Suar Ke Daant Ke Totke

Jyotish Me Suar Ke Daant Ka Prayog, pig teeth locket benefits, Kaise banate hai suar ke daant ka tabij, क्या सूअर के दांत का प्रयोग अंधविश्वास है.

सूअर को साधारणतः हीन दृष्टि से देखा जाता है परन्तु यही सूअर पूजनीय भी है क्यूंकि भगवान् विष्णु ने वराह रूप में सूअर के रूप में अवतार लिया था और धरती को पाताल लोक से निकाला था. और वैसे भी किसी जीव से घृणा करना इश्वर का अपमान है , हर कृति इस विश्व में भगवान् की रचना है.
suar ke daant ke prayog in jyotish
Suar Ke Daant Ke Totke

सूअर दांत के प्रयोग के बारे में आगे बताने से पहले कुछ महत्त्वपूर्ण बाते जानना चाहिए :

  1. इस प्रयोग में सिर्फ जंगली सूअर के दांत का प्रयोग होता है.
  2. किसी सूअर को जबरदस्त मार के प्रयोग में लाया गया दांत काम नहीं आता है अतः किसी भी प्रकार के हिंसा से बचे और दुसरो को भी सचेत करे.
  3. वैदिक ज्योतिष में सूअर के दांत के प्रयोग के बारे में उल्लेख नहीं मिलता है.
  4. इसका सूअर के दांत के प्रयोग को महुरत देख के ही करना चाहिए.
  5. कई लोगो का मनना है की सुकर दन्त का प्रयोग अंधविश्वास है परन्तु प्रयोग करके इसे जांचा जा सकता है , ऐसे अनेको लोग है जो अपने बच्चो को इसका ताबीज पहनाते हैं और कुछ लोग खुद भी पहनते है और इसके फायदे को महसूस करते हैं. किसी भी टोटके की सफलता श्रद्धा और विश्वास पे निर्भर करता है.
  6. सूअर का दांत रखना फायदेमंद होगा की नहीं ये जानने के लिए एक बार ज्योतिष से कुंडली दिखवा देना चाहिए. एक अच्छा ज्योतिष आपको सलाह दे सकता है की आपके लिए कौनसा प्रयोग फायदेमंद साबित होगा.
शूकर दन्त ताबीज के प्रयोग || Shukar dant tabiz Ke totke || कैसे करे सूअर के दांत का प्रयोग मनोकामना पूर्ति के लिए.


सूअर को वराह भी कहा जाता है और पशु तंत्र में इसके बारे में बहुत प्रयोग मिलते हैं. जिस प्रकार भगवान् विष्णु ने वराह का रूप लेके धरती को पाताल से निकाल के उसकी रक्षा की थी उसी प्रकार इनके दांत का प्रयोग प्रयोगकर्ता को विभिन्न प्रकार के परेशानियों से बचाता है.
सूअर या शुकर एक शक्तिशाली प्राणी होता है और तब तक किसी को परेशान नहीं करता जबतक की कोई उसपे आक्रमण नहीं करता है. देखा जाए तो ये मल/विष्ठा खा के धरती को प्रदुषण से मुक्त करता है और इसी में खुश रहता है.
घर में सुख शांति के लिए टोटके

शुकर दन्त के प्रयोग के फायदे:

सुअर के दांत को प्रयोग करने से अनेको प्रकार के फायदों का उल्लेख पढने को मिलता है जैसे -----------
  • इसे धारण करने से भय से मुक्ति मिलती है.
  • जातक की उपरी हवा से रक्षा होती है.
  • शुकर दन्त के प्रयोग से आत्मशक्ति में वृद्धि महसूस किया जाता है.
  • शत्रु को दबाने में इसका उपयोग किया जाता है.
  • धन की कमी को दूर करने में भी इसका प्रयोग किया जाता है.
  • अगर घर में किसी शैतानी शक्ति के कारण अशांति, लड़ाई झगडे हो रहे हो तो ऐसे में सूअर का दांत का प्रयोग होता है.
  • तंत्र बंधन से मुक्ति के लिए भी इसका प्रयोग होता है.
  • और कुछ जगह वशीकरण में भी इसका उपयोग की जानकारी मिलती है.

शुकर दन्त प्रयोग में आने वाले मन्त्र का प्रयोग:

“ॐ ह्रीं क्लीं श्रीं वाराह-दन्ताय भैरवाय नमः।”
सूअर के दांत के टोटके करने से पहले अच्छा ये रहेगा की इस मंत्र को किसी सिद्ध महुरत में जप के सिद्ध कर लिए जाए ताकि प्रयोग सफल हो सके.

शूकर दन्त ताबीज के प्रयोग || Shukar dant tabiz Ke totke || कैसे करे सूअर के दांत का प्रयोग मनोकामना पूर्ति के लिए.

आइये जानते हैं अब सुअर दांत के कुछ प्रचलित प्रयोग:







क्या वशीकरण में सूअर के दांत का प्रयोग होता है?

ऐसा गूगल में कई वेबसाइट पर दिया गया है परन्तु भगवान् ने वराह रूप सिर्फ बचाने के लिए लिया था ना की किसी को वश में करने के लिए. अतः मेरा मानना है की हमे वराह दन्त का प्रयोग रक्षात्मक करना चाहिए ना की वशीकरण साधना के लिए.
इसमें जो ध्यान रखने वाली बात है वो ये की अगर कोई हमारे प्रेमी या प्रेमिका पर काले जादू का प्रयोग कर रहा हो तो उसे बचाने के लिए सूअर के दांत के ताबीज का प्रयोग कर सकते हैं.

जंगली सूअर का दांत कहा से प्राप्त हो सकता है?

ये एक महत्त्वपूर्ण प्रश्न है और इसका जवाब मै यही दे सकता हूँ की ये आसानी से प्राप्त नहीं होता है, अगर आपके पहचान में कोई ऐसा है जो की जंगली सुअरों के क्षेत्र से सम्बन्ध रखता है तो ही आप उनसे ये प्राप्त कर सकते हैं अन्यथा बाजार में लोग दुसरे जानवरों के दांत या फिर सहरी सुअरों के दांत जंगली बोलके बेच देते हैं.
उम्मीद है ये लेख सूअर दन्त प्रयोग से जुड़ा आपके बहुत से सवालों के हल देगा.
अगर आप कुंडली अनुसार उपाय जानना चाहते हैं तो निःसंकोच होक ज्योतिष से संपर्क करे.



pig teeth locket benefits, Kaise banate hai suar ke daant ka tabij, is it superstitious? , Jyotish Me Suar Ke Daant Ka Prayog.

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें