Hindi Jyotish Website, famous google jyotish, Astrologer in hindi

Number 1 Astrology | अंक 1 का रहस्य

अंक 1 का रहस्य, अंक 1 वाले व्यक्तियों के गुण, अंक एक के रत्न और धातु, ज्योतिष द्वारा समाधान, number  1 astrology in Hindi,  characteristics of Number One.

जिस प्रकार सूर्य ग्रहों में राजा है उसी प्रकार अंक 1 अंको में राजा है और इसका स्वामी ग्रह है सूर्य. जिनका जन्म 1, 28, 19 तारीख को होता है उन पर एक अंक का प्रभाव होता है. ये अंक बहुत ही सकारात्मक है और व्यक्ति के अन्दर महत्त्वकांक्षाओ को बड़ा देता है. 
ank 1 rahasya in hindi free
number 1 secrets

1 अंक वालों  का सम्बन्ध 2, 4 और 7 अंको वालो से अच्छा होता है. 
इनके लिए रविवार और सोमवार अच्छा होता है क्यूंकि इन वारो का अंक इनसे मिलते हैं. इनके लिए पीले रत्न शुभ होते हैं. 

सोना और ताम्बा धातु भी इनके लिए शुभ होते हैं. 

अंक 1 वाले लोग रचनात्मक होते हैं और अपने जिम्मेदारियो को अच्छी तरह निभाने में सक्षम होते हैं. सूर्य के प्रभाव के कारण इनको दबाना आसान नहीं होता है. 

कुछ हद तक क्रोध भी इनको परेशान करता है. ऐसे लोग अध्यात्मिक भी होते हैं और समाज में सम्मान भी पाते हैं. 

प्रबंध करने में ये कुशल होते हैं और घूमना भी इन्हें पसंद होता है. 
अगर अंक एक वाले लोग अपने कार्य रविवार या सोमवार को शुरू करे तो इनको बहुत लाभ हो सकता है. ऐसे लोग अगर पीले वस्त्र धारण करे या सुनहरे कपडे पहने तो भी इनको लाभ होगा. 

इसमें कोई शक नहीं की अगर कुंडली में भी सूर्य ऐसे व्यक्ति का शुभ हो तो ऐसे व्यक्ति राजा के समान होते हैं. मान, सम्मान, धन ऐश्वर्य इनके कदम चुमते हैं. 

सूर्य का रत्न माणिक्य भी इनके लिए शुभ फलदाई है. 

पर किसी भी प्रकार के रत्नों और यंत्रो का प्रयोग करने से पहले अच्छे ज्योतिषी से सलाह लेना चाहिए.

अगर आप अंक 1 से सम्बन्ध रखते हैं और फिर भी इसका शुभ फल प्राप्त नहीं कर पा रहे है तो लीजिये सलाह प्रसिद्ध ज्योतिष और अध्यात्मिक सलाहकार डाक्टर ओम प्रकाश से और जानिये अपने समस्याओं का हाल अभी. 

मामूली सेवा शुल्क देकर आप समस्त ज्योतिषी सेवाओं का लाभ ले सकते हैं. 

किसी भी प्रकार के ज्योतिषी सलाह लेने के लिए यहाँ जाएँ संपर्क करें 
`
अंक 1 का रहस्य, अंक 1 वाले व्यक्तियों के गुण, अंक एक के रत्न और धातु, ज्योतिष द्वारा समाधान, number  1 astrology in Hindi,  characteristics of Number One.

No comments:

Post a Comment