Mohini Ekadashi Ka Mahatwa In Hindi

Mohini Ekadashi ka mahatwa in hindi, मोहिनी एकादशी का महत्तव hindi में , कैसे करें आसान उपवास इस दिन, कैसे करे विष्णुजी को प्रसन्न.

एक महत्वपूर्ण दिन जो की पड़ता है वैशाख शुक्ल पक्ष के ग्यारस के दिन वो है “मोहिनी एकादशी”. भगवान् विष्णु के भक्त इस दिन व्रत/उपवास करते हैं भगवान् को प्रसन्न करने के लिए और जीवन को निष्कंटक करने के लिए.
mohini ekadahi in hindi jyotish
mohini ekadashi ko kya kare

मोहिनी एकादशी एक पवित्र दिन है जीवन की समस्याओं से बहार आने के लिए, ये रहस्य कृष्ण जी के द्वारा युधिस्ठीर जी को बताया गया था पर उससे भी पहले गुरु वशिष्ठ द्वारा श्री राम को बताया गया था जब वो सीता मैया से बिछड़ कर दुखी थे.

एकादशी के दिन की गई पूजा द्वारा हम दुखों से मुक्ति पा सकते हैं, पापो से मुक्ति पा सकते है, जीवन में आने वाले परेशानियों से मुक्ति पा सकते हैं श्री हरी की कृपा से.

ऐसी मान्यता है की अगर कोई इस दिन उपवास करता है श्रद्धा और विश्वास से तो उसे शांति और सम्पन्नता की प्राप्ति होती है.

अगर कोई पुरे दिन उपवास नहीं कर सकता है तो उसे आधे दिन उपवास करना चाहिए परन्तु इस दिन चावल का प्रयोग कतई नहीं करना चाहिए.

मोहिनी रूप भगवन विष्णु ने लिया था देवताओं को असुरो से बचाने के लिए और असुरों को अमृत पान से रोकने के लिए. वासुदेव सबसे बड़े मायावी है/मायापति हैं. अतः जब कही से भी रास्ते नजर न आये तो विष्णु जी की पूजा से भक्त सफलता प्राप्त कर सकता है.

आइये जानते हैं कैसे करे मोहिनी एकादशी का उपवास आसान तरीके से :

  1. प्रातः जल्दी उठ के दैनिक कार्यो से निवृत्त हो ले
  2. साफ़ कपडे पहन करके आसन पर बैठे विष्णु जी के मूर्ती या फिर फोटो के सामने.
  3. धुप, दीप, नैवेद्य अर्पित करें.
  4. प्रार्थना करे उनसे की आपके समस्याओं को दूर करें.
  5. पुरे दिन कुछ न खाए और शाम को आरती के बाद फलाहार करे.
  6. पुरे दिन वसुदे के किसी मंत्र का जप करना श्रेष्ठ होगा.
  7. सबसे अच्छा मंत्र है “ॐ नमो भगवते वासुदेवाय ”
  8. अपने क्षमता अनुसार जरुरतमंदो की मदद करे, ब्राह्मण और हरी भक्तो का आशीर्वाद ले.
भारत में एकादशी का दिन महत्तव रखता है और हिन्दू लोग सफलता और सम्पन्नता के लिए इस दिन उपवास करते हैं, ऐसी भी मान्यता है की इस दिन के उपवास से मोक्ष की प्राप्ति होती है देह छोड़ने के पश्चात.



Mohini Ekadashi ka mahatwa in hindi, मोहिनी एकादशी का महत्तव hindi में , कैसे करें आसान उपवास इस दिन, कैसे करे विष्णुजी को प्रसन्न.

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें