vedic jyotish from India

हिंदी ज्योतिष ब्लॉग ज्योतिष संसार में आपका स्वागत है

पढ़िए ज्योतिष और सम्बंधित विषयों पर लेख और लीजिये परामर्श ऑनलाइन

Saawan Mahine Me Kya Kare Safalta Ke liye

सावन के महीने में क्या करे सफलता के लिए, जानिए श्रावण महीने की शक्ति, जानिए कैसे करे सावन सोमवार को उपवास, क्या करे श्रावण महीने में सफलता के लिए, सावन महिना और ज्योतिष.
 
सावन के महीने में क्या करे सफलता के लिए, जानिए श्रावण महीने की शक्ति, जानिए कैसे करे सावन सोमवार को उपवास, क्या करे श्रावण महीने में सफलता के लिए, सावन महिना और ज्योतिष.
shravan mahine me kya kare

चातुर्मास के अंतर्गत श्रावन महीने का भी बहुत महत्त्व है. इस महीने का अध्यात्मिक साधना को करने का भी बहुत महत्त्व है. सावन महिना भगवान् शिव के पूजा के लिए भी बहुत महत्त्वपूर्ण है. विशेषकर सोमवार को लोग शिवजी की विशेष पूजा अर्चना करते हैं और सावन महीने के सोमवार “श्रवन सोमवार ”के नाम से भी बहुत प्रसिद्द है.

श्रावण महीने में अनेक प्रकार की पूजाए सफल होती है जैसे :

  • शादी या विवाह में समस्या हटाने के लिए श्रावण महीने में पूजाएँ हो सकती है.
  • व्यापार बाधा को हटाने के लिए भी विशेष पूजाएँ होती है सावन महीने में.
  • भगवान् शिव को प्रसन्न करने के लिए भी पूजाए होती है श्रावण महीने में.
  • आर्थिक परेशानी को दूर करने के लिए भी इस महीने में पूजाए संभव है.
  • श्रावण महीने में पूजा आराधना, मंत्र सिद्धि करना आसान होता है.
  • इस महीने में पारद शिवलिंग को स्थापित करके पूजा करना भी बहुत लाभदायक होता है.

आइये जानते हैं की कौन कौन से अन्य त्यौहार भी आते हैं श्रावण महीने में :

  1. हरियाली अमावस्या आता है सावन महीने में.
  2. मंगला गौरी व्रत भी इसी महीने में होता है.
  3. हरियाली तीज भी मनाई जाती है श्रावण महीने में.
  4. नागपंचमी भी सावन महीने में आता है.
  5. पवित्र एकादशी या पुत्र एकादशी इसी महीने में आती है.
  6. रक्षा बंधन भी सावन में मनाई जाती है.

आइये जानते हैं की क्या करे सावन महीने में सफलता के लिए :

  • इस महीने में पूजा करके रुद्राक्ष माला धारण करे.
  • भगवान् शिव की भभूत से अभिषेक करे और अपने ललाट पर भी लगाए.
  • शिवलिंग पर बेल के पत्ते, पंचामृत(दूध, शक्कर, शहद, दही, घी ) पर चढ़ाए.
  • शिव चालीसा पढ़े और आरती करे रोज.
  • शिवजी का महामृत्युन्जय मंत्र का जप करे रोज.
  • श्रावण सोमवार को व्रत करने से कुंवारी कन्याओं को अच्छा पति मिलता है.
  • हिन्दुओ के हिसाब से सावन का महिना एक पवित्र महिना है, इस महीने को शिवजी का महिना भी कहा जाता है. इस उरे महीने शिवजी के मंदिरों में भीड़ दिखती है.
  • ऐसी भी मान्यता है की इसी महीने में समुद्रमंथन हुआ था जिसमे से निकला हलाहल विष शिवजी ने ग्रहण किया था और अपने कंठ पे रखा था.

आइये जानते हैं की कैसे करे श्रावण सोमवार का व्रत?

  1. उपवास भी भगवान् को खुश करने का एक अच्छा तरीका है. उपवास वाले दिन मंत्र जप करना श्रेष्ठ होता है.
  2. इस दिन प्रातः जल्दी उठे और नित्य क्रिया से मुक्त हो जाए जितनी जल्दी हो सके.
  3. पूजा के लिए बेल के पत्ते, धतुरा, दूध, जल, चन्दन का इत्र आदि इकठ्ठा करे.
  4. अब आप किसी शिव मंदिर या फिर अपने घर के शिवलिंग पर पूजा करे.
  5. सबसे पहले श्री गणेश की पूजा करे फिर शिवजी का अभिषेक करे और मंत्र ॐ नमः शिवाय का जप करे. सभी इकठा की हुई वस्तुओ को शिवलिंग पर अर्पित करे.
  6. अब आप संकल्प ले की आप उपवास क्यों कर रहे है और शिवजी से अपने मनोकामना पूर्ण करने हेतु प्रार्थना करे.
  7. पुरे दिन शिव मंत्र का जप करते रहे.
  8. किसी को गाली न दे, किसी को परेशान न करे, पुरे दिन मौन रहकर शिव मंत्र का जप करे.
  9. बड़ो, ब्राह्मणों, संत महात्माओं का आशीर्वाद ले.
  10. सभी के भलाई के लिए प्रार्थना करे.

आइये जानते हैं की और क्या कर सकते हैं श्रवण महीने में उन्नति के लिए

ये महीना शिवजी से जुड़ा है अतः हम और भी अनेक कर्म काण्ड कर सकते हैं  जैसे –
  • श्रवण के महीने में रुद्राभिषेक करना बहुत अच्छा होता है.
  • शिवजी की पूजा रुद्रसूक्त से भी करना श्रेष्ठ होता है.
  • सिद्ध किया हुआ रुर्द्रक्ष भी धारण कर सकते हैं.
  • पितृ दोष निवारण पूजा, कालसर्प निवारण पूजा, मंगल दोष निवारण पूजा भी सावन महीने में हो सकती है.
  • विवाह परेशानी को दूर करने के लिए भी पूजाए होती है.
  • स्वास्थ्य और सम्पन्नता को प्राप्त करने हेतु भी पूजाए होती है श्रावण महीने में.
अतः सावन महीने का पूरा लाभ ले, प्राप्त करे शिव कृपा, बनाए जीवन को सफल.
किसी भी ज्योतिषीय मार्गदर्शन के लिए संपर्क करे ज्योतिष से.

सावन के महीने में क्या करे सफलता के लिए, जानिए श्रावण महीने की शक्ति, जानिए कैसे करे सावन सोमवार को उपवास, क्या करे श्रावण महीने में सफलता के लिए, सावन महिना और ज्योतिष.

No comments:

Post a Comment