Skip to main content

Posts

Showing posts from August, 2016

Jyoitish Sewaye Online || ज्योतिष सेवा ऑनलाइन

Jyotish in Hindi, कुंडली का अध्ययन हिंदी में,ज्योतिष से संपर्क के लिए यहाँ क्लिक करे>> , .
ज्योतिष सेवा ऑनलाइन: एक अच्छा ज्योतिष कुंडली को देखके जातक का मार्गदर्शन कर सकता है. कुंडली मे ग्रह विभिन्न भावों मे बैठे रहते हैं और जातक के जीवन मे प्रभाव उत्पन्न करते हैं. अगर कोई व्यक्ति जीवन मे समस्या से ग्रस्त है तो इसका मतलब है की उसके जीवन इस समय बुरे ग्रहों का प्रभाव चल रहा है और यदि कोई व्यक्ति सफलता प्राप्त कर रहा है तो इसका मतलब है की इस समय उसके जीवन मे शुभ ग्रहों का प्रभाव है. विभिन्न ग्रहों की दशा-अन्तर्दशा मे व्यक्ति अलग अलग प्रकार के प्रभावों से गुजरता है जिसके बारे एक अच्छा ज्योतिष जानकारी दे सकता है. ग्रहों का असर व्यक्ति के कामकाजी जीवन पर पड़ता है.
ग्रहों का असर व्यक्ति के व्यक्तिगत जीवन पर पड़ता है.
सितारों का असर व्यक्ति के सामाजिक जीवन पर पड़ता है.
व्यक्ति के पढ़ाई –लिखाई , वैवाहिक जीवन, प्रेम जीवन, स्वास्थ्य आदि पर ग्रह – सितारों का असर पूरा पड़ता है. आप “www.jyotishsansar.com” माध्यम से पा सकते हैं कुछ ख़ास ज्योतिषीय सेवाए ऑनलाइन :जानिए क्या कहती है आपकी कुंडली आपके व…

84 Mahadev Mandir Ke Naam In Ujjain In Hindi

उज्जैन मंदिरों का शहर है इसिलिये अध्यात्मिक और धार्मिक महत्त्व रखता है विश्व मे. इस महाकाल की नगरी मे ८४ महादेवो के मंदिर भी मौजूद है और विशेष समय जैसे पंचक्रोशी और श्रवण महीने मे भक्तगण इन मंदिरों मे पूजा अर्चना करते हैं अपनी मनोकामना को पूरा करने के लिए. 
इस लेख मे उज्जैन के ८४ महादेवो के मंदिरों की जानकारी दी जा रही है जो निश्चित ही भक्तो और जिज्ञासुओं के लिए महत्त्व रखती है. 
आइये जानते हैं उज्जैन के ८४ महादेवो के मंदिरों के नाम हिंदी मे : श्री अगस्तेश्वर महादेव मंदिर - संतोषी माता मंदिर के प्रांगण मे.श्री गुहेश्वर महादेव मंदिर- राम घाट मे धर्मराज जी के मंदिर मे के पास.श्री ढून्देश्वर महादेव - राम घाट मे. श्री अनादी कल्पेश्वर महादेव- जूना महाकाल मंदिर के पासश्री दम्रुकेश्वर महादेव -राम सीढ़ियों के पास , रामघाट पे श्री स्वर्ण ज्वालेश्वर मंदिर -धुंधेश्वर महादेव के ऊपर, रामघाट पर.श्री त्रिविश्तेश्वर महादेव - महाकाल सभा मंडप के पास.श्री कपालेश्वर महादेव बड़े पुल के घाटी पर.श्री स्वर्न्द्वार्पलेश्वर मंदिर- गढ़ापुलिया के पास.श्री कर्कोतेश्वर महादेव - हरसिद्धि मंदिर के प्रांगण मे श्री सिद्ध…

Dhyan Ke Liye Vastu Dhyan Labhdayak Ho Sakta hai

कैसे बढ़ाये एकाग्रता, कैसे पायें अंदरूनी ताकत, फ्री मे जानिए ध्यान की आसान विधी. ध्यान या फोकस सफलता के लिए अति आवश्यक है, बिना एकाग्रता के सफलता के चरम को जल्दी छूना आसान नहीं है. अतः कुछ अभ्यास करना जरुरी होता है जिससे की एकाग्रता बढे.  धयान करने वाले अक्सर ऐसा कहते है की आँखे बंद करते ही विचार आने लगते है इसीलिए ध्यान नहीं लगता है, ध्यान नहीं कर पाता हूँ पर ऐसे लोगो को ये बताना चाहेंगे की विचारो का आना ही ये बताता है की हम कुछ कर रहे है, अतः इससे परेशान होके अभ्यास नहीं चोदना चाहिए.  प्राम्भिक ध्यान करने वालो के लिए विचारो से मुक्ति आसान नहीं होती है अतः इसके लिए “वास्तु ध्यान” करना चाहिए. इससे निश्चित ही जल्दी एकाग्रता को हासिल किया जा सकता है. 
आइये क्या होता है वास्तु ध्यान? इसके अंतर्गत हम किसी बिंदु, फोटो, दिए की लौ, बीज मन्त्र आदि पर ध्यान करते हैं खुली आँखों से. इससे विचार जल्दी ही चले जाते हैं .
आइये अब जानते हैं की वास्तु ध्यान कैसे करे? १.इसके लिए एक शांत जगह होना जरुरी है.  २.अपने मोबाइल को बंद कर दे अभ्यास समय के दौरान. ३.किसी भी सुखासन पर बैठे जिससे की आप ज्यादा देर तक बै…