Suraya grahan Mai Kya kare Jyotish Anusar

ज्योतिष के अनुसार सूर्य ग्रहण का महत्व, सफलता के लिए क्या करें, जानिए विभिन्न राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा, surya grahan ke samay graho ki sthiti ।

वर्ष 2020 का पहला सूर्य ग्रहण 21 जून, रविवार को होगा। आम लोगों में ग्रहण को लेके डर होता है और यह सही है कि अगर हम सूर्य ग्रहण के समय में बाहर जाते हैं तो हमें विभिन्न प्रकार के स्वास्थ्य हानी होने की आशंका बढ़ जाती है ।
surya grahan aur jyotish upaay
Suraya grahan Mai Kya kare Jyotish Anusar
सूर्य ग्रहण एक खगोलीय घटना है जिसमें चंद्रमा पृथ्वी और सूर्य के बीच में आता है और इसलिए सूर्य की किरणें पृथ्वी तक नहीं पहुंच पाती हैं।

2020 में सूर्य ग्रहण की तारीख और समय क्या है?

  • इस वर्ष , 21 जून को सूर्य ग्रहण सुबह 10:06 बजे शुरू होगा और दोपहर 1:47 बजे तक रहेगा। स्थानीय समय के अनुसार अलग अलग शहर में समय का थोडा फर्क पड़ सकता है | ये ग्रहण भारत, अफ्रीक, एशिया, यूरोप और ऑस्ट्रेलिया में दिखाई देगा.
  • सूर्यग्रहण का कुल समय लगभग 3 घंटे 41 मिनट है।
  • सूतक 20 जून, शनिवार की रात्रि 10:00 बजे से शुरू होगा ।

आइये जानते हैं की २१ जून को कोंसे योग बन रहे हैं और उसका असर क्या होगा जीवन पर :
जैसा की आप जानते हैं की २१ जून, रविवार को सूर्य ग्रहण होने वाला है परन्तु इसके साथ ही ग्रहों की स्थिति भी बहुत बदली रहेगी जिसके कारण भी परेशानी बढ़ने के संकेत हैं. 

अगर आप कुंडली देखे २१ तारीख को सुबह १० बजे की तो आप देखेंगे की :
surya grahan predictions in hindi
surya grahan kundli

  1. सूर्य, बुध, चन्द्र और राहू साथ में बैठे है जिसके कारण गोचर में भी सूर्य ग्रहण योग, चन्द्र ग्रहण योग बना हुआ है. 
  2. सूर्य, बुध, चन्द्र, और राहू को मंगल पूर्ण दृष्टि से देख रहा है जो की एक और अशुभ योग बना रहा है. 
  3. इसी के साथ अगर आप देखे तो ग्रहण के समय ६ ग्रह वक्री रहेंगे जो की है बुध, गुरु, शुक्र शनि , राहू और केतु.
  4.  और इसी दिन अमावस्या भी है. 
अतः देखा जाए तो सूर्य ग्रहण के का असर वैश्विक तौर पर और सांसारिक दृष्टि से शुभ नहीं होने वाला है. 

देखिये विडियो सूर्य ग्रहण के समय ग्रहों की स्थिति को जानने के लिए 

परन्तु साधना के लिए एक अति उत्तम योगो का निर्माण कर रहा है. अतः अगर आप सूर्य ग्रहण के समय गुरु मंत्र, इष्ट मंत्र का जप करते हैं तो निश्चित ही अपने बल को बढ़ा पायेंगे और अपने जीवन को सुरक्षित और सफल बना पाएंगे. 

आइए जानते हैं, किन राशियों के लिए यह सूर्य ग्रह अच्छा और बुरा है?

  1. यह सूर्य ग्रहण हिंदू पंचांग के अनुसार मृगशिरा नक्षत्र और मिथुन राशि पर होने जा रहा है।
  2. तो मिथुन राशि के लोगों के लिए, यह सूर्य ग्रहण अच्छा नहीं है।
  3. मेष, कन्या, सिंह, मकर राशि वालों के लिए शुभ रहेगा ।
  4. वृष, कुंभ, धनु, तुला के लिए, प्रभाव मध्यम होंगे।
  5. मिथुन, कर्क, वृश्चिक, मीन राशि वालों के लिए अशुभ रहेगा। सावधानी बरतना अच्छा है और किसी भी कारण से बाहर नहीं जाना चाहिए।

क्या आप जानते हैं कि सूर्य ग्रहण का समय आध्यात्मिक साधनाओं, तंत्र, मन्त्र, यंत्र सिद्धि के लिए बहुत अच्छा और शक्तिशाली समय होता है?

हम सभी को जीवन की समस्याओं को कम करने और जीवन में समृद्धि को आकर्षित करने का एक बहुत अच्छा अवसर मिल रहा है। हर व्यक्ति को इस महत्त्वपूर्ण समय का स्तेमाल करना चाहिए.

आइये जानते हैं कुछ ख़ास उपाय या टोटके सूर्य ग्रहण के लिए जिनको करके हम अपने जीवन को समृद्ध बना सकते हैं::

  1. यह एक सत्य है कि अगर कोई भी सूर्य ग्रहण के समय किसी भी मंत्र का जाप करता है, तो कोई संदेह नहीं कि मंत्र अपनी शक्ति दिखाता है। अतः व्यक्ति आवश्यकता और इच्छानुसार गुरु मंत्र, या विभिन्न देवताओं से संबंधित किसी भी अन्य मंत्र का जाप कर सकता है।
  2. यदि आप जीवन में वित्तीय समस्या का सामना कर रहे हैं तो महालक्ष्मी अष्टकम या श्री सूक्तम का पाठ ग्रहण के समय जितना हो सके उतना करें। यह निश्चित रूप से महालक्ष्मी के आशीर्वाद को आकर्षित करेगा।
  3. कुंडली में ख़राब ग्रहों की सही चीजों की पेशकश भी जीवन की समस्याओं को कम करने में बहुत मदद करती है। कुंडली में ख़राब ग्रहों के बारे में जानने के लिए ज्योतिषी से परामर्श करना अच्छा है।
  4. अगर कोई काला जादू से पीड़ित है तो ग्रहण के समय महाकाली कवच का पाठ करना अच्छा होता है। इससे बहुत मदद मिलेगी।
  5. यदि आप लंबे समय से कोई साधना कर रहे हैं तो इस बार सूर्य ग्रहण में आप उसे जाग्रत कर सकते हैं ।
  6. यदि कोई जन्म कुंडली में कई ग्रहों से पीड़ित है तो नवग्रह शंती मंत्र का जाप करना अच्छा होता है।
  7. भगवान शिव के भक्त केवल शिव पंचाक्षर मंत्र का उच्चारण कर सकते हैं-ओम नमः शिवाय
ग्रहण के बाद, यदि पास में कोई बहने वाली नदी है, तो पवित्र स्नान करना और क्षमता के अनुसार चीजों का दान करना अच्छा है।

क्या ना करे सूर्य ग्रहण के समय?

  • प्रेग्नेंट लेडीज को सूर्य ग्रहण के समय बाहर नहीं जाना चाहिए।
  • ग्रहण के समय न कुछ खाएं न पिएं।
  • इस दौरान सोना अच्छा नहीं है और ग्रैहण समय के दौरान यौन संबंध बनाने से भी बचें।
  • ग्रहण की अवधि के दौरान लड़ाई और बहस न करें अन्यथा यह दुर्भाग्य लाएगा।
  • किसी से लड़ाई मत कीजिये और किसी के लिए बुरा मत सोचिये |
जानिए आपके कुंडली क्या कहती है आपके बारे में, कौन से ग्रह परेशानी पैदा कर रहे हैं जीवन में, क्या करे सफलता के लिए ज्योतिष अनुसार, कौन सा रत्न भाग्योदय करेगा.



Surya grahan mai kya kare, kaise kare bhagyoday surya grahan mai, सूर्य ग्रहण में क्या ख़ास करे जीवन को बाधाओं से मुक्त करने के लिए?, किस राशि के लिए शुभ और अशुभ रहेगा जानिए ज्योतिष से.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें