vedic jyotish from India

हिंदी ज्योतिष ब्लॉग ज्योतिष संसार में आपका स्वागत है

पढ़िए ज्योतिष और सम्बंधित विषयों पर लेख और लीजिये परामर्श ऑनलाइन

Ravi Pushya Ka Mahatwa In Hindi

Ravi  pushya ka mahatwa in hindi, क्या करे रवि पुष्य के दिन सफलता के लिए, टोटके सफलता के लिए, क्या ख़रीदे रवि पुष्य को सम्पन्नता के लिए.
jyotish dwara jaane ravi pushya ke upaay on line free
ravi pushya mahatwa

27 नक्षत्रों में पुष्य नक्षत्र सबसे महत्वपूर्ण नक्षत्र है और जब पुष्य नक्षत्र रविवार को आता है तो वो दिन बहुत ही पुण्यशाली बन जाता है, इसे कहते हैं रवि पुष्य योग. ये दिन किसी भी नए कार्य को करने के लिए शुभ होता है, कुछ नया खरीदने के लिए शुभ होता है, अध्यात्मिक साधना करने वालो के लिए भी बहुत महत्व रखता है, आयुर्वेदिक दवाइयों को बनाने के लिए भी अच्छा दिन होता है, तंत्रोक्त प्रयोगों को करने के लिए भी उपयुक्त दिन होता है. 

साधारणतः लोग इस दिन सोने के गहने खरीदना पसंद करते हैं, ऐसी मान्यता है की रवि पुष्य के दिन अगर कोई अच्छा कार्य करे तो निश्चित ही सम्पन्नता जीवन मे आती है, ख़ुशी आती है, सफलता आती है.
रवि पुष्य जब भी आये तो इस दिन कुछ प्रयोग जरुर करना चाहिए अपने जीवन को सफल बनाने के लिए. 

आइये देखते हैं कुछ ख़ास और आसान उपाय जो की हम कर सकते हैं रवि पुष्य को:

1. इस सिद्ध मुहुर्त में सिद्ध यन्त्र स्थापित करना चाहिए सुख और सम्पन्नता के लिए जैसे श्री यन्त्र, व्यापार वृद्धि यन्त्र, कुबेर यन्त्र आदि. 
2. अगर कुंडली में सूर्य खराब फल दे रहा हो तो रवि पुष्य को सूर्य शांति का प्रयोग विशेष फल प्रदान करता है और जीवन की बाधाएं कम होती है. 
3. सूर्य के कमजोर होने की दशा में इस दिन माणिक धारण करने का भी विशेष महत्तव है.
4. विवाह बाधाओं को भी दूर करने के लिए पूजाएँ इस दिन की जा सकती है.
5. धन प्राप्ति और सम्पान्नता हेतु प्रयोगों को करने हेतु रवि पुष्य का दिन भुत शक्तिशाली होता है. 
6. अगर कोई किसी विशेष बिमारी का इलाज करना चाहता है तो इस दिन से दवाई लेना शुरू करना चाहिए, परिणाम शीघ्र प्राप्त होते हैं.
7. विशेष प्रकार की विद्याओं को प्राप्त करने के लिए भी इस दिन से अभ्यास शुरू करना उचित होता है.
8. समाज में सफलता, व्यापार में सफलता, परिवार में सम्पन्नता आदि के लिए रवि पुष्य को विशेष क्रियाये और पूजाए की जाती है.
9. इस दिन सूर्य देव की कृपा प्राप्त करने हेतु सूर्य यन्त्र की पूजा करके भी उसे घर में स्थापित करना श्रेष्ठ होता है जिससे की नाम, यश आदि की प्राप्ति होती है.
अतः घबराने की जरुरत नहीं अगर स्वास्थ में परेशानी है, व्यापार नहीं चल रहा है, समाज में इज्जत नहीं मिल पा रही है. रवि पुष्य के विशेष मुहुर्त में अनुष्ठान करके अपने जीवन को आप बदल सकते हैं 

आइये जानते है कुछ टोटके रवि पुष्य के लिए:

Ravi  pushya ka mahatwa in hindi, क्या करे रवि पुष्य के दिन सफलता के लिए, टोटके सफलता के लिए, क्या ख़रीदे रवि पुष्य को सम्पन्नता के लिए.
१. अगर आपके पास श्री यन्त्र है तो उसका अभिषेक करें श्री सूक्त के मंत्रो से और उसकी पूजा रोज किया करे , इससे सम्पन्नता आएगी.
२. रवि पुष्य को अपने  ऊपर अंदर और बाहर स्वस्तिक बनाये और बनाते समय गणेश जी का ध्यान करे साथ ही मंत्र का जप करे. ऐसा सोचे की अब आपके जीवन मे स्वास्थ्य और  प्रवेश कर रही है.
३. अगर आप आर्थिक समस्या से ग्रस्त है तो ये टोटका करे - ५ सुपारी ले, ५ हल्दी की गाँठ ले, १ नारियल का गोल ले,  एक चांदी का सिक्का ले,  पीले कपड़े मे बांधकर उसकी पूजा करे फिर उसे अपने तिजोरी या फिर पूजा मे रखे, रोज धुप , डीप करे और सकारात्मक सोचे.
४. अगर आप कोई साधना शुरू करना चाहते हैं तो रवि पुष्य का दिन  शुभ है.
५. अपने ऑफिस, घर,  व्यापारिक स्थल की सुबह जल्दी सफाई करे और फिर गंगा जल छिड़कें , फिर गूगल की धूप  दे सब तरफ.  दरवाजे पर स्वस्तिक बनाये. इससे सफलता रास्ते खुलेंगे.

क्या करे और क्या ना करें इसके लिए ज्योतिष से परामर्श लेना चाहिए जिससे हमे पता चलता है की –
1. क्या कारण है व्यपार में असफलता के और क्या करे लाभ के लिए.
2. क्या कारण है विवाह में देरी के और क्या करे शीघ्र और मनपसंद शादी के लिए.
3. रोग के कारण क्या है और क्या निवारण हो सकता है.
4. इंडस्ट्री में उत्पन्न समस्याओं का ज्योतिषीय कारण और समाधान
5. व्यक्तिगत जीवन में आने वाली समस्याओं का कारण और समाधान.
6. शिक्षा की समस्याओं का कारण और समाधान.
7. नौकरी में आने वाली समस्याओं का कारण और समाधान क्या हो सकता है. आदि 

तो परामर्श ले अच्छे ज्योतिष से और करे अपने सपनो को साकार, प्रयोग करे रवि पुष्य को और खोले अपने सफलता के द्वार को.

और सम्बंधित लेख पढ़े:

Ravi  pushya ka mahatwa in hindi, क्या करे रवि पुष्य के दिन सफलता के लिए, टोटके सफलता के लिए, क्या ख़रीदे रवि पुष्य को सम्पन्नता के लिए.

No comments:

Post a Comment

Indian Jyotish In Hindi