vedic jyotish from India

हिंदी ज्योतिष ब्लॉग ज्योतिष संसार में आपका स्वागत है

पढ़िए ज्योतिष और सम्बंधित विषयों पर लेख और लीजिये परामर्श ऑनलाइन

How To Remove Black Magic From Business?

What is Vyapar Bandh?, How to remove black magic from business,  kaise bachaaye vyapaar ko kale jadu se,  Powerful way to remove black magic from earning sources,  astrologer for black magic removal,  व्यपार बंध खोलने के उपाय, क्या है व्यापार बंध, कैसे दूर करे व्यापार से काले जादू को.

काले जादू का एक प्रयोग ऐसा भी है जिसके द्वारा किसी के व्यापार को बाँध दिया जाता है, इसके कारण एक अच्छा खासा चलता हुआ व्यापार भी बंद हो जाता है. व्यक्ति को समझ नहीं आता है की करें क्या. अतः इससे बचाव जरुरी होता है. 
best black magic remover, astrologer for black magic remedies
How to remove black magic from business

प्रतियोगिता के बढने के कारण आज के इस भौतिक युग में भी लोग काले जादू का स्तेमाल करने से नहीं चूकते हैं. और इसी कारण आज के युग में किसी पे बरोसा करना इतना आसान नहीं होता है. कौन कब क्या करेगा ये जानना आसान नहीं होता.

व्यापार में काले जादू का स्तेमाल आज एक साधारण समस्या बन के उभर रहा है. दूसरों की तरक्की से जलने वाले लोग गलत तरीके से कार्यों को अंजाम देने से नहीं चूकते हैं. 
व्यपार बंध का जब प्रयोग होता है तो जो शिकार होता है उसके पुरे परिवार को फल भोगना होता है क्यूंकि आय के स्त्रोत पर वार होता है. अतः अगर आप कोई व्यापार चलाते हैं तो आपको सावधान रहना चाहिए. वैसे तो आपको अपने व्यपार को सिद्ध कवच लगा के सुरक्षित रखना चाहिए परन्तु कई बार सब कुछ करते हुए भी किसी मैली विद्या के कारण वपार पर गहरा असर होता है तो ऐसे में तुरंत जानकार से सलाह करके उचित कदम उठाना चाहिए. 

व्यपार बंध खोलने के आसान उपाय:
अगर आपको लगता है की आपके व्यपार को किसी ने बांधा है तो अमावस्या को बिल्ली के मल से पुरे व्यपार स्थल पर अन्दर से बहार की और धूनी दीजिये और फिर गौमूत्र और गंगाजल छिडके. इससे आपको लाभ होगा. जरुरत पड़ने पर 15 दिन लगातार करे इस प्रयोग को. और 15 दिन बाद गूगल की धुनी रोज सुबह शाम देना शुरू कर दे. 
सिद्ध महाकाली कवच को स्थापित करने से भी बहुत लाभ होता है जो आप हमसे प्राप्त कर सकते हैं.
कई बार ऐसा होता है की ग्रहों के खले के कारण भी व्यपार में बहुत हानि होने लगता है ऐसे में उचित मार्गदर्शन के लिए तुरंत ज्योतिष से संपर्क करे और उचित समाधान करवाए. ऐसा जरुरी नहीं की हमेशा काले जादू का ही असर होता है, कई बार बुरी नजर का भी असर व्यापार को ख़त्म कर देता है ऐसे में भी शनिवार और मंगलवार को निम्बू से उतारा करने पर लाभ देखा गया है.
क्या आप जानते हैं व्यापार को ख़तरा किनसे होता है?
परिक्षण में ऐसा अधिकतर देखा गया है की व्यक्ति को अपने किसी ख़ास से ही सबसे ज्यादा नुक्सान हुआ है. अतः हमेशा सावधान रहकर की कार्य करना चाहिए. 

What Is Vyapar Bandh?

Vyapar bandh is a special prayog done by destructive minded tantric, in this some special spells are used to block the business. Due to the impact of negative energies running business stop. Nobody knows that what has happened so it is very difficult for the person to find the exact reason of downfall of business. 
With the increase of competition, use of black magic also increases in this age so it is very necessary to take proper steps to protect our business from negative energies or black magic. 
Not only the single person faces the problems but the whole family enters in danger zone because the source of livelihood is blocked.  So it is suggested to take guidance from any scholar, jyotish to get rid of this situation.

Easy Way To Break The Vyapar Bandh:
If you think that some one has done black magic on your business, if you think that there is a vypar bandh then do the following upaay-
On Amvasya do give the dhuni with the cat excreta and then sprinkle holy water, gangajal and gaumutra i.e. urine of cow. After that  give the dhuni of gual in whole house and business place. 
If necessary do this process continuously for 15 days.
Also do get a siddha mahakali kawach and install it under proper guidance. 

और सम्बंधित लेख पढ़े :
What is Vyapar Bandh?, How to remove black magic from business,  kaise bachaaye vyapaar ko kale jadu se,  Powerful way to remove black magic from earning sources,  astrologer for black magic removal,  व्यपार बंध खोलने के उपाय, क्या है व्यापार बंध, कैसे दूर करे व्यापार से काले जादू को.

No comments:

Post a Comment

Indian Jyotish In Hindi