vedic jyotish from India

हिंदी ज्योतिष ब्लॉग ज्योतिष संसार में आपका स्वागत है

पढ़िए ज्योतिष और सम्बंधित विषयों पर लेख और लीजिये परामर्श ऑनलाइन

Akshay Tritiya Ka Mahatw In Hindi

Akshay tritiya ka mahatw in hindi, क्या है अक्षय तृतीय, धार्मिक महत्तव , क्या करे अक्षय तृतीय को, क्या न करे इस पुण्यशाली दिन को, टोटके अक्षय तृतीय के लिए, 2016 मे अक्षय तृतीय क्यों ख़ास है.
jyotish dwara janiye kya kare akshay tritiya ko safalta ke liye hindi mai
akshay tritiya ka mahaatw

अगर आप कोई महत्त्वपूर्ण कार्य का आरंभ करना चाहते हैं, अगर आप पुण्य प्राप्त करने के लिए कोई क्रिया करना चाहते हैं, अगर आप निर्विघ्नता से किसी कार्य को पूर्ण करना चाहते हैं, और अगर आपको मुहुर्त का ज्ञान नहीं है तो कोई बात नहीं है, अक्षय तृतीय का दिन वो शुभ दिन होता है जब कोई भी अच्छा कार्य हम शुरू कर सकते हैं, ये एक स्वयं सिद्ध मुहुर्त है. 

क्या है अक्षय तृतीय?
इस दिन को “आखा तीज” के रूप में भी जानते हैं. ये दिन भगवान् परशुराम के जन्मदिन के रूप में भी मनाया जाता है जो की विष्णुजी के छठे अवतार थे. ये वो दिन है जब भगवान् गणेश जी के महाभारत लिखना प्रारंभ किया था. ये दिन है भाग्य को जगाने का , ये दिन है सफलता के लिए क्रियाओं को करने का, ये दिन है देवी शक्तियों के आशीर्वाद लेने का.

अक्षय तृतीय का धार्मिक महत्तव :
1. ये दिन भवान विष्णु और माता लाक्स्मीजी की पूजा के लिए विशेष दिन है.
2. ये दिन वैशाख महीने के अमावस्या के बाद आता है.
3. ऐसी मान्यता है की इस दिन किया हुआ दान का फल कभी ख़त्म नहीं होता 
4. ऐसी भी मान्यता है की त्रेता युग का आरंभ इस दिन से हुआ था.
5. माता गंगा का आगमन भी पृथ्वी में इसी दिन हुआ था.
6. कभी न नष्ट होने वाले धन को प्राप्त करने के लिए अक्षय तृतीय के दिन पूजा की जाती है.
7. अक्षय तृतीय के दिन ही माँ अन्नपूर्णा का जन्म हुआ था.
8. इसी दिन युधिष्ठिर को अक्षय पात्र प्राप्त हुआ था जिसके द्वारा वो जरुरत मंदों को भोजन करवाते थे.
9. इसी दिन सुदामा जी कृष्णा जी से मिले थे.
10. ऐसी भी मान्यता है की इसी दिन श्री कृष्ण जी ने द्रौपदी का वस्त्र हरण होने से बचाया था.
11. कनकधारा स्त्रोत्रम की रचना भी अक्ष तृतीय के दिन किया गया था जिसके पाठ से धन देवी को प्रसन्न किया जाता है.

क्या कार्य किये जाते हैं सामान्यतः अक्षय तृतीय को ?
इस दिन सोना खरीदना शुभ मन जाता है.
इस दिन दान देना शुभ माना जाता है.
इस दिन अपने पूर्वजो की उन्नति हेतु भी प्रार्थनाये की जाती है.
विष्णुजी और लाक्स्मीजी की पूजा इस दिन शुभ मानी जाती है
इस दिन विवाह का भी मुहुर्त होता है.
इस दिन लोग नई दूकान, फैक्ट्री, घर आदि का उद्घाटन करना भी पसंद करते हैं.

अक्षय तृतीय के लिए कुछ विशेष टोटके:
1. एक हांडी में चावल भरके उसमे एक सोने या चांदी का सिक्का रखे, उसके ऊपर एक नारियल रखे और उसे नाड़ी से बाँध दे, पूजा करके उसे अपने लाकर में या फिर धान जहा रखते हैं वह रख दे पुरे वर्ष भर के लिए. धन धान्य से घर भरा रहेगा.
2. अगर समबाह हो तो सिद्ध श्री यन्त्र घर में पूजना चाहिए इस दिन.
3. इसी दिन कुबेर यन्त्र की स्थापना भी किया जा सकता है धन पाने हेतु.
4. श्री सूक्त के साथ श्री यन्त्र की विधिवत पूजा करके माँ लक्ष्मी की कृपा प्राप्त करने का ये एक ख़ास दिन है.
5. इस दिन कनकधारा स्त्रोत्रम का पाठ करना भी शुभ माना जाता है.
6. सोने के श्री यन्त्र की अंगूठी बनवा के उसका अभिषेक करवाके धारण करना शुभ होता है. 
अक्षय तृतीय वो दिन है जब हम धन, आरोग्य, सम्पन्नता हेतु बहुत अच्छी पूजा कर सकते हैं और सफलता के रास्ते खोल सकते हैं. अतः इस दिन को छोड़ना नहीं चाहिए. 

करिए पूजा अक्षय धन प्राप्ति हेतु, करिए दान अक्षय पुण्य हेतु, करिए अपने आप को शक्ति शाली, जो कमजोर है उनकी मदद कीजिये और लीजिये दुआ.

जानिए 2016 मे अक्षय तृतीय क्यों ख़ास है:
इस साल २०१६ मे आखा तीज 9 मई , सोमवार को आ रही है. ये दिन ख़ास है क्यूंकि ये सिंहस्थ पर्व के बीच आ रहा है तो इस दिन पवित्र नदी मे स्नान का भी महत्त्व है, साथ ही सूर्य और बुध साथ मे बैठे है जिससे की बुधादित्य योग का निर्माण हो रहा है, साथ ही गुरु और मंगल भी अपने मित्र राशी के साथ बैठे है और सकारात्मक शक्ति को बढ़ा रहे हैं अतः साधना और महत्त्वपूर्ण कार्यो को करने के लिए ये दिन विशेष बन गया है.

किसी भी प्रकार की ज्योतिशिय सलाह के लिए अभी संपर्क करे और प्राप्त करे कुछ आसान उपाय अपने जन्म कुंडली के आधार पर.



Akshay tritiya ka mahatw in hindi, क्या है अक्षय तृतीय, धार्मिक महत्तव , क्या करे अक्षय तृतीय को, क्या न करे इस पुण्यशाली दिन को, टोटके अक्षय तृतीय के लिए, 2016 मे अक्षय तृतीय क्यों ख़ास है.

No comments:

Post a Comment

Indian Jyotish In Hindi