Kaise Dur Kare Hospital Ke Vastu Dosho Ko

कैसे दूर करे हॉस्पिटल के वास्तु दोषों को, जानिए कुछ खास तरीके हॉस्पिटल को नकारात्मक ऊर्जाओं से बचाने के.
हम कितना भी ध्यान रखे पर १००% वास्तु के सिद्धांतो के हिसाब से निर्माण करना संभव नहीं होता है. कुछ न कुछ दोष तो बन ही जाता है जिसके कारण कुछ न कुछ परेशानियां उत्पन्न होती है.
परन्तु ऐसे में ज्यादा डरने की जरुरत नहीं है और साथ ही अगर क्लिनिक, हॉस्पिटल, नर्सिंग होम आदि में कोई वास्तु दोष रह गया हो.
अगर हॉस्पिटल में कार्यो में बहुत बाधा उत्पन्न हो रही हो, कर्मचारी संतुष्ट नहीं हो रहे हो सब व्यवस्थाओं के बावजूद, तो इसमें कोई शक नहीं की वहां पर कोई दोष है. ऐसे में ज्योतिष से परामर्श लेके उपाय करने से लाभ होता है.
hospital vastu dosh ka samadhan jyotish dwara
Kaise Dur Kare Hospital Ke Vastu Dosho Ko

अगर आपको लगता है की आपके हॉस्पिटल को काले जादू से खतरा है तो भी घबराने की जरुरत नहीं है, कुछ उपाय करके आप अपने को बचा सकते हैं.
हम सिद्ध यंत्रो का प्रयोग करके वास्तु दोष को दूर कर सकते हैं.
हम फेंगशुई के वस्तुओ का प्रयोग करके वास्तु दोष दूर कर सकते हैं.
हम घंटियों का प्रयोग करके नकारात्मक उर्जा को हटा सकते हैं.
हम कुछ पौधों का प्रयोग करके सकारात्मक उर्जा को बढ़ा सकते हैं.
हम फव्वारों का प्रयोग कर के उर्जा को व्यवस्थित कर सकते हैं.
हम विभिन्न मंत्रो के पाठ करके भी दोषों को दूर कर सकते हैं.


आइये जानते हैं कुछ आसान उपाय हॉस्पिटल/क्लिनिक आदि से वास्तु दोषों को दूर करने का :

  1. सबसे पहले तो ये जान लीजिये की अपने काम की जगह को साफ रखे, साफ –सफाई का कोई और विकल्प नहीं होता है.
  2. अगर कोई कमरा गलत दिशा में बन गया है तो उसके दोष को हटाने के लिए हम “सिद्ध दिक् दोष नाशक यन्त्र ”का प्रयोग कर सकते हैं.
  3. कुछ ऐसी जगह है जहाँ हॉस्पिटल को काले जादू से भी खतरा हो सकता है ऐसे में “सिद्ध भैरव यन्त्र”, “सिद्ध महाकाली यन्त्र” या फिर सिद्ध दुर्गा यन्त्र लगा कर जगह हो सुरक्षित किया जा सकता है.
  4. एक और अच्छा शक्तिशाली यन्त्र है जिसे बीस यन्त्र कहते हैं, “सिद्ध बीसा यन्त्र” को स्थापित करके भी जगह को सुरक्षित किया जा सकता है.
  5. कामकाज के जगह को सकारात्मक ऊर्जा से भरने के लिए “सिद्ध श्री यन्त्र” का प्रयोग भी बहुत शुभ होता है.
  6. “सिद्ध स्वस्तिक यन्त्र” का निर्माण भी बहुत अच्छा होता है जिसके उपयोग से वास्तु दोषों को दूर किया जा सकता है.
  7. सुन्दरकाण्ड का पाठ, जड़ी-बूटियों से हवन करना समय समय पर भी एक अच्छा तरीका है वास्तु दोषों को दूर करने का.
अगर आप कोई स्वास्थ्य सेवा प्रदान कर रहे है और समस्या से ग्रस्त है तो कोई भी उपाय अपनाने से पहले ज्योतिष को जन्म पत्रिका भी दिखाना चाहिए, कभी ऐसा भी होता है की वास्तु दोष तो नहीं होते परन्तु ग्रहों की प्रतिकूल स्थिति के कारण समस्या जीवन में आने लगती है.

ज्योतिष से परामर्श और सिद्ध यंत्रो के लिए निचे क्लिक करे :
hospital vastu dosho ka samadhan hindi me online
vastu dosha samadhan
स्वस्तिक द्वारा समस्या का समाधान 

कैसे दूर करे हॉस्पिटल के वास्तु दोषों को, जानिए कुछ खास तरीके हॉस्पिटल को नकारात्मक ऊर्जाओं से बचाने के.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें