vedic jyotish from India

हिंदी ज्योतिष ब्लॉग ज्योतिष संसार में आपका स्वागत है

पढ़िए ज्योतिष और सम्बंधित विषयों पर लेख और लीजिये परामर्श ऑनलाइन

Shani Pushya Ka Mahattwa In Jyotish

शनि पुष्य योग का महत्त्व हिंदी में, कैसे बनता है शनि पुष्य योग, क्या करे शनि पुष्य को , क्या न करे शनि पुष्य को सफलता प्राप्त करने के लिए. 
शनि पुष्य योग का महत्त्व हिंदी में, कैसे बनता है शनि पुष्य योग, क्या करे शनि पुष्य को , क्या न करे शनि पुष्य को सफलता प्राप्त करने के लिए.
shani pushya nakshatra ka jyotishiy mahattw

शनि पुष्य योग एक दुर्लभ योग है जो कभी कभार ही बनता है अतः इस दिन का प्रयोग विशेष पुजायो और टोटको को करने के लिए किया जा सकता है शनि देव को प्रसन्न करने के लिए. हम सभी जानते हैं की पुष्य नक्षत्र बहुत ही महत्त्व रखता है २७ नक्षत्रो में. 

जब पुष्य नक्षत्र शनिवार को आये तो वो दिन “शनि पुष्य योग ” कहलाता है.
वर्ष २०१६ में १७ दिसम्बर को शनि पुष्य योग बन रहा है जिससे इस दिन का महत्व्  बहुत बढ़ जाता है क्यूंकि पुष्य का स्वामी है शनि अतः इस दिन हम शनि की शक्ति को बहुत अधिक महसूस कर सकते हैं. 

आइये अब जानते हैं शनि पुष्य योग के महत्त्व को :
  • ये दिन शनि देव को प्रसन्न करने के लिए एक सर्वश्रेष्ठ दिन है.
  • अगर कोई शनि साढ़े साती से या फिर शनि ढईया से ग्रस्त है तो इस दिन शनि शांति पूजा से विशेष लाभ मिल सकता है.
  • इस दिन शनि देव का सरसों के तेल या फिर तिल के तेल से अभिषेक करने से विशेष फल प्राप्त होता है और परेशानियों से छुटकारे के रास्ते खुलते हैं.
  • शनि पुष्य को जरुरतमंदों को कम्बल, लोहे के बर्तन, तिल की मिठाइयाँ, तेल आदि जरुरतमंदो को बांटना चाहिए.
  • शनि पुष्य को शनि मंदिर में दीप दान करने से भी लाभ होगा साथ ही शनि चालीसा का पाठ करे और शनि देव के १०८ नामो का जप करे.
  • शनि पुष्य को बड़ो का आशीर्वाद लेने से भाग्य में वृद्धि होती है.
  • इस दिन जानवरों और अन्य लोगो के लिए जल की व्यवस्था करने से भी पुण्य लाभ लिया जा सकता है.
शनि पुष्य एक पवित्र योग है जब हम सब शुभ कार्यो को करके पुण्य लाभ ले सकते हैं. 

आइये अब जानते हैं किय शनि पुष्य को क्या नहीं करना चाहिए ?

  1. इस दिन मांसाहार नहीं करना चाहिए.
  2. किसी भी प्रकार के हिंसा से शनि पुष्य को बचना चाहिए.
  3. किसी को भी इस दिन नुक्सान न पहुचाएं.
  4. शनि पुष्य को मदिरा या किसी भी प्रकार के नशे से दूर रहे.
शनि पुष्य एक पवित्र दिन है और इस दिन अपने आप को भी पवित्र रखके पूजा पाठ करना चाहिए जिससे की जीवन सफल हो जाए. 
शनि देव की कृपा सभी को प्राप्त हो यही शुभ कामनाये.

किसी भी प्रकार के ज्योतिशिय समाधान के लिए निचे क्लिक करे –
shani jyotish in hindi, shani ke upaay, shani se kaise paaye chutkaara
jyotish online
और सम्बंधित लेख पढ़े :
गुरु पुष्य का महत्त्व हिंदी में
रवि पुष्य का महत्त्व हिंदी ज्योतिष में
Shani pushya Yoga Significance in english
Shani Prakop Se Bachne Ke Totke in Hindi

शनि पुष्य योग का महत्त्व हिंदी में, कैसे बनता है शनि पुष्य योग, क्या करे शनि पुष्य को , क्या न करे शनि पुष्य को सफलता प्राप्त करने के लिए.

No comments:

Post a Comment