vedic jyotish from India

हिंदी ज्योतिष ब्लॉग ज्योतिष संसार में आपका स्वागत है

पढ़िए ज्योतिष और सम्बंधित विषयों पर लेख और लीजिये परामर्श ऑनलाइन

Shani Jayanti Ka Mahattw In Hindi

शनि जयंती का महत्त्व हिंदी मे, क्या करे शनि जयंती को सफलता के लिए, शनि पूजा का आसान तरीका. 

kya kare shani jayanti ko, shani aur jyotish, shani ke upaay
शनि जयंती का महत्त्व
शनि देव का सम्बन्ध न्याय से है इसी कारण लोग साधारणतः शनि से डरते हैं. शनि जयंती एक विशेष दिन है जब लोग शनि की विशेष पूजा पाठ करते हैं ताकि शनि की कृपा प्राप्त किया जा सके. ये दिन विशेष महत्त्व रखता है इसिलिये भक्त शनि स्त्रोत, शनि मंत्र, शनि का अभिषेक करते हैं, हवन करते हैं , जरूरतों की मदद करते हैं. 

अंग्रेजी मे शनि को Saturn कहा जाता है, ज्योतिष के हिसाब से ये एक कठोर ग्रह है और इसका सम्बन्ध भूमि, लोहा, आन्तरिक शारीरिक अंग, काला रंग आदि से होता है. ये पश्चिम दिशा का स्वामी है.

ऐसी मान्यता है की शनि देव भागवाद सूर्य और माता छाया के पुत्र है.
ऐसी भी मान्यता है की शनि देव का जन्म ज्येष्ठ महीने की अमावस्या को हुआ था इसी कारण हर साल लोग बड़े हर्षोल्लास से इसी दिन शनि जयंती मनाते हैं. 

२०१७ मे शनि जयंती का महत्त्व :

२०१७ मे शनि जयंती २५ मई को आ रहा है , इस दिन शनिवार है और दोपहर बाद रोहिणी नक्षत्र भी लग जाएगा. अतः ये दिन बहुत ख़ास हो जाता है उन लोगो के लिए जो शनि को खुश करना चाहते हैं.
  • अगर कुंडली मे शनि खराब हो तो शनि की पूजा इस दिन करे.
  • अगर कोई नकारात्मक उर्जा , काला जादू, नजर दोष से ग्रस्त हो तो भी शनि जयंती का दिन पूजा के लिए बहुत अच्छा है.
  • अगर कोई सिर्फ शनी देव से आशीर्वाद चाहते हो तो भी ये दिन बहुत ख़ास है.
  • अगर किन्ही की कुंडली मे पितृ दोष हो तो भी इस दिन पूजा कर सकते हैं क्यूंकि अमावस्या पड़ रही है.
अतः किसी भी हालत मे इस दिन को छोड़िये मत.
अच्छे योग बन रहे है शनि जयंती को.

आइये जानते है आसान तरीके शनि को खुश करने के :

शनि जयंती का महत्त्व हिंदी मे, क्या करे शनि जयंती को सफलता के लिए, शनि पूजा का आसान तरीका. 
  • इस दिन जल्दी उठिए और ब्रह्मचर्य का पालन करिए.
  • अगर शारीर साथ दे तो पुरे दिन उपवास कर सकते हैं.
  • दैनिक कार्यो को करके पूजा मे बैठे, शनि देव की प्रतिमा सामने रखे और धुप, दीप, नैवेद्य , दक्षिणा अर्पित करे.
  • उनका अभिषेक करे पंचामृत से.
  • तेल से भी अभिषेक कर सकते हैं शनि मंत्रो का जप करते हुए.
  • शनि चालीसा, शनि स्त्रोत्रम आदि का पाठ भी शुभ है.
  • अपने स्वस्थ, संपन्न और बाधा रही जीवन के लिए प्रार्थना करे.
  • जरुरतमंदों की मदद करे.
  • भूखे लोग और जानवरों को भोजन दे.
  • पुरे दिन शनि मंत्रो का जप करते रहे.
जय शनि देव
भारत मे शनि जयंती का बहुत महत्त्व है और इसमे कोई शक नहीं की भक्त अपनी पूजा का विशेष फल जरुर पाते है , इसिलिये दशको से ये रीती रिवाज चले आ रहे है.  

और शनि से सम्बंधित लेख पढ़े :
क्या करे शनि अमावस्या को
शनि जयंती का महत्त्व हिंदी मे, क्या करे शनि जयंती को सफलता के लिए, शनि पूजा का आसान तरीका.

No comments:

Post a Comment