vedic jyotish from India

हिंदी ज्योतिष ब्लॉग ज्योतिष संसार में आपका स्वागत है

पढ़िए ज्योतिष और सम्बंधित विषयों पर लेख और लीजिये परामर्श ऑनलाइन

Putrada Ekadashi Vrat Ka Jyotish Mahattw

Putrada Ekadashi Vrat Ka Jyotish Mahattw, क्या करे पुत्रदा एकादशी को संतान सुख के लिए. 
Putrada Ekadashi Vrat Ka Jyotish Mahattw, क्या करे पुत्रदा एकादशी को संतान सुख के लिए.
Putrada Ekadashi Vrat Ka Jyotish Mahattw

जो एकादशी श्रावण महीने के शुक्ल पक्ष को आती है उसे भारत में पवित्र एकादशी या फिर पुत्रदा एकादशी के रूप में भी मनाया जाता है. ये पवित्र दिन भगवान् विष्णु को समर्पित है. इस दिन पति और पत्नी दोनों ही व्रत रखते हैं जिससे की स्वस्थ पुत्र की प्राप्ति हो. ये व्रत वैष्णव सम्प्रदाय में बहुत माना जाता है.

आइये जानते हैं की श्रावण पवित्रा एकादशी का महत्त्व:

हिन्दुओं की मान्यता है की श्राद्ध कर्म सिर्फ पुत्र द्वारा ही किया जाता है और ऐसी भी मान्यता है की बुढापे में पुत्र की अपने माता पिता की देखभाल करता है. हालांकि आज के समय में ऐसा कुछ दीखता नहीं है. आज लोग बीटा और बेटी के प्रति सामान भाव रखने लगे है. आज लड़कियां लडको से अच्छा अपनी जिम्मेदारियों को निभा रही है.

पवित्र एकादशी या फिर पुत्रदा एकादशी उन लोगो के लिए बहुत महत्त्व रखता है जो लोग सिर्फ पुत्र की कामना रखते हैं. अगर कोई दंपत्ति इस दिन उपवास रखता है और पूजा करता है तो भगवान् विष्णु की कृपा से उन्हें पुत्र रत्न की प्राप्ति होती है.

जानिए कुछ ख़ास बाते पुत्रदा या पवित्र एकादशी की पूजा के लिए:

  1. ये उपवास पति और पत्नी दोनों को रखना होता है.
  2. इस उपवास को करने के लिए पूर्ण ब्रह्मचर्य का पालन करे.
  3. पुरे दिन और रात्री को कुछ न खाएं.
  4. भगवान् विष्णु की पूजा, अराधना में लगे रहे.
  5. विष्णु जी की पंचोपचार पूजा करे.
  6. पूरा समय मन्त्र जप, भजन, होम करने में लगाएं.
  7. भगवान् से पुत्र रत्न के लिए प्रार्थना करे.
  8. विष्णु सहस्त्र नाम का जप भी बहुत लाभ देगा. 
और सम्बंधित ज्योतिषीय लेख पढ़े :
बच्चो के विकास केलिए ज्योतिष मार्गदर्शन
संतान समस्या का समाधान ज्योतिष द्वारा
संतान प्राप्ति साधना
Putrada ekadashi astrology significance
कुंडली में संतान प्राप्ति योग
संतान में देरी के ज्योतिषीय कारण और समाधान

Putrada Ekadashi Vrat Ka Jyotish Mahattw, क्या करे पुत्रदा एकादशी को संतान सुख के लिए.

No comments:

Post a Comment