Skip to main content

Posts

Showing posts from October, 2015

Jyoitish Sewaye Online || ज्योतिष सेवा ऑनलाइन

Jyotish in Hindi, कुंडली का अध्ययन हिंदी में, ज्योतिष से संपर्क के लिए यहाँ क्लिक करे>> , .
ज्योतिष सेवा ऑनलाइन: एक अच्छा ज्योतिष कुंडली को देखके जातक का मार्गदर्शन कर सकता है. कुंडली मे ग्रह विभिन्न भावों मे बैठे रहते हैं और जातक के जीवन मे प्रभाव उत्पन्न करते हैं. अगर कोई व्यक्ति जीवन मे  समस्या से ग्रस्त है तो इसका मतलब है की उसके जीवन इस समय बुरे ग्रहों का प्रभाव चल रहा है और यदि कोई व्यक्ति सफलता प्राप्त कर रहा है तो इसका मतलब है की इस समय उसके जीवन मे शुभ ग्रहों का प्रभाव है.  विभिन्न ग्रहों की दशा-अन्तर्दशा मे व्यक्ति अलग अलग प्रकार के प्रभावों से गुजरता है जिसके बारे एक अच्छा ज्योतिष जानकारी दे सकता है.  ग्रहों का असर व्यक्ति के कामकाजी जीवन पर पड़ता है.
ग्रहों का असर व्यक्ति के व्यक्तिगत जीवन पर पड़ता है.
सितारों का असर व्यक्ति के सामाजिक जीवन पर पड़ता है.
व्यक्ति के पढ़ाई –लिखाई , वैवाहिक जीवन, प्रेम जीवन, स्वास्थ्य आदि पर ग्रह – सितारों का असर पूरा पड़ता है.  आप “www.jyotishsansar.com” माध्यम से पा सकते हैं कुछ ख़ास ज्योतिषीय सेवाए ऑनलाइन :जानिए क्या कहती है आपकी कुंडली आ…

Vashikaran Yantra In Hindi, वशीकरण यंत्र को जानिए

Vashikaran Yantra In Hindi, वशीकरण यंत्र को जानिए, वशीकरण साधना, वशीकरण यन्त्र का सच.

किसी को मंत्र – तंत्र द्वारा खीचने की क्रिया वशीकरण कहलाती है, किसी के अन्दर अपने लिए विशेष भावनाए उत्पन्न करना वशीकरण के अंतर्गत लिया जाता है. जब खुद के तरक्की के लिए इस विद्या का प्रयोग किया जाता है तो इसे स्व-वशीकरण या फिर स्व – सम्मोहन कहा जाता है. शत्रुता ख़त्म करने के लिए इस विद्या का प्रयोग किया जाता रहा है, अपने प्रेम को पाने के लिए भी लोग इस विद्या का प्रयोग करते हैं, जब वशीकरण का स्तेमाल अच्छे काम के लिए किया जाता है तो कोई समस्या नहीं है परन्तु जब इसका गलत प्रयोग किया जाता है तो इसके दुष्परिणाम भी देखने को मिलते हैं. अतः किसी भी हालत में इसके गलत प्रयोग न करे. वशीकरण नाम जीतना अच्छा लगता है उतना आसान वास्तव में है नहीं, जानकारी के अभाव में और कठिन साधना के अभाव में इसे सफलता पूर्वक कर पाना संभव नहीं है.  किन लोगो को ये साधना करना चाहिए :वो महिलाए जिनपर अत्याचार हो रहा हो , वो लोग इन मंत्रो द्वारा अपनी शक्ति को बढ़ा सकते हैं और अच्छा जीवन जी सकते हैं.वो लोग जो व्यापार में लगातार हानि उठा रहे …

Pitru Dosh Nivaran Totke In Hindi, पितृ दोष निवरण के लिए टोटके

Pitru Dosh Nivaran Totke In Hindi, पितृ दोष निवरण के लिए टोटके, हिन्दी में जानिए पितृ दोष के प्रभाव को कम करने के लिए टोटके.
टोटके का अर्थ उन क्रियाओं से है जो की विशेष सामग्रियों के साथ विशेष महूरत में किये जाते हैं और जिनका परिणाम भी शीघ्र ही दीखता है. पूरी दुनिया में लोग टोटको का प्रयोग करते हैं क्यूंकि ये आसानी से हो जाते हैं और इनका परिणाम भी शीघ्र नजर आता है. 
“jyotishsansar.com” के इस लेख में आपको कुछ विशेष टोटके दे रहे है जिनका प्रयोग आप फ्री में कर सकते हैं और कुंडली में मौजूद पितृ दोष के प्रभाव को कम कर सकते हैं. पितृ श्राप, पितृ दोष , पितरो की शांति और मुक्ति में ये टोटके सहायक होंगे. जरुरत है सिर्फ विश्वास और निष्ठा से नियमित इनको करने की.  कुंडली में पितृ दोष है की नहीं ये कोई अनुभवी ज्योतिष आपकी कुंडली को देखके बता सकता है और जब ये निश्चित हो जाए की कुंडली में पितृ दोष है तो इन टोटको का प्रयोग आप कर सकते हैं. इन टोटको से पितरो का भी कल्याण होगा, आपका भी कल्याण होगा और जीवन सफल होगा. 
आइये अब जानते हैं पितृ दोष को दूर करने के कुछ फ्री टोटके : 1.घर के या दूकान के उत्तर – पश…

Importance Of Vastu || वास्तु का महत्तव

Vastu ka mahaatwa, वास्तु का महत्व क्या है, क्यों जरुरी हैं वास्तु ?, क्यों स्तेमाल करे वास्तु शाश्त्र के नियमो का 
वास्तु उर्जा के समन्वय का विज्ञान है, इसके सिद्धांतो का ध्यान अगर भवन निर्माण करते हुए रखा जाए तो निश्चित ही स्वस्थ्य और सम्पन्नता उस जगह पर निवास करती है. प्राचीन समय से ही वास्तु कला का स्तेमाल राजा-महाराजा, विद्वान् वर्ग करते आये हैं, प्राचीन काल में ये विद्या सिर्फ कुछ ही लोग जानते थे पर आज के समय में इसका स्तेमाल बहुत किया जा रहा है और साधारण वर्ग भी इसका लाभ ले रहे हैं.  स्थापत्य वेद में इस विषय से सम्बंधित अच्छा विवरण प्राप्त होता है, रिग वेद में भी वास्तु देवता को पूजने का वर्णन प्राप्त होता है. वास्तु शाश्त्र 5 तत्त्वों पर आधारित हैं जिन्हें हम धरती, आकाश, अग्नि, वायु और जल के नाम से जानते हैं. 
मुख्यतः 8 दिशाएँ होती है जिनमे की विभिन्न शक्तियों का वास माना जाता है , भवन निर्माण में इन शक्तियों का भी ध्यान रखा जाता है. उदाहरण के लिए नैरित्य कोण में पितृ शक्ति का वास माना जाता है, उत्तर में कुबेर का वास माना जाता है आदि. 
एक गलत निर्माण जीवन भर के लिए अपशकुन को प…

vastu kya hai || वास्तु क्या है

Kya hai vastu, वास्तु क्या है, क्या फायदे होते हैं वास्तु के सिद्धांतो को प्रयोग करने से, दिशा और देवो का वास.
भारतीय स्थापत्य वेद के अंतर्गत वास्तु का विवरण प्राप्त होता है. स्थापत्य वेद अथर्व वेद का एक भाग है. वास्तु विज्ञान का सम्बन्ध उस जगह की उर्जा से है जहा व्यक्ति काम करता है, रहता है, खेलता है, सोता है, खाना बनता है आदि. पूरा विश्व पञ्च तत्वों के कारण ही अस्तित्व में है जिसमे की अग्नि, वायु, जल, आकाश और धरती शामिल है. इन पञ्च तत्त्वों का असर इस दुनिया पर हर वस्तु पर  रहता है अतः पञ्च तत्त्व के बिना विश्व की कल्पना नहीं की जा सकती है. वास्तु शास्त्र में जो सिद्धांत दिए गए हैं वो इन्ही पांच तत्त्वों से जुड़े हैं. अगर किसी जगह में पञ्च तत्त्वों की उर्जा को बराबर कर दिया जाए तो वहां सफलता के रास्ते खुल जाते हैं.  अगर आपका ऑफिस, घर, फैक्ट्री, सही वास्तु के नियमो से बनाया गया है तो ये निश्चित है की सफलता आपके कदम चूमेगी और आपका भविष्य सुखमय होगा. परन्तु इसके विपरीत अगर वास्तु दोष बहुत है तो जीवन में संघर्ष बढता जाएगा. 
हम समाज में देख सकते हैं की कई घरो में लोग बीमार ही रहते हैं, किस…

Mahatma Gandhi Se Kya Seekh Sakte Hain

Mahatma Gandhi aur safalta Sootra, Free encyclopaedia in Hindi,  kya seekhe mahatma Gandhi se, गांधीजी की कुंडली का ज्योतिषीय विश्लेषण , गांधीजी के लोकप्रिय होने के कारण क्या है, गांधीजी को श्रद्धांजलि.
एक व्यक्ति जिसने देश को बदलने में महत्त्वपूर्ण योगदान दिया, एक व्यक्ति जिसने अहिंसा के सिद्धांत के शक्ति को सबको बताया. एक व्यक्ति जिसने पवित्रता, जिन्दादिली, जोश, जूनून की मिसाल पेश की, वो है महात्मा गांधी, इनको बापूजी के नाम से भी जाना जाता है, ये हैं राष्ट्रपिता.  इनका पूरा नाम है मोहनदास करमचंद गांधी जिन्होंने राजनीति और समाज उत्थान के कार्यक्रम में अद्वितीय भाग लिया.  किसी ने सोचा भी नहीं होगा की गुजरात के पोरबंदर में 2 october 1869 को जन्म लेने वाला बालक देश में क्रान्ति ले आयेगा. एक बालक जिसने अपनी शिक्षा लन्दन विश्वविद्यालय से पूरी की ने पुरे विश्व को बताया की किस प्रकार से सहज और सदा जीवन हमे ख़ुशी देगा.  महात्मा गाँधी अपने सत्याग्रह, उपवास के लिए जाने जाते हैं. वे सिर्फ भारत में ही प्रसिद्ध नहीं है अपितु पुरे संसार में उनके सिद्धांतो को मानने वाले लोग मौजूद है. उनके पाठ स्कूल/…

Enema Kya hai , एनीमा क्या है

Enema kya hai, क्या है एनीमा, घर में कैसे करे एनीमा, पेट या बृहदान्त्र को साफ़ करने का सरल उपाय, एनीमा में स्तेमाल होने वाले उपकरण, सुरक्षा उपाय, Kabj/constipation ka upaay. क्या आप कब्जियत से परेशान हैं क्या आप एसिडिटी या गैस की समस्या से परेशान हैं.क्या आप सुबह संतुष्ट नहीं हो पाते हैं. क्या आपको ऐसा लगता है की शारीर के अन्दर किसी प्रकार का जहर समस्या पैदा कर रहा है.क्या आप एक स्वस्थ शारीर और दिमाग चाहते हैंक्या आप अपने स्वास्थ्य को लेके चिंतिति है. तो इसमे कोई शक नहीं की एनीमा एक बहुत अच्छा विकल्प हो सकता है स्वस्थ रहने के लिए. आइये समझते हैं एनीमा को – आज के दौर बहुत ही व्यस्त है और हम सभी रोज क्या खाते हैं , क्या पीते हैं, ये हम खुद ही नहीं जानते हैं. transfat को भी हम नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं. दूषितता के कारण हमारा जीवन रोगों से भर जाता है और दवाओं के सहारे जीवन गुजरना होता है. ऐसे में एनीमा हमारे लिए बहुत ही मददगार साबित हो सकता है जो की कोई भी व्यक्ति घर पर स्तेमाल कर सकता है.  एनीमा शारीर से दूषित पदार्थो को बहुत आसानी से बाहर कर सकता है और शारीर को रोगों से मुक्त कर सकता है. इ…