vedic jyotish from India

हिंदी ज्योतिष ब्लॉग ज्योतिष संसार में आपका स्वागत है

पढ़िए ज्योतिष और सम्बंधित विषयों पर लेख और लीजिये परामर्श ऑनलाइन

Dushere Ka Jyotishiy Mahattw

दशहेरे का महत्त्व हिंदी में जानिए. क्या करे दशहेरे में सफलता के लिए, जानिए ज्योतिषीय महत्त्व दशहेरे का. 
दशहेरे का महत्त्व हिंदी में जानिए. क्या करे दशहेरे में सफलता के लिए, जानिए ज्योतिषीय महत्त्व दशहेरे का.
dushere ka mahattw
भारत में दशहेरा एक ख़ास उत्साव है जिसे सभी लोग मिलके मनाते हैं, इसे विजयादशमी भी कहते हैं. शारदीय नवरात्री के ख़त्म होते ही दशमी तिथि को दशहेरा मनाया जाता है. इसके पीछे जो मान्यता है वो ये की इसी दिन राम और लक्ष्मण जी ने रावण का अंत किया था और सभी ने ख़ुशी मनाई थी. ये दिन बुराई के ऊपर अच्छाई की जीत के रूप में मनाया जाता है. 
दशहेरा ये याद दिलाता है की झूठ का अस्तित्तव ज्यादा नहीं टिक सकता है. सच्चाई हमेशा जीत जाती है.

आइये जानते हैं कैसे दशहेरे को मनाया जाता है ?
साधारणतः एक बड़े मैदान में रावण का पुतला बनाया जाता है और शाम को इसे राम के द्वारा मनाया जाता है. लोग एक जुट होक इसे देखते हैं. पुरे शहर के लोग या गाँव के लोग एक जगह इकट्ठे होते हैं और मेले जैसा दृश्य दिखाई देता है. सभी आनंद मनाते हैं , खाते  है पीते हैं और रावन दहन के कार्यक्रम का आनंद उठाते हैं. 
इस दिन शश्त्रो की पूजा भी होती है , लोग एक दुसरे को मिठाई देते हैं और दशहेरे की बधाई देते हैं. हर तरफ ख़ुशी और उल्लास का माहोल रहता है. 

आइये जानते हैं दशहेरे का ज्योतिषीय महत्त्व :

ऐसी मान्यता है की ये दिन बहुत शुभ होता है और इस दिन किसी भी नए काम को करने के लिए किसी महूरत देखने की जरुरत नहीं होती है. 
  • अतः लोग इस दिन नए वाहन खरीदते हैं.
  • नया व्यापार शुरू करते हैं.
  • कुछ लोग स्वास्थ्य और सम्पन्नता के लिए कर्म काण्ड करते हैं. 
  • इस दिन शश्त्रो की पूजा से रक्षा होती है, ऐसी मान्यता है. 
  • इस दिन मंत्र और तंत्र सिद्धि के लिए भी साधक साधना करते हैं. 
  • जिनकी फैक्ट्री है वो लोग अपने मशीनों की पूजा करते हैं जिससे की पुरे साल वो उन्हें लाभ दे सके.
  • विद्यार्थीयो को इस दिन अपने किताबो की पूजा करनी चाहिए , इससे सफलता मिलती है. 
कुछ लोग इस दिन दुसरो को नुक्सान पहुचाने के लिए भी पूजा , टोटका आदि करते हैं जो की गलत है, इसे पूरी तरह से रोकना चाहिए. 

दशहेरा उत्सव है सच्चाई की जीत का जश्न मनाने का. ये त्यौहार है अपने अन्दर की बुराइयों को मारने का. 
दशहेरे के रोज हम ये प्राण ले सकते हैं की –
  • अब हम किसी प्रकार का नशा नहीं लेंगे. 
  • अब हम दारु नहीं पियेंगे.
  • अब हम सिगरेट , बीडी आदि नहीं पियेंगे. 
  • अब हम किसी भी कमजोर को नहीं सतायेंगे.
  • हम कभी नकारात्मक नहीं सोचेंगे. 
इस प्रकार से हम अपने जीवन को सफल बना सकते हैं कुछ बुराइयों को छोड़ के. 

और सम्बंधित लेख पढ़े:
दशहेरे का महत्त्व हिंदी में जानिए. क्या करे दशहेरे में सफलता के लिए, जानिए ज्योतिषीय महत्त्व दशहेरे का. 

No comments:

Post a Comment

Indian Jyotish In Hindi