Skip to main content

Posts

Showing posts from April, 2014

Jyoitish Sewaye Online || ज्योतिष सेवा ऑनलाइन

Jyotish in Hindi, कुंडली का अध्ययन हिंदी में, ज्योतिष से संपर्क के लिए यहाँ क्लिक करे>> , .
ज्योतिष सेवा ऑनलाइन: एक अच्छा ज्योतिष कुंडली को देखके जातक का मार्गदर्शन कर सकता है. कुंडली मे ग्रह विभिन्न भावों मे बैठे रहते हैं और जातक के जीवन मे प्रभाव उत्पन्न करते हैं. अगर कोई व्यक्ति जीवन मे  समस्या से ग्रस्त है तो इसका मतलब है की उसके जीवन इस समय बुरे ग्रहों का प्रभाव चल रहा है और यदि कोई व्यक्ति सफलता प्राप्त कर रहा है तो इसका मतलब है की इस समय उसके जीवन मे शुभ ग्रहों का प्रभाव है.  विभिन्न ग्रहों की दशा-अन्तर्दशा मे व्यक्ति अलग अलग प्रकार के प्रभावों से गुजरता है जिसके बारे एक अच्छा ज्योतिष जानकारी दे सकता है.  ग्रहों का असर व्यक्ति के कामकाजी जीवन पर पड़ता है.
ग्रहों का असर व्यक्ति के व्यक्तिगत जीवन पर पड़ता है.
सितारों का असर व्यक्ति के सामाजिक जीवन पर पड़ता है.
व्यक्ति के पढ़ाई –लिखाई , वैवाहिक जीवन, प्रेम जीवन, स्वास्थ्य आदि पर ग्रह – सितारों का असर पूरा पड़ता है.  आप “www.jyotishsansar.com” माध्यम से पा सकते हैं कुछ ख़ास ज्योतिषीय सेवाए ऑनलाइन :जानिए क्या कहती है आपकी कुंडली आ…

Totkay For Successful Saturday

टोटके शनिवार के लिए, कैसे करे शनिवार को सफल, क्या करे शनिवार को , how to make  Saturday successful, FREE best totkay for Saturday , tips for success,  शनिवार  के लिए टोटके।

शनिवार 1 कठोर दिन है क्यूंकि इस दिन का स्वामी है शनि. शनि ग्रह के कारण लोग इस दिन से डरते हैं . परन्तु ये उन लोगो के लिए अच्छा दिन है जिनके कुंडली में शनि अच्छा प्रभाव उत्पन्न कर रहा है. 
परन्तु जिनके कुंडली में शनि ख़राब है उन लोगो को इस दिन नुकसान उठाना पड़ता है. अतः इस दिन से लोग तोडा भयभीत रहते हैं. शनि देव को न्याय प्रिय है और ये व्यक्ति को उसके किये का फल प्रदान करते हैं. जो लोग सात्विक हैं और सही आचरण करते हैं उनको शनि से बिलकुल भी भयभीत होने की जरुरत नहीं है. 
शनि को सावधानी: शनि को पश्चिम दिशा की यात्रा नहीं करना चाहिए अन्यथा हानि की संभावना बनती है और व्यक्ति परेशान होता है. व्यापार या व्यक्तिगत कार्यो में बाधा उत्पन्न होती है.
शनिवार को करने योग्य टोटके:

Totkay For Successful Friday

टोटके शुक्रवार के लिए, कैसे करे शुक्रवार को सफल, क्या करे शुक्रवार को , how to make  Friday successful, FREE best totkay for Friday , tips for success.

शुक्रवार दिन है देवी लक्ष्मी के कृपा को प्राप्त करने का. इस दिन पर शुक्र ग्रह का आधिपत्य होता है इसीलिए इस दिन धन को आकर्षित करने के टोटके दिए जाते हैं, प्रेम संबंधो में सुधार के लिए टोटके किये जाते हैं. शुक्र व्यक्ति को एक बेहतरीन जीवन सुख सुविधा से परिपूर्ण देने में सक्षम है इसीलिए लोग शुक्र ग्रह की शक्ति को प्राप्त करने के लिए लालाइत रहते हैं. 
शुक्र भौतिक जीवन का भी प्रतिक है , जिन लोगो का शुक्र बहुत मजबूत होता है उनको जीवन में किसी चीज की कमि नहीं रहती है. ऐसे लोग समाज में भी आकर्षण का केंद्र बने रहते हैं. 
शुक्रवार के लिए सावधानी:
वैदिक ज्योतिष के हिसाब से पश्चिम दिशा की यात्रा शुक्रवार को वर्जित है अन्यथा हानि की आशंका रहती है. इसी कारण ज्ञानी लोग इस दिन इस दिशा की यात्रा को टालते हैं. 
आइये देखते हैं कुछ टोटके जो की शुक्रवार को किये जा सकते हैं भाग्योदय के लिए:

Totkay For Successful Thursday

टोटके गुरुवार के लिए, कैसे करे गुरुवार को सफल, क्या करे गुरुवार को , how to make  Thursday successful, FREE best totkay for Thursday , tips for success.

गुरुवार सप्ताह का सबसे महत्त्वपूर्ण दिन है क्यूंकि ये गुरु ग्रह का दिन हैं. इंग्लिश में गुरु को Jupiter भी कहते हैं. ये दिन गुरुओं को समर्पित है इसीलिए हम देखते हैं की इस दिन सिद्धो की समाधि में, फकीरों की समाधि आधी में लोगो की भीड़ लगी रहती है. 
गुरुवार के दिन हम उन लोगो को श्रद्धांजलि देते हैं जिन्होंने अपने जीवन के परमोच्च लक्ष्य को प्राप्त किया हो. ये दिन हैं किसी विशेष कार्य को प्रारभ करने का, विद्या आरंभ करने का आदि. गुरुवार के दिन सावधानी: इस दिन दक्षिण दिशा की यात्रा नहीं करनी चाहिए अन्यथा हानि होने की संभावनाए होती है. और अगर करना पड़े तो विशेष सावधानी रखना चाहिए.
चलिए देखते हैं की गुरुवार के दिन कौन से टोटके किये जा सकते है:अगर पुखराज या सुनेला धारण करना हो तो गुरुवार से अच्छा कोई दिन नहीं होता है. इस दिन स्वर्ण खरीदने का भी दिन होता है और इस दिन का ख़रीदा हुआ सोना शुभ फल देता है.अगर विवाह में विलम्ब हो रहा हो गुरु के कारण तो इ…

Totkay For Successful Wednesday

टोटके बुधवार के लिए, कैसे करे बुधवार को सफल, क्या करे बुधवार को , how to make  Wednesday,  FREE successful, best totkay for Wednesday, tips for success.

बुधवार के दिन पर बुध ग्रह का प्रभाव रहता है और इस दिन विशेष रूप से भगवान् गणेशजी की पूजा होती है. बुध ग्रह पढाई , दिमागी शक्ति, वाक् शक्ति, कूटनीति आदि के लिए जिम्मेदार होता है. 
बुधवार के दिन सावधानी: इस दिन वैदिक ज्योतिष के हिसाब से उत्तर या North दिशा की यात्रा नहीं करना चाहिए. 
यहाँ मैं कुछ टोटके दे रहा हूँ जो की आपको बुधवार को सफल बनाने में आपकी मदद करेगा:
1.अगर किसी ज्योतिष ने आपको पन्ना पहनने की सलाह दी है तो आपको बुधवार के दिन इसे धारण करना चाहिए, इससे आपको परिणाम अच्छे मिलेंगे. 2.अगर बोलने मे किसी को परेशानी आती हो तो अच्छा है की बुधवार के दिन भगवन गणेश की अराधना करने से लाभ होता है. 3.अगर कुंडली में बुध नीच का हो या शत्रु का हो तो बुधवार के दिन बुध के चीजों का दान और शांति पूजा लाभदायक होता है. 4.बुधवार के दिन व्यापार आदि को शुरू करना भी लाभदायक होता है अगर कुंडली में बुध अच्छा है. 5.गाय को हरी धास खिला के उनके पीठ पर हाथ फेरन…

Totkay For Successful Tuesday

टोटके मंगलवार के लिए, कैसे करे मंगलवार को सफल, क्या करे Tuesday को , how to make Tuesday successful, FREE best totkay for Tuesday in Hindi, tips for success.

मंगलवार दिन पर मंगल ग्रह का प्रभाव होता है, इसी कारण इसका सम्बन्ध ऊर्जा, रचनात्मकता और शक्ति से है. कुंडली में मंगल अगर अच्छा हो तो मंगलवार व्यक्ति के लिए किस्मत का दरवाजा खोल देती है. इस दिन का प्रयोग मंगल शांति पूजा, अंगारक शांति पूजा , मंगल दोष निवारण आदि के लिए भी किया जाता है.
क्या सावधानी रखें :
वैदिक ज्योतिष के हिसाब से इस दिन उत्तर की और यात्रा नहीं करना चाहिए. अतः मंगलवार को उत्तर की और की यात्रा नहीं करना चाहिए.
मंगलवार के लिए कुछ विशेष टोटके:
1. अगर आप मांगलिक दोष से ग्रस्त है और इसके कारण विवाह में समस्याए आ रही है या फिर वैवाहिक जीवन में समस्या आ रही है तो आपको मंगलवार को मिठाईयां बांटनी चाहिए इससे आपको शुभ परिणाम मिलेगा. 2. अगर मंगल कुंडली में गलत परिणाम दे रहा है तो मंगलवार को गाय को गुड खिलने से रहत मिलती है. 3. मंगल अगर शुभ है और कमजोर है तो मूंगा धारण करना लाभदायक होता है. 4.  ताम्बे का कडा या ताम्बे की रिंग पहने के लिए …

Totkay For Successful Monday

टोटके सोमवार के लिए, कैसे करे सोमवार को सफल, क्या करे Monday को , how to make Monday  successful, FREE best totkay for Monday, tips for success.

एक ऊर्जा से परिपूर्ण दिन होता है सोमवार क्यूंकि हफ्ते की सुरुआत होती है इस दिन से. ये सब की इच्छा रहती है की शुरुआत अच्छी होनी चाहिए जिससे सप्ताह भर उसकी ऊर्जा बनी रहती है.

सोमवार उन लोगो के लिए भाग्यशाली है जिनके कुंडली में चन्द्रमा शुभ का है. इस दिन का स्वामी है चन्द्र जो की अति चंचल ग्रह में आता है.

ये दिन शिव पूजा के लिए शुभ मन जाता है इसी कारण देश भर में शिव मंदिरों में इस दिन भक्तो की भीड़ नजर आती है. सोमवार को शिव पूजा से धन, धान्य की वृद्धि होती है और सुखी और संपन्न जीवन की प्राप्ति होती है.

सोमवार के लिए सावधानी :
वैदिक ज्योतिष के हिसाब से इस दिन पूर्व दिशा कि यात्रा वर्जित है अतः अगर आप इस दिन EAST डायरेक्शन की यात्रा न करे तो शुभ होगा और अगर करना पड़े तो सावधानी बरतनी चाहिए.

सोमवार में करने योग्य टोटके:
1.अगर आपको कमाई में और बचत में समस्या आ रही है तो सोमवार को एक सिद्ध मोती की अंगूठी को अगर धारण किया जाए तो निश्चित ही सफलता मिलती है.

Totkay For Successful Sunday

टोटके रविवार के लिए, कैसे करे रविवार को सफल, क्या करे sunday को , how to make Sunday successful, FREE best totkay for Sunday, tips for success.

Sunday  या रविवार सब के लिए ख़ास होता है क्यूंकि ये एक छुट्टी का दिन है. इस दिन लोग आराम करना चाहते हैं, अपने परिवार के सदस्यों के साथ मजा और मस्ती करना चाहते हैं. रविवार होता है फिर से अपने आपको तैयार करने के लिए ताकि अगले हफ्ते अच्छी तरह से काम कर सके.
ज्योतिष के हिसाब से सूर्य रविवार का स्वामी है और ये दिन उन लोगो के लिए भाग्यशाली होता है जिनके कुंडली में सूर्य अच्छा है. इस दिन भगवान् सूर्य की पूजा होती है.
सूर्य पूजा से मान-सम्मान और धन की बढोत्तरी होती है, व्यक्ति खूब तरक्की करता है.

रविवार के लिए सावधानी: इस दिन पश्चिम दिशा की यात्रा नहीं की जाती है वैदिक ज्योतिष के हिसाब से. अतः अगर आप इस दिशा की यात्रा को इस दिन ताल सके तो अच्छा होगा.

यहाँ मैं कुछ दे रहा हूँ जिसका प्रयोग आप करके अपने रविवार को शुभ और शक्तिशाली बना सकते हैं:
अगर आपके कुंडली में सूर्य ख़राब है, शत्रु का है या नीच का है तो इस दिन किसी भी नए कार्य को करने से बचे.अगर आपको नौक…

Number 9 Astrology In Hindi

अंक 9 का रहस्य, अंक नौ वाले व्यक्तियों के गुण, अंक 9 के रत्न और धातु, ज्योतिष द्वारा समाधान, number    9 astrology in Hindi,  characteristics of Number 9.

अंक 9 का सम्बन्ध मंगल ग्रह से है अतः ये इसका स्वामी ग्रह है. अगर आपका जन्म महीने की 9, 18 या 27 को हुआ है तो आपका शुभ अंक है 9. 
मंगल भी एक कठोर ग्रह है परन्तु ऊर्जा और रचनात्मकता का भी प्रतिक है. जिसका मंगल शक्तिशाली होता है ऐसे जातक बहुत क्रोधी, ताकतवर और साहसी भी होते हैं. परन्तु ये सब होते हुए भी ऐसे लोगो का जीवन भी संघर्षमय देखा गया है. 
9 अंक वाले लोगो को अधीन करना बहुत टेढ़ी खीर होती है. ये स्वतंत्र होक काम करना पसंद करते हैं. ऐसे लोग अगर फ़ौज में हो या अन्य किसी रक्षात्मक सेवा में हो तो बहुत अच्छा प्रदर्शन करते हैं. 
अगर इनकी ऊर्जा का सही स्तेमाल नहीं किया गया तो ये अपने खुद के लिए हानिकारक सिद्ध हो जाते हैं अर्थात गलत रास्ते पर चल पड़ते हैं. 
क्रोध के कारण ऐसे लोग रक्त सम्बन्धी विकार से ग्रस्त हो जाते हैं, पित्त दोष भी प्रकट होता है. ये लोग जिद्दी भी होते हैं जिसके कारण समाज में अनेक लोग इनके शत्रु हो जाते हैं और बहार क्या घर …

Number 8 Astrology In Hindi

अंक 8 का रहस्य, अंक आठ वाले व्यक्तियों के गुण, अंक 8 के रत्न और धातु, ज्योतिष द्वारा समाधान, number    8 astrology in Hindi,  characteristics of Number 8. 

अंक 8 का स्वामी ग्रह है शनि जिसे अंग्रेजी में Saturn भी कहते हैं. अंक आठ में उन लोगो को शामिल करेंगे जिनका जन्म महीने के 8, 17 , 26 को हुआ हो. 
शनि एक क्रूर ग्रह है परन्तु सात्विक है, इसके प्रभाव के कारण जातक थोडा वैरागी जैसा रहता है. ऐसे लोग एकांत प्रिय होते हैं परन्तु सेवाभावी होते हैं. ये अगर किसी के यहाँ नौकरी करते हैं तो पूरी निष्ठा और ईमानदारी से करते हैं, ये अगर किसी से मित्रता करते हैं तो उसे पूरा निभाते हैं और अगर शत्रुता कर ले तो भी कोई कसार नहीं छोड़ते.
अंक 8 वाले लोगो को अन्याय पसंद नहीं होता , इसी कारण ये लग बहुत जगह विवाद का कारण भी बन जाते हैं. लोग इनके बारे में ग़लतफ़हमी में ही रहते हैं. 
आने व्यवहार के कारण अंक आठ के लोग दुखी भी रहते हैं. इनको ऐसा लगता है की कोई इनका साथ नहीं देता. परन्तु ये भी एक सच्चाई है की ऐसे लोग अपनी भावनाओं को भी सही ढंग से प्रकट नहीं कर पाते हैं क्यूंकि इनको कही न कही झिझक होती ही है. 
ये अंक …

Number 7 Astrology in Hindi

अंक 7 का रहस्य, अंक सात वाले व्यक्तियों के गुण, अंक 7 के रत्न और धातु, ज्योतिष द्वारा समाधान, number    7 astrology in Hindi,  characteristics of Number 7.

केतु ग्रह का अगर प्रभाव देखना है तो अंक 7 वाले व्यक्तियों का अध्धयन करना चाहिए क्यूंकि अंक सात का स्वामी ग्रह केतु है. इंग्लिश में इसे नेप्चून कहते हैं. 
अंक 7 में वो लोग आते हैं जिनका जन्म महीने की 7, 16 या 25 तारीख को हुआ है. अंक सात वालो का मित्र अंक 2, 11,20 ,29, 7, 16 और 25 है. 
अंक 7 वालो के जीवन में अकस्मात् परिवर्तन होता है और ये लोग थोड़े उग्र भी होते हैं. केतु के प्रभाव के कारण ऐसे लोग भ्रमणशील भी रहते हैं. बैठना इनको पसंद नहीं. कुछ न कुछ खोज करते रहने की भी इनको आदत होती है. 
एक अच्छे दार्शनिक के रूप में भी अंक 7 वाले लोग गिने जाते हैं. सामाजिक सेवा कार्यों में भी इनका बहुत समय व्यतीत होता है. 
अंक 7 भी एक रहस्यमयी अंक है और इसके प्रभाव वाले व्यक्तियों के बारे में भी सब कुछ जानना मुश्किल होता है. ये कब क्या करेंगे या यु कहे की इनके साथ कब क्या होगा , ये कहना मुश्किल है.
ऐसे लोग अगर आध्यात्मिक मार्ग में जाएँ तो बहुत ऊँचे ज…

Number 6 Astrology in Hindi

अंक 6 का रहस्य, अंक छह वाले व्यक्तियों के गुण, अंक 6 के रत्न और धातु, ज्योतिष द्वारा समाधान, number  6  astrology in Hindi,  characteristics of Number 6.

अगर हम बात करे एक सम्मोहकारी अंक की तो अंक 6 की बात जरुर होगी, अंक छह का स्वामी ग्रह है शुक्र जो की सबसे चमकीला ग्रह है. अंक छह में उन लोगो को लेना चाहिए जिनका जन्म महीने की 6, 15, या 24 तारीख को हुआ हो. अंक 6 वाले जातक विपरीत लिंग को बहुत आसानी से आकर्षित कर लेते हैं. शुक्र ग्रह की शक्ति के कारण इनके व्यक्तित्त्व में आकर्षण करने की शक्ति प्राकृतिक रूप से होती है.
परन्तु कुछ लोगो में ये शक्ति अधिक और कुछ में कम होती है. इसका कारण होता है कुंडली में शुक्र का स्थान और शक्ति.
ये लोग रोमांस में , प्रेम के मामलो में बहुत सफल होते दिखाई देते हैं. परन्तु इनका प्रेम वास्तविक होता है न की सिर्फ काम वासना.
ऐसे लोग कला जगत में भी खूब नाम करते हैं. ये मित्रता और शत्रुता दोनों ही खूब करना जानते हैं. अंक 6 वाले लोगो के मित्र अंक हैं 3, 6 और 9.
प्रस्तुति कारण करना इनको खूब आता है, सजना और सजाना इनको पसंद होता है. इनके लिए भाग्यशाली रंग गुलाबी है और हल…

Number 5 Astrology In Hindi

अंक 5 का रहस्य, अंक पांच वाले व्यक्तियों के गुण, अंक 5 के रत्न और धातु, ज्योतिष द्वारा समाधान, number  5  astrology in Hindi,  characteristics of Number 5.

अंक 5 ग्रह का स्वामी है बुध और ये ग्रहों में सबसे ज्यादा चंचल मन जाता है. ऐसे लोग बात करने में माहिर होते हैं, कूट निति बनाने में भी माहिर होते हैं. 
अंक 5 उन लोगो पर लागु होता है जिनका जन्म महीने के 5, 14 , 23 को हुआ हो. 
इन लोगो की चंचलता ही इनके लिए कई बार मुसीबत का कारण बन जाती है. ये लोग बोलते बोलते कई बार सब भूल जाते हैं और मर्यादा का भी ध्यान नहीं रखते हैं. 
अंक  पांच के लोग विद्वान् होते हैं परन्तु कार्यों मन शीघ्रता करना इनका स्वभाव होता है. अपने गुणों के कारण ऐसे लोग अच्छे व्यापारी बनते हैं. 
लोगो को अपने बातों की जाल में उलझाना ये लोग खूब जानते हैं. इनका जीवन काफी मनोरंजक होता है परन्तु फिर भी कुछ तनाव हमेशा बना रहता है. 
अगर कुंडली में बुध अच्छा हो और ये लोग किसी सही मार्ग में चल रहे हो तो इनको कोई बिगड़ नहीं सकता परन्तु कुंडली में बुध ख़राब हो और अगर इन्होने गलत मार्ग चुन रखा हो तो फिर ये अपनी साड़ी हदे पार करके गलत कार्य…

Number 4 Astrology In Hindi

अंक 4 का रहस्य, अंक चार वाले व्यक्तियों के गुण, अंक 4 के रत्न और धातु, ज्योतिष द्वारा समाधान, number  4  astrology in Hindi,  characteristics of Number 4.

अगर हम किसी रहस्यमयी अंक के बारे में बात करे तो वो अंक है 4. चार अंक का स्वामी ग्रह है राहू जिसे इंग्लिश में हम युरेनस भी कहते हैं.  अंक 4 में हम उन लोगो को लेते हैं जिनका जन्म महीने के 4, 13, 22 , 31 तारीख को हुआ हो. 
इनका दिमाग बहुत ही तार्किक होता है जिसके कारण बहस में इनसे जीतना संभव नहीं होता है. ऐसा भी देखा गया है की राहू के कारण ऐसे लोग परा विज्ञान के क्षेत्र में भी खोजबीन करते रहते हैं. 
तंत्र, मंत्र , यन्त्र आदि में भी इनकी रूचि होती है और ये सफल भी होते हैं. किसी भी चीज के बारे में कुछ अलग हट के सोचना इन लोगो का स्वभाव होता है जिसके कारण इनके शत्रु कब कौन बन जाता है ये पता ही नहीं चलता. 
अपने वृहद् सोच के कारण ऐसे लोग समाज में क्रान्ति लाने में भी आगे रहते हैं. ये लकीर के फकीर नहीं होते हैं. किसी भी घटना के पीछे क्या है, इसे ये लोग भली प्रकार से समझ सकते हैं. ऐसे लोग थोड़े वैरागी भी होते हैं और वर्तमान में भरोसा रखते हैं. 

Number 3 Astrology in Hindi

अंक 3 का रहस्य, अंक तीन वाले व्यक्तियों के गुण, अंक 3 के रत्न और धातु, ज्योतिष द्वारा समाधान, number  3  astrology in Hindi,  characteristics of Number 3.

अंक 3 एक महत्त्वपूर्ण नंबर है जिसका स्वामी ग्रह गुरु/ Jupiter है. ये एक अध्यात्मिक ज्ञान का संकेत करता है. गुरु की शक्ति के कारण अंक तीन वाले जातक विद्वान् होते हैं और समाज में अपना एक विशिष्ट स्थान रखते हैं.

3 अंक में वो लोग आते हैं जिनका जन्म महीने के 3, 12, 21, 30 तारीख को हुआ हो. 
अंक 3 वाले लोगो का सम्बन्ध अंक 3, 6 और 9 अंक वाले जातकों से अच्छा रहता है. 
इन लोगो में भी महत्त्वकांक्षा अधिक रहती है. सफल होना इनके अन्दर की अंतर इच्छा होती है. ये किसी के अधीन रहकर काम करना इनको पसंद नहीं है. 
 ये अपने कार्य को बहुत लगन से और दक्षता से करते हैं परन्तु अपने कार्य में ये लोग किसी की दखल अन्दाजी पसंद नहीं करते हैं. 
ऐसे लोग जिम्मेदारियों को लेना जानते हैं इसी गुण के कारण ये ऊँचे पद पर आसानी से पहुँच जाते हैं.  अंक 3 वाले लोगो में गुरु के कारण स्वाभिमान भी कूट कूट कर भरा रहता है जो की कभी कभी समस्याओं का कारण भी बन जाता है. 
तीन अंक वलो…

Kaise Kare Shukra Ko Majboot | Shukra astrology in Hindi

क्या है शुक्र ग्रह, शुक्र ग्रह का मानव जीवन में प्रभाव, क्या करे की शुक्र मजबूत हो, how to increase the power of Venus or shukra, benefits of shukra or Venus.

शुक्र को अंग्रेजी में Venus कहते हैं. ये सौर्य मंडल में सबसे चमकीला ग्रह है. शुक्र एक ऐसा ग्रह है जो की भौतिक जीवन को सुख संपत्ति से भर देता है. शुक्र ग्रह के अच्छा होने पर व्यक्ति को प्रेम संबंधो में भी सफलता मिलती है, वैवाहिक जीवन भी आनंद से गुजरता है और इसी के साथ समाज में भी उसे बहुत सम्मान मिलता है अतः शुक्र का कुंडली में मजबूत और अच्छा होना जरुरी है.
दूसरी तरफ अगर शुक्र ग्रह खराब हो या कमजोर हो तो व्यक्ति को अपने व्यक्तिगत जीवन को सुखी करने के लिए बहुत सघर्ष करना होता है. प्रेम संबंधों में भी उसे सफलता नहीं मिलती है, सम्मोहन शक्ति के अभाव में हर कार्य में उसे कुछ ज्यादा मेहनत करना होता है.  इसके अलावा शुक्र वीर्य का करक भी है, गुप्तांगो पर भी इसका प्रभाव रहता है. अगर किसी का शुक्र पीड़ित हो तो ऐसा व्यक्ति किसी न किसी कारण से गुप्त रोगों का शिकार हो जाता है. अतः सावधानी बरतनी चाहिए.  अच्छा शुक्र व्यक्ति को खूब ठाट बाट देता ह…

Number 2 Astrology In Hindi | अंक 2 का रहस्य

अंक 2 का रहस्य, अंक दो वाले व्यक्तियों के गुण, अंक 1 के रत्न और धातु, ज्योतिष द्वारा समाधान, number  2  astrology in Hindi,  characteristics of Number 2.

अंक 2 का स्वामी ग्रह है चन्द्रमा जो की शीतलता और चंचलता का प्रतिक है. अंक 2 वाले व्यक्ति वो होते हैं जिनका जन्म महीने की 2, 20 , 11 और 29 तारीख को हुआ हो.  ऐसे व्यक्तियों के लिए रविवार, सोमवार और शुक्रवार भी अच्छा होता है अतः अगर इस दिन ये अपना कार्य आरंभ करे तो निश्चित ही इनके लिए शुभ होगा. 
चन्द्रमा के प्रभाव के कारण अंक 2 वाले व्यक्ति चंचल और भ्रमणशील होते हैं. अस्थिरता इनको घेरे रहती है अतः ये इनके लिए एक कमजोरी होती है. 
ये लोग  किसी भी कार्य को लगातार नहीं कर सकते हैं जिसके कारण सफलता मिलते मिलते कई बार रह जाती है. 
अगर धैर्य का गुण ये विकसित कर ले तो निश्चित ही सफलता इनके कदम चूम सकती हैं. इनके लिए भाग्यशाली रंग हलके होते हैं अतः इनको सफ़ेद या क्रीम रंगों का स्तेमाल करना चाहिए. 
अगर भाग्यवश कुंडली में चन्द्रमा शुभ हो और बलवान भी तो क्या कहना ऐसा जातक निश्चित ही अपने जीवन में बहुत सुख उठाता है. 
अंक 2 वाले व्यक्तियों को सफ़ेद हकि…

Number 1 Astrology | अंक 1 का रहस्य

अंक 1 का रहस्य, अंक 1 वाले व्यक्तियों के गुण, अंक एक के रत्न और धातु, ज्योतिष द्वारा समाधान, number  1 astrology in Hindi,  characteristics of Number One.

जिस प्रकार सूर्य ग्रहों में राजा है उसी प्रकार अंक 1 अंको में राजा है और इसका स्वामी ग्रह है सूर्य. जिनका जन्म 1, 28, 19 तारीख को होता है उन पर एक अंक का प्रभाव होता है. ये अंक बहुत ही सकारात्मक है और व्यक्ति के अन्दर महत्त्वकांक्षाओ को बड़ा देता है. 
1 अंक वालों  का सम्बन्ध 2, 4 और 7 अंको वालो से अच्छा होता है.  इनके लिए रविवार और सोमवार अच्छा होता है क्यूंकि इन वारो का अंक इनसे मिलते हैं. इनके लिए पीले रत्न शुभ होते हैं. 
सोना और ताम्बा धातु भी इनके लिए शुभ होते हैं. 
अंक 1 वाले लोग रचनात्मक होते हैं और अपने जिम्मेदारियो को अच्छी तरह निभाने में सक्षम होते हैं. सूर्य के प्रभाव के कारण इनको दबाना आसान नहीं होता है. 
कुछ हद तक क्रोध भी इनको परेशान करता है. ऐसे लोग अध्यात्मिक भी होते हैं और समाज में सम्मान भी पाते हैं. 
प्रबंध करने में ये कुशल होते हैं और घूमना भी इन्हें पसंद होता है.  अगर अंक एक वाले लोग अपने कार्य रविवार या सोमवार को…

Gestures and There Meanings | इशारों की भाषा को सीखिये

क्या होती है शारीर की भाषा, क्या प्रभाव पड़ता है इशारों की भाषा का, व्यक्तित्व विकास के लिए टिप्स, gestures and there meaning in hindi FREE.

साधारणतः हम सभी रोजमर्रा के जीवन में बहुत प्रकार के भाषा का स्तेमाल करते हैं जिनमें से एक होती है इशारों की भाषा, हम बहुत कुछ ऐसा करते हैं जिनके बारे में हमें भी पता नहीं होता की इसका दूसरों पर क्या प्रभाव पड़ेगा. 
आइये जानते हैं कुछ ख़ास शारीरिक प्रतिक्रिआओ का मतलब :
1.अगर कोई व्यक्ति अपने हाथों को बार बार छिपाता है, कभी पैरों के बीच में, कभी पीछे आदि इसका मतलब है की वो कुछ छिपा रहा है, उससे बात करने पर आपको संतुष्टि नहीं हो सकती है. 2.अगर कोई बार बार नाखुनो को रगड़ रहा है तो ये उसके आत्मविश्वास की कमी को दिखता है. 3.अगर आप किसी से बात कर रहे है और वो सर झुका के सुन रहा है इसका मतलब है की वो आपकी बातों को ध्यान से सुन रहा है , ऐसा तब भी होता है जब कोई छोटा हमारी बातों को सुनता है. 4.अगर बार बार कोई अपने होटों को चाट रहा है तो इसका मतलब है की उसे ठीक नहीं लग रहा है, कोई चिंता है उसके दिमाग में. 5.अगर कोई बेवजह मुस्कुरा रहा है तो इसका मतलब है की वो चाप…

Siddha Yantron Ke Vibhinn Prakaar | Types of Siddha Yantra

सिद्ध यंत्रों के विभिन्न प्रकार, कब कौन सा यन्त्र प्रयोग करे, types of yantra, when to use which yantra.
पहले के लेखों में हमने देखा है की किस प्रकार से सिद्ध यन्त्र हमारे लिए लाभदायक है. अब हम देखेंगे की कौन कौन से मुख्य यन्त्र हैं और उनसे कैसे सफलता हासिल की जा सकती है. ये सिद्ध यन्त्र दशकों से जानकारों द्वारा स्तेमाल किये जा रहे हैं . यहाँ पड़कर आप निर्णय कर सकते हैं की कौन से यन्त्र आपके लिए लाभ दायक हो सकते हैं. सिद्ध यंत्रो का प्रयोग वास्तु दोष निवारण के लिए किया जा सकता है, ग्रह बाधा हटाने के लिए किया जा सकता है, काले जादू को हटाने के लिए किया जा सकता है. सिद्ध यंत्रों को स्तेमाल करके देव और देवियों की कृपा भी आकर्षित कर सकते हैं. अतः हम कह सकते हैं कि हर प्रकार की सफलता के लिए और विकास के लिए सिद्ध यन्त्र बहुत लाभदायक सिद्ध होते हैं. इनके रहस्य को समझने का सबसे अच्छा तरीका होता हैं इनको सही समय, सही तारीख और सही दिन में स्थापित करना. यहाँ पर आपके जानकारी के लिए शक्तिशाली यंत्रो की जानकारी दी जा रही है :श्री यंत्र : -जैसा की नाम ही बता रहा है कि इसका प्रयोग श्री को आकर्षित करने …

Siddha Yantra Kyu Istemaal Kare | Why To Use Siddha Yantra

सिद्ध यन्त्र क्यों इस्तेमाल करे, क्या फायेदे हैं यंत्रो के, कैसे करे यन्त्र साधना, सफलता के साधन , Why To Use Siddha Yantra?.

जैसा की मैंने पहले भी बताया अपने पूर्व के लेखों में की सिद्ध यन्त्र होते है ऊर्जा के स्त्रोत. वैदिक विज्ञान के हिसाब से देखा जाए तो यन्त्र सक्षम होते हैं 5 तत्त्वों के ऊर्जा को देने में. वो 5 तत्त्व हैं- प्रथ्वी , अग्नी, जल, वायु और आकाश.

अगर यंत्रो को सही और सिद्ध मंत्रो द्वारा जागृत कर दिया जाए तो क्या कहना, जो भी उनको स्तेमाल करेगा उनको निश्चित ही लाभ होगा. वैदिक ज्योतिष के हिसाब से विभिन्न प्रकार के देवी देवताओं की साधना में अलग अलग प्रकार के यंत्रों का स्तेमाल किया जाता है. यन्त्र अलग अलग प्रकार के धातुओं से बनाए जाते हैं जैसे- ताम्बा, चांदी, सोना, स्फटिक , हड्डी, भोज पत्र आदि. यन्त्र साधना से वर्त्तमान और भविष्य दोनों को संवारा जा सकता है. विभिन्न प्रकार क यन्त्र विभिन्न प्रयोजनों को सिद्ध करने हेतु उपलब्ध भी रहते हैं और बनाए जाते है जानकारों द्वारा. सिद्ध यंत्रो के फायदे : सिद्ध यन्त्र दिव्या उर्जाओं का स्त्रोत होते हैं, इसी कारण से दशकों से इनका इस्तेमा…

Siddha Yantro Dwara Safaltaa

सिद्ध यंत्रों की शक्ति, यंत्रो के प्रकार यन्त्र सिद्धी के महूरत, सफलता के साधन, सिद्ध यन्त्र हो सकते है सफलता के साधन , Siddha Yantro Dwara Safaltaa. 

सिद्ध यन्त्र एक सशक्त माध्यम है सफलता प्राप्त करने के . ये उर्जा के स्त्रोत होते हैं. सही तरीके से अगर यन्त्र साधना की जाए तो निश्चित ही देविक कृपा के सहारे अपने जीवन को सफल बनाया जा सकता है. अगर सही समय पर सही दिशा में सही यन्त्र को लगा दिया जाए तो सफलता हमारे कदम चूम सकती है .

सिद्ध यंत्रों से एक विशेष प्रकार की उर्जा निकलती है जो की साधक की काया पलट कर सकती है पर जरूरत है श्रद्धा , विश्वास और साथ ही सतत साधना की. साधना में यंत्रों का विशेष उल्लेख मिलता है शाश्त्रों में. इसी कारण भारत में यंत्र स्थापित करके साधना करने का महत्व है. यंत्रों के प्रकार: जब यंत्रों की बात आती है तो अलग अलग प्रकार के यन्त्र उपलब्ध हैं जो की विभिन्न प्रकार के कार्यों को सिद्ध करने के काम में आते हैं. निचे विभिन्न प्रकार के यंत्रो के बारे में बताया जा रहा है: व्यापार बढाने वाले यन्त्र.स्वास्थय हानी को रोकने वाले यन्त्र.ग्रह शांति हेतु यन्त्र.बुरी नजर से बचाने …