने से कौन सा ग्रह रोक रहा हैं.
अगर आप किसी भी प्रकार के समस्या से ग्रस्त हैं तो जानिए कुंडली में कौन से ग्रह ख़राब है और उनके लिए हमे क्या करना चाहिए ज्योतिष अनुसार. अपने व्यक्तिगत जीवन और कामकाजी जीवन की भविष्यवाणियो के लिए संपर्क करे अभी.



Horoscope Janam Kundli Service in hindi, जन्म पत्रिका का महत्त्व, ज्योतिष में कुंडली क्या काम आती है, जानिए ज्योतिष से अपनी कुंडली का विश्लेषण. 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें