Skip to main content

Posts

Showing posts from October, 2019

Badkismati Se Kaise Chutkaara Paaye

बदकिस्मती कैसे आती है कपड़ो से, सोच से, क्या करे भाग्योदय के लिए ज्योतिष के हिसाब से?.

बदकिस्मती से जो परेशान है उनकी तकलीफ को बयान करना ना मुमकिन है. ऐसे बहुत से लोग है इस दुनिया में जो जिस काम में हाथ डालते हैं उसी में घाटा हो जाता है, किसी का भला करने जाते हैं तो बुरा हो जाता है, किसी को राय देते हैं तो सामने वाले को नुक्सान हो जाता है,कितना भी कम ले पर कर्जा ख़त्म नहीं होता है अर्थात कुछ भी करते हैं बुरा हो ही जाता है.

बदकिस्मती २ प्रकार से किसी के जीवन मे आता है :एक तो भाग्य के कारण जो की कुंडली में मौजूद श्राप होता है, कुंडली में मौजूद खराब ग्रहों के कारण जातक को ऐसा कष्ट झेलना होता है.परन्तु एक दूसरा कारण भी है और वो है हमारी कुछ ख़ास आदते और हमे इनका पता ही नहीं होता की अनजाने में हम कैसे बदकिस्मती को अपने जीवन में प्रवेश देते रहते हैं. बदकिस्मती को अपने से दूर रखने के लिए हमे ये जानना आवश्यक है की कौन कौन से ऐसे काम है या आदते हैं जो की जीवन को संकतो से भर देते हैं. संपर्क करे ज्योतिष से मार्गदर्शन के लिए >>
कपड़ो से बदकिस्मती कैसे आता है?अगर कोई सक्षम है और उसके बावजूद भी क…

Kaise Paaye Prayaaso Main Safaltaa Jyotish Dwara

Kaise paaye prayaaso mai safaltaa jyotish ke dwara,  kya kare kya na kare, kin upaayo dwara hum apne jivan ko sukhmay bana sakte hai, कैसे पाये प्रयासों में सफलता, टोटके सफलता के लिए. 
सफलता शब्द ही मधुर है , हर किसी के मन में सफलता प्राप्त करने की ललक होती है, सफलता हमे सुकून देती है, एक सफल जीवन जीना हम सब का हक़ है परन्तु फिर भी ये सबके लिए संभव नहीं हो पाता है. असफलता के बहुत से कारण हो सकते है.

सफलता के मापदंड सबके लिए अलग अलग है , यहाँ महत्त्वपूर्ण ये है की जिसने जो सोचा है अगर वो वैसा प्राप्त कर लेता है तो वो सफल है, सुखी है संतुष्ट है परन्तु सोच को पूरा न करने पर दुःख होता है.


ज्योतिष के अन्दर ये देखा जाता है की कुंडली में ग्रहों की स्थिति कैसी है की सफलता हाथ नहीं आ रही है, कुंडली से ये भी जाना जाता है की प्रयास कब करे की सफलता हाथ लगे. ज्योतिष के द्वारा ये भी पता लगाया जाता है की क्या करे की सफलता हाथ लगे.

दशको से राजा-महाराजा और विद्वान् लोग इस विद्या का प्रयोग आरके जीवन को निरोगी, स्वस्थ और संपन्न बना रहे है.

ज्योतिष के द्वारा सफलता के रास्ते जानने के लिए ये जरुरी है की हम स…

Haldi Ke Totke Safalta Ke Liye

हल्दी के टोटके, ग्रह दोषों से मुक्ति के लिए हल्दी के टोटके, वास्तु दोषों से मुक्ति के लिए हल्दी के टोटके, सुख और सम्पन्नता के लिए हल्दी के टोटके, janiye kaise haldi badal sakta hai kismet ko.
हमारे आस पास रोजमर्रा में उपयोग में आने वाली बहुत सी चीजो को बहुत आसानी से प्रयोग किया जा सकता है स्वस्थ एवं संपन्न जीवन जीने के लिए. जरुरत है सिर्फ जानकारी होना की कैसे किस वास्तु का प्रयोग किया जाए. ऐसी ही एक वास्तु है हल्दी जो की हर घर में पाई जाती है और आश्चर्य की बात ये है की हल्दी के प्रयोग से ग्रह दोषों से मुक्ति मिल सकती है हल्दी के प्रयोग से वास्तु दोष से मुक्ति मिल सकती है हल्दी के प्रयोग से नकारात्मक उर्जा से मुक्ति मिल सकती हैहल्दी के प्रयोग से धन की समस्या से निजत पाई जा सकती है हल्दी के प्रयोग से रोगों से मुक्ति पाई जा सकती है हल्दी में औषधि गुण होने के साथ साथ कुछ अन्य शक्तियां भी मौजूद है इसी कारण हिन्दू धर्म में इसका प्रयोग पूजा-पाठ में भी किया जाता है. आइये जानते हैं हल्दी के कुछ विशेष टोटके:ज्योतिष के अनुसार पिली हल्दी का सम्बन्ध गुरु ग्रह से होता है. अतः पिली हल्दी को धारण कर…

Diwali Pooja Kaise Kare दिवाली पूजा

Diwali Pooja Kaise Kare,  दिवाली पूजा कैसे करे आसानी से, लक्ष्मी जी को कैसे प्रसन्न करे पूजा से.
दिवाली प्रकाश का त्यौहार होता है, दीपावली माँ लक्ष्मी की पूजा का दिन होता है, इस दिन लोग संपन्न जीवन जीने की कामना से पूजा करते हैं. दिवाली पूजन के बहुत से तरीके प्रसिद्द है , अलग अलग प्रान्त में अलग अलग तरीके मौजूद हैं माँ लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए. जाती के हिसाब से भी दिवाली पूजन के तरीको में बदलाव दिखाई पड़ता है.
दीपावली भारत देश का एक बहुत ही महत्त्वपूर्ण त्यौहार है, हर भारतीय को इस त्यौहार का इन्तेजार पुरे साल होता है. बच्चे तो खास तौर पर इस त्यौहार का इन्तेजार करते हैं क्यूंकि उनको पठाके चलाने को मिलते हैं. ऐसी भी मान्यता है की दिवाली की रात्रि को माँ लक्ष्मी भक्तो के घर आकर आशीर्वाद प्रदान करती हैं.  आगे कुछ और जानने से पहले आइये कुछ और खास बाते जानते हैं दिवाली के बारे में –दिवाली अमावस्या को मनाई जाती है.हिन्दू पंचांग के अनुसार इस रात्रि को अमावस्या होती है अतः चन्द्रमा उदित नहीं होता है.ये रात्रि साल की सबसे गहरी रात्रि होती है.तंत्र के अन्दर अमावस्या का बहुत महत्तव होता है स…

Kala Jadu Se Surksha Ke liye Diwali ki Raatri

क्या दिवाली में अपने आपको बचाया जा सकता है काले जादू से, क्यों दिवाली की रात्री बहुत शक्तिशाली मानी जाती है, कैसे बचाए अपने आपको नकारात्मक उर्जाओं से दिवाली की रात्री को.
भारत में दिवाली का अपना उल्लास रहता है, बच्चे, बुजुर्ग, जवान सभी इस त्यौहार का आनंद लेते हैं मिलके. ये वो समय होता है जब समृद्धि हेतु कई शक्तिशाली प्रयोग किये जाते हैं, लोग नए वस्त्र, आभूषण खरीदते हैं, बच्चे आतिशबाजी का आनंद लेते है. ये त्यौहार सभी के लिए कुछ न कुछ ख़ुशी लेके आता है.

इसके अलावा दिवाली तंत्र, मंत्र यन्त्र सिद्धी के लिए भी बहुत अच्छा माना जाता है इसी वजह से साधक इस रात्री को साधना में रत रहते हैं. हर विद्या का सही और गलत दोनों पक्ष होते हैं और यही कारण है की जहा दिवाली में शुभता, सम्पन्नता के लिए पूजाए की जाती है वही नकारात्मक विचारों से ग्रस्त लोग नुक्सान पहुचाने के लिए भी कई प्रकार के प्रयोग को अंजाम देते हैं.

पढ़िएक्या है काला जादू?

अतः ये जरुरी है की हम सावधान रहे और सुरक्षित रूप से इस त्यौहार को मनाये. दिवाली कार्तिक अमावस्या को मनाई जाती है जब चन्द्रमा पूर्ण रूप से क्षीण रहता है. शाश्त्रो के हिसाब …

Diwali Tantra दिवाली तंत्र

Diwali Tantra | दिवाली तंत्र, दिवाली टोटके , जीवन में सफलता के लिए दिवाली तंत्र, छोटे – छोटे उपाय जो बदल सकती है जिन्दगी . पिछले कुछ लेखो में देवाली के महत्तव पर प्रकाश डाला गया था , ये भी बताया गया था की कैसे करे दीपावली पूजा आसानी से, ये भी बताया गया है की दिवाली की रात्री तंत्र क्रियाओं के लिए भी बहुत उपयुक्त है. परन्तु तांत्रिक पूजाए साधारण लोग के लिए नहीं है.
इसके बावजूद ऐसे बहुत से तरीके हैं जिनसे आसानी से स्वस्थ्य और सम्पन्नता को आकर्षित कर सकते हैं जीवन में, ऐसे उपायों को टोटके बोलते हैं. दिवाली के दिन बहुत से कार्यो के लिए टोटके किये जा सकते हैं जैसे –दिवाली को हम स्वास्थ्य, सम्पन्नता के लिए टोटके कर सकते हैं.दीपावली को हम काले जादू से छुटकारे के लिए टोटके कर सकते हैं.दिवाली को हम बुरी नजर से बचाव के उपाय कर सकते हैं.जीवन में प्रेम के लिए भी पूजाए कर सकते हैं.व्यापार वृद्धि के लिए भी टोटके किये जा सकते हैं.विवाह में आने वाले अडचनों को हटाने के लिए भी टोटके किये जा सकते हैं.वास्तु दोषों को हटाने के लिए भी पूजाए की जा सकती हैं.ग्रह दोषों की शांति के लिए भी प्रयोग हो सकते हैं. स…

Deepawali Ki Pooja Kab Kare?

दीपावली पूजा का समय, कब करे महालक्ष्मी की पूजा, जानिए अच्छे चोघडिये और स्थिर लग्न का समय ज्योतिष के हिसाब से दिवाली पूजन के लिए.
दीपोत्सव बहुत ही ख़ास होता है हर हिन्दू के लिए क्यूंकि इस दिन विशेष रूप से धन की देवी महालक्ष्मी की पूजा होती है जो की अपने भक्तो को प्रसन्न होने पर धन, वैभव प्रदान करती है जिससे व्यक्ति इस भौतिक संसार में ऐशो आराम से जीता है. 
दिवाली प्रकाश का उत्सव है और ये कार्तिक महीने की अमावस्या को मनाया जाता है. भारतीय लोग इस उत्सव को बहुत ही हर्ष और उल्लास से मनाते हैं पूरी दुनिया में.  हर व्यक्ति के लिए धन बहुत महत्त्व रखता है और इसी कारण रोज हर कोई धन पाने के लिए संघर्ष करता रहता है. दिवाली पर पूजन करने से माता की कृपा प्राप्त होती है और व्यक्ति के आय के स्त्रोत खुलते हैं.

कब करे दीपावली की पूजा ? सबसे महत्त्वपूर्ण प्रश्न ये है की वैदिक ज्योतिष के हिसाबस इ कब करना चाहिए लाक्स्मीजी का पूजन जिससे शुभ परिणाम प्राप्त हो और मनोकामना की पूर्ति हो.
अलग अलग लोगो की ईच्छा अलग अलग होती है और उसी के अनुसार अलग अलग महूरत भी होते हैं, जिनको जो चाहिए उस हिसाब से महूरत में पूजन करन…

Dhanteras Ki Pooja Ka Asan Tarika, धनतेरस पूजा

Dhanteras Ki Pooja Ka Asan Tarika, धनतेरस पूजा आसान विधि और लाभ.
कार्तिक का महिना वैदिक ज्योतिष के हिसाब से बहुत महत्तव रखता है, इस महीने में बहुत से महत्त्वपूर्ण त्यौहार आते हैं और साधना के लिए भी ये उपयुक्त समय होता है. कार्तिक महीने की कृष्ण पक्ष के तेरहवे दिन धन तेरस नाम का त्यौहार भारत में मनाया जाता है. ये पूजा दिवाली के २ दिन पहले होती है.

धन तेरस के दिन महत्त्वपूर्ण चीजे खरीदने का रिवाज है, सोना- चंडी के जेवर आदि खरीदने का रिवाज है. वास्तव में धन तेरस के दिन से आने वाले पांच दिन बहुत ही महत्त्वपूर्ण होते हैं. इसके ठीक दुसरे दिन नरक चतुर्दशी मनाई जाती है जिस दिन लोग विशेष तौर पर सफाई करके माँ लक्ष्मी को आमंत्रित करते हैं. नरक चतुर्दशी के बाद दिवाली का त्यौहार मनाया जाता है, उसके बाद गोवेर्धन पूजा होती है और उसके बाद भाई दोज मनाया जाता है. अतः धन तेरस के दिन से लोग व्यस्त हो जाते हैं विभिन्न प्रकार के कर्म कांडो में.

धन तेरस के दिन साधारणतः लोग घर में उपयोग में आने वाले बर्तन, सोना चांदी के जेवर, आदि खरीदते हैं. एक और परंपरा के अनुसार इस दिन धन के रजा कुबेर की पूजा होती है, यमरा…

Dhan Prapti Ke Liye Totke In Hindi, धन प्राप्ति टोटके

Dhan Prapti Ke Liye Totke In Hindi, धन प्राप्ति टोटके, वित्तीय तौर पर अपने आपको मजबूत करने के लिए ज्योतिषीय टोटके जानिए.
धन की जरुरत सबको है, किसी भी भौतिक इच्छा को पूरी करने के लिए धन का होना आवश्यक है, जीवन का आनंद लेने के लिए , सुख – सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए धन का होना जरुरी होता है. कुछ लोग तो बहुत धनी है तो कुछ लोगो को जरुरत का सामान भी खरीदने में परेशानियों का सामना करना होता है. कुछ लोग ऋण से छुटकारा नहीं पाते हैं. ऐसे में धनाकर्षण टोटको का प्रयोग लाभदायक होता है.

धन प्राप्ति के टोटको का ये मतलब न समझे की इनका प्रयोग करते हैं धन की बरसात होने लग जायेगा , धन प्राप्ति के टोटको का प्रयोग करने से ग्रह दोषों का शमन होता है और आय के स्त्रोत खुलते हैं. इनका प्रयोग पूर्ण विश्वास और नियमित रूप से करना चाहिए.

आगे बढ़ने से पहले जानते हैं धन और सम्पन्नता से सम्बंधित एक ख़ास बात.

वैदिक धर्म ग्रंथो के अनुसार माता लक्ष्मी धन की देवी मानी जाती है और धन राज कुबेर खजाने को रखते हैं इसी कारण लोग साधारणतः लक्ष्मी जी और कुबेर जी को प्रसन्न करने में लगे रहते हैं. परन्तु ऐसा नहीं है, अगर आप किसी भी …

What is Vashikaran ? | Vashikaran Kya hai?

वशीकरण क्या है, जानिए प्रकार और फायदें,वशीकरण साधना में किन चीजों की जरुरत होती है?

ये एक एक ख़ास प्रकार की विद्या है जिसके अंतर्गत मन्त्र शक्ति, ध्यान शक्ति, तंत्र शक्ति द्वारा किसी विशेष नारी या पुरुष के अन्दर अपने प्रति अच्छी भावनाए पैदा करने के लिए प्रयोग किया जाता है.
वशीकरण के प्रकार: यहाँ में अलग अलग मंत्रो से जोड़कर वशीकरण के प्रकार बता रहा हूँ: इसका स्तेमाल प्रेम संबंधों को फिर से सुधारने के लिए भी किया जाता है.इस साधना के द्वारा अपने पसंद के व्यक्ति से विवाह किया जाता है.वशीकरण साधना के द्वारा व्यापार को बढ़ाया जा सकता है.वशीकरण के द्वारा समाज में एक अलग जगह बनाई जा सकती है.इस विद्या के द्वारा शत्रु को मित्र बनाया जा सकता है.वशीकरण के द्वारा मनचाही सफलता प्राप्त की जा सकती है. वशीकरण को सम्मोहन के नाम से भी जाना जाता है जिसका आसान मतलब होता है किसी को अपने कंट्रोल में करना अर्थात किसी के दिमाग पे अधिकार करना.  वशीकरण साधना में सावधानियां: इस साधना में अक्सर लोग काले जादू का स्तेमाल करते हैं जो की जीवन के लिए घातक सिद्ध होता है अतः ये निवेदन है की बुरी शक्तियों से आप अच्छाई की उम…

Karwachoth Ka Mahatwa| करवा चौथ का महत्तव

Karwachoth Ka Mahatwa , करवा चौथ का महत्तव, कैसे करे करवा चौथ की पूजा, ज्योतिष और करवा चौथ hindi में . एक ऐसा दिन जिसका इन्तेजार पुरे साल भर किया जाता है ख़ास तौर पर विवाहित महिलाए इस दिन का इन्तेजार पुरे जोर शोर से करती है. इस दिन महिलाए व्रत रखती है अपने पति की लम्बी आयु के लिए और इसके लिए माता करवा की पूजा की जाती है.

भारत में कर्वाचोथ को बहुत ही हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है, इस दिन पतियों की पूजा की जाती है रात्री को जिसके कारण उनको भी इस दिन का इन्तेजार रहता है.

करवा चौथ शरद पूर्णिमा के 4 दिन बाद आता है और दीपावली से पहले भी आता  है, इस दिन को महिलाए पुरे आनंद से मनाती है, खेलती है, मस्ती करती है, भजन करती है, पूजन करती है और सबसे ख़ास उनको अपने पतियों से उपहार भी प्राप्त होता है जिसका इन्तेजार वो करती है.

कर्वाचोथ कार्तिक महीने की शुरुआत में आता है जब हलकी हलकी गुलाबी ठण्ड भी दस्तक दे रही होती है. कार्तिक महिना अपने आप में एक पवित्र महिना माना जाता है जब साधनाओ को सफलतापूर्वक किया जा सकता है विभिन्न मनोकामनाओ को पूरा करने के लिए.

करवाचौथ के दिन महिलायें मेहंदी लगाती है, नए …

Pushya Nakshatra Ka Mahttw Diwali Ke Pahle

दिवाली के पहले पुष्य नक्षत्र का महत्त्व, क्या करे सुख सम्पन्नता, भाग्योदय के लिए ज्योतिष अनुसार. हर साल कार्तिक महीने की अमावस्या को दीपावली आती है हिन्दू पंचांग अनुसार और इससे पहले एक बहुत ही महत्त्वपूर्ण दिन आता है जिसे पुष्य योग कहते हैं. पुष्य नक्षत्र जब दिवाली के पहले आता है तो अति महत्त्वपूर्ण कार्यो के लिए योग बना देता है. ये व्यापारियों, ग्रहस्थो, नौकरीपेशा, विद्यार्थियों आदि के लिए शुभ होता है.
विद्वानों ने इस बात को माना है की इस शक्तिशाली दिन में किसी भी चीज को खरीदना बहुत महत्त्व रखता है. इस दिन ख़रीदा सोना सम्पन्नता देता है, इस दिन खरीदी किताबे विद्याप्रप्ती में सहयोग प्रदान करती है. इसी कारण व्यापारी वर्ग इस दिन बही खाते खरीदते नजर आते हैं. महिलाए अपने लिए आभूषण खरीदती है, कुछ लोग श्री यन्त्र की स्थापना करते हैं आदि.

साल २०१९ में पुष्य नक्षत्र 21 october,सोमवार को दिन के २:२२ से शुरू होगा और 22 तारीख के १:१५ दिन तक रहेगा. ये दिन दिवाली से ५ दिन पहले आ रहा है जो की सभी के लिए शुभ है. आइये जानते हैं क्या ख़ास बात है इस पुष्य नक्षत्र की? इस साल कुछ ग्रहों का साथ अच्छा मिल रहा…

Sharad Poornima Jyotish In Hindi

Sharad poornima in hindi, sharad poornima ka mahattwa, kya kare safaltaa ke liye, kisi pooja kare sharad poornima ko as per jyotish, शरद पूर्णिमा पर hindi में जानिये महत्तव और क्या करे सफलता के लिए. अगर आपको चाह है एक शांति पूर्ण जीवन की, अगर आपको चाह है एक स्वस्थ जीवन कीम अगर आप चाहते हैं एक सुखी और संपन्न जीवन तो शरद पूर्णिमा की रात्री आपके लिए बहुत ही शुभ है, जब व्यक्ति बहुत सरल पूजा से अपने जीवन को धन-धन्य से भरपुर कर सकता है. हिन्दी पंचांग के हिसाब से साल में 12 पूर्णिमा आते हैं, उनमे से शरद पूर्णिमा बहुत ही शक्तिशाली, पवित्र और मुख्य माना जाता है. यह वो रात्री है जब साधक अपनी साधना से मनोकामना को पूर्ण कर सकता है. अतः इस दिन और रात्री को जरुर कुछ ख़ास कर लेना चाहिए अपने जीवन को गति देने के लिए. आइये जानते हैं कुछ तथ्य शरद पूर्णिमा के बारे में:ये पूर्णिमा आश्विन मास में आता है hindi पंचांग के हिसाब से.ये आश्विन माह के अंतिम दिन में आता है, इसी दिन से कार्तिक का स्नान भी शुरू हो जाता है. इस दिन चन्द्रमा अपनी पूरी शक्ति से प्रकाशित होता है जिसके कारण ये पूर्णिमा पुरे वर्ष की सबसे चम…

Paksh Aur Tithiyo Ko Janiye Jyotish Me In Hindi

पक्ष और तिथियां क्या है ज्योतिष में, ज्योतिष सीखे, तिथियों के स्वामी कौन हैं जानिए हिंदी में.

ज्योतिष जानने वालो के लिए पक्ष और तिथियों की जानकारी अती महत्त्वपूर्ण है क्यूंकि महत्त्वपूर्ण कार्यो को करने के लिए महुरत निकालने में इनका उपयोग होता है.
आइये जानते हैं पक्ष और तिथियों के बारे में : भारतीय ज्योतिष के हिसाब से कोई भी महिना २ पक्षों में विभाजित रहता है और हर पक्ष में १५ दिन होते हैं और हर पक्ष में १५ तिथियाँ भी होती हैं.
२ पक्ष निम्न हैं :
शुक्ल पक्ष – अमावस्या के दुसरे दिन से पूर्णिमा तक के दिन शुक्ल पक्ष में आते हैं.कृष्ण पक्ष – पूर्णिमा के दुसरे दिन से अमावस्या तक के दिन कृष्ण पक्ष में आते हैं. आइये अब जानते हैं तिथियों के बारे में:प्रतिपदा, ये किसी भी पक्ष का पहला दिन होता है जिसे एकम भी कहते हैं.द्वितीय, ये किसी भी पक्ष का दूसरा दिन होता है जिसे दूज भी कहते हैं.तृतीया, ये किसी भी पक्ष का तीसरा दिन होता है जिसे तीज भी कहते हैं.चतुर्थी, ये किसी भी पक्ष का चौथा दिन होता है जिसे चौथ भी कहते हैं.पंचमी, ये किसी भी पक्ष का पांचवा दिन होता हैषष्ठी, ये किसी भी पक्ष का छठा दिन होता है…

Tanaav Ke Upaay Jyotish Me

तनाव के उपाय ज्योतिष के हिसाब से, आइये जानते हैं तनाव के प्रभाव, क्या करे टेंशन से बाहर आने के लिए.
तनाव एक बहुत ही आम बात है लोगो में परन्तु जब तनाव रोज रहने लगे तो ये स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है और जीवन के हर पहलु को प्रभावित करता है. अतः ये जरुरी है की इसे कम करने के लिए कदम उठाया जाए.
तनाव कई कारणों से उत्पन्न हो सकते हैं जैसे कोई गलत कार्य करना, किसी ख़ास विषय की चिंता होना, नकारात्मक विचार होना, किसी कार्य में निराशा हाथ लग्न, संबंधो में तनाव उत्पन्न होना, वित्तीय समस्या, रोजगार की समस्या, प्रेम से समस्या आदि.
ज्योतिष के द्वारा जीवन के बहुत से पहलुओं के बारे में जाना जा सकता है परन्तु इसके लिए कुंडली को पढ़ना जरुरी होता है. इस लेख में हम जानेंगे तनाव के ज्योतिषीय कारण और उपाय.
आइये जानते हैं तनाव के कुछ प्रभाव:तनाव के कारण सुन्दरता भी कम होने लगती है.इसके कारण याददाश्त भी कमजोर होती है.संपत्ति का नुकसान भी होता है तनाव के कारण.तनाव के कारण मानसिक शान्ति भी कम होने लगती है.संबंधो में भी तनाव उत्पन्न होने लगता है.व्यक्ति काम भी ढंग से नहीं कर पाता है. आइये अब जानते हैं तना…

Rashi Anusaar Mantra Safalta Ke Liye

१२ राशियों से सम्बंधित मंत्र, ज्योतिष के अनुसार १२ राशियों के लिए बीज मंत्र, जानिए राशी मंत्र को जपने के फायदे.  हम सभी जानते हैं की वैदिक ज्योतिष के हिसाब से १२ राशियाँ होती है और हर व्यक्ति की कोई न कोई राशि होती है जिसका प्रभाव उसके जीवन में पड़ता ही है. ये १२ राशियाँ हैं (मेष, वृषभ, मिथुन, कर्क, सिंह, कन्या, तुला वृश्चिक, धनु, मकर, कुम्भ, मीन).

हर राशि का कोई न कोई मंत्र भी है और अगर अपने राशि के अनुसार मंत्र का जप करे तो बहुत फायदे होते हैं और सफलता के रास्ते खुलते हैं.
मंत्रो का जप सबसे अच्छा तरीका है किसी भी शक्ति की कृपा को पाने के लिए और जीवन को बेहतर बनाने के लिए.
आइये जानते हैं राशि मंत्रो का महत्त्व : ज्योतिष के हिसाब से अगर कोई अपनी राशि से सम्बंधित मन्त्र का जप करता है तो उसके जीवन में सकारात्मक प्रभाव पड़ता है. राशी मंत्रो के जप से धन, ऐश्वर्या, स्वास्थ्य, सम्पन्नता को जीवन में लाया जा सकता है. राशी मंत्र जप से धनागमन होता है. राशी मंत्र जप से काम धंधा भी अच्छा चलता है. राशी मन्त्र के जप से सामाजिक जीवन भी बेहतर हो सकता है. राशी मंत्र जप से व्यक्तिगत जीवन भी सफल हो सकता …

Yogini Dasha Ka Jivan Par Prabhav

Yogini dasha ka jivan par prabhav hindi jyotish aunsaar, जानिए ८ योगिनी दशा के बारे में, क्या फल होगा योगिनी दशा का, कैसे दूर करे दुर्भाग्य को, ज्योतिष समाधान.
इस ज्योतिष लेख में हम जानेंगे की- योगिनी दशा क्या है?कुंडली अध्ययन में इसकी क्या महत्ता है?क्या योगिनी दशा दुर्भाग्य लाता है?क्या सभी योगिनी दशाएं ख़राब होती है?कैसे कम करे योगिनी दशा के बुरे प्रभाव को? वैदिक ज्योतिष के अनुसार योगिनी दशा भी जीवन को बहुत प्रभावित करती है और इसके बारे में जानके हम आने वाले समय के बारे में बहुत कुछ जान सकते हैं. अतः कुंडली अध्ययन के समय योगिनी दशाओं का अध्ययन भी बहुत काम देता है.  कुछ दशाएं अच्छी होती है और कुछ ख़राब.  ज्योतिष में योगिनी दशा कितनी होती है? ये ८ प्रकार की होती है और समय समय पर इनके प्रभाव से जातक को गुजरना होता है. कुछ जीवन में सकारात्मक प्रभाव लाती है और कुछ नकारात्मक प्रभाव उत्पन्न करती है.  ये ८ योगिनी दशाएं निम्न है – मंगला, पिंगला, धन्या, भ्रामरी, भद्रिका, उल्का, सिद्ध, संकटा  विद्वानों का मानना है की मंगला, पिंगला, धन्या और सिद्धा जीवन में शुभता लाती है और भ्रामरी, भद्रिका, उल्क…

Dusshera ke Liye Totke

दशहेरे को कौन से टोटके लायेंगे सफलता, क्या करे दशेरे को बाधाओं को दूर करने के लिए, धन प्राप्ति के टोटके दशेरे के लिए.
सम्पूर्ण भारत वर्ष में दशहेरा बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है. ये उत्सव हमे श्री की रावण के खिलाब युद्ध में विजय की याद दिलाता है. ज्योतिष के हिसाब से भी दशहेरा  बहुत महत्त्व रखता है क्यूंकि इस दिन जीवन को सफल बनाने के लिए बहुत से पूजाएँ की जाती है, बहुत से टोटके भी किये जाते हैं.

कई दशको से जानकार लोग दशहेरा को शक्तिशाली प्रयोग करते आये हैं. इस लेख मे हम जानेंगे कुछ ख़ास टोटको को जो की आसानी से किये जा सकते हैं अपने जीवन को सफल बनाने के लिए. इन टोटको का प्रयोग करके हम अपने जीवन में धन, ऐश्वर्य, स्वास्थ्य को आकर्षित कर सकते हैं.दशहेरा में हमे सर्वार्थ सिद्धि योग मिलता है और पूजा पाठ, टोटको को इसी सर्वार्थ सिद्धि योग में करना चाहिए जिससे की सफलता प्राप्त हो. सर्वार्थ सिद्धि योग के लिए अपने ज्योतिष से परामर्श करना चाहिए. आइये जानते हैं कुछ ख़ास और आसान उपाय/टोटके जीवन को सफल करने के लिए:दशहेरे को किसी लक्ष्मी मंदिर में दर्शन को जरुर जाना चाहिए और वहां पर कपूर और लौ…