Skip to main content

Jyoitish Sewaye Online || ज्योतिष सेवा ऑनलाइन

Jyotish in Hindi, कुंडली का अध्ययन हिंदी में, ज्योतिष से संपर्क के लिए यहाँ क्लिक करे>> , .
ज्योतिष सेवा ऑनलाइन: एक अच्छा ज्योतिष कुंडली को देखके जातक का मार्गदर्शन कर सकता है. कुंडली मे ग्रह विभिन्न भावों मे बैठे रहते हैं और जातक के जीवन मे प्रभाव उत्पन्न करते हैं. अगर कोई व्यक्ति जीवन मे  समस्या से ग्रस्त है तो इसका मतलब है की उसके जीवन इस समय बुरे ग्रहों का प्रभाव चल रहा है और यदि कोई व्यक्ति सफलता प्राप्त कर रहा है तो इसका मतलब है की इस समय उसके जीवन मे शुभ ग्रहों का प्रभाव है.  विभिन्न ग्रहों की दशा-अन्तर्दशा मे व्यक्ति अलग अलग प्रकार के प्रभावों से गुजरता है जिसके बारे एक अच्छा ज्योतिष जानकारी दे सकता है.  ग्रहों का असर व्यक्ति के कामकाजी जीवन पर पड़ता है.
ग्रहों का असर व्यक्ति के व्यक्तिगत जीवन पर पड़ता है.
सितारों का असर व्यक्ति के सामाजिक जीवन पर पड़ता है.
व्यक्ति के पढ़ाई –लिखाई , वैवाहिक जीवन, प्रेम जीवन, स्वास्थ्य आदि पर ग्रह – सितारों का असर पूरा पड़ता है.  आप “www.jyotishsansar.com” माध्यम से पा सकते हैं कुछ ख़ास ज्योतिषीय सेवाए ऑनलाइन :जानिए क्या कहती है आपकी कुंडली आ…

Shree Mahalaxmi Astkam Dhan Devi Ko Prasann Karne Ke liye

Kaise kare mahalaxmi ko prasann, ek khaas strotram jo ki dilayega samast arthik samasyaao se chutkaara, kaise prapt kare laxmiji ki kripa, kaise paaye dhan dhanya., mahalaxmi astkam with Hindi Meaning. 
best free mahalaxmi astkam with hindi translation
mahalaxmi astkam hindi anuwaad ke saath

जब महालक्ष्मी जी को प्रसन्न करने की बात आती है तो हम कोई भी मौक़ा छोड़ना नहीं चाहते हैं. इसी सन्दर्भ में एक बहुत ही शक्तिशाली स्त्रोतम का उल्लेख शाश्त्रो में मिलता है जो की इन्द्र देवता के द्वारा रचा गया है. इसका पाठ अगर कोई रोज करता है तो निश्चित ही सफलता के रास्ते खुल जाते हैं. 
अतः श्रद्धा और विश्वास से इसका पाठ जरुर करे. स्त्रोत पाठ से पहले लक्ष्मी जी के आगे दीपक जरुर जलाए और गूगल की धुप जलाए. 

आइये पाठ करते है महालक्ष्मी अस्त्कम का :


नमस्तेऽस्तु महामाये श्रीपीठे सुरपूजिते ।
शङ्खचक्रगदाहस्ते महालक्ष्मि नमोऽस्तुते ॥१॥

नमस्ते गरुडारूढे कोलासुरभयंकरि ।
सर्वपापहरे देवि महालक्ष्मि नमोऽस्तुते ॥२॥

सर्वज्ञे सर्ववरदे सर्वदुष्टभयंकरि ।
सर्वदुःखहरे देवि महालक्ष्मि नमोऽस्तुते ॥३॥

सिद्धिबुद्धिप्रदे देवि भुक्तिमुक्तिप्रदायिनि ।
मन्त्रमूर्ते सदा देवि महालक्ष्मि नमोऽस्तुते ॥४॥

आद्यन्तरहिते देवि आद्यशक्तिमहेश्वरि ।
योगजे योगसम्भूते महालक्ष्मि नमोऽस्तुते ॥५॥

स्थूलसूक्ष्ममहारौद्रे महाशक्तिमहोदरे ।
महापापहरे देवि महालक्ष्मि नमोऽस्तुते ॥६॥

पद्मासनस्थिते देवि परब्रह्मस्वरूपिणि ।
परमेशि जगन्मातर्महालक्ष्मि नमोऽस्तुते ॥७॥

श्वेताम्बरधरे देवि नानालङ्कारभूषिते ।
जगत्स्थिते जगन्मातर्महालक्ष्मि नमोऽस्तुते ॥८॥

महालक्ष्म्यष्टकं स्तोत्रं यः पठेद्भक्तिमान्नरः ।
सर्वसिद्धिमवाप्नोति राज्यं प्राप्नोति सर्वदा ॥९॥

एककाले पठेन्नित्यं महापापविनाशनम् ।
द्विकालं यः पठेन्नित्यं धनधान्यसमन्वितः ॥१०॥

त्रिकालं यः पठेन्नित्यं महाशत्रुविनाशनम् ।
महालक्ष्मिर्भवेन्नित्यं प्रसन्ना वरदा शुभा ॥११॥

आइये अब जानते हैं hindi अनुवाद महालक्ष्मी अस्त्कम का जिससे आपको भाव भी उत्तम होगा :
1. जो देवी देवताओं द्वारा पूजित है और जिन्होंने हाथो में शंख , चक्र, गदा धारण कर रखा है उन महालाक्स्मीजी को नमस्कार है. 
ये सभी वस्तुए जो माता धारण करती है उनसे भक्त की रक्षा करती है और उन्हें धन धन्य से भर देती है. 
2. उन देवी को नमस्कार है जो गरुड़ पर विराजती है और कोलासुर जैसे भयंकर राक्षस के अन्दर भी भय उत्पन्न करती है. जो सभी पापो का नाश करने वाली है उनको नमस्कार है. 
3. जो सब जानती है, जो सब देने वाली है और जो दुष्टों का नाश करने वाली है, जो सभी दुखों का नाश करने वाली है उन महालक्ष्मी को नमश्कार है.

Kaise kare mahalaxmi ko prasann, ek khaas strotram jo ki dilayega samast arthik samasyaao se chutkaara, kaise prapt kare laxmiji ki kripa, kaise paaye dhan dhanya., mahalaxmi astkam with Hindi Meaning. 

4. जो सफलता देती है , बुद्धि देती है, सांसारिक सुख प्रदान करती है और मुक्ति भी देने वाली है. जो साक्षात् मंत्र का रूप है उन देवी महालक्ष्मी को नमस्कार है. 
5. जो अनंत है और भगवान् शिव की अर्धांगिनी है, जिनको योग के द्वारा ही जाना जा सकता है उन महालक्ष्मी को नमस्कार है. 
6. जो साकार हो के भी सूक्ष्म है और महाभीषण भी है जो सबको अपने अन्दर धारण करती है, जो सभी पापो का नाश करती है उन देवी महालक्ष्मी को नमस्कार है. 
7. जो साक्षात् परब्रह्म का स्वरुप है और कमल आसन पर विराजती है, जो परम शक्ति है और पुरे जगत की पालन करता है उन महालक्ष्मी जी को नमस्कार है. 
8. जो सफ़ेद वस्त्र के साथ दिव्या आभूषण से सुशोभित होती है और जो विश्व को धारण करती है उन महालक्ष्मी जी को नमस्कार है. 
9. जो भी महालक्ष्मी अस्त्कम का पाठ रोज करता है उसे सम्पूर्ण सिद्धियाँ और राज्य की प्राप्ति होती है.
10. जो रोज एक बार पाठ करता है उसके महापाप नष्ट होते हैं, जो 2 समय पाठ करता है उसका जीवन धन धान्य से परिपूर्ण हो जाता है. 
11. तीन समय पाठ करने वाले के महाशत्रु भी नष्ट हो जाते है और महालक्ष्मी उन पर सदा प्रसन्न रहती है और शुभ वरदान देती है. 
ऊपर आपको महालक्ष्मी अस्त्कम संस्कृत और hindi में अर्थ सहित दिया है , उम्मीद है की सभी इसका पूर्ण लाभ उठा पायेंगे. 

jyotishsansar की तरफ से सभी को शुभकामनाये. 
Kaise kare mahalaxmi ko prasann, ek khaas strotram jo ki dilayega samast arthik samasyaao se chutkaara, kaise prapt kare laxmiji ki kripa, kaise paaye dhan dhanya., mahalaxmi astkam with Hindi Meaning. 

Comments

Popular posts from this blog

Kala Jadu Kaise Khatm Kare

काला जादू क्या है , कैसे पता करे काला जादू के असर को, कैसे ख़त्म करे कला जादू के असर को, hindi में जाने काले जादू के बारे में. काला जादू अपने आप में एक खतरनाक विद्या है जो की करने वाले, करवाने वाले और जिस पर किया जा रहा है उन सब का नुक्सान करता है. यही कारण है की इस नाम से भी भय लगता है. अतः ये जरुरी है की इससे जितना हो सके बचा जाए और जितना हो सके उतने सुरक्षा के उपाय किया जाए.
ज्योतिष संसार के इस लेख में आपको हम उसी विषय में अधिक जानकारी देंगे की कैसे हम काले जादू का पता कर सकते हैं और किस प्रकार इससे बचा जा सकता है. प्रतियोगिता अच्छी होती है परन्तु जब ये जूनून बन जाती है तब व्यक्ति गलत ढंग से जीतने के उपाय करने से भी नहीं चुकता है. आज के इस प्रतियोगिता के युग में लोग बस जीतना चाहते हैं और इसके लिए किसी भी हद तक जाने से नहीं चुकते हैं और यही पर काला जादू का प्रयोग करने की कोशिश करते है. आखिर में क्या है काला जादू? हर चीज के दो पहलु होते हैं एक अच्छा और एक बुरा. काला जादू तंत्र, मंत्र यन्त्र का गलत प्रयोग है जिसके अंतर्गत कुछ शक्तियों को पूज के अपना गलत स्वार्थ सिद्ध किया जाता है. करने …

Santan Prapti Yoga Kundli Mai In Hindi

कुंडली में संतान प्राप्ति योग, कुंडली में कैसे जाने संतान सुख के बारे में, क्या करे स्वस्थ संतान प्राप्ति के लिए ज्योतिष के अनुसार, संतान प्राप्ति में बाधा और समाधान ज्योतिष द्वारा. Santan yoga in kundli, hindi jyotish to know about santan problems remedies. जीवन में विवाह उपरान्त संतान का होना एक महात्वपूर्ण घटना होती है, ये पति और पत्नी को एक नई दृष्टि प्रदान करती है और जीवन में महत्वपूर्ण बदलाव लाती है. ऐसे बहुत से लोग है जो संतान सुख से वंचित है और संतान प्राप्ति के लिए खूब जातन करते हैं परन्तु सफल नहीं हो पा रहे हैं.

इसका कारण ज्योतिष द्वारा पता लगाया जा सकता है. कुंडली हमारे जीवन का आइना है अतः इसके द्वारा हम बहुत कुछ जान सकते हैं. कुंडली में 12 भाव होते हैं और सभी अलग अलग विषय से जुड़े है जिनका अध्यन कई रहस्यों से पर्दा उठा देता है जो की उन्सुल्झे है. संतान नहीं होने के कारण भी ज्योतिष द्वारा जाना जा सकता है.  इस लेख में संतान समस्या के कारण और समाधान पर प्रकाश डाला जा रहा है. क्यों आती है है समस्याए संतान प्राप्ति में, क्यों होता है गर्भपात , कैसे प्राप्त करे स्वस्थ संतान.

जीवन…

Suar Ke Daant Ke Totke

Jyotish Me Suar Ke Daant Ka Prayog, pig teeth locket benefits, Kaise banate hai suar ke daant ka tabij, क्या सूअर के दांत का प्रयोग अंधविश्वास है. 

सूअर को साधारणतः हीन दृष्टि से देखा जाता है परन्तु यही सूअर पूजनीय भी है क्यूंकि भगवान् विष्णु ने वराह रूप में सूअर के रूप में अवतार लिया था और धरती को पाताल लोक से निकाला था. और वैसे भी किसी जीव से घृणा करना इश्वर का अपमान है , हर कृति इस विश्व में भगवान् की रचना है. सूअर दांत के प्रयोग के बारे में आगे बताने से पहले कुछ महत्त्वपूर्ण बाते जानना चाहिए :इस प्रयोग में सिर्फ जंगली सूअर के दांत का प्रयोग होता है. किसी सूअर को जबरदस्त मार के प्रयोग में लाया गया दांत काम नहीं आता है अतः किसी भी प्रकार के हिंसा से बचे और दुसरो को भी सचेत करे. वैदिक ज्योतिष में सूअर के दांत के प्रयोग के बारे में उल्लेख नहीं मिलता है. इसका सूअर के दांत के प्रयोग को महुरत देख के ही करना चाहिए. कई लोगो का मनना है की सुकर दन्त का प्रयोग अंधविश्वास है परन्तु प्रयोग करके इसे जांचा जा सकता है , ऐसे अनेको लोग है जो अपने बच्चो को इसका ताबीज पहनाते हैं और कुछ लोग खुद भी पहनत…