Skip to main content

Posts

Showing posts from June, 2016

Jyoitish Sewaye Online || ज्योतिष सेवा ऑनलाइन

Jyotish in Hindi, कुंडली का अध्ययन हिंदी में, ज्योतिष से संपर्क के लिए यहाँ क्लिक करे>> , .
ज्योतिष सेवा ऑनलाइन: एक अच्छा ज्योतिष कुंडली को देखके जातक का मार्गदर्शन कर सकता है. कुंडली मे ग्रह विभिन्न भावों मे बैठे रहते हैं और जातक के जीवन मे प्रभाव उत्पन्न करते हैं. अगर कोई व्यक्ति जीवन मे  समस्या से ग्रस्त है तो इसका मतलब है की उसके जीवन इस समय बुरे ग्रहों का प्रभाव चल रहा है और यदि कोई व्यक्ति सफलता प्राप्त कर रहा है तो इसका मतलब है की इस समय उसके जीवन मे शुभ ग्रहों का प्रभाव है.  विभिन्न ग्रहों की दशा-अन्तर्दशा मे व्यक्ति अलग अलग प्रकार के प्रभावों से गुजरता है जिसके बारे एक अच्छा ज्योतिष जानकारी दे सकता है.  ग्रहों का असर व्यक्ति के कामकाजी जीवन पर पड़ता है.
ग्रहों का असर व्यक्ति के व्यक्तिगत जीवन पर पड़ता है.
सितारों का असर व्यक्ति के सामाजिक जीवन पर पड़ता है.
व्यक्ति के पढ़ाई –लिखाई , वैवाहिक जीवन, प्रेम जीवन, स्वास्थ्य आदि पर ग्रह – सितारों का असर पूरा पड़ता है.  आप “www.jyotishsansar.com” माध्यम से पा सकते हैं कुछ ख़ास ज्योतिषीय सेवाए ऑनलाइन :जानिए क्या कहती है आपकी कुंडली आ…

Kaise Bachaaye Ghar Ko Buri Najar Se

कैसे बचाए अपने घर को बुरी नजर से, क्या प्रभाव होता है घर पर बुरी नजर का, जानिए घर को सुरक्षित करने के कुछ आसान उपाय, काले जादू और बुरी नजर मे अन्तर. साधारणतः हम ये सोचते है की बुरी नजर से सिर्फ मानव ही प्रभावित होते हैं परन्तु ऐसा नहीं है, सच्चाई ये है की बुरी नजर से हमारा घर, ऑफिस, काम काज का स्थान, हमारे त्यौहार आदि भी प्रभावित होते हैं जिसके कारण अनावश्यक तनाव और समस्याएं पैदा हो जाती है. 
क्या होता है काला जादू

जब नकारात्मक ऊर्जा हमारे घर को घेरती है तो पुरे परिवार के लोग विभिन्न प्रकार के परेशानियों से ग्रस्त हो जाते हैं. यही कारण है की हमारे पुर्वाज और बुजुर्ग लोग घर को बचाने के लिए अलग अलग प्रकार के टोटके करते रहते थे और करते हैं भी जैसे – काला मटका टांग देते हैं, काला कपडा लगा देते हैं, भयानक चित्र लगा देते हैं , निम्बू मिर्ची का प्रयोग करते हैं , यन्त्र लगते हैं आदि .
कोई विश्वास करे या न करे पर नकारात्मक शक्तियों के अस्तित्व को नाकारा नहीं जा सकता है. अंग्रेजी मे बुरी नजर को “evil eye effects” के नाम से जाना जाता है. 
आइये अब जानते हैं की काला जादू और बुरी नजर मे क्या अंतर होत…

Gajkesari Yoga Jyotish Mai in Hindi

Gajkesari Yoga Jyotish Mai in Hindi, क्या होता है गजकेसरी योग, क्या लाभ होता है गजकेसरी योग के, कब इस योग का असर जीवन में दिखाई नहीं देता है?
ज्योतिष के अन्दर जब भी राज योग की बात होती है तो गजकेसरी योग एक महत्वपूर्ण योग के रूप में सामने आता है. अगर ये योग कुंडली में सही तरीके से बनता है तो निश्चित ही व्यक्ति भाग्यशाली होता है, स्वास्थ्य, संपत्ति, सम्पन्नता जीवन में प्रवेश करता है और जीवन आसान हो जाता है. परन्तु ऐसे बहुत से लोग है जो की इस योग के होने पर भी संतोषप्रद जीवन नहीं जी रहे है. इस लेख में आपको मैं इस विषय पर बताने जा रहा हूँ. इस लेख के द्वारा आप जानेंगे की कब बनता है गजकेसरी योग, कब ये कमजोर पड़ता है और जीवन को सफल बनाने के लिए क्या करना चाहिए?. क्या होता है गजकेसरी योग ज्योतिष में? इस योग के अंतर्गत चन्द्रमा को या फिर चन्द्र लग्न को गुरु या अन्य शुभ ग्रहों द्वारा शक्ति और शुभता प्राप्त होती है और चन्द्र जो की मन का करक है और जल तत्त्व को संबोधित करता है तो व्यक्ति को मान सम्मान, स्वस्थ्य, स्थिरता, शक्ति, धैर्य, धन, प्रेम, पारिवारिक सुख आदि की प्राप्ति आसानी से हो जाती है. ज्…

Mulethi Ke Fayde In Hindi मुलेठी के फायदे

मुलेठी क्या है, इसके फायदे क्या है, कैसे प्रयोग करे और क्या सावधानियां हो सकती है मुलेठी के उपयोग के दौरान.
मुलेठी हर जगह आसानी से पंसारी के दूकान पे उपलब्ध होने वाली वस्तु है. इसका प्रयोग वैकल्पिक चिकित्सा पद्धति मे बहुत होता है और घरो मे भी लोग इसका प्रयोग आसानी से कर लेते हैं.
मुलेठी एक जड़ है जो की प्राकृतिक तौर पर मिठास लिए होती है. अंग्रेजी मे इसे licorice कहते हैं और पेट रोग, श्वास रोग, अलसर, त्वचा रोग आदि मे इसका प्रयोग होता है. 
आइये जानते है मुलेठी के कुछ प्रयोग:
१.    ये वैकल्पिक औषधि के रूप मे प्रयोग होती है.
२.    मुलेठी पेट के अन्दर के घावों को भी ठीक करने मे मदद करता है अगर किसी विशेषज्ञ के मार्गदर्शन मे लिया जाए.
३.    गैस्ट्रिक अल्सर और छोटी आंत के अलसर को ठीक करने मे भी इसका स्तेमाल होता है.
४.    सर्दी खांसी मे भी इसका स्तेमाल किया जाता है घरेलु इलाज के रूप मे.
५.    ज्यादा खांसी होने पर मुलेठी के चूर्ण को शहद मे मिला के चाटा जाता है. इसके टुकड़े को भी लेके चूसा जा सकता है.
६.    त्वचा समस्या समाधान मे भी इसका प्रयोग होता है.
७.    श्वास सम्बन्धी समस्याओं को दूर…

Ganga Duhera Ka Mahatwa In Hindi

Ganga Duhera Ka Mahatwa In Hindi, जानिए गंगा दुशहेरा के विषय में, क्यों मनाते हैं गंगा दुष्मी, २०१६ के गंगा दशेरा का महत्तव .
भारत में एक विशेष त्यौहार हर साल बड़े जोश से मनाया जाता है माँ गंगा की याद में. हिन्दू पौराणिक कथाओं के अनुसार गंगा एक पवित्र नदी है जो की पापों से लोगो को मुक्त करती है. इसे पापनाशिनी कहा गया है शास्त्रों में.
हिन्दुओं का ये अटूट विश्वास है की इस पवित्र दिन में अगर कोई गंगा में स्नान और दुबकी लगता है साथ ही पूजा करता है तो वो समस्त पापों से मुक्त हो जाता है और मुक्ति प्राप्त करता है.
गंगा दुशहरा को गंगा दशमी के नाम से भी जानते हैं और ये ज्येष्ठ मास में शुक्ल पक्ष के दशमी तिथि को मनाया जाता है.
इस दिन गंगा का अवतरण धरती पर हुआ था भागीरथ जी के अथक प्रयास के कारण, इसी कारण गंगा को भागीरथी भी कहा जाता है.
जहां जहां गंगा नदी बहती है वहां लोग गंगा घाट पर इकटठा होते हैं और पवित्र स्नान के बाद पूजा पाठ करते हैं, सिर्फ यही नहीं जहा अन्य नदियाँ है वहां भी लोग माँ गंगा का स्मरण करके स्नान और पाठ पूजा करते हैं.
धार्मिक तीर्थ स्थल जैसे हरिद्वार, वाराणसी, ऋषिकेश, अल्लाह…

Rajyoga Ke Bina Safalta Kaise Jyotish Mai

कुंडली मे राज योग नहीं होने पर भी सफलता, क्या ये संभव है की कुंडली मे राज योग न हो फिर भी एक सफल जीवन जिया जा सके, कैसे पायें सफलता.
ज्योतिष मे राजयोग एक बहुत ही रोचक विषय रहा है, लोग ये जानना चाहते है की “हमारे कुंडली मे राजयोग है की नहीं”. क्यूंकि राजयोग जीवन मे सभी प्रकार के सुखो को खीच लाता है, इससे जीवन सुगम हो जाता है , सरल हो जाता है, धन, ऐश्वर्या, मान-सम्मान आदि आसानी से जीवन मे मिल जाते हैं, जिनके कुंडली मे राज योग होता है.  इस लेख मे हम ये देखेंगे की उन लोगो का क्या जिनके कुंडली मे राज योग नहीं होते, क्या राज योग जरुरी होता है एक सफल जीवन जीने के लिए, क्या बिना राजयोग के सुख-सुविधापूर्ण जीवन नहीं जिया जा सकता है. इस लेख मे अपने अनुभव से जो मुझे पता चला है वो बता रहा हूँ.  ऐसा मत सोचिये की बिना राज योग के जीवन व्यर्थ है. ऐसा मत सोचिये की इसके बिना हम एक सुलभ जीवन नहीं जी सकते हैं. ऐसा मत सोचिये की राजयोग ही सफलता का एकमात्र सूचक है. 
इश्वर ने हमे बहुत ही खूबसूरत जीवन दिया है और हर व्यक्ति को कोई न कोई खूबी दी है. 
सफलता 2 प्रकार के लोग प्राप्त करते हैं: १.पहले वो जिनका भाग्य बह…

Rambha Vrat Ka Mahatwa In Hindi

Rambha Vrat Ka Mahatwa In Hindi, रम्भा तीज का महत्तव, कौन है देवी रम्भा, कैसे प्रसन्न करें अप्सरा रम्भा को, सुन्दरता और सफलता के लिए पूजा .
हिन्दू पौराणिक कथाओं के अनुसार ज्येष्ठ महीने के शुक्ल पक्ष के तीसरे दिन एक विशेष त्यौहार मनाया जाता है जिसका नाम है रम्भा तीज या रम्भा तृतीय, ये उत्सव उत्तर भारत में हर्षोल्लास से मनाया जाता है अप्सरा रम्भा की याद में और उनसे आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए. 
महिलायें इस दिन उपवास रखके अप्सरा रम्भा की पूजा करती है और उनसे सुन्दरता, समृद्धि आदि की कामना करती है.  ऐसी मान्यता है की समुद्र मंथन के दौरान देवी रम्भा का प्रकटीकरण हुआ था. 
आइये जानते है की कौन है रम्भा ? हिन्दू पौराणिक कथाओं के अनुसार देवलोक की अति सुन्दर अप्सरा जो की नृत्य कला में कुशल है, वाद्यों का प्रयोग करने में कुशल है साथ ही जो किसी भी तपस्वी की तपस्या भंग करने में कुशल है , वो है अप्सरा रम्भा. मान्यता के अनुसार देवराज इन्द्र किसी भी तपस्वी की परीक्षा लेने इन्ही को भेजते हैं. रम्भा धन के देवता कुबेर के पुत्र नालकुवर की पत्नी भी है. 
आइये अब जानते हैं रम्भा तीज उपवास के बारे में: