vedic jyotish from India

हिंदी ज्योतिष ब्लॉग ज्योतिष संसार में आपका स्वागत है

पढ़िए ज्योतिष और सम्बंधित विषयों पर लेख और लीजिये परामर्श ऑनलाइन

Rakshabandhan Mahurat in Hindi

Rakshabandhan Mahurat 2016 in Hindi, क्या खास बात है २०१६ के रक्षाबंधन में, ग्रहों की दशा जानिए १८ अगस्त २०१६ को., ज्योतिषीय महत्तव रक्षाबंधन का.
kab manaaye rakhi, kab baandhe rakhi 2016, rakshabandhan ka mahattw
rakshabandhan mahurat in hindi
 एक पवित्र त्यौहार है रक्षा बंधन, एक महत्त्वपूर्ण उत्सव है रक्षाबंधन जो की समर्पित है भाई और बहनों को. भाई कहीं भी हो पर रक्षाबंधन के दिन वो जरुर से कोशिश करते हैं की घर पर आये और अपनी प्यारी बहन से राखी बंधवाये और उसे कुछ उपहार दे. 

जो धागा बहन अपने भाई को बांधती है वो कोई साधारण धागा नहीं होता अपितु एक रक्षा कवच की तरह काम करता है जो की व्यक्ति के भाग्वोदय में सहायक होता है. जहाँ बहन भाई की रक्षा के लिए पवित्र धागा बांधती है वही भाई भी बहन की रक्षा करने का वादा करते हैं और विश्वास दिलाते हैं की जीवन भर जब भी जरुरत पड़ेगी तो वो बहन की रक्षा करेंगे. 

आइये जानते हैं की २०१६ के रक्षाबंधन की क्या ख़ास बात है :
१८ अगस्त २०१५ को दिन है गुरुवार और पूर्णिमा तिथि है. इस दिन ग्रहों की स्थिति काफी अच्छी है जो की इस दिन को ख़ास बनाती है , आइये देखते हैं –
A ) सूर्य अपनी खुद के राशि में विराजित रहेंगे जिससे की दिन शुभ हो जाता है और भाग्योदय कारक बनता है.
B ) गुरु भी मित्र राशि को होके विराजमान रहेगा जो की सौभाग्य कारक  होगा.
C ) तीसरा ब्धादित्य योग का निर्माण भी हो रहा है गोचर मे.

ये दिन साधको के लिए भी विशेष रहेगा सूर्य और गुरु की शुभता के कारण.
आइये अब आपको बताते हैं कुछ ख़ास बाते जिससे की आप इस दिन को और ख़ास बना सकते हैं और परेशानियों को कम कर सकते हैं :
1) राहू इस समय शत्रु राशि मे रहेगा जिससे की परेशानियां हो सकती है , इसके लिए भगवान् श्री गणेश को राखी अर्पण करना चाहिए और शुभता के लिए प्रार्थना करना चाहिए.
2)    जिनके कुंडली में शनि ख़राब है उनको राखी के दिन शिवजी का अभिषेक काले तिल और जल से करना चाहिए. इस दिन शनि भी शत्रु राशि में रहेगा जिससे की क्रोध या दुर्घटना को बढ़ा सकता है, सावधान रहे.
3)    जिनके कुंडली में शुक्र ख़राब हो उनको चाहिए की रक्षाबंधन के दिन किसी माता मंदिर में जाके पूजन करके कपूर का दान करे, और साथ ही बहनों को इतर, कॉस्मेटिक्स का सामान उपहार में दे. 

आइये अब जानते हैं राखी बाँधने के शुभ महूरत :

1.  सुबह १०:३० से १२ तक चर का महूरत रहेगा
२. दोपहर १२ से १:३० तक लाभ का महूरत रहेगा.
३. १:३० से ३ तक अमृत का महूरत रहेगा.
४. शाम को ४:३० से ६ तक शुभ का महूरत रहेगा.

चोघडिया के हिसाब से इन समय मे राखी बाँधी जा सकती है.

jyotishsansar.com की तरफ से सभी को शुभकामनाये.

और सम्बंधित लेख पढ़े :
Raksha Bandhan Mahurat 

Rakshabandhan Mahurat 2016 in Hindi, क्या खास बात है २०१६ के रक्षाबंधन में, ग्रहों की दशा जानिए १८ अगस्त २०१५ को., ज्योतिषीय महत्तव रक्षाबंधन का.

No comments:

Post a Comment

Indian Jyotish In Hindi