Hindi Jyotish Website, famous google jyotish, Astrologer in hindi

Panchang Ke Prakaar Jyotish Me in Hindi

पंचांग के प्रकार, फ्री ज्योतिष पाठ ४ , जानिए चन्द्र मास के बारे मे, सौर पंचांग, नक्षत्र केलेंडर, इस्लामिक महीने. 
पूर्व के पाठो मे हमने देखा ज्योतिष क्या है, महीनो को वैदिक भाषा मे क्या कहते हैं, राशियों का रहस्य आदि. इस ज्योतिषीय पाठ मे हम जानेंगे पंचांग के प्रकार, मुस्लिम महीनो के बारे मे. 
पंचांग के प्रकार, फ्री ज्योतिष पाठ ४ , जानिए चन्द्र मास के बारे मे, सौर पंचांग, नक्षत्र केलेंडर, इस्लामिक महीने.
panchang ke prakaar

ज्योतिष मे समय की जानकारी होना जरुरी होता है क्यूंकि अनेको कार्यो को करने के लिए विभिन्न महुरतो की जरुरत होती है. पंचांग को सूर्य, चन्द्रमा , ग्रहों के चाल के आधार पर बनाया जाता है. ये कई प्रकार के होते हैं.

मुख्यतः पंचाग ४ प्रकार के होते हैं:
१. कुछ पंचांग चन्द्रमा के आधार पर बनाए जाते हैं. 
२. कुछ पंचांग सूर्य के चाल के आधार पर बनाए जाते हैं. 
३. कुछ पंचांग नक्षत्रो के आधार पर बनाए जाते हैं. 
४. कुछ पंचांग धरती के आधार पर बनाए जाते हैं. 
आइये अब जानते हैं महीनो के बारे में :

1. चन्द्र मास:
ये 2 प्रकार के होते हैं –
१. पहला अमावस्या से पूर्णिमा तक 
२. दूसरा पूर्णिमा से अमावस्या तक 
2. सौर मास :
पुरे साल मे सूर्य १२ राशियों से गुजरता है, जब सूर्य किसी एक राशि मे रहता है तो उस समय को एक सौर मास कहते हैं. 
3. नक्षत्र मास:
राशियो को २७ नक्षत्रो मे बांटा गया है. चन्द्रमा एक नक्षत्र से करीब १ दिन मे गुजरता है. अतः २७ दिनों मे चन्द्रमा २७ नक्षत्रो से गुजरता है. इन दिनों को नक्षत्र महिना कहते हैं. 
4. पश्चिमी महिना:
पृथ्वी सूर्य का चक्कर करीब ३६५ और १/४ दिन मे लगाती है. ये समय १ साल कहलाता है. १ साल मे १२ महीने होते हैं, पश्चिमी केलेंडर इसी आधार पर बनते हैं. पश्चिमी महीनो के नाम निम्न लिखित है – 
जनवरी , फ़रवरी, मार्च, अप्रैल, मई , जून , जुलाई, अगस्त, सितम्बर, अक्टूबर , नवम्बर, दिसम्बर.
अब आइये जानते हैं इस्लामीक महीनो के बारे मे :
मुहर्रम
सफ़र 
रवीउल अव्वल 
रवीउल अखत 
जमादी उल अव्वल 
जमादी उल अखत 
रज्जन
सा वान 
रम जान 
सवाल 
जिकद 
जी हिज़ 

पंचांग के प्रकार, फ्री ज्योतिष पाठ ४ , जानिए चन्द्र मास के बारे मे, सौर पंचांग, नक्षत्र केलेंडर, इस्लामिक महीने. 

No comments:

Post a Comment