Skip to main content

Posts

Showing posts from May, 2015

Jyoitish Sewaye Online || ज्योतिष सेवा ऑनलाइन

Jyotish in Hindi, कुंडली का अध्ययन हिंदी में,ज्योतिष से संपर्क के लिए यहाँ क्लिक करे>> , .
ज्योतिष सेवा ऑनलाइन: एक अच्छा ज्योतिष कुंडली को देखके जातक का मार्गदर्शन कर सकता है. कुंडली मे ग्रह विभिन्न भावों मे बैठे रहते हैं और जातक के जीवन मे प्रभाव उत्पन्न करते हैं. अगर कोई व्यक्ति जीवन मे समस्या से ग्रस्त है तो इसका मतलब है की उसके जीवन इस समय बुरे ग्रहों का प्रभाव चल रहा है और यदि कोई व्यक्ति सफलता प्राप्त कर रहा है तो इसका मतलब है की इस समय उसके जीवन मे शुभ ग्रहों का प्रभाव है. विभिन्न ग्रहों की दशा-अन्तर्दशा मे व्यक्ति अलग अलग प्रकार के प्रभावों से गुजरता है जिसके बारे एक अच्छा ज्योतिष जानकारी दे सकता है. ग्रहों का असर व्यक्ति के कामकाजी जीवन पर पड़ता है.
ग्रहों का असर व्यक्ति के व्यक्तिगत जीवन पर पड़ता है.
सितारों का असर व्यक्ति के सामाजिक जीवन पर पड़ता है.
व्यक्ति के पढ़ाई –लिखाई , वैवाहिक जीवन, प्रेम जीवन, स्वास्थ्य आदि पर ग्रह – सितारों का असर पूरा पड़ता है. आप “www.jyotishsansar.com” माध्यम से पा सकते हैं कुछ ख़ास ज्योतिषीय सेवाए ऑनलाइन :जानिए क्या कहती है आपकी कुंडली आपके व…

Somwati Amavasya aur Shani Jayanti Ke Din Kya Kare Safalta Ke liye In Hindi

Somwati Amavasya aur Shani Jayanti Ke Din Kya Kare Safalta Ke liye In Hindi, शनि जयंती और सोमवती अमावस्या है 18 मई २०१५ को , क्या करे सफलता के लिए ?, क्या है महत्तव इस दिन का. .
जैसा की नाम से ही पता चलता है की शनि जयंती मतलब शनि देव की पूजा करने का विशेष दिन, इस दिन शनि साड़े साती से पीड़ित लोग, कुंडली में ख़राब शनि से पीड़ित लोग शनि देव को प्रसन्न करने के लिए पूजा कर सकते हैं और निर्विघ्न जीवन जी सकते हैं.
इसी प्रकार जब अमावस्या सोमवार को पड़े तो उस दिन को कहते हैं सोमवती अमावस्या. इस बार भाग्य से दोनों दिन एक ही दिन पड़ रहे हैं. सोमवार 18 मई २०१५ को अमावस्या भी है और शनि जयंती भी है. अतः साधको और लोगो के लिए ये दिन बहुत शुभ है.
इस दिन पितृ दोष, कालसर्प दोष, ग्रहण दोष, प्रेत दोष आदि से छुटकारा पाया जा सकता है शिव पूजा के द्वारा.
दो महान योग के साथ में होने से व्यक्ति को इस दिन का महत्तव १०० गुना ज्यादा बढ़ गया है. अतः ये मौका किसी को भी नहीं छोड़ना चाहिए.
शनि जयंती और सोमवती अमावस्या का साथ में होने से महत्तव:
वास्तव में जब ये दिन अलग अलग आते हैं तब भी लोग बहुत फायदा उठाते हैं परन्तु इस …

Guru Ka Simha Raashi Mai Pravesh Ke Prabhav In Hindi

Guru Ka Simha Raashi Mai Pravesh Ke Prabhav In Hindi, क्या होगा जब गुरु सिंह राशि में प्रवेश करेगा, जानिए गुरु ग्रह के बारे में, क्या सम्बन्ध है गुरु और सूर्य में, कैसे लाभ उठाये इस पवित्र समय का?.
जो भी ज्योतिष विषय से प्रेम रखते हैं उनके लिए ये जानकारी लाभदायक होगी की 14 जुलाई 2015 को गुरु सिंह राशि में प्रवेश करेगा, ये घटना अति विशिष्ट है. सिंह राशि का स्वामी ग्रह सूर्य है. गुरु और सूर्य दोनों मित्र है अतः इसका असर बहुत ही शुभ होगा.
आइये जानते हैं कुछ गुरु ग्रह के बारे में:
गुरु ग्रह एक अध्यात्मिक ग्रह है और जाना जाता है ज्ञान के लिए, अंग्रेजी में इसे jupiter के नाम से जाना जाता है. गुरु वो होता है जो सही मार्ग दिखता है अतः जीवन में इनका बहुत महत्तव होता है. वैदिक ज्योतिष के हिसाब से अगर कुंडली में सिर्फ गुरु ग्रह बलवान हो तो व्यक्ति जीवन में सम्पन्नता प्राप्त कर सकता है इसके बावजूद की अन्य ग्रह कमजोर हो.
गुरु का सम्बन्ध ज्ञान, शक्ति, तार्किक दिमाग, अहंकार आदि से है. जब कुंडली में गुरु ग्रह अच्छा हो तो व्यक्ति विद्वान् होता है, समाज में विशेष स्थान प्राप्त करता है, लोग उनसे राय ले…

Bel Fal Se Swasthya In Hindi

Bel Fal Se Swasthya, बेल फल से स्वस्थ्य, किनके लिए फायदेमंद है बेल फल, कैसे पाए पेट की समस्याओं से निदान. एक फल जो की फायदेमंद है सभी के लिए, एक फल जो की कई जटिल पेट की समस्याओं से दिला सकता है मुक्ति, एक फल जो की हिन्दुओ द्वारा प्रयोग किया जाता है शिव पूजा में, एक फल जो की रखता है दिमाग और शारीर को ठंडा. जी हाँ एक ऐसा जादुई फल है और उसका नाम है बेल फल, कुछ प्रान्त में इसे बिल्ला भी बोलते हैं. अंग्रेजी में इसे वुड एप्पल कहा जाता है. गर्मियों के दिनों में अपने आप को तारो तजा रखने के लिए, अपने आप को स्वस्थ रखने के लिए, अपने आपको ठंडा रखने के लिए बेल फल एक बहुत अच्छा विकल्प हो सकता है. जब हम इस फल के अद्वितीय गुणों के बारे में जानेंगे तो तो इसका प्रयोग करने से चुकेंगे नहीं. इस फल में प्रचुर मात्रा में फाइबर, विटामिन, फोस्फोरस, लोहा, आदि मौजूद है जिससे की ये सभी के बहुत लाभदायक है. अपने आपको उर्जावान बनाए रखने के लिए बेल फल बहुत ही उपयोगी है. आइये जानते हैं कुछ फायदे बेल फल के:ये उन लोगो के लिए बहुत अच्छा है जो की अलसर से परेशान है, कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली से ग्रस्त है, भगंदर से परेशान ह…

Narad Jayanti Ka Mahattwa In Hindi

Narad jayanti ka mahatwa in hindi, कौन है नारद मुनि, क्या महत्तव है नारद जयंती का, क्या सीखे नारद मुनी से.
एक बहुत ही रोचक चरित्र का उल्लेख मिलता है हिन्दुओ के पौराणिक कथाओं में, एक ऐसा व्यक्ति जो सभी के लिए पूजनीय है, आदरणीय है, जो की भगवान् विष्णु के भक्त है, जो की हर समय “नारायण नारायण” का जप करते रहते हैं.
ये व्यक्तित्व है “नारद मुनि”, ये ब्रह्मा जी के पुत्र है और लगातार घूमते रहते हैं. दैविक जानकारियों को इधर से उधर पहुचाने का कार्य ये बहुत ही खूबी से करते हैं. इनके पास हर समय एक वाद्य यन्त्र होता है जिसे हम वीणा के नाम से जानते हैं.
इन्होने बहुत से भक्ति सूत्र लिखे हैं, भजन लिखे हैं जो की अलग अलग ग्रन्थ में उपलब्ध है जैसे “नारद भक्ति सूत्र ”, नारद संहिता आदि.
ये बहुमुखी प्रतिभा के धनि है और कई विद्याओं में महारत रखते हैं जैसे गायन, वादन, प्रस्तुतीकरण, ज्योतिष, शब्दों का प्रयोग करना आदि.
नारद मुनि ने अपनी पूरी जिन्दगी नारायण सेवा में ही व्यतीत की है.
हम उनसे बहुत कुछ सीख सकते हैं जैसे –
कैसे समर्पण किया जाता है, कैसे जुनूनी होक कार्य किया जाता है, कैसे कार्यो को मस्ती से किया जाता …