vedic jyotish from India

हिंदी ज्योतिष ब्लॉग ज्योतिष संसार में आपका स्वागत है

पढ़िए ज्योतिष और सम्बंधित विषयों पर लेख और लीजिये परामर्श ऑनलाइन

Makar Sankaranti Ka Mahattwa in Hindi

Makar Sankaranti Ka Mahattwa in Hindi, मकर संक्रांति का महत्त्व, क्या करे सफलता के लिए मकर संक्रांति को, सफलता के लिए ज्योतिषीय उपाय जानिए.
 
kya hai makar sankranti, kaise manaaye makar sankranti, jyotishiy mahattw
makar sankranti ka mahattw hindi mai

मकर संक्रांति का त्यौहार पुरे भारत में बहुत ही उत्साह से मनाया जाता है, भारत वर्ष में मनाये जानते वाले उत्सवों में ये भी एक बड़ा उत्सव है. इस दिन बच्चे, बूढ़े, जवान, महिलाए आदि सभी लोग पतंग उड़ाना पसंद करते हैं. पुरे दिन लोग अपने परिवार वालो के साथ छत पर बिताते हैं या फिर मैदान मे, लोग तिल के लड्डू भी बनाते हैं और एक दुसरे को बाटते हैं. 

ये महत्व्कपूर्ण त्यौहार अलग अलग रूप में भारत वर्ष में मनाया जाता है जैसे की तमिल नाडू मे इसे पोंगल के नाम से मनाते हैं, आसाम में इसे बिहू के नाम से मनाते हैं, पंजाब और हरयाणा में इसे लोहरी के रूप में मनाते हैं.
आइये जानते हैं मकरसंक्रांति से सम्बंधित कुछ तथ्य :
१.    इस दिन से सूर्य उत्तरायण हो जाते हैं.
२.    सूर्य मकर राशि मैं इस दिन प्रवेश करते हैं.
३.    पौराणिक मान्यता के अनुसार इस दिन से देवताओं के दिन शुरू हो जाते हैं.
४.    भगवद्गीता में श्री कृष्ण कहते हैं की अगर कोई व्यक्ति उत्तरायण के समय शारीर छोड़ता है तो वो मुक्ति प्राप्त करता है. इसी कारन भीष्म पितामह ने भी उत्तरायण तक अपने आपको जीवित रखा.
५.    ऐसी भी मान्यता है की इसी दिन गंगा भागीरथ के साथ आते हुए महासागर में मिली थी इसी कारन लोग इस दिन “गंगा सागर ” में पुण्य स्नान करते हैं.
६.    इस दिन पत्नियाँ अपने पति के लम्बी आयु के लिए परार्थना करते हैं.
अतः मकर संक्रांति समय है सूर्य आराधना का, अपनों के साथ समय बिताने का, आशीर्वाद प्राप्त करने का. 

आइये जानते हैं की क्या करे मकर संक्रांति को जीवन को सुखी करने के लिए ज्योतिष के हिसाब से :
Makar Sankaranti Ka Mahattwa in Hindi, मकर संक्रांति का महत्त्व, क्या करे सफलता के लिए मकर संक्रांति को, सफलता के लिए ज्योतिषीय उपाय जानिए.
 
१.     इस दिन तिल के लड्डू , गुड़ आदि का दान मंदिरों में करना शुभ होता है. अपने मित्रो, रिश्तेदारों , पड़ोसियों को भी तिल से बनी मिठाई बांटना शुभ होता है. इससे सूर्य और शनि की कृपा से जीवन समृद्ध होता है.
२.    मकरसंक्रांति एक महत्वपूर्ण दिन होता है जब कर्ज मुक्ति हेतु भी पूजाए कर सकते हैं, पारिवारिक समस्याओं को दूर करने हेतु भी पूजाए कर सकते हैं, स्वास्थय समस्याओं को दूर करने हेतु भी पूजाए होती है.
३.    अगर शनि के कारण जीवन में समस्या आ रही है तो इस दिन शनि शांति के पूजा भी शुभ होती है.
४.    अगर सूर्य कुंडली में ख़राब हो तो भी मकरसंक्रांति को आप सूर्य शांति की पूजा कर सकते हैं, सूर्य की चीजो का दान कर सकते हैं.
५.    इस दिन से विशेष साधना भी साधक शुरू कर सकते हैं.
६.    धर्म , अर्थ , काम और मोक्ष को प्राप्त करने के लिए इस दिन से साधना शुरू कर सकते हैं. 

आइये अब जानते हैं कुछ टोटके मकर संक्रांति से जुड़े, जो सफलता दिला सकते हैं :
१.    अगर आप पतंग उड़ाते हैं तो इस दिन अपने जन्मदिन के बराबर पतंग ले और उड़ा के उन्हें काटने दे, ऐसा सोचे की हर पतंग के साथ आपका दुर्भाग्य दूर हो रहा है. उदाहरण के लिए अगर आपकी उम्र २५ है तो आपको २५ पतंग कम से कम ले के ये टोटका करना चाहिए.
२.    मकर संक्रांति को तुला दान का भी विशेष महत्त्व है, इस दिन स्वास्थ्य समस्या, मानसिक समस्या, आर्थिक समस्या आदि हेतु तुला दान किया जा सकता है.
३.    अगर शनि की समस्या से आप ग्रस्त है तो आपको अपने उम्र के बराबर लड्डू लेना चाहिए और उन्हें अपने ऊपर से २१ बार उतर के काली गाय को खिलाना चाहिए. इस दिन मछलियों को भी खिलाना शुभ होगा.
४.    इस दिन रुद्राभिषेक भी शुभ होता है.
५.    अच्छे ज्योतिष से परामर्श ले के आप और भी कई उपाय अपने ग्रहों के हिसाब से कर सकते हैं. 

शास्त्रों में भी मकर संक्रांति के दिन किये जाने वाले पुण्य स्नान, दान, तर्पण, हवन आदि का महत्त्व बताया गया है. ये दिन विशेष महत्त्व रखता है सभी के लिए.
आइये जानते हैं कुछ दानो के बारे मैं जो इस दिन किये जा सकते हैं अपनी क्षमता अनुसार –
१. स्वर्ण और तिल का दान किसी ब्राह्मण को देना शुभ होता है.
२. बैल और तिल का दान भी शुभता लता है.
३. जरुरत मंदों को कम्बल और वस्त्र का दान शुभ होता है.
४. इनके अलावा कुंडली के अनुसार और भी अनेक चीजो का दान बहुत अच्छा माना जाता है जैसे गाय, किताबे, विभिन्न प्रकार के अन्न, जल, पौधे आदि.
आइये जानते हैं कुछ पवित्र नदियों और तीर्थो के नाम जहाँ पर पूजा पाठ और स्नान करना शुभ माना जाता है –
१. गंगा नदी
२. सिन्धु नदी
३. सरस्वती नदी
४. यमुना नदी
५. गोदावरी के तट
६. नर्मदा तीर्थ
७. कावेरी तीर्थ
८. सरयू तीर्थ
९. चम्बल नदी
१०. क्षिप्रा नदी
११. गया तीर्थ
१२. प्रयाग तीर्थ
१३. पुष्कर तीर्थ आदि
मकर संक्रांति के शुभ अवसर पर इन जगहों पर पवित्र स्नान करना चाहिए और फिर तर्पण भी करना चाहिए सभी के कल्याण हेतु.

और सम्बंधित लेख पढ़े :
Makar sankranti Significance in english
सूर्य का वृश्चिक राशि में प्रभाव हिंदी में 

Makar Sankaranti Ka Mahattwa in Hindi, मकर संक्रांति का महत्त्व, क्या करे सफलता के लिए मकर संक्रांति को, सफलता के लिए ज्योतिषीय उपाय जानिए.

No comments:

Post a Comment

Indian Jyotish In Hindi