Skip to main content

Posts

Showing posts from July, 2017

Jyoitish Sewaye Online || ज्योतिष सेवा ऑनलाइन

Jyotish in Hindi, कुंडली का अध्ययन हिंदी में, ज्योतिष से संपर्क के लिए यहाँ क्लिक करे>> , .
ज्योतिष सेवा ऑनलाइन: एक अच्छा ज्योतिष कुंडली को देखके जातक का मार्गदर्शन कर सकता है. कुंडली मे ग्रह विभिन्न भावों मे बैठे रहते हैं और जातक के जीवन मे प्रभाव उत्पन्न करते हैं. अगर कोई व्यक्ति जीवन मे  समस्या से ग्रस्त है तो इसका मतलब है की उसके जीवन इस समय बुरे ग्रहों का प्रभाव चल रहा है और यदि कोई व्यक्ति सफलता प्राप्त कर रहा है तो इसका मतलब है की इस समय उसके जीवन मे शुभ ग्रहों का प्रभाव है.  विभिन्न ग्रहों की दशा-अन्तर्दशा मे व्यक्ति अलग अलग प्रकार के प्रभावों से गुजरता है जिसके बारे एक अच्छा ज्योतिष जानकारी दे सकता है.  ग्रहों का असर व्यक्ति के कामकाजी जीवन पर पड़ता है.
ग्रहों का असर व्यक्ति के व्यक्तिगत जीवन पर पड़ता है.
सितारों का असर व्यक्ति के सामाजिक जीवन पर पड़ता है.
व्यक्ति के पढ़ाई –लिखाई , वैवाहिक जीवन, प्रेम जीवन, स्वास्थ्य आदि पर ग्रह – सितारों का असर पूरा पड़ता है.  आप “www.jyotishsansar.com” माध्यम से पा सकते हैं कुछ ख़ास ज्योतिषीय सेवाए ऑनलाइन :जानिए क्या कहती है आपकी कुंडली आ…

Durbhagya Ko Kaise Jaane aur Jyotish Samadhan

कैसे जाने दुर्भाग्य को या बदकिस्मती को, कैसे दूर करे दुर्भाग्य को ज्योतिष के द्वारा, जानिए कैसे ग्रह प्रभावित करते हैं जीवन को कैसे जाने दुर्भाग्य/बदकिस्मती को? वो समय जब कोई व्यक्ति सभी तरफ से परेशानियों से घिर जाता है वो समय दुर्भाग्य का समय कहलाता है, ख़राब समय कहलाता है, कठिन समय कहलाता है. हर कोई अपने परेशानी के समय से बचना चाहता है और इसके लिए विभिन्न प्रकार के यत्न करता है. ज्योतिष के हिसाब से कोई भी बुरा समय हमारे द्वारा किये गए पूर्व कर्मो का ही फल होता है.  बुरा समय व्यक्ति को भाग्य पर भरोसा करना सिखा देता है क्यूंकि उस समय सारी मेहनत भी काम नहीं आती है. यही समय दुसरो के आगे झुकना सिखाता है, ये समय अहंकार को भी चकना चूर कर देता है. ये समय बताता है की किसी के साथ बुरा नहीं करना चाहिए. हालांकि ये भी सत्य है की दुर्भाग्य हमेशा नहीं रहता है, कुछ निश्चित समय के बाद फिर से जीवन बदलने लगता है और ये समय को ज्योतिष के द्वारा जाना जा सकता है. आइये जानते हैं की जब दुर्भाग्य आता है तो जीवन में क्या क्या हो सकता है? बदकिस्मती के कारण जातक की नौकरी जा सकती है जिसके कारण जीवन में परेशानी छा …

Hariyali Amavasya Ka Mahattw

हरियाली अमावस्या का महत्त्व, कौन सी पूजाएँ फायदा देती है हरियाली अमावस्या  को, जनिये सावन अमावस्या का महत्त्व, हरियाली अमावस और ज्योतिष. सावन का महिना बहुत ख़ास होता है और इस महीने में पड़ने वाले अमावस्या को हरियाली अमावस्या कहते हैं. ये दिन मानसून के महत्त्व को भी बताता है और हर तरफ हरियाली का प्रतिक है. हरियाली अमावस्या को इस दिन विशेषकर हिन्दू लोग अलग अलग प्रकार के कर्म काण्ड करते हैं जीवन को सफल बनाने के लिए. भक्त गण भगवान् शिव की विशेष पूजा अर्चना करते हैं श्रद्धा भक्ति से. आइये जानते हैं की हरियाली अमावस्या को किन किन नामो से जाना जाता है?आन्ध्र प्रदेश में इसे “चुक्काला अमावस्या” के नाम से जाना जाता है.महाराष्ट्र में इसे “गटारी अमावस्या” के नाम से जाना जाता है. उड़ीसा में इसे “चिटालागी अमावस्या” के नाम से मनाया जाता है. गुजरात में इसे “दिवसो” के नाम से जाना जाता है. कर्णाटक में इसे “भीमाना अमावस्या” के नाम से जानते हैं. आइये जानते है हरियाली अमावस्या का महत्त्व: ज्योतिष के हिसाब से अमावस को पितरो के लिए कर्म काण्ड होता है. ये दिन पितरो को समर्पित है. इस दिन लोग पितरो को प्रसन्न करन…

Apne Dar Ko Kaise Jeete Shaandar Jivan Jeene ke Liye

कैसे जीते अपने डर को, जानिए कुछ बेहतरीन उपाय डर से बाहर आने के लिए, कैसे जियें सफल जीवन.
भय एक अहसास है कुछ खोने का, जैसे सामाजिक स्टेटस खोने का, किसी व्यक्ति से बिछड़ने का, धन हानि का, संपत्ति खोने का, ऐशो आराम से जीने का आदि. भय के बारे में मुख्य बात ये है की ये जातक को भिखारी जैसे बना सकता है. मन से व्यक्ति गुलामो जैसे जीवन जीने के लिए मजबूर हो जाता है भय के कारण और जीवन को नरक बना लेता है. भय एक श्राप है जो जातक के वर्तमान और भविष्य को ख़राब कर सकता है अतः इससे बाहर आना बहुत जरुरी होता है. हमेशा सचेत रहिये और किसी भी हालत में डर को अपने अन्दर घुसने मत दीजिये. आइये देखते है की कैसे डर उत्पन्न होता है मन में ?जब एक पढ़ा लिखा व्यक्ति नौकरी नहीं पाता है तो डर उत्पन्न हो जाता है.जब किसी को अपने पसंद का जीवन साथी नहीं मिल पाता है तो डर उत्पन्न होने लगता है.जब व्यापार नीचे आने लगता है तो व्यक्ति नकारात्मक भावों से भर जाता है.कुछ लोग तो ऊँची आवाज से भी घबरा जाते हैं.अगर बिजली चली जाए तो भय उत्पन्न हो जाता है.एक ने दुल्हन को नए परिवार में जाने का डर होता है.कुछ लोगो को तो हर नए व्यक्ति से मिल…

Bhay Se Kaise Chutkaara Paaye Jyotish Ke Madhyam Se

भय क्या है, क्यों लगता है डर, कैसे बाहर आयें डर से, जानिए ज्योतिषीय उपाय डर से बाहर आने के लिए. भय हमारे जीवन में बहुत रुकावट पैदा करता है, हम बहुत से निर्णय इसीलिए नहीं ले पाते है क्यूंकि डर लगता है. भय एक ऐसा कीड़े की तरह है जो की शारीर में रहके अन्दर से खाता जाता है. डर एक धीमा जहर जैसे हमारे ऊपर असर डालता है अतः ये बहुत जरुरी है की हम इससे जल्द से जल्द बाहर आयें. इस ज्योतिषीय लेख में हम जानेंगे की भय से कैसे छुटकारा पायें और कैसे जीयें बेहतरीन जीवन. भय क्या है ? मेरे हिसाब से भय एक प्रकार का नकारात्मक अह्सास है जो की हमे किसी काम को अच्छी तरह से करने से रोक देता है. भय के कारण व्यक्ति अंतर्मुखी हो जाता है और धीरे धीरे अवसादग्रस्त भी हो जाता है. अतः किसी भी प्रकार के भय को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए.


read more about अपने डर को कैसे जीतें शानदार जीवन के लिए आइये जानते हैं की कैसे भय से छुटकारा पाया जा सकता है ज्योतिषीय उपायों द्वारा?

Kamjor Guru Ka Jivan Par Prabhav Aur Upaay Jyotish Me

कमजोर गुरु का प्रभाव जीवन में, कैसे बढ़ाए गुरु की शक्ति को , क्या नुक्सान होता है गुरु कमजोर होने से ज्योतिष के हिसाब से, जानिए कुछ ख़ास उपाय अच्छे जीवन के लिए. अगर कुंडली में गुरु ग्रह शुभ और मजबूत हो तो इसमें कोई शक नहीं की जातक जीवन में जबरदस्त सफलता हसील कर सकता है.एक अकेला शुभ गुरु बाकी ग्रहों की समस्याओं को भी कम कर सकता है. अतः जिनके कुंडली में गुरु ग्रह शुभ और शक्तिशाली है वो भाग्यशाली होते हैं. गुरु ग्रह ज्ञान से सम्बन्ध रखता है, गंभीरता से सम्बन्ध रखता है, सफलता से सम्बन्ध रखता है और साथ ही असाधारण शक्ति से भी सम्बन्ध रखता है. गुरु ग्रह के कारण जातक को समाज में आदर, सम्मान, अधिकार मिलता है. आइये देखते है की कमजोर गुरु ग्रह के कारण जीवन में क्या असर हो सकते हैं:कमजोर गुरु के कारण जातक को विद्द्या प्राप्ति में समस्या हो सकती है जिसके कारण अन्य परेशानियाँ उत्पन्न हो सकती है. समाज में जातक को अपना नाम करने में परेशानी आ सकती है.कमजोर गुरु के कारण दुसरो के द्वारा जातक दबा दिया जाता है.इसके कारण जातक को दुसरो को प्रभावित करने में भी समस्या आती है. क्या करे गुरु की शक्ति को बढाने के ल…

Kamjor Budh Ka Jivan Par Prabhav Aur Upaay Jyotish Me

कमजोर बुध का प्रभाव जीवन में, कैसे बढ़ाए बुध की शक्ति को , क्या नुक्सान होता है बुध कमजोर होने से ज्योतिष के हिसाब से, जानिए कुछ ख़ास उपाय अच्छे जीवन के लिए. बुध एक ऐसा ग्रह है जो हमे क्षमता देता है किसी भी कार्य को दक्षता से करने का. अतः किसी भी व्यक्ति की बुद्धिमत्ता इस बात पर निर्भर करती है की कुंडली में बुध ग्रह की स्थिति कैसी है. कमजोर बुध जातक को मजबूर कर देता है की वो संघर्षमय जीवन जिए दूसरी तरफ मजबूत बुध जीवन को सफलता पूर्वक जीने के रास्ते खोल देता है. शुभ बुध के कारण जातक किसी भी कार्य को आसानी से कर सकता है. बुध जातक को ये भी क्षमता देता है की किसी भी परिस्थिति का सामना बुद्धिमत्ता से कैसे करना है, कैसे किसी कार्य को आसानी से करना है, अतः शुभ बुध से जातक को एक आकर्षक व्यक्तित्त्व मिलता है. बहुत से वक्ता, लेखक, नेताओं, खोजकर्ताओं के कुंडली में बुध का अच्छा प्रभाव दीखता है. आइये देखते है की कैसे कमजोर बुध हमारे जीवन को प्रभावित करता है:कमजोर बुध के कारण व्यक्ति की बुद्धि प्रभावित होती है.इसके कारण जातक का दिमाग कमजोर हो सकता है.कमजोर बुध के कारण गले, हाथ, त्वचा में कमजोरी पाई जा…

Kamjor Mangal Ka Jivan Par Prabhav Aur Upaay Jyotish Me

कमजोर मंगल का प्रभाव जीवन में, कैसे बढ़ाए मंगल की शक्ति को , क्या नुक्सान होता है मंगल कमजोर होने से ज्योतिष के हिसाब से, जानिए कुछ ख़ास उपाय अच्छे जीवन के लिए.
मंगल शक्तिशाली ग्रह है और इसकी जीवन में बहुत महत्त्व है. मंगल प्रतिक है शारीरिक शक्ति का, जीवनी शक्ति का आदि.  जातक की संकल्प शक्ति को भी मंगल प्रभावित करता है. कुंडली में अच्छा मंगल हो तो जातक अपनी इच्छाओ को जीवन में पूरा कर लेता है मेहनत से.  मंगल का ज्यादा शक्तिशाली होना जातक को गुस्सेल बना सकता है और कमजोर मंगल के कारण जातक शांत स्वभाव का हो जाता है, कभी कभी ये अलसी भी बना देता है, बेकार भी कर देता है, गैर जिम्मेदार भी बना देता है.  कुंडली में मंगल शुभ और शक्तिशाली हो तो जातक रक्षा सेवाओं में सफलता प्राप्त करता है. सफल कलाकारों में भी मंगल शुभ देखा गया है.  कमजोर मंगल के कारण जातक खून की कमी से भी ग्रस्त हो सकता है और इसके कारण जातक सेक्स करने में भी पूर्ण रूप से समर्थ नहीं हो पाता है जिससे व्यक्तिगत जीवन में परेशानी उत्पन्न होती है. मंगल ग्रह उर्जा से सम्बन्ध रखता है अतः इसका सम्बन्ध सभी अन्य विषयो से होता है. अतः ये जरुरी …

Online Jyotish Prashn Uttar

ज्योतिष संसार के पाठको के लिए ये सेवा शुरू की जा रही है जिसमे पाठक अपने प्रश्नों का उत्तर ऑनलाइन पा सकते हैं.
आप अनेक विषयो से सम्बंधित सवाल को ओपन प्रश्न उत्तर के जरिये पूछ सकते हैं जिसका जवाब www.jyotishsansar.com ब्लॉग में प्रकाशित किया जाएगा.
अगर घर में परेशानी हो तो आप पूछ सकते है ज्योतिष से सवाल. अगर शिक्षा में परेशानी आ रही है तो पूछ सकते हैं ज्योतिष से सवाल ऑनलाइन प्रश्न उत्तरी में.अगर बिमारी परेशान कर रही है तो पूछ सकते है सवाल.अगर कानूनी अडचने आ रही है जीवन में तो भी पूछ सकते हैं.अगर वैवाहिक जीवन में परेशानी आ रही है तो भी आप ज्योतिष से प्रश्न पूछ सकते हैं. अगर बिना बात के दुश्मनी बढती जा रही है और आप जानना चाहते है ज्योतिषीय कारण तो पूछ सकते हैं प्रश्न. कैसे पूछे प्रश्न ज्योतिष से ऑनलाइन प्रश्न उत्तर में?

Jyotish Se Baat Kare

ज्योतिष से बात करके समाधान पायें अपनी समस्याओं का. अगर चिंताएं परेशान कर रही है, अगर जीवन दुश्वार हो रहा है, अगर ग्रहों के कारण कुछ समझ नहीं आ रहा है तो आप ज्योतिष से बात करके भी अपने समस्याओं का सामाधान प्राप्त कर सकते हैं. विवाह परेशानियों का समाधान पायें ज्योतिष से.पितृ दोष का समाधान पायें ज्योतिष से.कालसर्प दोष का समाधान पायें ज्योतिष से.प्रेम में असफल हो रहे हो तो जानिए ग्रहों का खेल ज्योतिष से. www.jyotishsansar.com के द्वारा आप पा सकते है अपने कुंडली का विवेचन, आप जान सकते हैं अपने बारे में लाभदायक रत्न, शुभ पूजाएँ आदि.
ज्योतिष से बात करके आप जान सकते है कामकाजी जीवन में आगे बढ़ने के ज्योतिषीय उपाय.नौकरी में समस्याओं को दूर करने के तरीके.प्रेम विवाह या रोमांस जीवन में आनेवाली समस्याओं का समाधान.शिक्षा में समस्याओं के समाधान के लिए ज्योतिषीय उपाय.काला जादू से परेशानी से छुटकारा.बीमारियों से छुटकारे के लिए ज्योतिषीय उपाय. ज्योतिष परामर्श के लिए कुछ बाते ध्यान में रखे :