Somwati Amavasya aur Shani Jayanti Ke Din Kya Kare Safalta Ke liye In Hindi

Somwati Amavasya aur Shani Jayanti Ke Din Kya Kare Safalta Ke liye In Hindi, शनि जयंती और सोमवती अमावस्या है 18 मई २०१५ को , क्या करे सफलता के लिए ?, क्या है महत्तव इस दिन का. .

जैसा की नाम से ही पता चलता है की शनि जयंती मतलब शनि देव की पूजा करने का विशेष दिन, इस दिन शनि साड़े साती से पीड़ित लोग, कुंडली में ख़राब शनि से पीड़ित लोग शनि देव को प्रसन्न करने के लिए पूजा कर सकते हैं और निर्विघ्न जीवन जी सकते हैं.
shani jayanti aur somwati amavsya saath me
Somwati Amavasya aur Shani Jayanti Ke Din Kya Kare Safalta Ke liye In Hindi

इसी प्रकार जब अमावस्या सोमवार को पड़े तो उस दिन को कहते हैं सोमवती अमावस्या. इस बार भाग्य से दोनों दिन एक ही दिन पड़ रहे हैं. सोमवार 18 मई २०१५ को अमावस्या भी है और शनि जयंती भी है. अतः साधको और लोगो के लिए ये दिन बहुत शुभ है.

इस दिन पितृ दोष, कालसर्प दोष, ग्रहण दोष, प्रेत दोष आदि से छुटकारा पाया जा सकता है शिव पूजा के द्वारा.
दो महान योग के साथ में होने से व्यक्ति को इस दिन का महत्तव १०० गुना ज्यादा बढ़ गया है. अतः ये मौका किसी को भी नहीं छोड़ना चाहिए.

शनि जयंती और सोमवती अमावस्या का साथ में होने से महत्तव:

वास्तव में जब ये दिन अलग अलग आते हैं तब भी लोग बहुत फायदा उठाते हैं परन्तु इस बार तो ये साथ में आ रहे हैं अतः ये दिन अपने आप में बहुत महत्त्वपूर्ण हो गया है.
  1. इस दिन भक्त शनि देव की पूजा करके उनको प्रसन्न कर सकते हैं.
  2. सोमवती अमावस्या शिव पूजा के लिए महत्वपूर्ण दिन है , इस दिन पूजा से हम पापों से मुक्त हो सकते हैं.
  3. इस दिन पितृ दोष निवारण पूजा भी होती है.
  4. अमावस्या को कई प्रकार के उतारे किये जा सकते हैं नकारात्मक उर्जाओं से बचने के लिए.
  5. चन्द्र शांति पूजा भी इस दिन लाभदायक रहती है.
  6. जो लोग शनि की साड़े साती से परेशान है वो भी इस दिन पूजा करके कृपा प्राप्त कर सकते हैं.
  7. साधक गण इष्ट साधना करके लाभ उठा सकते हैं.
हिन्दू पौराणिक कथाओ के अनुसार जो लोग शिव पूजा करते हैं उनका शनि कुछ नहीं बिगाड़ सकता है अतः इस दिन शिव पूजा अवश्य करना चाहिए.

क्या करे सफलता के लिए शनि जयंती और सोमवती अमावस्या के दिन?

यहाँ कुछ टोटके और कुछ तरीके बताये जा रहे हैं जिनका प्रयोग जनसाधारण लोग करके लाभ उठा सकते हैं-
  1. अगर कोई काले जादू से परेशान है , नजर दोष से परेशान है तो उन्हें अमावस्या को उतरा करना चाहिए ज्योतिष से सलाह ले के या फिर किसी जानकार से सलाह ले के.
  2. इस दिन घर और ऑफिस में राय की धुनी दे , इससे नकारात्मकता से बचाव होगा.
  3. सुबह जल्दी उठ के शनि और शिव पूजा करे.
  4. इस दिन शनि और शिव मंत्रो का जप करना लाभ दायक होगा.
  5. इस दिन शनि देव का अभिषेक तेल से करे और तेल का दान किसी मंदिर में कर दे.
  6. अगर किसी के कुंडली में चन्द्रमा ख़राब हो तो उसे चन्द्र से सम्बंधित चीजो का दान करना चाहिए और चंद्र शांति पूजा करना चाहिए.
  7. जो लोग पितृ दोष, कालसर्प दोष, ग्रहण दोष से ग्रस्त है वो भी  पितृ शांति पूजा, तर्पण प्रयोग, शिव पूजा करके लाभ उठा सकते हैं.

क्या न करे शनि जयंती और सोमवती अमावस्या के दिन ?

  • इस दिन किसी नशीले पदार्थ और मदिरा का सेवन न करें, और 17 , 18 दोनों दिन बुरे कार्य न करे.
  • किसी को धोखा न दे, किसी से झूठ न बोले.
  • उन जगहों पर न जाएँ जहा पर नकारात्मकता हो सकती है.
  • उन लोगो के पास न जाये जो आपको नुक्सान पंहुचा सकते हैं.
  • जीवन को सुगम बनाएं, जीवन को सरल बनाए, प्राप्त करे कृपा आराधना द्वारा.
और सम्बंधित लेख पढ़े:
Click Here To Read in English about Shani Jayanti and Somwati Amavasya together

Somwati Amavasya aur Shani Jayanti Ke Din Kya Kare Safalta Ke liye In Hindi, शनि जयंती और सोमवती अमावस्या है 18 मई २०१५ को , क्या करे सफलता के लिए ?, क्या है महत्तव इस दिन का .

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें