vedic jyotish from India

हिंदी ज्योतिष ब्लॉग ज्योतिष संसार में आपका स्वागत है

पढ़िए ज्योतिष और सम्बंधित विषयों पर लेख और लीजिये परामर्श ऑनलाइन

Dhan Ki Bachat Ke Liye Jyotishiy Upaay

धन की बचत के लिए ज्योतिषीय उपाय, जानिए अनचाहे खर्चे के क्या कारण हो सकते हैं, जानिए कुछ ख़ास ज्योतिषीय उपाय बचत के लिए, सम्पन्नता के लिए उपाय ज्योतिष द्वारा. 
धन की बचत के लिए ज्योतिषीय उपाय, जानिए अनचाहे खर्चे के क्या कारण हो सकते हैं, जानिए कुछ ख़ास ज्योतिषीय उपाय बचत के लिए, सम्पन्नता के लिए उपाय ज्योतिष द्वारा.
Dhan Ki Bachat Ke Liye Jyotishiy Upaay

धन बुनियादी जरुरत होती है सभी के लिए जिसके द्वारा मनुष्य अपनी इच्छाओ को पूरी कर सकता है. इस संसार में सभी धन को पाने के लिए कोशिशे कर रहे है. हर कोई ज्यादा से ज्यादा धन कमाना चाहता है. कुछ लोग कमाते तो अच्छा है पर बचत नहीं कर पाते हैं. उनको इसका कारण पता नहीं चलता है परन्तु वे इसके कारण को जानने के लिए अपने दोस्तों, रिश्तेदारों आदि से बात करते रहते हैं. हमने अक्सर लोगो के मूंह से सुना है की “मै नहीं जानता की मेरा पैसा जाता कहा है ?, इतना कमाने के बावजूद कोई बचत नहीं कर पा रहा हूँ.”
मानव की प्रकृति है की बिना चाहे अगर खर्चा हो जाए तो ये दुःख देता है. 

कई प्रकार के अनचाहे खर्चे जीवन में हो सकते हैं जैसे :

  1. बिमारी में खर्चा अचानक से होता है.
  2. किसी दुर्घटना में खर्चा अचानक से हो जाता है.
  3. किसी विशेष हानि को लाभ में बदलने के लिए अचानक से कोई खर्चा करना पड़ता है.
  4. किसी प्रकार की मरम्मत में भी अचानक से खर्चा करना पड़ सकता है.
  5. कई बार परिवार के सदस्यों की कुछ ख़ास इच्छाओ को पूरी करने के लिए अचानक से खर्चा करना पड़ सकता है.
  6. कई बार सिर्फ दिखावे के लिए भी खर्चा हो जाता है जो की दुःख का कारण बन जाता है.
इस प्रकार अनेक प्रकार के अनचाहे खर्चे आ जाते हैं जिसे रोकना हमारे बस में नहीं होता है. अतः खर्चो का कोई अंत नहीं होता है. कुछ खर्चे तो जरुरी होते है और करने भी चाहिए पर कुछ खर्चे ऐसे होते हैं जो की समस्या उत्पन्न करते हैं.
इस लेख में हम सिर्फ अनचाहे खर्चो को रोकने के विषय में जानेंगे. कैसे हम धन हानि को कम कर सकते हैं, कैसे हम अपने खर्चो को कम कर सकते हैं. कैसे ज्योतिष हमारी मदद कर सकता है.

आइये जानते हैं की कैसे कुंडली के ग्रह हमारी बचत को प्रभावित करते है?

  • कुंडली का बारहवां भाव व्यय का स्थान होता है. अगर कुंडली में बारहवां भाव बिगड़ा हुआ हो या फिर शत्रु ग्रह से दृष्ट हो तो जातक को निश्चित ही बचत करने में बहुत समस्या आती है.
  • अगर कुंडली में व्यय स्थान का स्वामी शत्रु राशि का हो और छठे और आठवे स्थान में बैठा हो तो जातक को बिमारी के कारण धन हानि हो सकती है या फिर किसी के द्वारा धोखे से धन लिया जा सकता है.
  • अगर व्यय स्थान का स्वामी शत्रु का होक साद्झेदारी के भाव में बैठा हो तो किसी सावधान होना चाहिए क्यूंकि किसी करीबी के द्वारा या फिर पार्टनर के द्वारा धोखा हो सकता है.
  • अगर बारहवे भाव में ग्रहण योग बन जाए तो नकरात्मक उर्जा के प्रभाव के कारण धन हानि के योग बनते हैं.
  • कभी कभी शत्रु ग्रहों के प्रभाव से नजर दोष बहुत लगता है जिससे धन हानि होती रहती है.
  • कभी कभी वास्तु दोषों के कारण भी बचत नहीं हो पाती है.
  • कभी कभी पूजा को गलत तरीके से करने के कारण भी धन हानि होती है या फिर बचत नहीं हो पाती है.
  • कभी कभी कमजोर ग्रहों के कारण भी बचत करने में समस्या आती है.
अतः धन सम्बन्धी समाया के लिए अनेको कारण जिम्मेदार हो सकते हैं. अतः ये जरुरी है की हम जरुरी उपायों द्वारा धन को बचाने की कोशिशे करे.

आइये जानते हैं की ज्योतिष और अन्य उपायों द्वारा कैसे धन बचाएं:

ऐसे बहुत से उपाय होते हैं जिन्हें अपना के हम जीवन को सफलता पूर्वक जी सकते हैं –
  1. हम सही पूजा या आराधना करके जीवन को सफल बना सकते हैं.
  2. कुछ विशेष प्रकार के कर्म काण्ड जो की धन को आकर्षित करते है , उन्हें भी अपना सकते हैं.
  3. ऐसे बहुत से यन्त्र और ताबीज भी बनते हैं जिन्हें स्थापित करके नकारात्मक उर्जाव के असर से बचा जा सकता है और धन हानि को रोका जा सकता है.
  4. ज्योतिष से मर्दर्शन लेके सही रत्न धारण करे तो भी लाभ होता है.
  5. अगर वास्तु में कोई दोष हो तो उसे दूर करने के उपाय करना चाहिए.
  6. कुछ अच्छे मंत्रो का जप भी धनाकर्षण में मदद करता है.

आइये जाने कुछ ख़ास और सरल उपाय जिससे परिवार में सम्पन्नता ला सकते हैं?

  • घर और ऑफिस में स्वच्छता का विशेष ध्यान रखे.
  •  घर और ऑफिस में गूगल की धूप जरुर जलाए.
  •  जहाँ आप धन रखते हैं वहां पर लाल कपडा बिछा के थोडा कपूर और कुछ लौंग भी रखे.
  • समय समय पर लक्ष्मी मंत्रो से हवन भी किया करे.
  • घर में और ऑफिस में महिलाओं बच्चियों को विशेष सम्मान दे. ऐसा कहा गया है “यत्र नारीयस्तु पूज्यन्ते, रमन्ते तत्र देवता” अर्थात जहाँ पर नारी की पूजा होती है वहां पर देवताओं का वास हो जाता है.
  • घर में ऑफिस में क्लेश न करे किसी प्रकार का, क्लेश से धन हानि जरुर होती है.
कुंडली दिखाने और किसी भी प्रकार के ज्योतिषीय मार्गदर्शन के लिए संपर्क करे 
best hindi jyotish, best vedic jyotish, online jyotish, free jyotish
Jyotish online

और सम्बंधित लेख पढ़े:

How to protect money through astrology?
धन प्राप्ति के लिए टोटके
लक्ष्मी प्राप्ति के उपाय हिंदी में

धन की बचत के लिए ज्योतिषीय उपाय, जानिए अनचाहे खर्चे के क्या कारण हो सकते हैं, जानिए कुछ ख़ास ज्योतिषीय उपाय बचत के लिए, सम्पन्नता के लिए उपाय ज्योतिष द्वारा.

No comments:

Post a Comment